rss

कोरिया गणराज्य की नेशनल असेंबली में राष्ट्रपति ट्रंप का संबोधन

English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, اردو اردو, 中文 (中国) 中文 (中国), Malay Malay, Tagalog Tagalog, Tiếng Việt Tiếng Việt

तत्काल जारी करने के लिए
नवंबर 8, 2017
नेशनल असेंबली बिल्डिंग
सोल, कोरिया गणराज्य
11:24 A.M. KST

 

 

राष्ट्रपति ट्रंप: असेंबली के स्पीकर चंग, असेंबली के सम्मानित सदस्यों, देवियों और सज्जनों: इस महान कक्ष में बोलने और संयुक्त राज्य अमेरिका के लोगों की तरफ से आपके लोगों को संबोधन के असाधारण सम्मान के लिए आपका शुक्रिया।

आपके देश में हमारे संक्षिप्त प्रवास के दौरान, मेलानिया और मैं यहां के प्राचीन और आधुनिक आश्चर्यों को देखकर रोमांचित हुए हैं, और हम आपके स्वागत की गर्मजोशी से बेहद प्रभावित हुए हैं।

गत रात, राष्ट्रपति और श्रीमती मून ने ब्लू हाऊस में एक खूबसूरत स्वागत समारोह में हमें अविश्वसनीय आतिथ्य दिखाया। हमारे बीच दोनों राष्ट्रों के बीच निष्पक्षता और पारस्परिकता के सिद्धांत पर सैन्य सहयोग बढ़ाने और व्यापारिक रिश्ते को बेहतर करने को लेकर उपयोगी बातचीत हुई।

इस पूरे दौरे के ज़रिए, अमेरिका और कोरियाई गणराज्य के बीच लंबी मित्रता को स्थापित करना और इसका उत्सव मनाना, हमारे लिए खुशी और सम्मान दोनों ही की बात है।

हमारे राष्ट्रों के बीच यह गठजोड़ युद्ध की कठिन घड़ी में तैयार हुआ था, और जो इतिहास की आज़माइशों से मज़बूत हुआ है। इन्चॉन लैंडिंग से लेकर पोर्क चॉप हिल तक, अमेरिकी और दक्षिण कोरियाई सैनिक साथ-साथ लड़े, साथ-साथ बलिदान दिया, और साथ-साथ जीते।

करीब 67 वर्ष पहले, 1951 के वसंत में, उन्होंने इस शहर के उन बचे हिस्से पर फिर से कब्ज़ा किया जहां आज हम इतने गर्व के साथ एकत्रित हुए हैं। ऐसा साल भर में दूसरी बार हुआ था जब हमारे संयुक्त बलों के जवान इस राजधानी को कम्युनिस्टों से वापस लेने में बड़ी संख्या में हताहत हुए।

अगले हफ्तों और महीनों के दौरान, हमारे जवानों ने खड़ी चढ़ाई वाले पहाड़ों और घमासान, रक्तरंजित लड़ाइयों का सामना किया। कई बार पीछे धकेले जाने के बावजूद, वे उत्तर की ओर बढ़े और वो सीमारेखा निर्मित की जो आज उत्पीड़ित और स्वतंत्र को विभाजित करती है। और वहां, अमेरिकी और दक्षिण कोरियाई सैनिक करीब सात दशकों से उस सीमा को मिलकर संभाले हुए हैं। (तालियां।)

1953 में युद्धविराम पर हस्ताक्षर होने तक, कोरियाई युद्ध में 36,000 अमेरिकियों की मौत हो चुकी थी, और 100,000 से अधिक अन्य बुरी तरह घायल हुए थे। वे नायक हैं, और हम उन्हें सम्मान देते हैं। आपके देशवासियों ने अपनी स्वतंत्रता के लिए जो कीमत चुकाई, हम उसे भी सम्मान देते हैं और याद करते हैं। उस भयानक युद्ध में आपने लाखों बहादुर सैनिकों और असंख्या निर्दोष नागरिकों को खोया।

इस महान नगर सोल का अधिकांश हिस्सा मलबे में बदल गया था। इस देश का बड़ा हिस्सा प्रभावित हुआ – गंभीर, गंभीर रूप से चोटिल हुआ – उस भयंकर युद्ध से। इस राष्ट्र की अर्थव्यवस्था नष्ट हो गई।

पर जैसा कि सारी दुनिया जानती है, अगली दो पीढ़ियों के दौरान इस प्रायद्वीप के दक्षिणी हिस्से में कुछ चमत्कार हुआ। परिवार दर परिवार, शहर दर शहर, दक्षिण कोरिया के लोगों ने इस देश को बनाया जो आज दुनिया के महान राष्ट्रों में एक है। और मैं आपको बधाई देता हूं। (तालियां।) एक जीवनकाल से भी कम समय में, दक्षिण कोरिया पूरी तरह नष्ट होने की अवस्था से निकलकर धरती के सर्वाधिक धनवान राष्ट्रों के बीच आ खड़ा हुआ।

आज, आपकी अर्थव्यवस्था 1960 के मुकाबले 350 गुना से भी ज्यादा बड़ी है। व्यापार में 1,900 गुना बढ़ोत्तरी हुई है। जीवन प्रत्याशा मात्र 53 वर्ष से बढ़कर आज 82 वर्षों से भी अधिक है।

कोरिया की तरह, और ठीक एक साल पहले आज ही के दिन मेरे चुने जाने के कारण, मैं आपके साथ जश्न मनाता हूं। (तालियां।) अमेरिका खुद मानो एक चमत्कारिक दौर से गुजर रहा है। हमारा शेयर बाज़ार अब तक के उच्चतम बिंदु पर है। बेरोज़गारी 17 वर्षों में सबसे कम है। हम आइसिस को पराजित कर रहे हैं। हम अपनी न्यायपालिका को मज़बूत बना रहे हैं, जिसमें सुप्रीम कोर्ट के एक प्रतिभावान जज शामिल हैं, और इससे भी आगे, और आगे, और आगे।

इस समय इस प्रायद्वीप के करीब ही दुनिया के तीन वृहतम विमानवाहक पोत तैनात हैं, शानदार एफ-35 और एफ-18 युद्धक विमानों की अधिकतम क्षमता के साथ। इसके साथ ही, हमारी परमाणु पनडुब्बियां उचित जगहों पर तैनात हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका, मेरे प्रशासन में, अपनी सेना को पूरी तरह से पुनर्निर्मित कर रहा है और इस समय दुनिया में कहीं भी निर्मित हो रहे नवीनतम एवं सबसे बेहतर सैन्य साजोसामान पर सैंकड़ो अरब डॉलर खर्च कर रहा है। मैं ताक़त के ज़रिए शांति चाहता हूं। (तालियां।)

हम कोरिया गणराज्य की मदद कर रहे हैं, किसी अन्य देश के मुकाबले कहीं ज़्यादा। और, अंतत:, हम उससे कहीं बेहतर करेंगे जितना कि कोई समझता हो या सोच सकता हो। मैं जानता हूं कि कोरिया गणराज्य, जो कि बेहद सफल राष्ट्र बन चुका है, भविष्य में लंबे समय तक अमेरिका का विश्वसनीय सहयोगी बना रहेगा। (तालियां।)

आपने जो निर्मित किया है वह वास्तव में प्रेरणादायक है। आपका आर्थिक परिवर्तन राजनीतिक परिवर्तन से जुड़ा था। आपके राष्ट्र के स्वाभिमानी, संप्रभु, और स्वतंत्र लोगों ने खुद को शासित करने के अधिकार की मांग की। आपने 1988 में स्वतंत्र संसदीय चुनाव कराए, जिस वर्ष आपने अपने पहले ओलंपिक्स की भी मेज़बानी की।

इसके तुरंत बाद, आपने तीन दशकों से भी अधिक समय बाद अपना पहला असैन्य राष्ट्रपति चुना। और जब आपके अपने गणराज्य को वित्तीय संकटों का सामना करना पड़ा, आप लाखों की संख्या में आगे आए अपनी बेशकीमती चीज़ों को सौंपने के लिए – अपनी शादी की अंगूठियां, पुश्तैनी चीज़ें, और सोने की “सौभाग्यशाली चाबियां” – अपने बच्चों से किए बेहतर भविष्य के वायदे को बहाल करने के लिए। (तालियां।)

आपकी संपत्ति पैसे से अधिक मानी जाती है – इसे मन की उपलब्धियों और भावना की उपलब्धियों से मापा जाता है। पिछले कुछ दशकों के दौरान, आपके वैज्ञानिकों और इंजीनियरों ने – ढेर सारी शानदार चीज़ें निर्मित की हैं। आपने टेक्नोलॉजी की सीमाओं का विस्तार किया, चमत्कारिक चिकित्सीय उपचारों की शुरुआत की, और ब्रह्मांड के रहस्यों को सुलझाने में आप अग्रणी बनकर उभरे।

कोरियाई लेखकों ने इस साल करीब 40,000 किताबें लिखी हैं। कोरियाई संगीतकार दुनिया भर में कंसर्ट हॉल को भर देते हैं। युवा कोरियाई छात्र किसी भी देश के मुकाबले ज़्यादा तेज़ी से कॉलेज की पढ़ाई पूरी करते हैं। और कोरियाई गोल्फर धरती के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से हैं। (तालियां।)

वास्तव में – और आप जानते हैं मैं क्या कहने जा रहा हूं – महिलाओं का यूएस ओपन इस साल बेडमिंस्टर, न्यूजर्सी के ट्रंप नेशनल गोल्फ क्लब में आयोजित हुआ, और उसमें विजेता रहीं एक महान कोरियाई गोल्फर, सुंग-ह्यून पार्क। शीर्ष 10 खिलाड़ियों में से आठ कोरिया से थीं। और शीर्ष चार गोल्फर – एक, दो, तीन, चार – शीर्ष चार कोरिया से थीं। बधाई। (तालियां।) बधाई। और यह बड़ी बात है। यह वास्तव में बड़ी बात है।

यहां सोल में, सिक्स्टी-थ्री बिल्डिंग और लोटे वर्ल्ड टॉवर जैसे स्थापत्य के चमत्कार – बहुत खूबसूरत – आसमान को मोहक बनाते हैं और अनेक उभरते उद्योगों के कामगारों को आश्रय देते हैं।

आपके नागरिक अब भूखों का पेट भरने, आतंकवाद का मुकाबला करने, और दुनिया भर में समस्याओं के समाधान में सहायता करते हैं। और कुछ महीनों में, आप दुनिया की मेज़बानी करेंगे और आप 23वें शीतकालीन ओलंपिक खेलों में शानदार प्रदर्शन करेंगे। शुभकामनाएं। (तालियां।)

कोरियाई चमत्कार बिल्कुल वहीं तक है 1953 में जहां तक मुक्त राष्ट्रों की सेनाएं गई थीं – उत्तर में 24 मील दूर तक। वहां, यह रुक जाता है; यह सब वहीं खत्म हो जाता है। पूर्ण ठहराव। समृद्धि खत्म हो जाती है, और उत्तर कोरिया का कारागार राज्य दुखद रूप से आरंभ हो जाता है।

उत्तर कोरिया में कामगार असहनीय परिस्थितियों में कठिन श्रम करते हैं लगभग बिना पैसे के। हाल में, श्रम सक्षम पूर्ण आबादी को लगातार 70 दिनों तक काम करने, या फिर एक दिन के विश्राम के लिए भुगतान करने को कहा गया था।

परिवार बिना नलसाज़ी वाले घरों में रहते हैं, और आधे से भी कम घरों में बिजली है। माता-पिता शिक्षकों को रिश्वत देते हैं इस उम्मीद में कि वे उनके बेटों और बेटियों को ज़बरन श्रम से बचा सकेंगे। उत्तर कोरिया के दस लाख से ज़्यादा लोग 1990 के दशक में अकाल की भेंट चढ़े, और आज भी लोग भूख से मर रहे हैं।

पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों में, करीब 30 प्रतिशत पीड़ित हैं – और पीड़ित हैं कुपोषण के कारण बाधित विकास से। पर फिर भी, 2012 और 2013 में, शासन ने इसकी बजाय अनुमानित 200 मिलियन डॉलर खर्च किए – या अपनी जनता के जीवन स्तर को उठाने के लिए आवंटित धन का करीब आधा – अपने तानाशाहों के महिमामंडन के लिए और स्मारक, टॉवर, और मूर्तियों के निर्माण पर।

उत्तर कोरिया की अर्थव्यवस्था का जो थोड़ा सा भी प्रतिफल होता है उसे एक भ्रष्ट शासन के प्रति अनुमानित वफादारी के आधार पर बांटा जाता है। अपने लोगों को बराबर के नागरिकों के रूप में देखने की जगह, यह क्रूर तानाशाही राज्य के प्रति उनकी निष्ठा के अत्यधिक मनमाने पैमाने पर उन्हें आंकती है, उन्हें स्कोर देती है और उनकी रैंकिंग करती है। निष्ठा को लेकर सर्वाधिक स्कोर हासिल करने वाले राजधानी में रह सकते हैं। जिनका स्कोर कम होता है वे भूखे मरते हैं। किसी नागरिक का किया छोटा सा अतिक्रमण, जैसे किसी फेंके गए अखबार में छपी तानाशाह की तस्वीर पर अनचाहे दाग लगाना, कई दशकों के लिए उसके पूरे परिवार की सामाजिक साख रैंकिंग को खराब कर सकता है।

अनुमानित 100,000 उत्तर कोरियाई गुलागों में कष्ट झेल रहे हैं, ज़बरन कठिन श्रम करने को मजबूर हैं, और निरंतर उत्पीड़न, भुखमरी, बलात्कार, और हत्या का सामना कर रहे हैं।

एक ज्ञात घटना में, एक 9-वर्षीय बालक को 10 साल के लिए जेल भेज दिया गया क्योंकि उसके दादा पर देशद्रोह का आरोप था। एक अन्य मामले में, स्कूल में एक छात्र को किम जोंग-उन के जीवन की एक बात भूलने पर पीटा गया।

सैनिकों ने विदेशियों का अपहरण कर उन्हें उत्तर कोरियाई जासूसों के लिए भाषा शिक्षक के रूप में काम करने के लिए बाध्य किया है।

युद्ध से पहले कोरिया का जो हिस्सा ईसाइयत का गढ़ था, वहां ईसाई और अन्य धर्मावलंबी जो प्रार्थना करते या किसी तरह की धार्मिक किताब रखते पाए गए, उन्हें हिरासत में लिया गया, उत्पीड़ित किया गया, और अनेक मामलों में, उन्हें मौत के घाट तक उतारा गया।

उत्तर कोरियाई महिलाओं को जातीय रूप से हीन माने जाने वाले बच्चों के गर्भपात के लिए बाध्य या जाता है। और यदि ये बच्चे पैदा होते हैं तो उन नवजातों की हत्या कर दी जाती है।

एक महिला का चीनी पति से बच्चा हुआ तो उसे छीनकर बाल्टी में ले जाया गया। सुरक्षाकर्मियों ने कहा कि बच्चा “जीने लायक नही था क्योंकि वह अशुद्ध था।”

इसलिए चीन उत्तर कोरिया की मदद को अपना दायित्व क्यों मानेगा?

उत्तर कोरिया में जीने का आतंक इतना ज़्यादा है कि नागरिक खुद को गुलामों के रूप में विदेश भेजने के लिए सरकारी अधिकारियों को रिश्वत देते हैं। वे उत्तर कोरिया में रहने के बजाय गुलाम बनकर रहना पसंद करेंगे।

पलायन का प्रयास करना मौत की सज़ा वाला अपराध है। भागकर आए एक व्यक्ति की टिप्पणी थी, “अब जब मैं उस बारे में सोचता हूं, मैं एक मानव जैसा नहीं था। मैं जानवर के सदृश्य ज़्यादा था। उत्तर कोरिया छोड़ने के बाद ही हमें पता चला कि ज़िंदगी कैसी होनी चाहिए थी।”

इस तरह, इस प्रायद्वीप पर, हमने इतिहास की एक प्रयोगशाला में एक दुखद प्रयोग के परिणाम देखे हैं। यह एक जनता, लेकिन दो कोरिया की कहानी है। एक कोरिया जहां लोगों ने अपनी ज़िंदगियों और अपने देश की कमान संभाली, और स्वतंत्रता एवं न्याय, मानव सभ्यता, और अविश्वसनीय उपलब्धियों वाले भविष्य का विकल्प चुना। और एक अन्य कोरिया जहां नेता तानाशाही, फासीवाद, और उत्पीड़न के तहत अपने ही लोगों को कैद करते हैं। इस प्रयोग के परिणाम आ गए हैं, और जो पूरी तरह निर्विवाद हैं।

जब 1950 में कोरियाई युद्ध शुरू हुआ, दोनों कोरिया प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद में लगभग बराबर थे। पर 1990 के दशक के आते-आते, दक्षिण कोरिया की संपत्ति उत्तर कोरिया के मुकाबले 10 गुना ज़्यादा हो गई। और आज, दक्षिण की अर्थव्यवस्था करीब 40 गुना बड़ी है। आपने कुछ दिन पहले एक जैसा शुरू किया, और आज आप 40 गुना बड़े हैं। आप कुछ सही कर रहे हैं।

उत्तर कोरियाई तानाशाही द्वारा थोपी मुसीबत को देखते हुए, आश्चर्य नहीं कि अपनी जनता को इस क्रूर विरोधाभास को समझने से रोकने के लिए यह और अधिक निराशाजनक उपायों को अपनाने के लिए बाध्य हुई है।

क्योंकि इस शासन को सर्वाधिक भय सच्चाई का है, यह बाह्य जगत से लगभग सारे संपर्कों की मनाही करता है। न सिर्फ मेरा आज का भाषण, बल्कि दक्षिण कोरियाई जीवन के सबसे सामान्य तथ्य तक उत्तर कोरिया के लोगों के लिए वर्जित ज्ञान है। पश्चिमी और दक्षिण कोरियाई संगीत पर रोक है। विदेशी मीडिया रखना मौत की सज़ा वाला अपराध है। नागरिक एक-दूसरे की जासूसी करते हैं, उनके घरों की कभी भी तलाशी ली जा सकती है, और उनकी हर गतिविधि पर निगरानी रखी जाती है। एक जीवंत समाज की जगह, वास्तव में दिन के हर घंटे उत्तर कोरिया के लोगों पर सरकारी प्रचार की बौछार होती है।

उत्तर कोरिया एक ऐसा देश है जो एक गुप्त संप्रदाय जैसा शासित है। इस सैन्य संप्रदाय के केंद्र में है एक पैत्रिक संरक्षक के रूप में विजित कोरियाई प्रायद्वीप और गुलाम कोरियाई लोगों पर शासन करने की नेता की नियति पर एक सनक भरा विश्वास।

दक्षिण कोरिया जितना अधिक सफल होता है, उतने ही निर्णायक ढंग से आप किम शासन के केंद्र में स्थित बुरी फंतासी की पोल खोलते हैं।

इस तरह, एक संपन्न दक्षिण कोरियाई गणराज्य की मौजूदगी उत्तर कोरियाई तानाशाही के अस्तित्व के लिए खतरा बन जाती है।

यह नगर और यह असेंबली प्रत्यक्ष प्रमाण हैं कि एक मुक्त और स्वतंत्र कोरिया दुनिया के राष्ट्रों के बीच सशक्त, संप्रभु और गौरवान्वित खड़ा रह सकता ही नहीं, बल्कि खड़ा है। (तालियां।)

यहां, राष्ट्र की ताक़त किसी तानाशाह के झूठे महिमामंडन से नहीं आती है। यह सशक्त और महान लोगों – कोरिया गणराज्य के लोग – की सच्ची और ताक़तवर महिमा से आती है, कोरियाई जनता जो जीने, समृद्ध होने, उपासना करने, प्रेम करने, निर्माण करने, और खुद की नियति गढ़ने के लिए स्वतंत्र हैं।

इस गणराज्य में, लोगों ने वह कर दिखाया है जो कोई तानाशाह कभी नहीं कर सकता – आपने, अमेरिका की मदद से, खुद की और भविष्य के स्वामित्व की ज़िम्मेदारी ली। आपका एक सपना था – एक कोरियाई सपना – और आपने उस सपने को एक महान वास्तविकता का रूप दे दिया।

ऐसा करते हुए आपने हान पर चमत्कार कर दिखाया जो हम चारों ओर देखते हैं, सोल के आश्चर्यजनक क्षितिज से लेकर इस सुंदर परिदृश्य के मैदानों और चोटियों तक। आपने ये मुक्त रूप से किया, आपने ये खुश रहकर किया, और आपने ये अपने खुद के सुंदर तरीके से किया।

यह वास्तविकता – यह अदभुत जगह – आपकी सफलता उत्तर कोरियाई शासन के लिए चिंता, खतरे, और बेचैनी का भी बड़ा कारण है। इसलिए किम शासन देश से बाहर संघर्ष चाहता है – अपने घर में पूरी विफलता से ध्यान बंटाने के लिए।

तथाकथित युद्धविराम के बाद से, अमेरिकियों और दक्षिण कोरियाइयों पर सैंकड़ो हमले हुए हैं। इन हमलों में यूएसएस प्यूबलो के बहादुर अमेरिकी सैनिकों को बंदी बनाया जाना एवं प्रताड़ित किया जाना, अमेरिकी हेलिकॉप्टरों पर बार-बार हुए हमले, और 1969 में एक अमेरिकी निगरानी विमान को गिराया जाना शामिल हैं जिसमें 31 अमेरिकी सैनिकों की मौत हुई थी। इस शासन ने दक्षिण कोरिया में कई घातक घुसपैठें कीं, वरिष्ठ नेताओं की हत्या का प्रयास किया, दक्षिण कोरियाई जहाजों को निशाना बनाया, और ऑटो वामबियर को प्रताड़ित किया, जिससे अंतत: उस उत्कृष्ट युवक की मौत हुई।

हर समय, इस शासन ने परमाणु हथियार हासिल करने की कोशिश की इस भ्रामक उम्मीद में कि यह ब्लैकमेल के ज़रिए अपना अंतिम लक्ष्य हासिल कर सकेगा। और उस उद्देश्य को हम हासिल नहीं करने दे रहे। हम यह हासिल करने नहीं दे रहे। समूचा कोरिया उस दौर में है, आधे में विभाजित। दक्षिण कोरिया कभी भी वह नहीं होने देगा जो उत्तर कोरिया में हो रहा है।

उत्तर कोरिया शासन ने अमेरिका और उसके मित्र राष्ट्रों को दिए प्रत्येक आश्वासन, समझौता, और वचनबद्धता की अवहेलना करते हुए अपने परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को जारी रखा है। इसने उन तमाम वचनबद्धताओं का उल्लंघन किया है। अपने प्लूटोनियम कार्यक्रम को 1994 में रोक देने का वायदा कर, इसने समझौते का फायदा उठाया और फिर – और फिर तत्काल अपनी अवैध परमाणु गतिविधियों को दोबारा शुरू कर दिया।

2005 में, वर्षों की कूटनीति के बाद, तानाशाही शासन अंतत: अपना परमाणु कार्यक्रम छोड़ने और परमाणु अप्रसार संधि में शामिल होने को राज़ी हुआ। लेकिन इसने ऐसा कभी नहीं किया। और उससे भी बुरा, इसने उन हथियारों का ही परीक्षण कर डाला जिन्हें त्यागने की बात की थी। 2009 में अमेरिका ने बातचीत को एक और मौका दिया, और उत्तर कोरिया को जुड़ने की सीधी पेशकश की। शासन की प्रतिक्रिया दक्षिण कोरियाई नौसेना के एक जहाज को डुबोने के रूप में आई, जिसमें 46 कोरियाई नौसैनिकों की मौत हो गई। आज तक, यह जापान और अन्य पड़ोसी देशों की संप्रभुता वाले इलाकों के ऊपर मिसाइलें छोड़ना, परमाणु हथियारों का परीक्षण करना, और अमेरिका तक के लिए खतरा बनने वाले अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों का विकास करना जारी रखे हुए है। इस शासन ने अमेरिका के विगत में दिखाए संयम को कमज़ोरी के रूप में लिया है। यह एक घातक गलत अनुमान होगा। यह प्रशासन अमेरिका के पहले के प्रशासनों से बहुत अलग है।

आज, मैं उम्मीद करता हूं कि मैं न सिर्फ हमारे देशों के लिए, बल्कि सभी सभ्य राष्ट्रों की तरफ से बोल रहा हूं, जब मैं उत्तर कोरिया से कहता हूं: हमें कम मत आंको, और हमारी परीक्षा मत लो। हम अपनी साझी सुरक्षा, अपनी साझी समृद्धि, और पावन स्वतंत्रता की रक्षा करेंगे।

हमने यहां इस प्रायद्वीप – (तालियां) – इस शानदार प्रायद्वीप – पर सभ्यता की पतली रेखा खींचने का विकल्प नहीं चुना था, जो कि पूरी दुनिया में और काल में खिंची है। लेकिन यह यहां खींची गई, और आज भी मौजूद है। यह रेखा शांति और युद्ध के बीच है, शालीनता और भ्रष्टता के बीच है, कानून और तानाशाही के बीच है, आशा और पूर्ण निराशा के बीच है। यह रेखा इतिहास में कई बार, कई जगह खींची जा चुकी है। इस रेखा को बनाए रखना एक विकल्प है जो मुक्त राष्ट्रों को हमेशा चुनना पड़ा है। हमने कमज़ोरी की बड़ी कीमत और इसकी सुरक्षा के ऊंचे दांव को साथ-साथ समझा है।

अमेरिकी सेना के पुरुषों और महिलाओं ने नाज़ीवाद, साम्राज्यवाद, साम्यवाद और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अपनी जान दी हैं।

अमेरिका संघर्ष या टकराव नहीं चाहता, लेकिन हम इससे कभी नहीं भागेंगे। इतिहास ठुकरा दिए गए शासनों से भरा है जिन्होंने अमेरिका की प्रतिबद्धता को परखने की मूर्खता की।

जो कोई भी अमेरिका की ताक़त या प्रतिबद्धता पर संदेह करता हो, उसे हमारे अतीत में झांकना चाहिए, और उसका संदेह दूर हो जाएगा। हम अमेरिका और उसके मित्र राष्ट्रों को ब्लैकमेल किए जाने या उन पर हमले की अनुमति नहीं देंगे। हम अमेरिकी नगरों के विनाश के खतरे को स्वीकार नहीं करेंगे। हमें धमकाया नहीं जा सकता। हम इतिहास के निकृष्टतम अत्याचारों को यहां, इस भूमि पर दोहराए जाने की अनुमति नहीं देंगे, जिसे कि सुरक्षित रखने के लिए हम इतना लड़े और मरे। (तालियां।)

इसीलिए मैं यहां आया हूं, मुक्त और संपन्न कोरिया के हृदयस्थल पर, दुनिया के अमनपसंद देशों के लिए एक संदेश के साथ: बहानों का समय खत्म हो गया है। अब समय ताक़त का है। यदि आपको शांति चाहिए, आप हमेशा सशक्त खड़े रहें। (तालियां।) दुनिया एक दुष्ट शासन के खतरे को सहन नहीं कर सकती जो कि परमाण्विक तबाही की धमकी देता हो।

तमाम ज़िम्मेदार राष्ट्रों को उत्तर कोरिया के क्रूर शासन को अलग-थलग करने के एकजुट होना होगा – इसे और किसी भी — इसके किसी भी रूप को दूर रखने के लिए। आप समर्थन नहीं कर सकते, आप आपूर्ति नहीं कर सकते, आप स्वीकार नहीं कर सकते। हम हर राष्ट्र का आहवान करते हैं, चीन और रूस समेत, संयुक्तराष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को पूरी तरह लागू करने के लिए, इस शासन के साथ अपने कूटनीतिक रिश्तों को कम करने के लिए, और व्यापार एवं प्रौद्योगिकी के सारे संबंधों को तोड़ने के लिए।

इस खतरे से मिलकर निपटना हमारी ज़िम्मेदारी और हमारा कर्तव्य है – क्योंकि जितना हम इंतजार करेंगे, खतरा उतना ही बढ़ेगा, और विकल्प कम होते जाएंगे। (तालियां।) और उन राष्ट्रों के लिए जो इस खतरे को नज़रअंदाज़ करते हैं, या, उससे भी बुरा, इसमें योगदान देते हैं, इस संकट का बोझ आपकी आत्मा पर है।

मैं उत्तर कोरिया की तानाशाही के नेता के नाम एक सीधा संदेश देने के लिए भी इस प्रायद्वीप पर आया हूं: आप जो हथियार जुटा रहे हैं वे आपको सुरक्षित नहीं बना रहे। वे आपके शासन को गंभीर खतरे में डाल रहे हैं। इस अंधेरी राह पर आपका हर कदम आपके संकट को बढ़ा रहा है।

उत्तर कोरिया वह स्वर्ग नहीं है जिसकी आपके दादा ने कल्पना की थी। यह एक नरक है जो किसी को भी नहीं मिलना चाहिए। फिर भी, आपने ईश्वर और लोगों के खिलाफ जो भी अपराध किए हों, हम पेशकश के लिए तैयार हैं, और हम ऐसा करेंगे – हम कहीं बेहतर भविष्य की राह की पेशकश करेंगे। यह शुरू होता है आपके शासन की आक्रामकता के अंत, बैलिस्टिक मिसाइल के विकास पर रोक, तथा पूर्ण, जांच योग्य, एवं संपूर्ण परमाणु शस्त्र त्याग के साथ। (तालियां।)

इस प्रायद्वीप की आसमान से ली गई एक तस्वीर में दक्षिण में चमकदार रोशनी से भरा एक राष्ट्र दिखता है और उत्तर में अभेद्य अंधेरे वाला एक क्षेत्र। हम प्रकाश, संपन्नता, और शांति का भविष्य चाहते हैं। पर हम उत्तर कोरिया के लिए इस चमकीली राह पर चर्चा के लिए तभी तैयार होंगे जब इसके नेता अपनी धमकियों को बंद करेंगे और अपने परमाणु कार्यक्रम को खत्म करेंगे।

उत्तर कोरिया का दुष्ट शासन सिर्फ एक चीज़ के बारे में सही है: कोरियाई लोगों की नियति गौरवशाली है, लेकिन वे इस नियति के रूप के बारे में और अधिक गलत नहीं हो सकते। कोरिया के लोगों की नियति उत्पीड़न के बंधन में कष्ट सहने की नहीं है, बल्कि आज़ादी के वैभव में फलने-फूलने की है। (तालियां।)

इस प्रायद्वीप में दक्षिण कोरिया ने जो हासिल किया है वह आपके राष्ट्र की जीत से ज़्यादा है। यह मानवीय भावना में यकीन करने वाले प्रत्येक राष्ट्र के लिए एक जीत है। और यह हमारी उम्मीद है कि, जल्दी ही एक दिन, उत्तर में आपके सभी भाई और बहन ईश्वर प्रदत्त जीवन का पूर्ण आनंद ले सकेंगे।

आपका गणराज्य हम सबको दिखाता है कि क्या संभव है। मात्र कुछ ही दशकों में, सिर्फ कड़ी मेहनत, साहस, और अपनी जनता की प्रतिभा से, आपने इस युद्ध से जर्जर भूमि को धन से भरे, संस्कृति से समृद्ध, और गहरी भावनाओं वाले राष्ट्र में बदल दिया। आपने ऐसा घर बनाया जहां सारे परिवार फल-फूल सकते हैं और जहां सारे बच्चे खिल सकते हैं और खुश रह सकते हैं।

यह कोरिया स्वतंत्र, आत्मविश्वासी और अमनपसंद राष्ट्रों के महान समुदाय के बीच सशक्त और गर्व से खड़ा है। हम ऐसे राष्ट्र हैं जो अपने नागरिकों का सम्मान करते हैं, अपनी स्वतंत्रता को संजोते हैं, अपनी संप्रभुता की फिक्र करते हैं, और अपनी नियति को नियंत्रित करते हैं। हम हर व्यक्ति की गरिमा का समर्थन करते हैं और हम इंसान की पूर्ण क्षमता को अवसर देते हैं। और हम हमेशा अपने लोगों के अहम हितों की तानाशाहों की क्रूर महत्वाकांक्षा से रक्षा के लिए तैयार रहते हैं।

साथ मिलकर, हम ऐसे कोरिया का सपना देखते हैं जो कि मुक्त है, एक प्रायद्वीप जो कि सुरक्षित है, और परिवार जो एक बार फिर एकजुट हैं। हम सपना देखते हैं उत्तर और दक्षिण को जोड़ने वाले राजमार्गों का, भाइयों को गले लगाते भाइयों का, और इस परमाणु दु:स्वप्न की जगह शांति के सुंदर वायदे का।

उस दिन के आगमन तक, हम मज़बूत और सतर्क हैं। हमारी आंखें उत्तर पर लगी हैं, और हमारे दिलों में उस दिन के लिए प्रार्थना है जब सारे कोरियाई आज़ादी में जी सकेंगे। (तालियां।)

धन्यवाद। (तालियां।) आप पर ईश्वर की कृपा हो। कोरियाई लोगों पर ईश्वर की कृपा हो। आपका बहुत शुक्रिया। धन्यवाद। (तालियां।)

समाप्त


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें