rss

यू.एस. फॉरेन पॉलिसी – अफ्रीका में DPRK 

English English, Русский Русский, اردو اردو

 रॉबर्ट स्कॉट, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर अफ्रीकन अफेयर्स,
मार्क लैम्बर्ट, डिप्टी स्पेशल रेप्रजेंटेटिव फॉर नॉर्थ कोरियन पॉलिसी,
सांड्रा आउडकर्क, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर द इकोनॉमिक ब्यूरो और
ब्रायन नोएबर्ट, सूत्रधार
17 जनवरी, 2018

 
 

सूत्रधार: देवियों एवं सज्जनों, समर्थन करने के लिए धन्यवाद। अफ्रीका में उत्तरी कोरिया कॉन्फ्रेंस कॉल में स्वागत है। फिलहाल सभी प्रतिभागी सिर्फ सुनने वाले मोड में हैं। बाद में हम एक प्रश्नोत्तर सत्र भी करेंगे। निर्देश उसी समय दिए जाएंगे। अगर आप को इस कॉल के दौरान सहायता की ज़रूरत पड़े, तो कृपया पहले * दबाएं फिर 0।  आपको बता दें कि यह कॉन्फ्रेंस रिकॉर्ड की जा रही है। अब मैं कॉन्फ्रेंस को आपके मेजबान ब्रायन नोएबर्ट के हवाले करना चाहूंगा। कृपया पूछिये।

ब्रायन नोएबर्ट: यू.एस. डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट के अफ्रीका रीजनल मीडिया हब से हर किसी को मेरा नमस्कार। मैं समूचे महाद्वीप से जुड़ने वाले हमारे सभी प्रतिभागियों का स्वागत करना चाहता हूं और इस चर्चा में शामिल होने के लिए सभी का धन्यवाद करता हूं। आज हम वाशिंगटन से अफ्रीकन अफेयर्स ब्यूरो के दो वरिष्ठ अधिकारियों जुड़कर बहुत प्रसन्न हैं जो कि ईस्ट एशिया पैसिफिक ब्यूरो के साथ-साथ इकोनॉमिक ब्यूरो से हैं। हमारे साथ हैं रॉबर्ट स्कॉट, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर अफ्रीकन अफेयर्स, मार्क लैम्बर्ट, डिप्टी स्पेशल रेप्रजेंटेटिव फॉर नॉर्थ कोरियन पॉलिसी, और सांड्रा आउडकर्क, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर द इकोनॉमिक ब्यूरो। वक्ता अमेरिका की उत्तरी कोरिया पर विदेश नीति, उनकी अफ्रीका में गतिविधियाँ, और DPRK द्वारा अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए उत्पन्न किए गए खतरे को हल करने के वर्तमान राजनयिक प्रयासों, के साथ अमेरिका के अफ्रीकी सरकारों के साथ DPRK के साथ समझौतों  को तोड़ने के सलाहकारी प्रयासों पर चर्चा करेंगे।

हम यह कॉल आरंभिक टिप्पणी से शुरू करेंगे इसके बाद हम इसे आपके सवालों की तरफ मोड़ेंगे। हम अपने पास उपलब्ध समय में यथासंभव आपमें से अधिक से अधिक लोगों के पास जाने की कोशिश करेंगे, हमारे पास पैंतालीस मिनट या शायद थोड़ा अधिक समय होना चाहिए, । इस कॉल के दौरान किसी भी समय पर, अगर आप एक सवाल पूछना चाहें, तो आपको अपने फोन पर * और फिर 1 दबाना पड़ेगा।  अगर आप ट्विटर पर बातचीत में शामिल होना चाहते हैं, तो हैशटैग #DPRK briefing इस्तेमाल करें और आप हमें ट्विटर पर @AfricaMediaHub पर भी फॉलो कर सकते हैं। आपको बता दें कि आज की कॉल रिकॉर्ड पर है। इसके साथ, मैं इसे एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी रॉबर्ट स्कॉट की तरफ मोड़ूंगा। आगे बढ़ें, श्रीमान स्कॉट।

रॉबर्ट स्कॉट: ब्रायन, परिचय के लिए धन्यवाद और मीडिया के सदस्य जो शामिल हुए हैं, आपका धन्यवाद आज हमारे साथ इस कॉल में रहने के लिए। अपने स्टेट डिपार्टमेंट के साथियों की तरफ से मैं इस महत्वपूर्ण चर्चा में शामिल होने के लिए आपका धन्यवाद करता हूं। हमने यह कॉल इस बात पर ज़ोर देने के लिए आयोजित की है कि उत्तरी कोरिया से खतरे पर अमेरिका कितना अधिक महत्व दे रहा है।

साथ ही मैं पूर्वी एशिया और प्रशांत मामलों के ब्यूरो से अपने साथियों को भी धन्यवाद करना चाहूंगा जैसा कि ब्रायन ने बताया; डिप्टी स्पेशल रेप्रजेंटेटिव फॉर नॉर्थ कोरियन पॉलिसी मार्क लैम्बर्ट, और इकोनॉमिक एंड बिजनेस अफेयर्स एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी सांड्रा आउडकर्क को हमारे साथ इस सुबह शामिल होने के लिए। जैसा कि हमने किम जोंग उन के 1 जनवरी के बयान के साथ देखा, उत्तरी कोरिया एक परमाणु शक्ति बनने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके अतिरिक्त, उनकी लगातार अमेरिकी मुख्य भूमि पर हमले की घोषणा इस बात पर प्रकाश डालती है कि क्यों हम, अमेरिका, इस मामले को इतनी गंभीरता से ले रहे हैं।

उत्तरी कोरिया के बयानों और गतिविधियों ने पूर्वी एशिया और बाकी दुनिया को अस्थिरता तथा व्यापक संघर्ष के कगार पर ला खड़ा किया है। अमेरिका अभी भी सभी उपलब्ध राजनयिक और आर्थिक उपकरणों का इस्तेमाल करते हुए, कोरियाई प्रायद्वीप के सम्पूर्ण, सत्यापन योग्य, अपरिवर्तनीय परमाणु-मुक्तिकरण को सुनिश्चित करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ अधिकतम दबाव की नीति पर कायम है।

हम आज आपके साथ यह बताने के लिए बात कर रहे हैं कि उत्तरी कोरिया की अस्थिरकारी गतिविधियाँ उसके मिसाइल कार्यक्रम से भी आगे जा चुकी हैं। वे दुनियाभर में अस्थिरकारी शक्ति हैं। मार्क लैम्बर्ट, हमारे डिप्टी स्पेशल रेप्रजेंटेटिव फॉर नॉर्थ कोरियन पॉलिसी बताएंगे किस तरह हम अपनी DPRK नीति, इसकी अफ्रीकी सरकारों से संबद्धता, और अफ्रीका में हमारे दबाव अभियान के उद्देश्यों को देखते हैं। महाद्वीप की कई सरकारों के उत्तरी कोरिया के साथ लंबे समय से संबंध हैं जिन्हें गंभीर पुनर्मुल्यांकन की आवश्यकता है। पिछले बारह महीनों में उत्तरी कोरिया पर प्रतिबंध को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के चार प्रस्ताव पारित होना इस मामले की गंभीरता और इस समस्या के राजनयिक हल खोजने की अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की सम्मिलित इच्छा को दर्शाता है।

मार्क के बोल चुकने के बाद, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी सांड्रा आउडकर्क वास्तविक खाका खींचेंगी कि किस प्रकार की गतिविधियां इन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संकल्पों में प्रतिबंधित की गई हैं। DPRK के साथ संबंधों का पुनर्मूल्यांकन करते समय देशों को इस बात पर विचार करना चाहिए कि उत्तरी कोरिया ने अंतर्राष्ट्रीय वाणिज्यिक और वित्तीय प्रणाली तक पहुंच हासिल करने के लिए साझेदारों के साथ अपने राजनयिक और व्यापारिक संबंधों का दुरुपयोग किया है, जो कि उसके गैरकानूनी परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को बनाए रख सकें। ऐसा करते समय, उसने लगातार राजनयिक विशेषाधिकार का गलत इस्तेमाल किया है तथा उसके दूतावासों और व्यापारिक मिशनों की मेजबानी करने वाली सरकारों की अंतर्राष्ट्रीय प्रतिष्ठा को कमजोर किया है।

DPRK ने अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय प्रणालियों तक अपनी पहुंच का शोषण किया है, पहुंच जो कि कुछ देशों द्वारा नेक नीयत से उपलब्ध कराई गई, अपनी अवैध वित्तीय गतिविधियों को छुपाने के लिए, अक्सर अनजान विदेशी राष्ट्रों और संस्थाओं का इस्तेमाल करके। उत्तरी कोरिया इन गतिविधियों में शामिल हुआ इस सम्पूर्ण ज्ञान के साथ कि यह अवैध लेन देन उसके अंतर्राष्ट्रीय साझेदारों को वित्तीय दण्ड का भागी बनाएगा। इसके अलावा, क्रमिक वार्षिक रिपोर्टों में संयुक्त राष्ट्र के उत्तरी कोरिया विशेषज्ञ दल ने उत्तरी कोरिया के विभिन्न अफ्रीकी सरकारों के साथ हथियारों-संबंधी गतिविधियों के कई मामलों को रिकॉर्ड किया है। अमेरिका इन रिपोर्टों को काफी गंभीरता से लेता है क्योंकि DPRK के साथ व्यापार और हथियारों-संबंधी सामग्रियाँ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रस्तावों द्वारा स्पष्ट रूप से निषिद्ध की गई हैं। सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव उत्तरी कोरिया के साथ किसी भी सैन्य, पुलिस अथवा सुरक्षा संबंधी प्रशिक्षण को भी प्रतिबंधित करते हैं। इस तरह की गतिविधियाँ उत्तरी कोरिया को उसके गैरकानूनी परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण राजस्व स्रोत उपलब्ध कराती हैं।

हम मानते हैं कि ये उदाहरण हमारे सभी साझेदारों को यह समझने की ज़रूरत को दर्शाते हैं कि DPRK उनके इलाके में क्या कर रहा है और इन गतिविधियों को बंद करना चाहिए। पिछले सालों में, हमने देखा है कई अफ्रीकी देशों ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों से भी आगे जाकर उत्तरी कोरिया से समझौते तोड़ने का वादा करने में बहुत ही सकारात्मक कदम उठाए हैं। पिछले सालों में इलाके में उत्तरी कोरिया की गतिविधियों को बाधित करने की कई देशों की कार्रवाई से हम उत्साहित हुए हैं, जिसमें उत्तरी कोरियाई कामगारों को वापस भेजना, सभी व्यापारिक संबंधों में कमी और/या रोक, DPRK श्रमिक समझौतों को नवीनीकृत करने से मना करना, प्योंगयांग से और वहां के लिए उच्चस्तरीय दौरों को मना करना, और DPRK की गैरकानूनी गतिविधियों की सार्वजनिक बयान जारी करके भर्त्सना करना शामिल है। ये सभी कार्रवाइयाँ उत्तरी कोरिया को एक कड़ा संदेश देती हैं और दुनियाभर में DPRK गतिविधियों के प्रभाव को कम करने के वैश्विक समर्थन को दर्शाती हैं। हालांकि, अफ्रीका में उत्तरी कोरिया की गतिविधियों को रोकने के लिए और काफी कुछ किये जाने की ज़रूरत है।

इन सभी कारणों के लिए, हमने दुनिया भर के देशों को कहा है DPRK के साथ राजनैतिक और आर्थिक गठजोड़ों को प्रतिबंधित करने में हमारे साथ आएं, उत्तरी कोरियाई शासन को यह निश्चित रूप से प्रदर्शित करने के साधन के तौर पर कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय उसके व्यवहार को स्वीकार नहीं करेगा। आज की आपके साथ संक्षिप्त वार्ता, अमेरिकी सरकार की उत्तरी कोरिया में नीति पर प्रकाश डालने के प्रयासों की श्रृंखला का एक हिस्सा है और यह जताने के लिए कि अफ्रीका में उत्तरी कोरिया के संबंध और कार्रवाइयां अमेरिका की प्रमुख चिंता है। जैसा कि हम देख रहे हैं कि देशों ने DPRK के राजनयिक और आर्थिक मार्ग बंद कर करने शुरू कर दिए हैं, हमने देखा कि प्योंगयांग ने विदेशी मुद्रा जुटाने और अन्य राजनयिक संबंध बनाने के अपने प्रयास बढ़ा दिए हैं। फिर से, आप सभी का धन्यवाद आज की इस कॉल में शामिल होने के लिए और ध्यान देने के लिए। इस समय पर मैं  मार्क लैम्बर्ट को बुलाना चाहूंगा इस वार्ता को जारी रखने के लिए कि हम किस तरह उत्तरी कोरियाई खतरे का मुकाबला कर रहे हैं।

मार्क लैम्बर्ट: बहुत बहुत धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो। राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने कार्यकाल के शुरुआती दौर में ही यह बहुत साफ कर दिया था कि उत्तरी कोरिया की ओर से उत्पन्न खतरा अमेरिका द्वारा झेला जा रहा सबसे बड़ा सुरक्षा खतरा है। दुनिया में सिर्फ एक देश है जो कि एक परमाणु हथियार (वॉरहेड) को छोटे से छोटा बनाने के लिए संकल्पित है, उसे मिसाइल में लगाकर और उससे अमेरिका को निशाना बनाना चाहता है, और यही वह खतरा है जिसे हम अब रोकने के लिए हर संभावित साधन इस्तेमाल करेंगे।

राष्ट्रपति ट्रम्प ने साफ कर दिया है कि हम उत्तरी कोरिया पर अधिकतम दबाव बनाने  वाले हैं। इसका अर्थ है आर्थिक दबाव, इसका अर्थ है राजनयिक दबाव, और इसका अर्थ है सैन्य दबाव। यह दबाव उत्तरी कोरियाई सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए तैयार नहीं किया गया है, बल्कि इसके बजाय मकसद उत्तरी कोरिया को कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणुमुक्त बनाने की दिशा में बातचीत पर वापसी के लिए मजबूर करना है।

हमने कई अफ्रीकी देशों के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद संकल्पों की श्रृंखला पर निकटतापूर्वक काम किया है लेकिन हम उन प्रस्तावों को एक शुरुआती बिंदु के रूप में देखते हैं। इसके अतिरिक्त, हमारे पास कई बहुत कड़े एकतरफा प्रतिबंध हैं जो कि हमें किसी व्यक्ति अथवा किसी कंपनी को दण्डित करने की अनुमति देते हैं, इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह व्यक्ति अथवा कंपनी कहां स्थित है जो कि उत्तरी कोरिया के साथ गंभीर व्यापार में संलग्न है। हम दुनिया भर के देशों से उत्तरी कोरियाई राजनयिकों को अपने यहां से निष्कासित करने के लिए कह रहे हैं। यह बहुत ही साफ है कि उत्तरी कोरियाई राजनयिक अपने राजनयिक विशेषाधिकार का दुरुपयोग कर रहे हैं और अपने दूतावासों को लाभ-अर्जन केंद्रों की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं। हम देशों से उत्तरी कोरियाई कामगारों को निष्कासित करने को कह रहे हैं। कई देशों में ये कामगार शोषित हो रहे हैं। उनके श्रम का मेहनताना उनके परिवारों तक नहीं जाता बल्कि इसके बजाय गबन कर लिया जाता है और सामूहिक विनाश के हथियार विकसित करने के लिए प्योंगयांग वापस भेज दिया जाता है। इसके अतिरिक्त, हम देशों से कह रहे हैं कि वे अपने सूचना तकनीकी क्षेत्र के प्रति दोहरे सतर्क रहें। उत्तरी कोरियाई कार्यकर्ता दुनिया भर में साइबर अपराध पर काम कर रहे हैं। संक्षेप में, कोई उत्तरी कोरियाई पर्यटक नहीं हैं। कोई भी देश जहां उत्तरी कोरियाई हैं, अपनी कंपनियों तथा अपने लोगों को खतरे में डाल रहा है।

अफ्रीका में, हम आपके साथ भागीदार बनना चाहते हैं। हम आपके साथ काम करना चाहते हैं, उत्तरी कोरिया को दो साफ संदेश देने के लिए। पहला, अंतर्राष्ट्रीय समुदाय एकजुट है और उसका कहना है कि वह उत्तरी कोरिया को एक परमाणु शक्ति के रूप में कभी भी, कभी भी, नहीं स्वीकारेगा तथा यह कि हम उत्तरी कोरिया पर तब तक और अधिक दबाव डालेंगे जब तक कि वह मेज पर वापस नहीं आता। लेकिन दूसरा, हम उत्तरी कोरिया के लोगों और उत्तरी कोरिया के नेताओं को यह भी साफ करना चाहते हैं कि वहां पर बेहतर भविष्य है, कि यदि उत्तरी कोरिया, असल में, बातचीत पर वापस लौटे, तो हम उसकी अर्थव्यवस्था के विकास और उसके लोगों की बेहतरी में मदद करने के लिए उत्तरी कोरिया के साथ काम कर सकते हैं। इसके साथ, मैं अपनी साथी को बोलने का अवसर देता हूं और आपके प्रश्नों के लिए तैयार हूं।

रॉबर्ट स्कॉट: धन्यवाद मार्क। इसे सांड्रा को सौंपते हैं।

सांड्रा आउडकर्क: धन्यवाद रॉब। मैं इस मौके पर संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध व्यवस्था का संक्षिप्त विवरण प्रदान करना चाहती हूं जो अंतर्राष्ट्रीय समुदाय द्वारा उत्तरी कोरिया पर पूर्ण उत्तरदायी, और उत्तरी कोरिया के अपरिवर्तनीय परमाणुमुक्त बनाने के लक्ष्य को सुनिश्चित करने के लिए लगाया गया है। 2006 के बाद पहली बार जब संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध व्यवस्था उत्तरी कोरिया पर लागू की गई थी, तो इसका विस्तार हुआ और अब इसमें संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देश के खिलाफ लगाए गए कुछ सबसे व्यापक उपायों वाले दस अलग-अलग प्रस्ताव शामिल हैं। 2017 में उत्तरी कोरिया के चल रहे परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षणों का जवाब देने के लिए इन दस प्रस्तावों में से चार को पिछले साल सुरक्षा परिषद ने अपनाया था। इन प्रस्तावों को राजस्व में कटौती पर केंद्रित किया गया है जो कि उत्तरी कोरियाई शासन को इन गैरकानूनी कार्यक्रमों को विकसित करना जारी रखने और उत्तरी कोरिया के व्यवहार की निंदा करते हुए एक मजबूत संदेश भेजने की ज़रूरत है।

पिछले साल के अंत तक, संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों ने सभी कोयला, लोहा और लौह अयस्क, सीसा और सीसा अयस्क, वस्त्रों, समुद्री भोजन, भारी मशीनरी, बिजली उपकरण और कृषि उत्पाद सहित लगभग सभी उत्तरी कोरियाई निर्यातों पर अनिवार्य रूप से रोक लगा दी। सदस्य देशों को भी दो साल में विदेशों में काम कर रहे लगभग सभी उत्तरी कोरियाई लोगों को वापस भेजना आवश्यक होगा और उनके मौजूदा वर्क परमिट को नवीनीकृत करना और नए DPRK नागरिकों को जारी करना निषिद्ध है। इसके अलावा, ये संयुक्त राष्ट्र के उपाय उत्तरी कोरिया की राजस्व उत्पन्न करने और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय प्रणाली तक पहुंचने की क्षमता पर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाते हैं, जैसे कि उत्तरी कोरिया के साथ सभी संयुक्त उद्यमों को खत्म करना, जो न केवल इन व्यवस्थाओं से उत्पन्न किसी भी राजस्व से कोरियाई सत्ता को वंचित करता है बल्कि भविष्य के सभी विदेशी निवेश और तकनीकी के हस्तांतरण को भी समाप्त करता है।

इसके अतिरिक्त, हाल ही में सुरक्षा परिषद ने उत्तरी कोरिया को सदस्य राज्यों से निर्यात पर तगड़े नए प्रतिबंध लगा दिए, सबसे अहम लक्ष्य DPRK को तेल तक न पहुंचने को रखा गया है। DPRK अब सालाना कुल 500,000 बैरल रिफाइंड ईंधन तक सीमित है; जो कि 2016 के अनुमानित 4.5 मिलियन बैरल आयात से 89% तक घट गया है। DPRK की सालाना कच्चे तेल की आपूर्ति चार मिलियन बैरल पर सीमित है और अब आपूर्तिकर्ताओं को सभी निर्यात मात्रा की 1718 कमेटी को त्रैमासिक रिपोर्ट पेश करनी होगी ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सीमा का उल्लंघन नहीं हो रहा है। इसके अलावा, सबसे हालिया कदम, 2397 नंबर है, जिसे दिसंबर 2017 में अपनाया गया था जिसमें यह चेतावनी भी शामिल थी कि सुरक्षा परिषद अतिरिक्त तेल कटौती के जरिए आगे किसी भी परमाणु या ICBM परीक्षणों का जवाब देगा।

DPRK सरकार पर इन उपायों के प्रभाव, यदि सभी सदस्य राज्यों द्वारा पूरी तरह कार्यान्वित किए गए तो ये कारगार होंगे। उदाहरण के लिए, पिछले साल की तुलना में केवल कोयले के निर्यात पर प्रतिबंध से इसे एक बिलियन डॉलर से अधिक की चपत लगाई है। कुल मिलाकर, क्षेत्रीय प्रतिबंधों में DPRK की निरंतर आय 2018 में 2.5 बिलियन अमरीकी डॉलर या DPRK की ज्ञात निर्यात आय के करीब 90% तक कम हो सकती है। DPRK श्रम के निर्यात प्रतिबंध से अगले दो वर्षों में धीरे-धीरे देश की निर्यात आय में लगभग पांच सौ मिलियन डॉलर की कमी होगी, यानी कारगर रूप से इसकी विदेशी मुद्रा कमाने की वैधानिक क्षमता 2019 के अंत तक लगभग समाप्त हो जाएगी।

मैं भी उस चक्र को वापस लाना चाहता हूं जिसे मार्क ने पहले उल्लेख किया था। उत्तरी कोरिया और वित्तीय संस्थानों के साथ व्यापार करने वालों से निपटने के लिए अमेरिका के पास यूनाइटेड स्टेट एग्जीक्यूटिव ऑर्डर 13810 के रूप में शक्तिशाली हथियार मिला है, जो सितंबर, 2017 में जारी हुआ था, यह ऑर्डर अमेरिकी वित्त मंत्रालय को उस व्यक्ति या किसी देश की उस कंपनी को नामित करने का अधिकार देता हो जो उत्तरी कोरिया के साथ किसी भी तरह के सामान, सेवा या तकनीक के आयात निर्यात से जुड़ी हो। एग्जीयूटिव ऑर्डर 13810 नए द्वितीयक वित्तीय प्रतिबंधों को लागू करने का भी अधिकार देता है, जिसके तहत अमेरिका इस तरह के व्यापार को करने वाले व्यक्ति, कंपनी या विदेशी वित्ताय संस्थाओं को अमेरिकी वित्तीय प्रणाली के साथ संबंध खत्म कर सकता है या उनकी संपत्ति को अवरुद्ध सकता है। तो इसके साथ सवालों पर आते हैं। धन्यवाद।

ब्रायन नोएबर्ट: हमारे वक्ताओं को धन्यवाद। अब हम आज के कार्यक्रम में सवाल और जवाब का दौर शुरू करेंगे। जो लोग सवाल पूछ रहे हैं, उनसे मेरा आग्रह है कि वे कृपया अपना नाम और अपने संस्थान के बारे में बताएं और हां, कृपया आज के मुद्दे पर ही फोकस करें, जो उत्तरी कोरिया, खासकर अफ्रीका पर अमेरिकी विदेश नीति पर केंद्रित है। आप में से उनके लिए जो कॉल अंग्रेज़ी में सुन रहे हैं, आप अपने फोन पर सवाल की कतार में शामिल होने के लिए * , 1 दबा सकते हैं।   अगर आप स्पीकर फोन इस्तेमाल कर रहे हैं, तो आपको * , 1 दबाने से पहले हैंडसेट को उठाना पड़ सकता है।  अगर आप कॉल को फ्रांसीसी और पुर्तगाली भाषा में सुन रहे हैं, तो हमें आपके कुछ सवाल पहले ही मिल गए हैं और आप अंग्रेज़ी में सवालों को बीच में [email protected] पर ईमेल के ज़रिए भी भेज सकते हैं।

और इसके साथ ही, मैं पहला सवाल Bबिज़नेस डे न्यूज़ से ले रहा हूं। महोदय, अगर आप अपना और अपने संस्थान का परिचय दे सकते हैं, तो अपना सवाल पूछिए। हां, क्या हमारे साथ डुकोलो मात्साकू लाइन पर हैं?

डुकोलो मात्साकू: हां, नमस्कार। मेरा नाम डुकोलो मात्साकू है और मैं असल में एक अमेरिकी नागरिक हूं। मैं, दक्षिण अफ्रीका के बिज़नेस डे से हूं, और मेरा आपसे सवाल उन कठोर उपायों को लेकर है, जो अमेरिका उत्तरी कोरिया से संभावित खतरे से निपटने के लिए उसके साथ आयात या निर्यात करने वाले पक्षों पर वित्तीय पाबंदियाँ लगाकर कर रहा है।

क्या अमेरिका को यह अहसास है, उदाहरण के लिए, कि जब अफ्रीकी सरकारों की बात आती है, जबकि, उपनिवेशवाद से बाहर आने में अफ्रीकी सरकारों को उत्तरी कोरियाई मदद का लंबा इतिहास रहा है…क्या अमेरिका और मजबूत वित्तीय पाबंदियाँ लगाने की जगह दक्षिणी अफ्रीकी देशों को उत्तरी कोरिया से मिलने वाली मदद, उदाहरण के लिए, सैन्य सहायता, सैन्य प्रशिक्षण और हथियारों, के अनुपूरक के तौर कुछ करने पर विचार नहीं कर रहा है? क्योंकि, आपको क्या लगता है, यह कितना प्रभावकारी होने जा रहा है, उदाहरण के लिए, वास्तव में, आप जानते हैं, पश्चिम विरोधी भावना को कम करने की जगह, उत्तरी कोरिया जो अफ्रीकी देशो को उपलब्ध करा रहा है, आप उसको पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं। क्योंकि, तकनीकी रूप से, अगर अमेरिका पूरा कर रहा था—

ब्रायन नोएबर्ट: ठीक है, इस सवाल के लिए आपका धन्यवाद। मिस, अगर हम वक्ताओं को जवाब देने का मौका दे सकते। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

रॉबर्ट स्कॉट: नहीं, इसके लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं समझता हूं, मार्क और उसके बाद सैंड्रा दोनों को आपके सवाल का जवाब देने का मौका मिलेगा।

मार्क लैम्बर्ट:  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को लागू कराना संयुक्त राष्ट्र के प्रत्येक सदस्य देश की जिम्मेदारी है। हमें नहीं लगता कि अफ्रीकी देशों में उत्तरी कोरियाई कंपनियों द्वारा पैदा की गई रिक्तता को दूर किए जाने से बात बनने वाली है। हम मानते हैं कि उत्तरी कोरियाई अफ्रीकी देशों में मिली सुविधाओं का दुरुपयोग कर रहे हैं और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का पालन करना प्रत्येक अफ्रीकी देश के लिए अनिवार्य है। जहां तक अतीत में उत्तरी कोरिया हथियार आपूर्तिकर्ताओं द्वारा पैदा रिक्तता को भरने के लिए पहल करने का मसला है, मैं समझता हूं कि मामले दर मामले के हिसाब से हमें उस पर विचार करना होगा, लेकिन फिर, अफ्रीकी देशों के लिए यह ज़रूरी है कि वह संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का पालन करें और उनका समर्थन करें।

सांड्रा आउडकर्क: और वित्तीय पाबंदियों की बात करें तो, अमेरिकी वित्तीय प्रतिबंध वास्तव में किसी संस्थान और व्यक्ति या लोगों के अमेरिकी वित्तीय व्यवस्था में प्रवेश से रोकने के लिए एक घेरा है। उत्तरी कोरिया के साथ सभी तरह के ठोस व्यापार को रोकने या सीमित करने के मामले में अमेरिकी वित्तीय पाबंदियाँ अंतरराष्ट्रीय समुदाय की मर्जी का पूरी तरह से समर्थन करती हैं, जिसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सभी सदस्यों को पहले ही बहुत स्पष्ट तौर पर बता दिया गया है।

ब्रायन नोएबर्ट: ठीक है, आपका धन्यवाद। उन जवाबों के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद! अब हम मिस्टर केविन केली से मुखातिब होते हैं, महाशय, क्या आप अपना और अपने प्रतिष्ठान का परिचय देंगे। आपके लिए लाइन खुली होगी।

केविन केली: नमस्कार। आज ऐसा करने के लिए धन्यवाद। मेरा नाम केविन केली है। मैं न्यूयॉर्क में रहता हूं और केन्या के नेशन रिव्यू के लिए लिखता हूं।

मेरा सवाल है, अफ्रीका को लेकर राष्ट्रपति ट्रंप के हाल के कठोर बयानों से, उत्तरी कोरिया को लेकर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के साथ ही साथ अमेरिकी एग्जीक्यूटिव ऑर्डर्स को लागू करने के लिए अफ्रीकी देशों को राजी करने के अमेरिकी कूटनीतिक प्रयासों में कठिनाई आएगी। क्या यह आपके प्रयासों में बाधा नहीं है?

रॉबर्ट स्कॉट: सवाल के लिए आपको धन्यवाद। मैं समझता हूं कि पूरे महाद्वीप से हमारे मजबूत संबंध हैं और वे मजबूत बने रहेंगे। हाल में, नवंबर में, 37 मंत्रिस्तरीय प्रतिनिधिमंडल अमेरिका की यात्रा पर आए थे और वाशिगंटन में सेक्रेटरी टिलरसन से मुलाकात की थी। उन्होंने मंत्रिस्तरीय बातचीत के लिए उन्हें आमंत्रित किया था। अभी हाल ही में, हमारे डिप्टी सेक्रेटरी ने महाद्वीप की यात्रा की थी, और हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले महीनों में सेक्रेटरी भी महाद्वीप की यात्रा पर जाएंगे और वहां विभिन्न देशों का दौरा करेंगे। हालांकि, दौरे का कार्यक्रम अभी तक निर्धारित नहीं है।

तो, हम इस कॉल का एक मजबूत जुड़ाव और मकसद, इस मुद्दे पर वार्ता करना है कि किस तरह हम अपने उन मजबूत संबंधों का महाद्वीप के देशों के साथ DPRK के मसले को हल करने में इस्तेमाल कर रहे हैं। इसलिए, हमें महाद्वीप से कुछ बहुत ही सकारात्मक प्रतिक्रियाएं देखने को मिली हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के जवाब में अफ्रीका में लगभग आधा दर्जन से अधिक देशों ने स्पष्ट कदम उठाए हैं। हम अपने राजदूतों और राजधानियों के ज़रिए जुड़े हुए हैं, हमारे बीच यहां और वाशिंगटन में बातचीत जारी है, इसलिए, यह एक सतत और जीवंत चर्चा है और मैं समझता हूं कि अभी हमें बहुत बातचीत करनी  है और हम निश्चित तौर पर ऐसा करेंगे। इसलिए, मैं समझता हूं कि पूरे अफ्रीका में इस मुद्दे पर हमें बहुत ही सकारात्मक गतिशील भाव बोध देखने को मिला है और यह कि हम इस भावना को बनाए रखने के लिए अपने आपको समर्पित करने जा रहे हैं।

ब्रायन नोएबर्ट: हमारे पास एक सवाल है – जिसे हमारे वक्ताओं से पूछने के लिए दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले पीटर फैब्रिसियस ने ईमेल के ज़रिए हमारे पास भेजा है। क्या आप हमें बता सकते हैं कि, यदि अमेरिकी सरकार दक्षिण अफ्रीकी सरकार से उत्तरी कोरिया के साथ अपने संबंधों को खत्म करने के लिए कहती है तो उसका जवाब क्या होगा।

रॉबर्ट स्कॉट: हां, जैसा कि हमने उत्तरी कोरिया के साथ अपने संबंधों को खत्म करने या कम करने के लिए दुनिया के अन्य देशों की सरकारों से कहा है, हमने दक्षिण अफ्रीकी सरकार से भी ऐसा कहा है। अभी दक्षिण अफ्रीकी सरकार की तरफ से उसकी नीति को लेकर हमें कोई स्पष्ट जवाब नहीं प्राप्त हुआ है।

ब्रायन नोएबर्ट: धन्यवाद। इसके साथ ही, हमें अनीटा पॉवेल तक पहुंचने दीजिए। अगर आप अपना और अपने संस्थान का परिचय दे सकती हैं, तो अपना सवाल पूछिए।

अनीटा पॉवेल: ज़रूर। धन्यवाद। क्या सब लोग मुझे सुन पा रहे हैं?

ब्रायन नोएबर्ट: हां।

अनीटा पॉवेल: बिंदास। अनीटा पॉवेल, वॉयस ऑफ अमेरिका। मैं कैविन के बेहतरीन सवाल पर आपका ध्यान थोड़ा और खींचना चाहूंगी।

यदि अफ्रीकी सरकार आपसे अनिवार्य रूप से पूछती है, “आपके राष्ट्रपति ने हमारे देश को बेहद खराब बताया है, तो जो कुछ भी आपने कहा उसे हम क्यों सुनें? हमें आपके उत्तरी कोरिया को नियंत्रित करने के मिशन में क्यों भागीदार बनना चाहिए”, आप वास्तव में उनसे क्या कहेंगे? आपने उनसे क्या कहा है?

और मैं भी बस आप से पूछना चाहता हूं, उत्तरी कोरियाई व्यापार भागीदारों—में अफ्रीकी देश सबसे बड़े नहीं हैं।    वे अपेक्षाकृत छोटा हिस्सा हैं।

मैं सिर्फ यह जानना चाहता हूं कि वास्तव में उत्तरी कोरिया के साथ अफ्रीकी व्यापार कितना प्रभावशाली है और आप उत्तरी कोरिया के साथ अफ्रीकी व्यापार के बारे में विशेष रूप से क्यों चिंतित हैं, जब उनके पास चीन और भारत और पाकिस्तान जैसे बड़े व्यापारिक साझीदार हैं?

सांड्रा आउडकर्क: ठीक है, तो मैं शुरू करूँगी क्योंकि मुझे लगता है कि हमने पहले ही आपके प्रश्न के पहले भाग का उत्तर बहुत अच्छी तरह से दे दिया है। मैं व्यापारिक भागीदारों के मुद्दे पर बात करूंगी।

मेरे विचार में उत्तरी कोरिया और व्यापार और इसे काफी हद तक बंद करना वह यह है कि एक भी पैसा, सबसे छोटी राशि जो उत्तरी कोरियाई शासन कमा सकता हैं और इसे प्रसार के प्रयासों की ओर भेज रहा है, सामूहिक विनाश के हथियारों के लिए, बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों के लिए जो सीधे संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए खतरा पैदा करते हैं।  इसलिए कुछ मामलों में, लोग चाहे वे सरकारी अधिकारी हों या बाहर के विश्लेषक, संख्याओं को देखेंगे और वे कहेंगे, “हे, यह एक बहुत ही छोटी राशि है।” लेकिन तथ्य यह है कि उत्तरी कोरिया गुणात्मक और मात्रात्मक रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा सामना किए जाने वाले किसी अन्य खतरे से अलग है और हमें ज़रूरत है—कि कोई व्यापार प्रवाह नहीं, कोई राजस्व प्रवाह नहीं जो कि बहुत छोटा है या इतना छोटा है कि यह तुच्छ है। सभी कुछ महत्वपूर्ण है।

मार्क लैम्बर्ट: और मैं यह भी कहूँगा कि, उत्तरी कोरिया के विदेश व्यापार की स्थिति ईरान से बहुत भिन्न है।   ईरान पूरी तरह से वैश्विक अर्थव्यवस्था में एकीकृत था, जबकि DPRK नहीं है।

दक्षिण कोरियाई अनुमान से, उत्तरी कोरिया का विदेशी व्यापार केवल पांच  या छह बिलियन अमेरिकी डॉलर के बराबर है। हम चीन के साथ काफी संलग्न हैं जो उत्तरी कोरिया के नंबर एक ट्रेडिंग पार्टनर हैं और रूस के साथ जो उत्तरी कोरिया के नंबर दो व्यापारिक भागीदार हैं लेकिन यह एक वैश्विक प्रयास है।

हम केवल अफ्रीका को अलग नहीं कर रहे हैं। हम लैटिन अमेरिका और दक्षिण पूर्व एशिया और यूरोप में देशों के साथ गहराई से संलग्न हैं। यह एक वैश्विक प्रयास है।

ब्रायन नोएबर्ट: हमारे पास सवाल पूछने के लिए कुछ और मौके हैं। मैं इसे श्रीमान मैकडोनल्ड के हवाले करता हूं। अगर आप अपना और अपने संस्थान का परिचय दे सकती हैं, तो पूछिए।

हेमिश मैकडोनल्ड: नमस्कार। मेरा नाम हेमिश मैकडोनल्ड है। मैं एनके न्यूज नामक संगठन से हूं जो उत्तरी कोरिया पर विशेष रूप से केंद्रित है। मेरा प्रश्न समुद्री हस्तक्षेप को आगे बढ़ाने के प्रयासों से संबंधित है, जिन पर हाल ही में एक ध्यान केंद्रित किया गया है—हालिया सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव में उनका समावेश किया जाना शामिल है, लेकिन सेक्रेटरी ऑफ स्टेट टिलरसन ने भी उन बढ़ते प्रयासों पर व्यक्तिगत रूप से टिप्पणी की है।

यह जानते हुए कि उत्तरी कोरियाई जहाजों और उत्तरी कोरियाई-जुड़े जहाजों ने अतीत में सीएरा लियोन, आइवरी कोस्ट, टोगो, तंजानिया, और कोमोरोस जैसे अफ्रीकी देशों से सुविधा के झंडों का इस्तेमाल किया है और ऐसी स्थितियों में क्या अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट द्वारा इन झंडे राज्यों से अनुमति प्राप्त करने के लिए प्रयास किए गए हैं ताकि खुले समुद्रों पर अवैध गतिविधियों के संदेह में हस्तक्षेप करने वाले जहाजों पर प्रतिबंध लगा और उन्हें  अवरुद्ध कर सकें और इन झंडा राज्यों से क्या प्रतिक्रिया मिली है, अगर यह किया गया है?

मार्क लैम्बर्ट: धन्यवाद, श्रीमान मैकडोनल्ड। हां, हम इस तथ्य को देखते हैं कि अब उत्तरी कोरिया को वस्तुओं के अवैध जहाज से जहाज पर स्थानांतरण और गुप्त रूप से वस्तुओं की बिक्री करनी पड़ रही है तो यह एक उदाहरण है कि दबाव अभियान के प्रभाव का असर पड़ रहा है। काम पूरा करने के लिए उन्हें अधिक आपराधिक गतिविधियों का उपयोग करना पड़ रहा है।

हमारे वैश्विक प्रयास के हिस्से के रूप में, हम इस व्यापार में लगे हुए जहाजों पर नज़र रखे हुए हैं और आप बिल्कुल सही हैं। वे अक्सर सुविधा के झंडे उड़ाते हैं और वे अपने स्वामित्व को छुपाने की कोशिश करते हैं।

हम फ्लैग देशों के पीछे जा रहे हैं, उन्हें झंडे प्रदान करने वाले संरक्षण को हटाने के लिए कह रहे हैं। हम मालिकों के पीछे भी जा रहे हैं और हम बीमा कंपनियों के पीछे भी जा रहे हैं। संक्षेप में, हम इन जहाजों का एक उदाहरण बनाना चाहते हैं, यह स्पष्ट करने के लिए कि इस प्रकार के व्यापार में संलग्न कोई भी कंपनी, न केवल कार्गो को खोने के जोखिम पर है, बल्कि जहाज भी।

ब्रायन नोएबर्ट: धन्यवाद। एक बार फिर, जैसा कि मैंने यहां हमारे प्रतिभागियों को याद दिलाया है, अफ्रीका में उत्तरी कोरियाई नीति पर आज अफ्रीका क्षेत्रीय मीडिया हब के टेलीफ़ोनिक प्रेस ब्रीफिंग में शामिल होने के लिए धन्यवाद।

हम पीटर फैब्रिशयस के लिए अब लाइन खोलेंगे। पीटर, अगर आप सुन रहे हैं, मुझे पता है कि हमें कुछ तकनीकी समस्याएं हुई थीं। मैंने पहले दक्षिण अफ्रीका के बारे में आपका पहला प्रश्न पूछ लिया था लेकिन कृपया अगर आपका कोई और प्रश्न है, तो आगे बढ़ें।

पीटर फब्रीसियस: बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं इसका पहला हिस्सा गंवा चुका हूं। मैंने उस प्रश्न को नहीं सुना, और इसलिए शायद यह प्रश्न पहले से ही पूछा जा चुका हो, लेकिन मैं सिर्फ जानना चाहता था, अगर आपने पहले से स्पष्ट नहीं किया है, तो झूठे झंडों के अलावा, अफ्रीका में उत्तरी कोरिया की गतिविधियाँ किस तरह की हैं जिन्हे आप ने इस प्रश्न की घोषणा में बताया, या जैसे कि आप जानते हैं वे चेतावनियाँ जिनके बारे में हम बात कर रहे हैं?

मार्क लैम्बर्ट: आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। अफ्रीका का एक बड़ा महाद्वीप और उत्तरी कोरिया का  अविश्वसनीय संसाधन हैं इसलिए वे देश पर निर्भर करते हुए कई गतिविधियों में संलग्न हैं, लेकिन उदाहरण के लिए, अफ्रीका के कुछ देशों में पारंपरिक सैन्य-से-सैन्य संबंध हैं जहां उत्तरी कोरिया ने छोटे हथियार या प्रशिक्षण, रडार, उस प्रकार के उपकरण प्रदान किए हैं।

अन्य देशों में, उत्तरी कोरिया श्रम प्रथाओं में शामिल हैं। यह पता चलना अब कई लोगों को आश्चर्यचकित करता है कि कुछ बहुत ही ग़रीब देशों में, कम्पनियाँ उस काम को करने के लिए उत्तरी कोरियाई लोगों को नियुक्त कर रही हैं जो स्थानीय लोगों द्वारा किया जा सकता है।

जैसे कि मैने पहले बताया, अक्सर इन श्रमिकों को वे आमदनी नहीं मिलती जिसे उन्होंने कमाया है। यह गायब हो जाती है और उत्तरी कोरिया को भेज दी जाती है।

साथ ही, क्योंकि उत्तरी कोरियाई पैसा कमाने के तरीकों को तलाशने में इतने व्यावहारिक हैं, हमारे पास इस बात के पक्के सबूत हैं कि वे जंगली जानवरों की तस्करी में भी शामिल हैं; गैन्दे के सींग और अन्य आइटमें जिन्हें सायमीज़ शिखर-सम्मेलन द्वारा संरक्षित किया गया है।

सांड्रा आउडकर्क: और मैं यह भी कहूंगा कि संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीकी देशों में स्थित व्यक्तियों और संस्थाओं को प्रतिबंधित या नामित करने के लिए अपने घरेलू प्राधिकरण का इस्तेमाल कर रहा है लेकिन वे ज़्यादातर उत्तरी कोरियाई नामों वाले उत्तरी कोरियाई नागरिक या कम्पनियाँ हैं, जो अफ्रीकी देशों में स्थित हैं, जो कि पिछले कुछ वर्षों में उत्तरी कोरियाई हथियार प्रसार के प्रयास के लिए समर्थन में लगे हुए थे।

पहला पदनाम जनवरी 2015 में किया गया था इसलिए स्पष्ट है कि यह प्रयास अफ्रीकन प्रायद्वीप में काफी समय से जारी है।

ब्रायन नोएबर्ट: धन्यवाद। फिर से, प्रश्न कतार में शामिल होने के लिए, हमारे पास शायद कुछ प्रश्नों के लिए समय है।  जो स्पीकर फोन पर है, फिर से, आपको प्रश्न पूछने के लिए हेडसेट उठाना पड़ सकता है।  अब मै ऐशलिन लैंग को दूंगी, यदि आप अपना और अपने आउटलेट का परिचय दे सकें और अपना प्रश्न पूछें।

ऐशलिन लैंग: नमस्कार। मेरा नाम ऐशलिन लैंग है। मैं टाइम्स ऑफ लंदन की अफ्रीका संवाददाता हूं।

मैं बस आपसे मंसुडे नामक कंपनी के परिचालनों के बारे में जानना चाहती हूं। जैसा कि मैं समझती हूँ, वह एक निर्माण कम्पनी है जिसने अफ्रीका में बहुत सी बड़ी इमारतों और कुछ दिलचस्प मूर्तियों का निर्माण किया है और जो साथ ही रक्षा सेवाओं का संचालन करने और उन्हें प्रदान करने में भी शामिल है।

क्या निर्माण या रक्षा, किसी से भी संबंधित कोई ऐसे विशिष्ट प्रोजैक्ट हैं, जिनके बारे में आपको पता है, या तो आसन्न या क्रमशः प्रक्रिया में, जिन्हें आप बंद होते देखना चाहते हैं? मैं जानती हूँ कि ये लम्बे समय तक चलने वाले प्रोजैक्ट होते हैं और मैं जानना चाह रही थी कि क्या आप उनमें से किसी की पहचान कर सके हैं।

सांड्रा आउडकर्क: ठीक है, तो मैं—सांड्रा हूं। मैंने पहले उन संस्थाओं और व्यक्तियों के बारे में बात की जिन्हें संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार द्वारा नामित किया गया है।

मंसुडे विदेशी प्रोजैक्ट समूह को दिसम्बर 2016 में नामित किया गया था। हमारा मानना है कि वे अफ्रीकी महाद्वीप में विभिन्न देशों में व्यवसाय का संचालन करते हैं और कारण कि उन्हें क्यों नामित किया गया था यह है कि वे उत्तरी कोरिया से श्रमिकों के निर्यात के लिए उत्तरदायी हैं और म्यूनिश्नस संगठन उद्योग की ओर से राजस्व उत्पादन के लिए जिम्मेदार हैं और मैं आपको 2 दिसंबर, 2016 से अमेरिकी ट्रेजरी विभाग की प्रेस विज्ञप्ति का संदर्भ दूंगा, जिसमें उन सहायक सबूतों के बारे में कुछ विस्तार से वर्णन किया गया है जो दिसंबर 2016 में अफ्रीका में गतिविधियों से संबंधित हमारे पास उस समय मौजूद थे।

मार्क लैम्बर्ट: मिस लैंग, मैं यह भी कहना चाहूंगा कि मंसुडे को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित किया गया है। उत्तरी कोरिया सेना के साथ उनके सम्बन्धों को दर्शाने वाले कई कथानक दिखाए गए हैं।

सच कहूँ तो, यह एक ऐसा क्षेत्र है जहां हम कई अफ्रीकी देशों से मिल रहे सहयोग से खुश हैं। हमें सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि इन संस्थाओं को अन्य नामों के तहत वापस आने की आदत है, लेकिन मुझे लगता है कि अफ्रीका में संचालित होने के लिए मंसुडे की क्षमता सीमित करने के लिए अफ्रीकी देशों में हमारी कई सफलताएँ हैं।

ब्रायन नोएबर्ट: आपको फिर से धन्यवाद। तो हमारे प्रतिभागियों को याद दिलाने के लिए, आज हमारे स्पीकरों—हमारे पास अफ्रीका ब्यूरो के प्रतिनिधि हैं, स्टेट डिपार्टमेंट में एशिया ब्यूरो से, साथ ही साथ आर्थिक ब्यूरो से, इसलिए आप जो सुन रहे हैं, वह उत्तरी कोरिया के संबंध में नीति के तीन समन्वित तत्व हैं।

मैं देख रहा हूं कि हमारे पास लाइन पर कई प्रतिभागी हैं। हमारे पास शायद एक या दो से अधिक प्रश्नों के लिए समय है।

मैं देख रहा हूं श्री हेमिश मैकडोनल्ड एक अनुवर्ती सवाल पूछना चाहते हैं। महोदय हम आपके लिए लाइन खोलेंगे, पूछिये।

हेमिश मैकडोनल्ड: बहुत-बहुत धन्यवाद। फिर से, NK न्यूज से मैं हेमिश मैकडोनल्ड।

मैं विशेषज्ञों की रिपोर्ट के बारे में संक्षेप में बात करना चाहता हूं या संक्षिप्त प्रश्न पूछना चाहता हूं। तो एक मध्यकाल की रिपोर्ट है जो लीक हुई थी, जो अफ्रीका में DPRK गतिविधियों पर लगातार चल रही जांच के बारे में बताती है, इनमें से कई प्रशिक्षण और सैन्य सहयोग के बारे में हैं, और उन्होंने यह खुलासा किया कि वे यूगांडा, तंजानिया, नामीबिया, मोज़ाम्बिक, इरिट्रिया, DRC, और अंगोला से पूछताछ कर रहे हैं या पूछताछ जारी रखे हुए हैं, लेकिन उन राज्यों से उनकी पूछताछ में मदद करने के लिए बहुत कम प्रतिक्रिया मिली थी।

मैं जानना चाह रहा था कि क्या स्टेट डिपार्टमेंट पिछले छह महीनों में, किसी विशेष सफलता पर विस्तार से बता सकता है या किसी विशेष सफलता का वर्णन कर सकता है, कुछ राज्यों और उत्तरी कोरिया के साथ मिलकर सैन्य संबंधी पहलुओं पर और साथ ही साथ, पिछले प्रश्न पर बात करते हुए, कुछ मससुदे द्वारा किए गए सैन्य-संबंधी निर्माण पर भी।

मार्क लैम्बर्ट: श्रीमान मैकडोनल्ड, आपने हमें अपनी सवाल के साथ एक अजीब स्थिति में डाल दिया है।

जैसा कि आपने अपने प्रश्न में बताया, विशेषज्ञों की रिपोर्ट का पैनल लीक हो गया था और मुझे लगता है कि जब तक यह अपने अंतिम रूप में नहीं आ जाता, तब तक हमारा उस पर टिप्पणी करना अनुचित होगा। हाल ही में और स्पष्ट रूप से कुछ सफल कहानियाँ सामने आई हैं, हम कुछ जानकारी को डाउनग्रेड करने की कोशिश कर रहे हैं जिसके बारे में हम आप से और अधिक विस्तार से बात करने में सक्षम होंगे, इसलिए मेरा मतलब है कि आपको नजरअंदाज करना या ऐसा कुछ नहीं है, लेकिन कृपया, एक अनुवर्ती कार्रवाई के रूप में, हमारे साथ काम करें और हम आपको कुछ मामलों के बारे में कुछ और स्पष्ट जानकारी प्राप्त करने का प्रयास करेंगे जो हम अफ्रीका के बारे में बात कर सकते हैं।

ब्रायन नोएबर्ट: और श्रीमान मैकडोनल्ड और अन्य प्रतिभागियों की जानकारी के लिए बता दें कि आप में से अधिकांश या सभी के पास [email protected] ईमेल होगा। जब आप इस कॉल और अन्य जानकारी की प्रतिलिपि प्राप्त करते हैं, तो निश्चित रूप से, हमें आपका अनुवर्ती प्रश्न भेजने के लिए स्वागत है और हम उन लोगों के लिए उत्तर और जानकारी प्राप्त करने के लिए अपनी ओर से पूरी कोशिश करेंगे।

हमारे पास लाइन पर एक और सवाल भी है। मिस डुकोलो, हम आपके लिए लाइन खोलेंगे। माफ करें, पिछली बार मैंने आपको बीच में टोका क्योंकि आपका सवाल ज्यादा लंबा हो गया था। तो यदि आप संक्षिप्त में पूछ सकें और हमारे से एक प्रश्न पूछें, कृपया पूछें।

डुकोलो मात्साकू: फिर से नमस्कार, यह मैं बिजनेस डे से हूँ।

तो जाहिर है आप लोग संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों का अनुपालन करने के लिए अफ्रीकी सरकारों पर दबाव डाल रहे हैं, लेकिन क्योंकि उत्तरदायी प्रवर्तन तंत्र को ध्यान में रखें, तो वास्तव में संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीकी सरकारों से बात करने के अलावा क्या यह सुनिश्चित करने के लिए क्या कर रहा है कि वे उत्तरी कोरिया के साथ संबंधों को काट रहे हैं?

सांड्रा आउडकर्क: ठीक है, राष्ट्र संघ के सभी सदस्य राष्ट्रों का दायित्व अपने घरेलू प्राधिकरण के जरिए संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को लागू करना है, इसलिए यह कहना सही नहीं होगा कि कोई प्रवर्तन तंत्र नहीं है।

दुनिया में हर देश संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंधों को अपने स्वयं के घरेलू अधिकारियों का उपयोग करके लागू करता है, चाहे वे उत्तरी कोरिया या किसी अन्य देश या व्यक्ति या कार्यक्रम के खिलाफ हों और उन प्राधिकारियों के बीच अंतर होता है। हम क्या कर रहे हैं, कि हम देशों से संयुक्त राष्ट्र के दायित्वों को पूरी तरह कार्यान्वित करने को कह रहे हैं।

ब्रायन नोएबर्ट: आपको फिर से धन्यवाद। मुझे लगता है कि इस समय हमारे पास कोई और सवाल नहीं है, इससे पहले कि हम इसे समाप्त करें, मुझे यह देखने दें कि क्या श्री स्कॉट और इस कमरे में मौजूद अन्य अधिकारी कोई अंतिम शब्द प्रस्तुत करना चाहेंगे।

रॉबर्ट स्कॉट: धन्यवाद ब्रायन। मैं रॉब स्कॉट हूं। मैं आपको और हब और सभी पत्रकारों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्हें बुलाया गया है। मुझे लगता है, आप जानते हैं, हमारी चर्चा आज इस बात को रेखांकित करती है कि यह समस्या हमारे लिए कितनी महत्वपूर्ण है। केवल कल ही टिलरसन ने कनाडा में वैंकूवर में कनाडाई लोगों द्वारा किये गये एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में, जो कई देशों को एक साथ लाया था, मेरा मानना है, देश जिन्हें चुना गया था जो 1950 के दशक में कोरियाई युद्ध में शामिल थे। लेकिन इसका उद्देश्य एकता को रेखांकित करना था कि ये राष्ट्र इस खतरे को संबोधित करने में महसूस करते हैं और यह एक बहुत विशिष्ट खतरा है।

मैं यह भी कहना चाहता हूं कि हम इसे अफ्रीका के देशों के साथ साझेदारी के रूप में देखते हैं। आप जानते हैं, हम सहमत हुई नीति को लागू करने के लिए एक-दूसरे के साथ काम कर रहे हैं, इसलिए यह एक एकतरफा नीति नहीं है जिसे अमेरिका ने लगाया है। इसकी बजाए, यह संयुक्त राष्ट्र में हर किसी के द्वारा एक समझौता होता है कि हमें कार्रवाई करने की आवश्यकता है और हम उन कार्रवाइयों को करने के लिए सबसे प्रभावशाली तरीके को तलाशने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।

और इसलिए यहाँ स्टेट डिपार्टमेंट के अफ्रीका ब्यूरो में, हमें निश्चित रूप से प्रोत्साहित किया जाता है कि कई देशों ने कार्रवाईयाँ की हैं और हम साथ में काम करने के अन्य रास्ते खोजने के लिए राजदूतों और दूतावासों के माध्यम से काम करना जारी रखेंगे। मैं उनके अंतिम विचारों के लिए मार्क और सैंड्रा की ओर जाऊंगा अगर उनके पास कोई हों तो। मार्क?

मार्क लैम्बर्ट: मैं एक बात पर बल देना चाहता हूँ जिसे मैंने पहले भी कहा है कि यह एक अंतरराष्ट्रीय प्रयास है। इस बात का एकमात्र तरीका कि हम उत्तरी कोरियाई पहेली को सफलतापूर्वक हल करने जा रहे हैं कि पृथ्वी पर सभी देशों द्वारा मिलकर काम किया जाना होगा।

हमें पत्रकारिता समुदाय में आप सभी की सहायता की आवश्यकता है। जब आपके पास ये विशिष्ट प्रश्न हैं, तो कृपया उन्हें ब्रायन को भेजें। वो हमें वॉशिंगटन में भेज देंगे और हम आपको जवाब देने के लिए अपनी ओर से पूरी कोशिश करेंगे। कृपया जान लें कि इनमें से कुछ चीज़ों पर लगातार जांच-पड़ताल चल रही है। इनमें से कुछ कानूनी हैं, तो कुछ मामलों में हमारे पास कहने के लिए कुछ अधिक नहीं होगा। लेकिन जब हम कुछ कह सकते हैं, तो हम आपको अच्छी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, विश्वसनीय जानकारी जिसे आप अपने पाठकों के साथ साझा कर सकते हैं।

सांड्रा आउडकर्क: और मैं हूं सांड्रा। आज हिस्सा लेने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं आपके पास विशिष्ट प्रश्नों के उत्तर देने की इच्छा के बारे में रौब और मार्क की टिप्पणियों को दोहराना चाहूंगी। जब आप प्रतिलिपि प्राप्त करेंगे, तो आप देखेंगे कि मेरी टिप्पणियों के अंत में जो जोड़ा गया है, वहां कुछ वेबसाइटें हैं। ये वे जगहें हैं जहां आप अमेरिकी घरेलू पदनामों पर सीधे सूचना प्राप्त कर सकते हैं, यदि आपके पास कोई सवाल हैं। धन्यवाद।

ब्रायन नोएबर्ट: आपको फिर से धन्यवाद।

यदि हमारे वक्ता हमारी बात सुनें, तो हमारा यहाँ पंक्ति में एक सवाल है और मुझे पता है कि हम उन तक पहुंचने के लिए कुछ मुश्किल का सामना कर रहे थे और क्योंकि हमारे पास एक या दो मिनट बचे हैं तो क्या आप शैनन इब्राहीम की ओर से एक आखिरी सवाल लेंगे। यदि आप अपना और अपने आउटलेट का परिचय दे सकें हम आपको यहाँ अंत में फिट कर लेंगे। मुझे पता है कि हमें आपको लाइन पर लाने में कुछ तकनीकी चुनौतियों का सामना करना पड़ा है।

शैनन इब्राहीम: हां, आपको बहुत-बहुत धन्यवाद। मैं सचमुच इसकी तारीफ करती हूं। मेरा नाम शैनन इब्राहीम है और मैं दक्षिण अफ्रीका में इंडिपेंडेंट मीडिया की ग्रुप फॉरेन एडिटर हूं। यह सिर्फ बीस अखबारों और फिर एक ऑनलाइन साइट के बारे में है।

मैं उत्तरी और दक्षिण कोरिया और उनके संघर्ष के बारे में काफी कुछ लिखता हूँ—प्रायद्वीप में तनाव और मैं इस सप्ताह ओलंपिक के बारे में लिख रहा हूँ और क्या संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों को ध्यान में रखते हुए शांति के लिए नये अवसर खोल रहे हैं, जो कि ओलंपिक को शांति और वार्ता के लिए एक कदम के रूप में देखना चाहता है।

मुझे नहीं पता है कि क्या आपने अपनी ब्रीफिंग में पहले से ही इसे कवर किया है या नहीं, लेकिन यह जानने में काफी दिलचस्पी होगी कि क्या संयुक्त राष्ट्र का मानना है कि यह यथार्थवादी है कि यह नया विकास कि उत्तरी कोरिया भाग लेगा—यहां तक कि उत्तर और दक्षिण कोरियाईयों की एक संयुक्त महिला आइस हॉकी टीम भी हो सकती है—क्या आपको लगता है कि यह उत्तरी कोरियाई लोगों को बातचीत की मेज पर लाने के लिए और उन्हें साझा करने वाले कुछ मुद्दों पर चर्चा करने के लिए निर्मित किया गया हो सकता है?

रॉबर्ट स्कॉट: मिस इब्राहीम, हम दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेए-इन की सरकार के साथ बहुत करीबी संपर्क में रहे हैं। उन्होंने राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ उत्तर ने जो किया है, उस सन्धि प्रस्ताव के बारे में दो बार बात की है। अभी के लिए, यह लगता है कि ज्यादातर चर्चा एक सुरक्षित और संरक्षित ओलंपिक को सुनिश्चित करने के उद्देश्य से की जा रही है, लेकिन उम्मीद है कि यह वसंत अंतहीन हो।

हमें उम्मीद है कि उत्तरी कोरियाईयों द्वारा कुछ प्रकार के संधि प्रस्ताव किए जाएंगे, ताकि कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु विहीन करने की आवश्यकता को फिर से संबोधित करने की उनकी इच्छा का संकेत मिले। हालांकि, आज तक हमने उत्तरी कोरियाई लोगों की ओर से उस इच्छा का कोई संकेत नहीं देखा या सुना।

ब्रायन नोएबर्ट: आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। इससे आज की कॉल समाप्त होती है।

मैं हमारे वक्ताओं का उनके क्लोज़िंग रिमार्क्स के बाद अतिरिक्त सवाल लेने के लिए सराहना करता हूँ। उसके लिए धन्यवाद। मैं श्रीमान रॉबर्ट स्कॉट को धन्यवाद देना चाहता हूं। फिर से, हमारे पास रॉबर्ट स्कॉट, एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर अफ्रीकन अफेयर्स थे। मार्क लैम्बर्ट डिप्टी स्पेशल रेप्रजेंटेटिव फॉर नॉर्थ कोरियन पॉलिसी हैं और मिस सांड्रा आउडकर्क जो कि एक्टिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी फॉर द इकोनॉमिक ब्यूरो हैं।

हमारे सभी सहभागियों के लिए आपका धन्यवाद जिन्होंने अफ्रीका और दुनिया भर से कॉल किया। जैसा कि मैने कहा, यदि आपके आगे और सवाल हैं, तो अफ्रीका रीजनल हब पर हमसे सम्पर्क करें।  यह [email protected] पर है। आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें