rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन DPRK पर UN सुरक्षा परिषद की मंत्रीस्तरीय वार्ता पर

English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, اردو اردو, 中文 (中国) 中文 (中国), Indonesian Indonesian

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन
DPRK पर UN सुरक्षा परिषद की मंत्रीस्तरीय वार्ता पर
15 दिसम्बर 2017

 

 

सेक्रेटरी टिलरसन: गुड ऑफ्टरनून और आजा बोलने का मौका देने के लिए धन्यवाद। संयुक्त राज्य अमेरिका की ओर से, मैं जापान और मंत्री कोनो का उत्तरी कोरिया की ओर से बढ़ते हुए खतरे पर इस मंत्रीस्तरीय वार्ता का आयोजन करने के लिए धन्यवाद करता हूँ।

पदभार संभालने पर, राष्ट्रपति ट्रम्प ने उत्तरी कोरिया की अमेरिका की सबसे बड़े राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे के रूप में पहचान की थी। वह फैसला आज भी बना हुआ है।

29 नवम्बर को इसके ICBM लांच के बाद से, उत्तरी कोरियाई सरकार ने यह दावा किया कि वह उसके पास अब महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी भी स्थान पर हमला करने की क्षमता है। उत्तरी कोरिया की बढ़ती क्षमता हमारी सुरक्षा के लिए और पूरे विश्व की सुरक्षा के लिए एक प्रत्यक्ष खतरा है। हम इस धमकी को एक खोखले खतरे के रूप में नहीं मानते।

उत्तरी कोरिया की निरंतर गैरकानूनी मिसाइल प्रक्षेपण और परीक्षण गतिविधियाँ संयुक्त राज्य अमेरिका, एशिया में इसके पड़ोसियों और संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों का अपमान है।

ऐसे किसी खतरे के रहते, किसी भी देश के लिए निष्क्रियता अस्वीकार्य है। मजबूत सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों की एक श्रृंखला के माध्यम से, इस संकाय ने उत्तरी कोरिया के गैरकानूनी परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों और परिणामों को लागू करने की निंदा करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इस बात पर दृढ़ संकल्प है कि हम परमाणु हथियार वाले उत्तरी कोरिया को स्वीकार नहीं करेंगे।

प्रत्येक संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्य को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सभी प्रस्तावों को पूरी तरह लागू करना चाहिए। उन देशों के लिए जो ऐसा करने में असमर्थ हैं, या जो सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को लागू नहीं कर पाए हैं, उनकी हिचकिचाहट सवाल पैदा करती है* कि क्या आपका वोट केवल शब्दों के प्रति प्रतिबद्धता है, लेकिन कार्रवाई नहीं है। उन देशों के लिए जिन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की है, मैं आपको आपकी रुचि, आपकी निष्ठा और अपने मूल्यों पर विचार करने के लिए आग्रह करता हूं।

हमें विश्वास है कि DPRK पर निर्देशित सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों की न्यूनतम आवश्यकताओं को लागू करने से कहीं अधिक किया जा सकता है। पिछली वसंत में, संयुक्त राज्य अमेरिका ने उत्तरी कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रमों के पूर्ण, निरीक्षण और अपरिवर्तनीय परित्याग के लिए गंभीर वार्ता में संलग्न होने के लिए इसकी स्थितियों को स्थापित करने के इरादे से उत्तरी कोरिया के खिलाफ आर्थिक और कूटनीतिक प्रतिबंधों का शांतिपूर्ण दबाव अभियान शुरू किया। इस अभियान के प्रति हमारा संकल्प आज उससे कहीं अधिक है। पिछले एक साल से, संयुक्त राज्य अमेरिका के कई सहयोगी और भागीदार हमारे अभियान में शामिल हो गए हैं, वे सुरक्षा परिषद प्रस्तावों के साथ मात्र अनुपालन से कहीं परे जा रहे हैं। हम इन राष्ट्रों से एकपक्षीय कार्रवाई के माध्यम से दबाव बढ़ाना जारी रखने की अपील करते हैं। ऐसा करने से उत्तरी कोरिया राजनीतिक और आर्थिक रूप से अलग होगा, इसके अवैध परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों के लिए सहायता और फंड को खत्म कर दिया जाएगा।

हम विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के कार्यान्वयन सहित दबाव बढ़ाने के लिए रूस और चीन से अपील करते हैं। परमाणु हथियार कार्यक्रमों को वित्तपोषित करने के लिए मजदूरी के बदले में उत्तरी कोरियाई मजदूर रूस में दास-समान स्थितियों में काम करने की अनुमति देते रहना रूस की शांति के एक साझीदार के रूप में समर्पण पर सवाल उठाता है। इसी तरह, जबकि चीनी कच्चा तेल उत्तरी कोरियाई रिफाइनरी में बहता है, संयुक्त राज्य अमेरिका की एक मुद्दे को सुलझाने के लिए चीन की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाता है जिससे उसके स्वयं के नागरिकों की सुरक्षा को गंभीर उलझाव हैं।

हाल ही में उत्तरी कोरिया की सरकार ने संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को महिलाओं और बच्चों के लिए हानिकारक होने की तरह चित्रित किया है। लेकिन यह एक ऐसा शासन है जो परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों के पाखंडों पर अरबों खर्च करता है जबकि इसके स्वयं के लोग अत्यधिक ग़रीबी में जी रहे हैं। यह शासन उत्तर कोरिया के महिलाओं, बच्चों और सामान्य लोगों को खिला सकता और उनकी देखभाल कर सकता है जबकि वह अपने नागरिकों के कल्याण को हथियार बनाने पर प्राथमिकता दें। DPRK के पास विकल्प है: वह अपना मार्ग बदल सकता है, अपने गैरकानूनी परमाणु हथियार कार्यक्रमों को त्याग सकता है, या वह अपने लोगों को ग़रीबी और परित्यकता की गर्त में धकेलना जारी रख सकता है। प्योंगयांग में शासन की अपने लोगों के प्रति अंतिम जिम्मेदारी बनती है।

उत्तरी कोरिया अपने शासन के अस्तित्व के लिए एक आवश्यक कदम के रूप में इसके परमाणु हथियार कार्यक्रम शुरू करने का दावा करता है। यह चुनाव करते हुए, उत्तरी कोरिया ने अपने आप को कम सुरक्षित बना लिया है, इसकी अर्थव्यवस्था वैश्विक अर्थव्यवस्था से परित्यक्य और असंबंधित बन गई है।

हमने स्पष्ट किया है कि हमारे राष्ट्र की रक्षा के सभी विकल्प हमारे सामने बने रहेंगे, लेकिन हम उत्तरी कोरिया के साथ युद्ध की ओर नहीं जा रहे और न ही हम ऐसा चाहते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका उत्तरी कोरियाई आक्रामकता के खिलाफ सभी आवश्यक उपायों का उपयोग करेगा, लेकिन हमारी आशा है कि कूटनीति कोई प्रस्ताव पेश करेगी। जैसा कि मैंने इस हफ्ते पहले कहा था, वार्ता शुरू होने से पहले उत्तरी कोरिया के खतरनाक व्यवहार की समाप्ति होना ज़रूरी है। उत्तरी कोरिया को वार्ता के लिए टेबल पर अपना मार्ग अर्जित करना होगा। दबाव अभियान बना रहना होगा, और बना रहेगा, जब तक कि परमाणु रहित होना हासिल नहीं कर लिया जाता। इस समय के दौरान, हम वार्ता के अपने मार्गों को खुला रखेंगे।

हमारा संदेश आज यह है कि एक तो इस संकाय ने पहले सुना ही है, और एक यह जिसे हम दोहराना जारी रखेंगे: संयुक्त राज्य अमेरिका प्योंगयांग के शासन को दुनिया को बंधक बनाये रखने की अनुमति नहीं देगा। आज और भविष्य में हम उसके लापरवाह और धमकाने वाले व्यवहार के लिए उत्तरी कोरिया को जवाबदेह बनाते रहेंगे। हमारे हरेक देश से हमारे सभी लोगों के प्रभुत्व का इस्तेमाल करने के लिए हमसे जुड़ने की अपील करते हैं। हम आप सभी को कोरियाई प्रायद्वीप को एक पूर्ण और प्रमाणिक रूप से परमाणुरहित बनाने को प्राप्त करने के लिए एक एकीकृत प्रयास में शामिल होने की अपील करते हैं।
धन्यवाद।

सेक्रेटरी टिलरसन: गुड ऑफ्टरनून और आजा बोलने का मौका देने के लिए धन्यवाद। संयुक्त राज्य अमेरिका की ओर से, मैं जापान और मंत्री कोनो का उत्तरी कोरिया की ओर से बढ़ते हुए खतरे पर इस मंत्रीस्तरीय वार्ता का आयोजन करने के लिए धन्यवाद करता हूँ।
पदभार संभालने पर, राष्ट्रपति ट्रम्प ने उत्तरी कोरिया की अमेरिका की सबसे बड़े राष्ट्रीय सुरक्षा खतरे के रूप में पहचान की थी। वह फैसला आज भी बना हुआ है।

29 नवम्बर को इसके ICBM लांच के बाद से, उत्तरी कोरियाई सरकार ने यह दावा किया कि वह उसके पास अब महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी भी स्थान पर हमला करने की क्षमता है। उत्तरी कोरिया की बढ़ती क्षमता हमारी सुरक्षा के लिए और पूरे विश्व की सुरक्षा के लिए एक प्रत्यक्ष खतरा है। हम इस धमकी को एक खोखले खतरे के रूप में नहीं मानते।
उत्तरी कोरिया की निरंतर गैरकानूनी मिसाइल प्रक्षेपण और परीक्षण गतिविधियाँ संयुक्त राज्य अमेरिका, एशिया में इसके पड़ोसियों और संयुक्त राष्ट्र के सभी सदस्यों का अपमान है।

ऐसे किसी खतरे के रहते, किसी भी देश के लिए निष्क्रियता अस्वीकार्य है। मजबूत सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों की एक श्रृंखला के माध्यम से, इस संकाय ने उत्तरी कोरिया के गैरकानूनी परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों और परिणामों को लागू करने की निंदा करने में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय इस बात पर दृढ़ संकल्प है कि हम परमाणु हथियार वाले उत्तरी कोरिया को स्वीकार नहीं करेंगे।

प्रत्येक संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्य को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सभी प्रस्तावों को पूरी तरह लागू करना चाहिए। उन देशों के लिए जो ऐसा करने में असमर्थ हैं, या जो सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को लागू नहीं कर पाए हैं, उनकी हिचकिचाहट सवाल पैदा करती है* कि क्या आपका वोट केवल शब्दों के प्रति प्रतिबद्धता है, लेकिन कार्रवाई नहीं है। उन देशों के लिए जिन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की है, मैं आपको आपकी रुचि, आपकी निष्ठा और अपने मूल्यों पर विचार करने के लिए आग्रह करता हूं।

हमें विश्वास है कि DPRK पर निर्देशित सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों की न्यूनतम आवश्यकताओं को लागू करने से कहीं अधिक किया जा सकता है। पिछली वसंत में, संयुक्त राज्य अमेरिका ने उत्तरी कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रमों के पूर्ण, निरीक्षण और अपरिवर्तनीय परित्याग के लिए गंभीर वार्ता में संलग्न होने के लिए इसकी स्थितियों को स्थापित करने के इरादे से उत्तरी कोरिया के खिलाफ आर्थिक और कूटनीतिक प्रतिबंधों का शांतिपूर्ण दबाव अभियान शुरू किया। इस अभियान के प्रति हमारा संकल्प आज उससे कहीं अधिक है। पिछले एक साल से, संयुक्त राज्य अमेरिका के कई सहयोगी और भागीदार हमारे अभियान में शामिल हो गए हैं, वे सुरक्षा परिषद प्रस्तावों के साथ मात्र अनुपालन से कहीं परे जा रहे हैं। हम इन राष्ट्रों से एकपक्षीय कार्रवाई के माध्यम से दबाव बढ़ाना जारी रखने की अपील करते हैं। ऐसा करने से उत्तरी कोरिया राजनीतिक और आर्थिक रूप से अलग होगा, इसके अवैध परमाणु और मिसाइल कार्यक्रमों के लिए सहायता और फंड को खत्म कर दिया जाएगा।

हम विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के कार्यान्वयन सहित दबाव बढ़ाने के लिए रूस और चीन से अपील करते हैं। परमाणु हथियार कार्यक्रमों को वित्तपोषित करने के लिए मजदूरी के बदले में उत्तरी कोरियाई मजदूर रूस में दास-समान स्थितियों में काम करने की अनुमति देते रहना रूस की शांति के एक साझीदार के रूप में समर्पण पर सवाल उठाता है। इसी तरह, जबकि चीनी कच्चा तेल उत्तरी कोरियाई रिफाइनरी में बहता है, संयुक्त राज्य अमेरिका की एक मुद्दे को सुलझाने के लिए चीन की प्रतिबद्धता पर सवाल उठाता है जिससे उसके स्वयं के नागरिकों की सुरक्षा को गंभीर उलझाव हैं।

हाल ही में उत्तरी कोरिया की सरकार ने संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को महिलाओं और बच्चों के लिए हानिकारक होने की तरह चित्रित किया है। लेकिन यह एक ऐसा शासन है जो परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों के पाखंडों पर अरबों खर्च करता है जबकि इसके स्वयं के लोग अत्यधिक ग़रीबी में जी रहे हैं। यह शासन उत्तर कोरिया के महिलाओं, बच्चों और सामान्य लोगों को खिला सकता और उनकी देखभाल कर सकता है जबकि वह अपने नागरिकों के कल्याण को हथियार बनाने पर प्राथमिकता दें। DPRK के पास विकल्प है: वह अपना मार्ग बदल सकता है, अपने गैरकानूनी परमाणु हथियार कार्यक्रमों को त्याग सकता है, या वह अपने लोगों को ग़रीबी और परित्यकता की गर्त में धकेलना जारी रख सकता है। प्योंगयांग में शासन की अपने लोगों के प्रति अंतिम जिम्मेदारी बनती है।

उत्तरी कोरिया अपने शासन के अस्तित्व के लिए एक आवश्यक कदम के रूप में इसके परमाणु हथियार कार्यक्रम शुरू करने का दावा करता है। यह चुनाव करते हुए, उत्तरी कोरिया ने अपने आप को कम सुरक्षित बना लिया है, इसकी अर्थव्यवस्था वैश्विक अर्थव्यवस्था से परित्यक्य और असंबंधित बन गई है।

हमने स्पष्ट किया है कि हमारे राष्ट्र की रक्षा के सभी विकल्प हमारे सामने बने रहेंगे, लेकिन हम उत्तरी कोरिया के साथ युद्ध की ओर नहीं जा रहे और न ही हम ऐसा चाहते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका उत्तरी कोरियाई आक्रामकता के खिलाफ सभी आवश्यक उपायों का उपयोग करेगा, लेकिन हमारी आशा है कि कूटनीति कोई प्रस्ताव पेश करेगी। जैसा कि मैंने इस हफ्ते पहले कहा था, वार्ता शुरू होने से पहले उत्तरी कोरिया के खतरनाक व्यवहार की समाप्ति होना ज़रूरी है। उत्तरी कोरिया को वार्ता के लिए टेबल पर अपना मार्ग अर्जित करना होगा। दबाव अभियान बना रहना होगा, और बना रहेगा, जब तक कि परमाणु रहित होना हासिल नहीं कर लिया जाता। इस समय के दौरान, हम वार्ता के अपने मार्गों को खुला रखेंगे।

हमारा संदेश आज यह है कि एक तो इस संकाय ने पहले सुना ही है, और एक यह जिसे हम दोहराना जारी रखेंगे: संयुक्त राज्य अमेरिका प्योंगयांग के शासन को दुनिया को बंधक बनाये रखने की अनुमति नहीं देगा। आज और भविष्य में हम उसके लापरवाह और धमकाने वाले व्यवहार के लिए उत्तरी कोरिया को जवाबदेह बनाते रहेंगे। हमारे हरेक देश से हमारे सभी लोगों के प्रभुत्व का इस्तेमाल करने के लिए हमसे जुड़ने की अपील करते हैं। हम आप सभी को कोरियाई प्रायद्वीप को एक पूर्ण और प्रमाणिक रूप से परमाणुरहित बनाने को प्राप्त करने के लिए एक एकीकृत प्रयास में शामिल होने की अपील करते हैं।
धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2017/12/276627.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें