rss

प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा

اردو اردو, English English, العربية العربية

दी व्हाइट हाउस
प्रेस सेक्रेटरी का कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
05 नवम्बर 2017

 

 

शाम 05:17 HST

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: धन्यवाद। सभी को गुड इवनिंग। यह देखकर अच्छा लगा कि आप में से कुछ मेरी तरह ही जैटलेग्ड हैं, जिन्होंने इस परिचारक गण के साथ यात्रा की है।

तो इसलिए मैंने सोचा कि मैं राष्ट्रपति की एशिया की इस पांच पड़ाव वाली यात्रा के इस पड़ाव के बारे में आपसे थोड़ी बहुत बात करूँ, उनका इस जापान की यात्रा के लिए आज और कल का शेड्यूल इस प्रकार है, और इस पड़ाव के व्यापक उद्देश्यों के बारे में थोड़ा बहुत बात करूंगा।

इस पूरी यात्रा के लिए राष्ट्रपति के तीन अतिपरिवर्तन उद्देश्य हैं – और यह एक अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा एशिया की एक चौथाई से अधिक सदी में की गई अब तक की सबसे लंबी यात्रा है – सबसे पहले, उत्तरी कोरिया को परमाणुरहित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समाधान को मजबूत करने के लिए। दूसरा, एक स्वतंत्र और खुले भारत-प्रशांत क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए। और तीसरा, जो राष्ट्रपति ट्रम्प के दिल के करीब और प्रिय बात है, वह अमेरिका की समृद्धि को आगे बढ़ाना है।

और इसलिए वह अपने पहले पड़ाव पर आ पहुंचे हैं – यह कोई दुर्घटना नहीं है कि अपने राष्ट्रपति पद पर एशिया में उनका पहला पड़ाव जापान है, जो इस क्षेत्र में सुरक्षा और स्थिरता के आधार के रूप में कार्य करता है – और एक पुराना गठबंधन है। और राष्ट्रपति को योकोटा एयरबेस में अमेरिकी और जापानी सैनिकों और महिलाओं को संबोधित करने का अवसर मिला – उन्होंने वहाँ एक भाषण दिया- और फिर उन्होंने दोपहर प्रधानमंत्री ऐबे के साथ बिताने के लिए उड़ान भरी। बहुत अनौपचारिक रूप से उसके साथ गोल्फ के नौ छेदों का एक दौर खेला और विशेष रूप से आमंत्रित अतिथि, मत्सुयामा-सान के साथ भी खेला। मुझे बताया गया है कि उनमें से तीनों ने स्कोर का हिसाब-किताब नहीं रखा बल्कि वहां एक बहुत अच्छा समय गुजारा। और राष्ट्रपति – सच में सिर्फ एक-दूसरे की कंपनी का आनंद ले रहे थे और कुछ और बातों के बारे में बात कर रहे थे और कुछ ऐसे मुद्दों का पूर्वावलोकन कर रहे थे, जिन पर कल अधिक औपचारिक रूप से बात की जाएगी।

तो, जल्दी से, कल के निर्धारित कार्यक्रम के बारे में: राष्ट्रपति राजदूत हेगर्टी के निवास पर जा रहे हैं। कल सुबह, वह अमेरिकी और जापानी व्यापारिक नेताओं को अपना वक्तव्य पेश करेंगे। फिर राष्ट्रपति यहाँ टोक्यो में अमेरिकी दूतावास में एक सामाजिक मेलजोल कार्यक्रम करने जा रहे हैं, और फिर मोटरकेड इम्पीरियल पैलेस को जाएगी, जहां उन्हें महामहिम, सम्राट अकीहिटो के लिए स्टेट कॉल का आह्वान करने का सम्मान प्राप्त होगा। और सम्राट को मिलने के समय प्रथम महिला उनके साथ जाएंगी।

वह फिर एक सम्मान गार्ड के समारोह में भाग लेंगे और इसके बाद प्रधानमंत्री ऐबे के साथ कार्यकारी दोपहर भोज करेंगे। फिर राष्ट्रपति उन जापानी नागरिकों के परिवारों से मिलने जा रहे हैं, जिनका उत्तरी कोरिया ने अपहरण कर लिया था और प्रथम महिला भी उस बैठक में भाग लेने जा रही हैं।

उनके बाद एक संयुक्त प्रेस सम्मेलन होगा- जिसमें प्रधानमंत्री ऐबे और राष्ट्रपति शामिल होंगे। उसके बाद अमेरिका के एक व्यापक अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल के साथ कुछ अतिरिक्त बैठकें होंगी जो यहां राष्ट्रपति के साथ मौजूद है। और फिर कल रात एक बेनक्वेट रात्रिभोज होगा। और फिर अगली सुबह वह – राष्ट्रपति अगले दो दिनों के लिए अपनी स्टेट विज़िट के लिए सियोल जाएंगे।

तो आपको बताने के लिए –

प्रश्न मैं माफी चाहता हूँ – सियोल कल रात, अगली सुबह नहीं?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: मैं माफी चाहता हूँ, हाँ, यह अगली सुबह होगा। निश्चित रूप से। वह सोकर उठेंगे और सियोल की ओर जाएंगे।

तो उन तीन प्रमुख क्षेत्रों की ओर, जो राष्ट्रपति – उन विषयों पर जो राष्ट्रपति के यात्रा के आसपास निर्मित हैं, मुझे लगता है कि आप यहां जापान में जो देखेंगे वह विषयों का एक बहुत व्यापक सेट है जिस पर दोनों नेता चर्चा करने जा रहे हैं, वे बात करने जा रहे हैं कि वास्तव में यह लम्बे समय से चला आ रहा यह गठबंधन कितना गहरा और व्यापक है। वे सुरक्षा, अर्थशास्त्र, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक सहयोग, स्वास्थ्य के क्षेत्रों के बारे में बात करने जा रहे हैं।

और ज़ाहिर है, अमेरिका जापान को अपनी सुरक्षा को मजबूत बनाने में सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है। वे कुछ ठोस शब्दों में ऐसा करने के तरीकों पर बात करेंगे; जापान की अपनी भूमिकाओं के विस्तार और इसकी क्षमताओं को बढ़ाने के बारे में बात करेंगे। वे निश्चित रूप से एंटी-पनडुब्बी युद्ध और बैलिस्टिक मिसाइल रक्षा जैसे विषयों पर जापान, दक्षिण कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच त्रिपक्षीय सहयोग के बारे में बात करेंगे। वे साइबर सहयोग के बारे में बात करेंगे, खासकर साइबर क्षेत्र में उत्तरी कोरिया के कुछ उकसाने वाले क्षेत्रों को ध्यान में रखते हुए। यह न केवल मिसाइलों और परमाणु उपकरणों में है, बल्कि साइबर क्षेत्र में भी है। और अमेरिका और जापान इस प्रकार के खतरों से निपटने के लिए अपने सहयोग को मजबूत बना रहे हैं।

राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ऐबे व्हाँ से शुरुआत करेंगे, जहां उपराष्ट्रपति पेंस और उप प्रधानमंत्री ऐसो ने अमेरिका-जापान आर्थिक वार्ता के पिछले महीने के दूसरे दौर के बाद छोड़ा था। वे अमेरिका-जापान व्यापार संबंधों के भविष्य के बारे में बात करेंगे।

उस संबंध में वृद्धि हुई है, यहां तक कि जब राष्ट्रपति ट्रम्प ने कार्यालय में प्रवेश किया था, और दोनों देशों के बीच निवेश संबंधों के समग्र दायरे के मामले में यह बहुत ही बढ़िया है। जापान में अब 400 अरब डॉलर से अधिक का निवेश संयुक्त राज्य अमेरिका में किया है, और यह आंकड़ा हर साल 9 प्रतिशत बढ़ता है। जापान में 850,000 अमेरिकन श्रमिक कार्यरत हैं, और हम इस दो-तरफा निवेश प्रवाहों को जारी रखने के तरीकों पर ध्यान दे रहे होंगे।

इसलिए, इसके साथ, शायद मुझे आपके कुछ प्रश्नों को लेने के लिए वहां रुकना चाहिए।

प्रश्न. मैं जानना चाह रहा था कि क्या आप उस मुक्त और खुली भारत-प्रशांत अवधारणा पर थोड़ा विस्तार से बता सकते हैं और हमें बताएं कि चीनी को इस संबंध में कैसे देखते हैं। बहुत से लोग आपको बताएंगे कि मौलिक रूप से, यह चीन में वृद्धि को सीमित करने को लेकर एक रणनीति है। और इसलिए मैं जानना चाह रहा हूं कि क्या कोई रास्ता है – शायद आप हमें बता पाएँ, कि क्या चीनी इसे इस तरह देखते हैं?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: नहीं, सीमित करना, कतई नहीं। मुझे लगता है कि आप जो देख रहे हैं – और यह उन सभी विषयों में से एक है जिसके बारे में आप इस यात्रा के दौरान आगे सुनेंगे – यह कि संयुक्त राज्य अमेरिका एक भारत-प्रशांत शक्ति है। वह तो हम अपने गणराज्य की सुबह के बाद से ही रहे हैं। हमारी सुरक्षा और हमारी समृद्धि इस बात पर निर्भर करती है कि संयुक्त राज्य अमेरिका इस क्षेत्र में वाणिज्य के मुक्त प्रवाह के लिए पहुंच बनाए रखता है, क्योंकि हम एक प्रशांत राष्ट्र हैं।

और एक स्वतंत्र और खुला भारत-प्रशांत इस दृष्टिकोण के लिए बोलता है, कि हम निरंतर स्थिरता देखना चाहते हैं। हम इस क्षेत्र की निरंतर स्थिरता के प्रति, नेवीगेशन की स्वतंत्रता, बाज़ार और मुक्त बाजारों को अनुमति देना, इस क्षेत्र की समृद्धि को बढ़ावा देने के लिए अपनी वचनबद्धता की पुष्टि करना चाहते हैं।

और अमेरिका ऐसे तरीकों पर विचार कर रहा है जिनसे हम इस पुरानी — वास्तव में सदियों पुरानी प्रतिबद्धता का संकेत और अनुसरण कर सकते हैं। यह द्वितीय विश्व युद्ध में केवल एक दुर्घटना नहीं थी कि संयुक्त राज्य अमेरिका इस क्षेत्र में है जिस तरह से हम हैं — हमारे पास इस क्षेत्र में लंबे समय से चले आ रहे गठबंधन मौजूद हैं, क्षेत्र में पांच देशों के साथ सुरक्षा संधियाँ हैं, और दूसरों के साथ बहुत करीबी सुरक्षा और आर्थिक भागीदारियाँ है।

हमारे पास भारत के साथ मजबूत और बढ़ते हुए संबंध हैं। हम एक भारत-प्रशांत क्षेत्र के बारे में बात करते हैं क्योंकि यह वाक्यांश भारत के उदय के महत्व को कैप्चर करता है। इससे समुद्री मुक्त कॉमंस (संयुक्तता) के महत्व का पता चलता है जो हमारी सुरक्षा और हमारी समृद्धि को जारी रखने की अनुमति देता है।

प्रश्न इसके लिए धन्यवाद। APEC शिखर सम्मेलन में थोड़ा सा आगे देखते हुए, राष्ट्रपति ने आज एयरफोर्स वन पर संकेत दिया कि वह अलग से उत्तरी कोरिया से निपटने में मदद पाने के लिए राष्ट्रपति पुतिन के साथ मिलने की उम्मीद कर रहे हैं। क्या आप समझा सकते हैं कि आप उस चर्चा को किस तरह से देखने की उम्मीद करते हैं; आप पुतिन और रूस से किस प्रकार की भूमिका की उम्मीद करते हैं जब उत्तरी कोरिया के खतरे से निपटने की बात आती है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हाँ, रूस की उत्तरी कोरिया के साथ सीमाएं लगती हैं। वे भी बहुत चिंतित हैं, मुझे लगता है कि उत्तरी कोरिया इस संकट की दिशा में इस क्षेत्र को ले जा रहा है। और, स्वाभाविक रूप से, रूस को उस भविष्य में एक भूमिका निभानी चाहिए। रूस पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संकल्पों को बरकरार रखने के लिए संयुक्त राष्ट्र के सदस्य के रूप में उत्तरदायित्व हैं, वे सभी निस्संदेह उन प्रतिबंधों में दो महत्वपूर्ण वृद्धियाँ सम्मिलित करने के लिए वापस जा रहे हैं जिन्हें संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा इस वर्ष पहले 15-0 मतों द्वारा पारित किया गया था।

और इसलिए मुझे पूरा विश्वास है कि वह प्रमुख विषय होने जा रहा है — या उन दोनों के मिलने के समय चर्चा का विषय होने जा रहा है।

हाँ, श्रीमान।

प्रश्न जब इस यात्रा पर व्यापार और उत्तरी कोरिया की बात आती है — जो दो स्पष्ट प्राथमिकताएँ हैं — तब राष्ट्रपति कार्यसूची पर इन दो मदों को कैसे संतुलित करने का इरादा रखते हैं? वे किस प्रकार उत्तरी कोरिया पर स्वीकृतियाँ प्राप्त करने के लिए व्यापार पर निश्चित लेन-देन करने और इसका विलोमतः करने का इरादा रखते हैं, वे किस सीमा तक इस बारे में चिंतित हैं कि संभवतः व्यापार पहलू उसके रास्ते में आ सकते हैं जिसकी वे उत्तरी कोरिया के लिए माँग कर रहे हैं?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: अवश्य, अवश्य। मैं लेन-देन का पूर्वानुमान नहीं लगाता। संयुक्त राज्य वह करने के लिए लाभ कमाने के संबंध में व्यापारिक मोर्चे पर हमारे हितों का विनिमय नहीं करने जा रहा है जो समूचा विश्व स्वयं कमोबेश करने के लिए उत्तरदायी है, और वह है – उत्तरी कोरिया से खतरे को नियंत्रित करना और उसका सामना करना। इसलिए मैं इन दो मुद्दों को मिलाने की संभावना नहीं देखता।

प्रश्न क्या राष्ट्रपति ने यह सुझाव नहीं दिया है कि हालाँकि अतीत में इन्हें मिलाया गया है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: नहीं, किसी ने उल्लेख किया था —

प्रश्न विशेष रूप से नहीं?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: इसे उस रिपोर्टर के समक्ष उठाया गया था जिससे मैं अन्य दिन बात कर रहा था। राष्ट्रपति का ध्यान अग्रणी व्यापारिक देश के रूप में — या उत्तरी कोरिया के अग्रणी व्यापारिक भागीदार के रूप में चीन पर केंद्रित है; उनका ध्यान यह सुनिश्चित करने पर अत्यधिक केंद्रित है कि चीन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सभी संकल्पों के अंतर्गत अपने उत्तरदायित्वों का निर्वाह करे, बल्कि इससे भी आगे बढ़कर और अधिक काम करे।

यह कोई ऐसी चीज़ है — ऐसी समस्या है जिसके बारे में चीनी अब यह महसूस कर रहे हैं कि यह उनके लिए गंभीर रणनीतिक दायित्व है। उत्तरी कोरिया रणनीतिक संपत्ति नहीं है; यह शीत युद्ध सोच का अवशेष है। और बेशक, चीन ने उससे बहुत अधिक किया है जो इसने आज तक किया है, और हम चीन के साथ उससे अधिक प्रगाढ़ रूप से सहयोग कर रहे हैं जितना हमने इस विषय पर चीन के साथ कभी किया है। और यह ऐसी चीज़ है जो आप चीनी नेता और राष्ट्रपति ट्रम्प के बीच बैठकों में व्यक्त होते हुए देखेंगे।

हाँ, श्रीमान। पीछे।

प्रश्न मैं बस यह जानने का उत्सुक हूँ कि क्या राष्ट्रपति ट्रम्प और प्रधानमंत्री ऐबे इस बार इस अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत के गठबंधन के बारे में बात करेंगे। और क्या यह चीन के लिए किसी प्रकार नियंत्रण है? और इस गठबंधन का गठन करने का क्या कारण है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हाँ, मैं ऐसा नहीं मानता कि चीन को नियंत्रित करने जैसी कोई बात है। मेरा मतलब है, अगर आप 19वीं पार्टी कांग्रेस के आसपास राष्ट्रपति ज़ी जिनपिंग के भाषणों में उनकी स्वयं की टिप्पणियाँ देखें, उन्होंने चीन द्वारा प्रमुख भूमिका निभाने के बारे में बात की थी।

इसलिए सहयोगियों और भागीदारों के बीच सहयोग के प्रश्न पर, अमेरिका नेतृत्वकर्ता स्तर से हमारे प्रगाढ़ सहयोगियों, ऑस्ट्रेलिया और जापान के साथ हमेशा बहुत प्रगाढ़ रूप से बात करता रहा है। यह चिरस्थायी है। हम बेशक — हमारा सुरक्षा गठबंधन नहीं है — उनमें से किसी भी देश का भारत के साथ सुरक्षा गठबंधन नहीं है। भारत निस्संदेह बढ़ता हुआ महत्वपूर्ण सुरक्षा भागीदार है। यह स्वाभाविक है कि इस बात पर विचार करते हुए कि वह भारत-प्रशांत क्षेत्र का संकल्पनात्मक रूप से पश्चिमी सिरा है; अमेरिका उसका पूर्वी सिरा है।

और यह ऐसा क्षेत्र है जिसमें विश्व के आधे से अधिक लोग हैं, विश्व की अर्थव्यवस्था के एक तिहाई से अधिक लोग हैं। अंततः, यह जल्द ही विश्व की अर्थव्यवस्था का आधा भाग होगा। और यह वह क्षेत्र है जिसमें चीन, जापान, कोरियाई प्रायद्वीप, उत्तर पूर्व एशिया सम्मिलित हैं। इसमें हमारे निकट भागीदार, न्यूज़ीलैंड और प्रशांत द्वीपों और दक्षिण में हमारे चिरस्थायी सहयोगी ऑस्ट्रेलिया के साथ ओशियानिया सम्मिलित हैं। पश्चिम में भारत, पूर्व में अमेरिका।

और बेशक, इन सबका चौराहा दक्षिण पूर्व एशिया है और यह उन कारणों में से एक कारण है कि राष्ट्रपति दक्षिण पूर्व एशिया में इस यात्रा पर बहुत-सा समय बिताने जा रहे हैं। इस यात्रा का सबसे लंबा चरण वियतनाम में होने जा रहा है, और वे फिलीपींस में भी इतना ही समय बिताने जा रहे हैं जहाँ वे विविध प्रकार की शिखर-वार्ताओं में भाग लेंगे — APEC; वे U.S.-ASEAN शिखर-वार्ता में मौजूद रहेंगे। वे ASEAN के साथ-साथ तब पूर्वी एशिया शिखर-वार्ता की 50वीं वर्षगाँठ मनाएंगे जब वे यहाँ होंगे।

हाँ, श्रीमान।

प्रश्न क्या आप उन चर्चाओं पर कुछ प्रकाश डाल सकते हैं जो EAS शिखर-वार्ता में भाग लेने के निर्णय के संबंध में की गईं? आखिरी बार, हमने यह सुना था कि आप राष्ट्रपति को हमेशा के लिए वाशिंगटन से बाहर नहीं रख सके, और अब राष्ट्रपति यह कहते हैं कि यह उनकी यात्रा का सबसे महत्वपूर्ण भाग है। तो उस तक पहुँचने के लिए क्या कुछ हुआ जहाँ हम आज हैं?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: वहाँ उसकी कुछ पुनर्व्यवस्था की गई — वापसी पर एक जगह रुकना था, और हमने यह निर्णय लिया कि जब तक हम वहाँ हैं, तब क्यों ने कुछ अतिरिक्त समय बिताएं और इसके बाद सीधे वाशिंगटन जाएं। तो, वे आएंगे — इससे यात्रा की कुल अवधि में ज्यादा वृद्धि नहीं होगी जिस तरीके से हमने इसे पुनर्व्यस्थित किया है।

लेकिन मेरे विचार में राष्ट्रपति — उन्होंने क्षेत्र में नेताओं से जितनी अधिक बातचीत की है, उतना ही क्षेत्र में उन्होंने नेताओं से अधिक सुना है — वे उन्हें — उन्हें उन्हें शिखर-वार्ता में देखना वास्तव में बहुत अच्छा लगेगा। और इसलिए उन्होंने कहा, कि यह उचित है, आइए हम इसे करें। और वे इससे बहुत खुश हैं कि वे वहाँ उस अंतिम पड़ाव के लिए जा रहे हैं।

हाँ, मैडम।

प्रश्न हैलो, मैं CBS से मार्गरेट ब्रेनन हूँ। मुझे एक प्रश्न पूछना है। आपने उत्तरी कोरिया के संबंध में पहले कहा कि उत्तरी कोरिया से खतरे को नियंत्रित करने और उसका सामना करने के लिए समर्थ होने पर ध्यान दिया जा रहा है। क्या यह नियंत्रण किसी प्रकार की संलग्नता की पूर्व-शर्त के रूप में परमाणु हथियारों से रहित करने के मुकाबले वास्तव में ठीक इस समय का एक फोकस है? क्या आप इसे थोड़ा स्पष्ट कर सकते हैं? क्योंकि इस समय ऐसे बहुत से लोग हैं जो यह कह रहे हैं कि बिल्ली बैग से बाहर है; बस किसी प्रकार की ऐसी बातचीत आरंभ करें जिसमें आप वास्तव में आप किसी प्रकार मना करने की बजाय ऐसा मूल्यांकन कर सकें कि ज़मीन पर क्या हो रहा है —

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: बढ़िया। नहीं, मुझे खुशी हुई कि आपने यह पूछा। मैं उस मुद्दे को स्पष्ट करना चाहता हूँ। अमेरिका — वापस 1953 पर जाते समय नियंत्रण का तत्व रहा है। इसलिए नियंत्रण कुछ ऐसा नहीं है — यह ऐसा नहीं है — मेरे द्वारा उस शब्द का इस्तेमाल करना किसी भी तरह से यह व्यक्त नहीं करता कि हम उत्तरी कोरिया को पूरी तरह से अपलट रूप से परमाणु हथियारों से रहित करने की किसी दिशा में बढ़ रहे हैं।

नियंत्रण अभी भी अब 67 वर्ष वापस जाने की प्रचालक संकल्पना है क्योंकि — 64 वर्ष — क्योंकि उत्तरी कोरिया का लक्ष्य प्रायद्वीप में यथास्थिति बरकरार रखने के लिए बस उन भयावह हथियारों को अर्जित करना ही नहीं है, यह उस यथास्थिति को मूलभूत रूप से परिवर्तित करने के लिए इन हथियारों को प्राप्त करना चाहता है। जैसा कि बताया गया है, इसका प्राथमिक लक्ष्य — और प्रेस प्रायः उसे व्यक्त नहीं करता जो उत्तरी कोरिया स्वयं कह रहा है — इसका लक्ष्य दक्षिण कोरिया को फिर से एकीकृत करना है। ये हथियार दक्षिण कोरिया के साथ फिर से एकीकृत करने की योजना के भाग हैं।

इसलिए वहाँ हमेशा निवारण और नियंत्रण और इसे प्रायद्वीप को परमाणु हथियारों से रहित करके सुलझाने का निरंतर तत्व है।

प्रश्न लेकिन क्या अभी भी उस बारे में किसी प्रकार की बातचीत करने के इच्छुक हैं? मेरा मतबल है, हमने अंतिम बार यह सुना, कोई प्रत्यक्ष बातचीत नहीं की गई थी। तो आप उसे कैसे प्राप्त करेंगे जिसका आपने अभी उल्लेख किया है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: तो राष्ट्रपति की रणनीति — और यह रणनीति हमारे सहयोगियों, दक्षिण कोरिया और जापान, और वृद्धिमान रूप से पूरे विश्व के अनुरूप है — से पूर्ण रूप से अनुरूप है और यह दबाव को अधिकतम करने के लिए है। यह उत्तरी कोरिया पर दबाव को अधिकतम करने के लिए कूटनीतिक और आर्थिक अभियान है – उत्तरी कोरिया में नेतृत्व को यह दिखाने के लिए, वास्तव में इससे आश्वस्त करने के लिए कि उनके लिए एक समाधान धमकियों में कमी करना और परमाणु हथियारों से रहित होने की दिशा की ओर बढ़ना है।

महोदय।

प्रश्न पोस्ट की ओर से डेविड नाकामुरा। मैं यह जानना चाहता था कि क्या आप बता सकते हैं — मेरे विचार में आपने संभवतः किसी कॉन्फ्रेंस कॉल में वाशिंगटन में अपहृत व्यक्तियों के परिवारों से मिलने के बारे में थोड़ी बात की थी।

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हाँ।

प्रश्न क्या आप इस संबंध में थोड़ा और विवरण दे सकते हैं कि क्या आपने व्यक्तिगत रूप से राष्ट्रपति के साथ चर्चा आरंभ की और उनकी प्रतिक्रिया क्या थी। और इसके बाद, हमें इस बारे में थोड़ा बताएं कि राष्ट्रपति परिवारों को क्या कहने की अपेक्षा करते हैं और विश्व के नाम उनका क्या संदेश है। क्या यह परमाणु हथियारों की तुलना में किसी भिन्न तरीके में, किसी अधिक मानवीय तरीके में उत्तरी कोरिया के खतरे पर जोर देने का प्रयास है?

और इस संबंध में एक अन्य मुद्दा: वाशिंगटन में कुछ दिन पहले रिपोर्टरों को जानकारी देने वाले जापानी अधिकारियों ने यह कहा कि उन्हें लगता है कि ओबामा प्रशासन — राष्ट्रपति ओबामा, हालाँकि वे कुछ परिवारों से मिले थे, उनकी उनके साथ संभवतः आगे की कार्रवाई करने में अधिक रुचि नहीं थी, और यह कि राष्ट्रपति ट्रम्प से संभवतः उनकी अधिक आशाएं थीं। मैं यह जानना चाहता था कि क्या राष्ट्रपति ओट्टो वार्मबियर के बारे में बात करेंगे और इसका उस रूप में वर्णन करेंगे, और वे इन परिवारों के लिए क्या कर सकते हैं या वे क्या उल्लेख करना चाहते हैं।

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हाँ, मुझे इस वर्ष के प्रारंभ में उन परिवारों से मिलने का अवसर मिला और मैंने इस बारे में राष्ट्रपति को जानकारी दी और उनकी उनकी कहानियों में बहुत रुचि थी। उन्होंने निस्संदेह संयुक्त राष्ट्र महासभा में कुछ महीने पहले युवा मेगुमी की की कहानी को सम्मिलित करने का निर्णय लिया। और इसलिए वे यहाँ कुछ परिवारों से मिलना चाहते थे।

हम यह देखने के लिए प्रतीक्षा करेंगे कि वे सीधे उनके साथ क्या चर्चा करते हैं। लेकिन मेरा विचार है कि आप अगली बैठक में, लेकिन सियोल में उनके अगले भाषण में भी इसे देखने जा रहे हैं – उत्तरी कोरिया में मानव अधिकारों की स्थिति के प्रायः उपेक्षित प्रश्न पर कुछ ध्यान देना। मैने सुना कि एक पत्रकार ने हाल में इसे मानवता के इतिहास में सबसे अधिक सर्वाधिकारवादी राज्य बताया। मैं ऐसा नहीं मानता कि यह अतिशयोक्ति है। और राष्ट्रपति इस पर अपना ध्यान दे रहे हैं —

प्रश्न उस भाषण में स्वयं उत्तरी कोरियाई लोगों की स्थितियों पर बात करते हुए जिसके बारे में आप बात कर रहे थे? या क्या वे — कुछ उन अमेरिकियों के बारे में बात करेंगे जिन्हें बंधक बनाया गया है —

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: निश्चित रूप से उत्तरी कोरिया के लोग स्वयं, लेकिन दुर्व्यवहार भी हैं — मेरा मतलब है कि यदि आप पूरे विश्व में उत्तरी कोरिया के आक्रमण के सभी पीड़ितों को देखें — चाहे यह एयरलाइनरों पर बमबारी करना हो या विदेश में आतंकवादी हमले करना हो, या वे सैंकड़ों हमले हों जो अमेरिका और दक्षिण कोरिया के कर्मचारियों के विरुद्ध दशकों में किए गए हैं, या जापानी नागरिकों के अपहरण हों, और बेशक दक्षिण कोरियाइयों के अपहरण हों जिन्हें वर्षों में अपहृत किया गया है — उस शासन व्यवस्था द्वारा शिकार बनाए गए सभी लोगों से मिलने पर पूरा जीवन बीत जाएगा और वे इस बारे में बात करने के लिए अभी तक जीवित हैं।

इसलिए वे परिवर्तन कर रहे हैं — या ऐसे तरीके से विशेष ध्यान दे रहे हैं जो मेरे विचार में उस शासन की प्रकृति पर और इस पर लंबे समय से बकाया है कि इसका उसके नागरिकों और हमारे सभी देशों में हमारे स्वयं के लोगों के लिए वास्तव में क्या अर्थ है।

हाँ, मैडम।

प्रश्न एक सेकंड के लिए वापस पूर्वी एशिया शिखर-वार्ता के मुद्दे पर। प्रशासन को आरंभ में तब थोड़ी-सी आलोचना मिली जब राष्ट्रपति यह कहते हुए पूर्ण शिखर-वार्ता में भाग लेने की योजना नहीं बना रहे थे कि अमेरिका एक नेतृत्व क्षण का त्याग कर रहा था। क्या इसे राष्ट्रपति के साथ साझा किया गया था? क्या यह ठहरने के लिए उनके निर्णय का भाग था? या क्या वहाँ कोई ऐसा भाव था कि आप लोगों ने इस शिखर-वार्ता के महत्व को तब कम आँका हो जब आपने इस यात्रा की आरंभ में योजना बनाई?
प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: मेरा मतलब है, निश्चित रूप से, मैंने आलोचना अनुभव की। मेरे विचार में इसे यह देखते हुए बढ़ा-चढ़ाकर कहा गया था कि राष्ट्रपति उन सभी — नेताओं, उन सभी नेताओं से मिलने जा रहे थे जो पूर्वी एशिया शिखर-वार्ता में भाग ले रहे थे। वे 12 तारीख को भव्य डिनर में भाग ले रहे थे। वे अगली सुबह उन सभी समारोहों के लिए उत्सवों को आरंभ करने करे लिए बैठक में भाग ले रहे थे।

लेकिन मेरे विचार में उन्होंने मित्रों और साथी नेताओं से यह सुना जिन्होंने यह कहा, “आप क्यों नहीं एक और अधिक यहाँ ठहर जाते” — ऐसा एक बातचीत में हुआ। उन्होंने कहा, आइए हम इसे करें, आइए, हम इसे करें।

Q क्या वहाँ विशेष रूप से कोई ऐसा व्यक्ति था जिससे उन्होंने बात की और जिसने उन्हें प्रभावित किया?
प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: यदि ईमानदारी से कहूँ, तो मुझे पक्का पता नहीं है कि क्या कोई एक विशेष बातचीत थी या कोई व्यक्ति था जिसने उन्हें प्रेरित किया। लेकिन जब मैंने उन्हें देखा और इस बारे में बातचीत की, तब उन्होंने कहा, यह उचित लगता है।

इसलिए तब समय निर्धारित करना आसान काम नहीं है जब आप राष्ट्रपति के सबसे लंबी यात्रा के लिए विदेश जा रहे हों। अब तो यह और भी थोड़ी लंबी है। लेकिन वे इस बारे में रोमांचित हैं कि वे इसमें जा रहे हैं।

जापानी प्रेस कोर्प्स से भी कोई व्यक्ति, क्या कोई मौजूद था —

प्रश्न सउदी अरब के बारे में एक प्रश्न। राष्ट्रपति ट्रम्प ने आज सम्राट सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ से बातचीत की। क्या — का मुद्दा

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: मैं क्षमा प्रार्थी हूँ, —

प्रश्न सउदी अरब फोन कॉल के बारे में —

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हमारे पास फोन कॉल का विवरण है —

प्रश्न — क्योंकि साम्राज्य में कुछ बड़ी घटनाएं हुई हैं और मैं जानना चाहता हूँ कि क्या यह —

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: मैं प्रश्न की सराहना करता हूँ, लेकिन यह — मैं आपको कोई उपयोग उत्तर नहीं देने जा रहा हूँ, इसलिए मैं किसी अन्य व्यक्ति का प्रश्न लेने जा रहा हूँ।

प्रश्न धन्यवाद। तो क्या राष्ट्रपति उत्तरी कोरिया को आतंकवाद के राज्य प्रायोजक का दर्जा देंगे? और यदि हाँ, तो हम कब ऐसे दर्जे की अपेक्षा कर सकते हैं? और क्या आप ऐसे कुछ उन विषयों के बारे में थोड़ी अधिक गहराई में जा सकते हैं जिन पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ऐबे ने आज तब चर्चा की जब वे इसे कल देखने के संबंध में गोल्फ खेल रहे थे?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: हाँ, तो प्रशासन और सेक्रेटरी टिलरसन और प्रशासन में अन्य व्यक्ति इस प्रश्न को अब बहुत गहराई से देख रहे हैं कि कोरिया को आतंकवाद का राज्य प्रायोजक का दर्जा दें या न दें। मैं आपके प्रश्न का बहुत जल्दी उत्तर चाहूँगा, लेकिन मेरे पास आपके लिए अभी कोई उत्तर नहीं है, लेकिन बहुत जल्द इसका उत्तर होगा।

और गोल्फ के संबंध में — आप जानते हैं, मैं जानता हूँ कि व्यापार नेताओं के बीच बातचीत का एक विषय था। उन्होंने उत्तरी कोरिया के बारे में भी थोड़ी बातचीत की। वे उस बारे में कल और आज रात डिनर में अधिक विस्तार से बात करेंगे। वे आज एक-दूसरे के साथ आज रात सीमित छोटा डिनर कर रहे हैं।

लेकिन, बेशक, यह उनकी सभी बातचीतों का विषय है, और वे मेरे विचार में वे किसी ऐसी जापानी और अमेरिकी नेता से अधिक बार बातचीत करते हैं जिसने कभी द्विपक्षीय संबंधों के इतिहास में कभी बात की है। संबंधों की निकटता अभूतपूर्व है। और जिस मात्रा में अमेरिकी और जापानी रणनीतियाँ कोरियाई प्रायद्वीप पर लेकिन पूरे भारतीय-प्रशांत में भी समन्वित हैं, वह भी अभूतपूर्व है।

प्रश्न क्या आज उन बातचीतों में कोई (न सुनाई देने योग्य) द्विपक्षीय व्यापार समझौता हुआ है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: मुझे इसमें आगे और कुछ नहीं कहना है। मुझे ब्यौरों की जानकारी नहीं है लेकिन मैं यह जानता हूँ कि व्यापार (न सुनाई देने योग्य) था।

प्रश्न जब आपने “बहुत जल्द” कहा, तब क्या इस यात्रा के संबंध में है?

प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी: ध्यान देते रहें! मेरे पास आपके लिए इस संबंध में उत्तर नहीं है।

समाप्त शाम 05:45 बजे HST


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें