rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन का फॉक्स न्यूज़ के ब्रेट बेयर के साथ इंटरव्यू

English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, اردو اردو

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
19 सितम्बर 2017
न्यूयार्क, न्यूयार्क

 

 

प्रश्न:  आज रात एक विशेष रिपोर्ट के लिए व्हाइट हाउस में लाइव।  इस हफ्ते ट्रम्प प्रशासन का ध्यान: अंतर्राष्ट्रीय संबंध।   संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति, जैसा कि हम आज सुबह के बारे में बात कर रहे हैं, अपनी “अमेरिका प्रथम” नीति के लिए एक केस बनाते हुए और उत्तरी कोरिया और ईरान के बुरे शासनों के खिलाफ बात करते हुए, साथ ही उन्होंने वेनेजुएला का भी उल्लेख किया।

आइए अब देश के शीर्ष राजनयिक के साथ बात करते हैं।   सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन न्यूयॉर्क से हमारे साथ यहाँ शामिल हुए हैं।  प्रश्न:

सेक्रेटरी टिलरसन:  श्रीमान सेक्रेटरी, यहां आने के लिए धन्यवाद।

प्रश्न:  मैं शुरुआत करना चाहता हूं रूसियों के साथ आपकी बैठक से जिसे आपने अभी समाप्त किया है।  वह रिश्ता कैसे चल रहा है? और आपकी बैठक से क्या नतीजा निकला?

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो, ब्रेट, मेरे विचार में हमने विभिन्न पदों पर रूसियों के साथ संपर्क के कई केन्द्र स्थापित किए हैं। जाहिर है, हम अपने दूतावासों के बारे में कुछ मतभेदों से निपट रहे हैं और मुझे लगता है कि हमने उसे अब स्थिर कर लिया है। लेकिन मुझे लगता है, एक और भी महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें पता है कि वास्तव में बड़े मुद्दे क्या हैं। हमें आपसी हित के क्षेत्रों, सीरिया में सहयोग, तलाशना जारी रखे हुए हैं। हम दोनों सीरिया में ISIS को हराने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, देश को स्थिर करने में, ताकि गृह युद्ध का पुनर्जन्म न हो, और जिनेवा की ओर बढ़ने के लिए – संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संकल्प 2254 के अनुसार जिनेवा में वार्ता के लिए।

इसलिए हमारे कई सामान्य उद्देश्य हैं; कभी-कभी हमारे पास अलग-अलग रणनीति होती है कि उनको कैसे हासिल किया जाए और निश्चित रूप से हमारे हित अलग हैं। लेकिन सीरिया में बहुत गंभीर काम चल रहा है, यह देखने के लिए कि क्या हमें उसका कोई समाधान मिल सकता है। और फिर हमने यूक्रेन की स्थिति पर चर्चा की, जहां हमें यह देखने में व्यस्त हैं कि क्या हम उस प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकें। जैसा कि आप जानते हैं, यह अब कई सालों से अटकी हुई है। हम अभी भी मिन्स्क समझौते के उद्देश्यों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, और हमारी उस पर सक्रिय बातचीत चल रही है। इसके बाद हमारे पास एक सक्रिय सामरिक मुद्दों का संवाद है, और हमने नई START ट्रीटी और INF के बारे में भी कुछ वार्ता की शुरुआत की है। तो बहुत, बहुत ही गहरी चर्चाएँ।

प्रश्न:  खैर, मैं आपसे राष्ट्रपति के महासभा में आज के भाषण के बारे में पूछना चाहता हूँ। बहुत सारी प्रतिक्रियाएँ, ज़्यादातर पार्टी लाइनों के साथ-साथ – कुछ लोग कह रहे थे कि यह बोल्ड, डायरेक्ट थी जिसे दुनिया को बताए जाने की जरूरत थी; डायेन फाइनस्टाइन जैसी शीर्ष डेमोक्रेट द्वारा आलोचना: राष्ट्रपति ट्रम्प की “उत्तरी कोरिया को नष्ट करने और किसी भी सकारात्मक रास्ते पेश करने के इनकार करने के लिए बाध्यकारी खतरा” – “हमारे द्वारा सामना किये जाने वाले बहुत से वैश्विक चुनौतियों के प्रति गंभीर निराशाजनक है। उनका उद्देश्य दुनिया को आतंकवाद की रणनीति के माध्यम से एकजुट करना है, लेकिन वास्तव में वह केवल संयुक्त राज्य अमेरिका को ही अलग करते हैं।”

आपकी इस पर क्या प्रतिक्रिया है?

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो, मुझे लगा कि राष्ट्रपति का भाषण बहुत शानदार था। मुझे लगता है कि यदि आप भाषण पर वापस जाते हैं, तो उन्होंने भाषण के शुरुआती भाग में संप्रभु राष्ट्रों की जिम्मेदारी, सार्वभौमिक राष्ट्रों की जवाबदेही के लिए केस बनाते हुए शुरुआत की, यह उनकी अपने लोगों के प्रति संप्रभुता और जिम्मेदारी के माध्यम से ही संभव है, और अपने लोगों को आगे रखते हुए, और यह “अमेरिका पहले” के विषय के साथ अत्यधिक मेल खाता है, वह वास्तव में कह रहे थे कि अमेरिका के लोग पहले आते हैं। लेकिन वह दुनिया भर के दूसरे देशों के सामने यह केस रख रहे थे कि उस हद तक वे संचालन के उसी दृष्टिकोण को अपना सकते हैं, जो उन्हें शांति और स्थिरता तक ले जाएगा, और यह दरअसल हमारे बहुत से सहयोगी और मित्र अपनाते हैं। और मुझे लगता है कि वह सफल संचालन के लिए उस दृष्टिकोण के होने के लिए एक आकर्षक केस बना रहे थे।

और उन्होंने एक बहुत ही कठिन चुनौती के साथ भाषण को समाप्त किया और सभी से एक शामिल होने की अपील की, कि वह संयुक्त राष्ट्र में महान क्षमताएँ देखते हैं, इससे ऐसा नहीं लगता कि यह अपनी सम्पूर्ण क्षमता तक जिया है, और यह कि यहीं पर दुनिया की कई सबसे चुनौतीपूर्ण और परेशान समस्याओं को सामूहिक रूप से काम करके हल किया जा सकता है।

हालांकि, उस भाषण के बीच में, मुझे लगता है कि वह बहुत ही सीधे लोकतांत्रिकताओं को होने वाले खतरों, दुनिया भर में सरकारों को होने वाले खतरे, ईरान की अस्थिरता पैदा करने वाली कार्रवाई से लेकर उत्तरी कोरिया के धमकी भरे व्यवहार तक, वेनेजुएला में अपक्षय होते लोकतंत्र का वर्णन कर रहे थे जिसके कि हम सभी साक्षी हैं, और सिर्फ दुखद, बहुत दुखद मानव त्रासदी जो हमारी आंखों के सामने हो रही है जो कभी किसी समय सबसे ज्यादा – हमारे अपने गोलार्ध में सबसे अधिक संपन्न लोकतंत्रों में से एक था।

इसलिए मुझे लगता है कि राष्ट्रपति ने बहुत अच्छा काम किया है, जैसा कि मैंने कहा था, शुरुआत में विषयों को समझाते हुए, अंत में उन पर वापस आते हुए, और बीच में वास्तव में उन वास्तविक चुनौतियों के बारे में बात करना जिनका सामना करना पड़ रहा है, किसी भी तरह से उनसे घबराकर मुंह नहीं फेर रहे थे।

प्रश्न:  कहे गये शब्दों के बावजूद, सबसे पहले – उत्तरी कोरिया के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र के सबसे पहले प्रतिबंध के बाद से प्रकोपों में – आपके सामने तीन लघु-सीमा वाली मिसाइलें आईं, एक मध्यवर्ती सीमा वाली मिसाइल लांच की गई है, एक और मध्यवर्ती सीमा मिसाइल का शुभारंभ 14 सितम्बर को किया गया था, और फिर उसके बाद परमाणु परीक्षण किया गया था। तो स्पष्ट है कि जो भी हो रहा है, यह संदेश किम-जोंग उन तक नहीं पहुंच रहे हैं।

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो ब्रेट यह बहुत परेशान करने वाला है।  यह सिर्फ हमारे लिए ही परेशानी का सबब नहीं है, लेकिन मैं जानता हूँ कि यह सारी दुनिया के लिए है,कि हम देख रहे हैं कि किम जोंग उन अपनी प्रौद्योगिकियों को उन्नत बना रहा है, अपनी क्षमताओं को बढ़ा रहा है। मुझे यह ज़रूर लगता है कि राष्ट्रपति ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को किम जोंग उन के खिलाफ आवाज़ उठाने के लिए एकजुट करने में एक बहुत अच्छा कार्य किया है जिसके लिए हमारा मानना है कि वह – वैश्विक हित में बिलकुल भी नहीं है, लेकिन यह दीर्घकाल में वास्तव में उसके अपने हित में भी नहीं है। जिस राह पर वो चल रहा है वह सिर्फ आगे उसे अलगाववाद के पथ पर ही ले जाएगा।

हमारे पास ऐसे सख्त प्रतिबंध हैं जो कभी भी नहीं लगाए गये हैं। हमें विश्वास है कि प्रभाव वाले होने के शुरुआती संकेत हैं।  अंततः, हालांकि, हमें क्षेत्र के पड़ोसियों की सहायता की आवश्यकता होगी। जापान और दक्षिणी कोरिया के साथ हमारी त्रिपक्षीय सुरक्षा व्यवस्था में हमें मजबूत समर्थन प्राप्त है, लेकिन हम भी चीन और रूस के साथ निरंतर वार्ता कर रहे हैं, क्योंकि उनकी बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका है जो वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर वहाँ ये संदेश भेजने के लिए पूरी कर सकते हैं, कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय चाहता है कि इस कार्यक्रम को वास्तव में रोक दिया जाए, और हमें उत्तरी कोरिया के भविष्य और एक परमाणु हथियार रहित कोरियाई प्रायद्वीप के बारे में बात करने का अवसर प्राप्त करना होगा।

प्रश्न:  सेक्रेटरी टिलरसन, ईरान के बारे में भाषण में एक चिढ़ शामिल थी और एक संभावना कि हो सकता है कि इस ईरान के सौदे को नवीनीकृत नहीं किया जाए, या किसी तरह बदला जा सकता है। 15 अक्टूबर आपकी समय समाप्ति की सीमा है। क्या आप उस पर कुछ प्रकाश डालेंगे?

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो, ब्रेट मुझे लगता है कि हम सभी ईरान के साथ हुए परमाणु सौदे की कमियों से परिचित हैं, और सबसे ख़राब कमी है सूर्यास्त प्रावधान – हम सभी जानते हैं कि यह केवल एक किक-द-कैन-डाउन-द-रोड करार है। और हमने अभी उत्तरी कोरिया के बारे में बात की, और दुर्भाग्यवश, यही अतीत में सरकारों ने उत्तरी कोरिया के साथ किया। वे बस – वे ऐसे समझौतों में सलंग्न हो गये जो अल्पकाल के लिए चले या जिन पर आसानी से धोखा दिया जा सकता था, और मुझे लगता है कि यही ईरान के परमाणु समझौते के लिए राष्ट्रपति का आकलन है, यह एक ठोस समझौता नहीं है। यह उनके कार्यक्रम को पर्याप्त रूप से धीमा नहीं करता और उन्हें समझौते के तहत उत्तरदायी ठहराना मुश्किल है।  किन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि समझौते का अंत आ गया है, और इसलिए हम लगभग उलटी गिनती की घड़ी शुरू कर सकते हैं कि कब वे अपने परमाणु हथियारों की क्षमता फिर से शुरू करेंगे।

राष्ट्रपति इस सौदे को फिर से करना चाहते हैं। उन्होंने कहा है फिर से इस पर पुन: बातचीत करें। हमें सहयोग की जरूरत है, मुझे लगता है कि, हमारे सहयोगी – यूरोपीय सहयोगी और अन्य – इस मामले को ईरान के सामने रखने के लिए यह सौदा वास्तव में पुनरीक्षित होना चाहिए।

प्रश्न:  लेकिन आपको पता है कि उन देशों से ये संदेश आ रहे हैं कि वह पुन: बातचीत करने में दिलचस्पी नहीं रखते हैं, और ईरान से यह संदेश कि यदि इस पर पुन: बातचीत करने या बदलने का कोई प्रयास हुआ, तो वह इसे समाप्त कर देंगे और इस पर कोई सौदा नहीं होगा।

सेक्रेटरी टिलरसन: ठीक है, अगर ईरानियों ने इसे फाड़ दिया और इससे दूर हो गये, तब समझौते की शर्तों के तहत, अमेरिकी और यूरोपीय दोनों ही प्रतिबंध फिर से लागू कर दिये जाएंगे। तो हम देखेंगे कि वे क्या करने को चुनते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि दूसरी बात जो आज राष्ट्रपति ने उजागर कर दी है, और हमने इसके बारे में भी अतीत में भी बात की है, यह है कि इस क्षेत्र के लिए ईरानी खतरा सिर्फ परमाणु वार्ताओं से कहीं अधिक व्यापक है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से ईरान के साथ हमारा संबंध और खतरे की स्थिति बहुत व्यापक है, जैसा कि पूरे क्षेत्र में है। और हमें वास्तव में सीरिया में, यमन में ईरान के अस्थिर क्रियाकलापों पर काम करना शुरू करना पड़ेगा।

राष्ट्रपति ने इस बात पर आज प्रकाश डाला कि, समझौते के तहत – समझौते की भावना, अगर आप उस शब्द का उपयोग करना चाहते हैं – लेकिन समझौते की प्रस्तावना के शब्दों में भी स्पष्ट रूप से एक उम्मीद थी, मुझे लगता है कि उस समझौते के सभी दलों, कि इस परमाणु समझौते पर हस्ताक्षर करके ईरान एक ऐसे स्थान की ओर जाना शुरू करेगा जहां वह एकीकृत करना चाहता था – अपने पड़ोसी देशों के साथ खुद को पुन: एकीकृत करना चाहता है। और स्पष्ट है कि ऐसा नहीं हुआ।  दरअसल, ईरान ने इस क्षेत्र में अपनी अस्थिर करने वाली गतिविधियों को बढ़ा दिया है, और हमें ही उससे निपटना होगा, और तो क्या हम इसके साथ परमाणु पर पुनर्विचार के माध्यम से निपटते हैं या क्या हम इसे अन्य तरीकों से निपटते हैं।

प्रश्न:  जल्दी से दो बातें।  यह पक्का करने के लिए कि मैं स्पष्ट हूँ – आपने अंत में कहा था – आज रात लक्ष्य है, क्या यह ईरान के सौदे का पुनर्प्रेषण है?

सेक्रेटरी टिलरसन: वैसे, यदि हम – यदि हम ईरान समझौते के साथ बने रहते हैं, तो उसमें बदलाव करने ही होंगे।   सूर्यास्त प्रावधान आगे के लिए एक समझदारी भरा मार्ग नहीं है।  यह सिर्फ आगे की ओर धकेलना है – जैसा कि मैने कहा कि कैन को सड़क पर फिर से धकेलने के बराबर है कि भविष्य में जो आएगा वह इससे निपटेगा। राष्ट्रपति जिम्मेदारी को गंभीरतापूर्वक लेते हैं, वह अपनी जिम्मेदारी को गंभीरतापूर्वक लेते हैं, और इसीलिए वह इस बात पर बहुत सावधानीपूर्वक विचार कर रहे हैं कि इस मुद्दे से निपटने का सर्वोत्तम तरीका क्या है।

प्रश्न:  श्रीमान सेक्रेटरी हम न्यूयार्क में आपके व्यस्त दिन में से समय निकालने के लिए आपके आभारी हैं।  आपका फिर से कभी भी स्वागत है।

सेक्रेटरी टिलरसन: धन्यवाद, ब्रेट।

# # #

 


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2017/09/274275.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें