rss

विदेश विभाग ने सिद्धार्थ धर और अब्दुलतीफ़ गेनी को आतंकवादी घोषित किया

English English, العربية العربية, اردو اردو

तत्काल जारी करने के लिए
मीडिया नोट
जनवरी 23, 2018

 
 

विदेश विभाग ने आइसिस के दो सदस्यों सिद्धार्थ धर और अब्दुलतीफ़ गेनी को कार्यकारी आदेश (ई.ओ.) 13224 की धारा 1(बी) के तहत विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी(एसडीजीटी) घोषित किया है। ई.ओ. 13224 उन विदेशी व्यक्तियों पर प्रतिबंध लगाता है जिन्होंने आतंकवाद के कृत्य करने का संकल्प लिया हो या जिनके ऐसे कृत्य करने का बड़ा ज़ोखिम हो, जोकि अमेरिकी नागरिकों या अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति या अर्थव्यवस्था के लिए खतरा हो। इस नामांकन का उद्देश्य है धर और गेनी को उन संसाधनों से वंचित करना जिनकी उन्हें और आगे और आतंकवादी हमलों की योजना बनाने और कार्यान्वयन के लिए आवश्यकता होगी। अन्य परिणामों के साथ, इसमें धर और गेनी की सारी संपत्ति और अमेरिकी अधिकार-क्षेत्र में आनेवाली संपत्ति में उनके हितों को अवरुद्ध कर दिया गया है, और अमेरिकी लोगों को सामान्यतया उनके साथ किसी भी तरह की लेनदेन से मना कर दिया गया है।

सिद्धार्ध धर अब निष्क्रिय आतंकवादी संगठन अल-मुहाजरुन का एक अग्रणी सदस्य था। धर 2014 के उत्तरार्द्ध में आइसिस में शामिल होने के लिए ब्रिटेन से छोड़कर सीरिया गया। माना जाता है कि उसने आइसिस के हत्यारे मोहम्मद एमवाज़ी की जगह ली, जोकि “जिहादी जॉन” के नाम से भी जाना जाता था। माना जाता है कि धर जनवरी 2016 में ब्रिटेन के लिए जासूसी करने के आरोप में कई कैदियों को मौत के घाट उतारे जाने के आइसिस के वीडियो में दिखने वाला नक़ाबपोश सरगना है।

अब्दुलतीफ़ गेनी बेल्जियन-मोरक्कन नागरिक है जोकि माना जाता है कि मध्य पूर्व में आइसिस की तरफ से लड़ रहा है। गेनी का संपर्क ब्रिटेन स्थित आइसिस के हितैषी मोहम्मद अली अहमद और हमज़ा अली से है, जिन्हें ब्रिटेन में 2016 में आतंकवाद के आरोपों में सज़ा दी गई थी।

आज की कार्रवाई अमेरिकी जनता और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को सूचित करती है कि धर और गेनी ने आतंकवादी कृत्य किए हैं या उनके ऐसा करने का ज़ोखिम है। आतंकवादी नामित कर संगठनों और व्यक्तियों को बेनक़ाब और अलग-थलग किया जाता है, और उन्हें अमेरिकी वित्तीय प्रणाली का उपयोग करने से रोका जाता है। साथ ही, आतंकवादी नामित किए जाने से अमेरिकी एजेंसियों और अन्य सरकारों को कानून प्रवर्तन से जुड़ी कार्रवाइयों में मदद मिल सकती है।

विदेश विभाग द्वारा एफटीओ और एसडीजीटी नामितों की सूची यहां पर उपलब्ध है:
https://www.state.gov/j/ct/rls/other/des/index.htm

हेलेना डब्ल्यू. व्हाइट | प्रवक्ता, दक्षिण एशियाई मीडिया, और उपनिदेशक, लंदन मीडिया हब | PA/IME/LMH | अमेरिकी दूतावास, 24 ग्रॉसवेनर स्क्वायर, लंदन WIK 6AH | कार्यालय: +44 (0) 20-7894-0178 | ब्रिटेन मोबाइल: +44 (0) 7734-367477 | अमेरिका मोबाइल: +1 703-944-3438 | [email protected] | [email protected]


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/r/pa/prs/ps/2018/01/277594.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें