rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन एक प्रेस उपलब्धता पर, अफ़गानिस्तान

اردو اردو, English English

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन
टिप्पणियाँ
बागरम एयरफील्ड, अफ़गानिस्तान
23 अक्तूबर 2017

 

 

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो, मैं आज सुबह मेरे साथ बैठक करने के लिए राष्ट्रपति घानी और मुख्य कार्यकारी अब्दुल्लाह और अफ़गानिस्तान के नेतृत्व का धन्यवाद करके शुरुआत करना चाहता हूं। मैंने सोचा कि हाल ही में घोषित दक्षिण एशिया नीति और उस रणनीति के भाग के रूप में, जिसे राष्ट्रपति ट्रम्प ने स्थापित किया है, दक्षिण एशिया क्षेत्र में आने पर अफ़गानिस्तान में रुकना बहुत महत्वपूर्ण है।

मैं – मेरे साथ राजदूत लॉरेन्स और जनरल निकोलसन आये हैं – उन्हें उनके नेतृत्व के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं, हमारे दोनों राजनयिक और साथ ही साथ उन पुरुषों और महिलाओं के अविश्वसनीय सैन्य प्रयासों को भी धन्यवाद देना चाहता हूँ, और उन सभी प्रयासों के लिए जो उन्होंने शांति की दिशा में काम करने के लिए किये हैं, जो कि वास्तव में हमारा उद्देश्य है।

मुझे लगता है कि अमेरिका ने एक सार्वभौमिक, एकीकरण और लोकतांत्रिक अफ़गानिस्तान के समर्थन के लिए हमारे अफ़गानिस्तान, समर्थन के संदर्भ में यह स्पष्ट कर दिया है, जिससे शांति, समृद्धि और आत्मनिर्भरता के लिए एक मार्ग का निर्धारण होता है। अंत में यह ज़रूरी है कि हम किसी भी आतंकवादी संगठन या किसी भी उग्रवादी को इस क्षेत्र के – दुनिया के किसी भी भाग में सुरक्षित आश्रय देने से इनकार कर रहे हैं।

(संक्षिप्त रुकावट)।

सेक्रेटरी टिलरसन:  ठीक है।

प्रश्न:  क्षमा करें।

सेक्रेटरी टिलरसन:  कोई बात नहीं।  हमारे क्षेत्रीय सहभागियों के साथ भी यह सुनिश्चित करने के लिए काम करना चाहते हैं कि इस क्षेत्र में कोई खतरे मौजूद न हों।  और यह वस्तुत: एक क्षेत्रीय प्रयास है, जैसा कि आपने देखा है कि रणनीति में उल्लेख किया गया है। इसलिए हम दूसरों से भी मांग कर रहे हैं कि इस क्षेत्र में कहीं भी आतंकवादियों को सुरक्षित स्थान देने से इंकार करें।  हम इस संबंध में पाकिस्तान के साथ भी निकटता से कार्य कर रहे हैं।

राष्ट्रपति घानी ने मुझे सुधार के, अफ़गानिस्तान में लगातार सुधारों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता का आश्वासन दिया है, और साथ ही साथ उनकी नई भ्रष्टाचार-विरोधी रणनीति और नीतियाँ जो यहाँ इस प्रयास को समर्थन देगी। हमने अगले वर्ष 2018 में संसदीय चुनावों की तैयारी पर भी चर्चा की। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि यह चुनाव किये जाएँ।  और अंत में, हमने क्षेत्रीय विकासों पर चर्चा की और सभी क्षेत्रीय हितधारकों के लिए अफ़गानिस्तान के लिए शांति और स्थिरता का समर्थन करने के लिए, आतंकवादियों के खिलाफ लड़ने, विद्रोहियों से लड़ने के लिए हमारे साथ काम करने की, संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ काम करने की महत्ता पर सहमति व्यक्त की, और साथ ही हमारे दूसरे भागीदारों, नाटो भागीदारों और अन्य जो इस क्षेत्र में बहुत रुचि लेते हैं, के साथ काम करने की महत्ता पर सहमति व्यक्त की।

हमारे सामने कड़ी मेहनत खड़ी है, हमारे सामने कुछ चुनौतियां हैं। लेकिन यहाँ अफ़गानिस्तान में संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगी इसे पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

इसके साथ ही, एक-दो सवालों का जवाब देने में मुझे खुशी होगी।

समन्वयक:  जॉन।

प्रश्न:  श्रीमान, किस तरह का संदेश – मुझे थोड़ा पीछे से शुरुआत करने की अनुमति दें। आपने अतीत में कहा था कि यदि पाकिस्तान तालिबान और अन्य उग्रवादियों के लिए सुरक्षित स्थान देने से इंकार करने के लिए कड़े कदम नहीं उठाता, तो वे अमेरिका में कटौती देख सकते हैं – अमेरिकी सहायता में और अधिक कटौतियाँ देख सकते हैं – मेरा मानना है कि संयुक्त राज्य अमेरिका ने पाकिस्तान को अन्य कार्यों की एक सूची दी है जो वह कर सकता है – जब तक कि वह उन कार्यों को एक निश्चित समय सीमा के भीतर नहीं कर लेता। क्या आप बता सकते हैं कि वह सूची क्या है और उसकी समय-सीमा क्या है?

सेक्रेटरी टिलरसन:  दरअसल, मैं कल पाकिस्तानी नेतृत्व से मिलने के लिए इस्लामाबाद जाऊंगा, और हमने पाकिस्तान ने कुछ विशिष्ट अनुरोध किये हैं ताकि पाकिस्तान से उस समर्थन को समाप्त करने के लिए कार्रवाई की जाए, जो तालिबान को प्राप्त होता है और अन्य आतंकवादी संगठनों को पाकिस्तान से प्राप्त होता है। और हमने इस रणनीति में कहा है कि यह एक शर्त पर आधारित दृष्टिकोण है, और इसलिए पाकिस्तान से हमारा संबंध भी शर्तों पर आधारित होगा। यह इस बात पर आधारित होगा कि क्या वे कार्रवाई करते हैं जो कि हमें लगता है कि अफ़गानिस्तान में शांति और स्थिरता के अवसर पैदा करने की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक है, लेकिन यह साथ ही पाकिस्तान में एक स्थिर भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए भी आवश्यक है। पाकिस्तानी नेतृत्व के साथ हमारी बातचीत में, हम पाकिस्तान में भविष्य की स्थिरता के बारे में चिंतित हैं जैसे कि हम यहां अफ़गानिस्तान में कई मामलों पर चिंतित हैं। मुझे लगता है कि पाकिस्तान को उस स्थिति पर एक स्पष्ट दृष्टिकोण से सोचने की जरूरत है जहाँ उसे कई ऐसे आतंकवादी संगठनों का सामना करना पड़ता है जो पाकिस्तान के अंदर सुरक्षित स्थान ढूंढते हैं।  और इसलिए हम पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं ताकि पाकिस्तान को और भी अधिक स्थिर और सुरक्षित बनाया जा सके।

समन्वयक:  गार्डिनर।

प्रश्न:  श्रीमान, यह एक हमेशा के लिए चलने वाली लड़ाई की तरह का अहसास देता है। क्या इस रणनीति का कोई हिस्सा है – जैसा कि आपने कहा कि यह एक शर्तों पर आधारित रणनीति है, लेकिन ऐसा लगता है कि शर्त का अर्थ है है कि अमेरिकी सैन्य उपस्थिति क्षितिज में दूर है। क्या ऐसा नहीं है?

सेक्रेटरी टिलरसन:  तो, राष्ट्रपति ट्रम्प ने यह बिलकुल स्पष्ट कर दिया है कि हम यहां तब तक मौजूद हैं, जब तक हम सुलह और शांति की प्रक्रिया बहाल नहीं कर लेते। यह कोई असीमित प्रतिबद्धता नहीं है; उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि यह ब्लैंक चेक वाली प्रतिबद्धता नहीं है। इसीलिए यह शर्तों पर आधारित प्रतिबद्धता है।

लेकिन मुझे लगता है कि अगर आप अफ़गानिस्तान में वर्तमान स्थिति पर विचार करते हैं – और हमने कुछ मिनट पहले इस बारे में बात की है – और आप अतीत में पिछले कुछ वर्षों पर नज़र डालते हैं और हालात क्या थे, तो अधिक जीवंत जनसंख्या, एक अधिक जीवंत सरकार, शैक्षणिक व्यवस्था, एक बड़ी अर्थव्यवस्था के साथ अफ़गानिस्तान पहले से कहीं आगे निकल आया है। और इसलिए एक समृद्ध – एक समृद्ध अफ़गानिस्तान समाज के लिए नींव को मजबूत करने के अवसर मौजूद हैं।

जाहिर है, हमें तालिबान और अन्य आतंकवादियों के विरुद्ध लड़ाई जारी रखनी होगी ताकि वे समझ जाएँ कि वे कभी भी एक सैन्य जीत हासिल नहीं कर पाएंगे। और हम इस बात पर विश्वास करते हैं कि तालिबान के बीच उदारवादी आवाजें मौजूद हैं, वे आवाजें जो हमेशा के लिए लड़ना जारी रखना नहीं चाहतीं। वे अपने बच्चों को हमेशा के लिए संघर्ष करते नहीं देखना चाहते।  इसलिए हम उन आवाज़ों के साथ मिलना चाहते हैं और उन्हें शांति प्रक्रिया में शामिल होने और सरकार में उनकी पूर्ण भागीदारी और सहभागिता के लिए एक सुलह प्रक्रिया में संलग्न करना चाहते हैं।  उनके लिए सरकार में एक जगह है, अगर वे आतंकवाद छोड़ने, हिंसा छोड़ने और एक स्थिर, समृद्ध अफ़गानिस्तान के प्रति प्रतिबद्ध होने के लिए तैयार हैं।

समन्वयक:  मिशेल।

प्रश्न:  आपके भारत पर बड़े भाषण के बाद क्या आपने पाकिस्तानियों से बात की है? क्या आप उनको पुन: आश्वासन देने की कोशिश कर रहे हैं कि यहाँ भारत का क्या संबंध हैं?   और मैं समझता हूँ कि घानी भी जा रहे हैं।

सेक्रेटरी टिलरसन:  मैंने भारत पर दिये गये भाषण के बाद से पाकिस्तानी नेतृत्व में किसी से बात नहीं की है।   यह निश्चय ही ऐसा कुछ है जिसके बारे में हम कल की मुलाकात में बात करेंगे।  लेकिन मुझे लगता है कि भारत के साथ संबंधों के बारे में हमारे विचार एक यह कि यह इस विशिष्ट क्षेत्र के लिए सामरिक महत्व का है, लेकिन उस भाषण के संदर्भ में यह एक स्वतंत्र और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र के बारे में था जो कि जापान से इंडिया से था।

तो यह एक व्यापक संबंध है। हालांकि, हमारा यह मानना है कि भारत की एक बहुत महत्वपूर्ण सकारात्मक भूमिका है जो भारत एक शांतिपूर्ण, स्थायी अफ़गानिस्तान को बनाने में निभा सकता है। वे पहले ही महत्वपूर्ण आर्थिक गतिविधि प्रदान कर रहे हैं – नौकरियों का सृजन – जो कि भविष्य के अफ़गानिस्तान के लिए महत्वपूर्ण है। और हमे लगता है कि – हम उसे भी प्रोत्साहित करना चाहते हैं। हमें लगता है कि वे अफ़गानिस्तान में भविष्य के लिए सही माहौल बनाने पर बहुत सकारात्मक प्रभाव डाल सकते हैं।

समन्वयक: ठीक है, दोस्तों। आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2017/10/275003.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें