rss

उत्तर कोरिया पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में राजदूत हेली का वक्तव्य

Français Français, English English, العربية العربية, Русский Русский, Español Español, اردو اردو

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी मिशन
प्रेस और लोक राजनय कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
सितंबर 4, 2017

 

संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि राजदूत निकी हेली ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में उत्तर कोरिया पर एक आपात ब्रीफिंग के दौरान अपना वक्तव्य दिया। राजदूत हेली तथा जापान, फ्रांस, ब्रिटेन और दक्षिण कोरिया के उनके समकक्षों ने उत्तर कोरिया के ताजा परमाणु परीक्षण की प्रतिक्रिया में आपात बैठक बुलाए जाने का आग्रह किया था।

“सुरक्षा परिषद के सदस्यों को मैं कहना चाहूंगी: अब बहुत हो चुका…वक्त आ गया है कि इस संकट के समाधान के लिए सभी कूटनीतिक साधनों का इस्तेमाल कर लिया जाए, और इसका मतलब है यहां संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शीघ्रता से कठोरतम संभव उपायों को कार्यान्वित करना। सिर्फ कठोरतम प्रतिबंध ही हमें कूटनीति के सहारे इस समस्या का समाधान करने में सक्षम बनाएंगे। हम लंबे समय तक इस समस्या को टालते रहे हैं। अब और समय नहीं बचा है।”

“कुछ पक्षों से आया तथाकथित रोक-के-बदले-रोक का प्रस्ताव अपमानजनक है। जब एक दुष्ट शासन के पास परमाणु हथियार हो और एक अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल ने आपको निशाना बना रखा हो, आप अपनी सुरक्षा कम करने वाले कदम नहीं उठाते। कोई भी ऐसा नहीं करेगा। हम निश्चय ही ऐसा नहीं करेंगे।”

“यह संकट संयुक्त राष्ट्र से भी आगे तक जाता है। अमेरिका उत्तर कोरिया के साथ व्यवसाय करने वाले हर देश को एक ऐसे देश के रूप में लेगा जो उसके लापरवाह और खतरनाक परमाणु इरादों को मदद पहुंचा रहा है। दांव पर इससे ज्यादा कुछ नहीं हो सकता है। कदम अभी उठाए जाने चाहिए। आधे उपायों और नाकाम वार्ताओं के चौबीस साल काफी हैं।”

###


मूल सामग्री देखें: https://usun.state.gov/remarks/7953
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें