rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन अमेरिका-अफ्रीका के संबंधों पर: एक नई रूपरेखा

English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Español Español, اردو اردو

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए 06 मार्च 2018
टिप्पणियाँ
जार्ज मेसन विश्वविद्यालय
फेयरफैक्स, वर्जीनिया

 

**UNEDITED/DRAFT**

 

श्रीमान कैबरेराआप सभी को मेरा नमस्कार।  एक बहुत ही खास प्रस्तुति देखने के लिए आज हमारे साथ मौजूद होने के लिए धन्यवाद।  मुझे हमारे सेक्रेटरी ऑफ स्टेट का यहाँ जार्ज मेसन में स्वागत करके बहुत खुशी हो रही है, जो कि अफ्रीका की एक बहुत महत्वपूर्ण यात्रा के लिए अपने रास्ते पर है।  और मैं थोड़ा पक्षपाती हूँ, लेकिन मुझे लगता है कि इस प्रस्तुति को पेश करने के लिए उनका चुनाव जार्ज मेसन से बेहतर नहीं हो सकता था।

जार्ज मेसन 130 से अधिक देशों के विद्यार्थियों और संकाय सदस्यों का घर है, और हमने यह सुनिश्चित करने को अपने मिशन का एक हिस्सा बनाया है कि हम विद्यार्थियों को एक बहुत ही परस्पर रूप से जुड़ी दुनिया में शामिल होने के लिए शिक्षा प्रदान कर रहे हैं।  हम कई बार अपने आप को दुनिया का एक विश्वविद्यालय बनाना चाहते हैं।

सेक्रेटरी टिलरसन, जो अपने काम पर अपने दूसरे साल की शुरुआत कर रहे हैं, बेशक, जो प्रशिक्षण द्वारा कोई राजनीतिज्ञ या सरकारी व्यक्ति नहीं थे, और फिर भी उनके कैरियर के कुछ ऐसे पहलू हैं जब आप सोचते हैं कि जो इस काम के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ बनाते हैं।  आप जानते हैं कि उन्होंने एक्सॉनमोबिल को कई सालों तक चलाया, 2006 से लेकर 2017 तक।   आप जानते हैं कि एक्सॉन दुनिया की सबसे बड़ी सार्वजनिक-स्वामित्व वाली कम्पनियों में से एक है और सबसे अधिक वैश्विक कम्पनियों में से एक है।   तो हाँ, 44000 से अधिक कर्मचारियों वाले, साथ ही दुनिया भर में और 44000 कर्मचारियों के साथ और $50 से अधिक बिलियन डॉलर के बजट वाले, स्टेट डिपार्टमेंट को चलाना थोड़ा भयभीत करने वाला है।  लेकिन दरअसल यह उससे तो थोड़ा कम ही है जिसे यह तब चलाया करते थे जबकि वे एक्सॉनमोबिल का संचालन कर रहे थे।   साथ ही, उन्होंने मिडिल ईस्ट में और दुनिया भर के अन्य कई हिस्सों में ऑपरेशंस चलाते हुए दुनिया भर में काफी समय व्यतीत किया है।

सबसे अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि मुझे लगता है कि इस काम के लिए वह एक ईगल स्कॉउट थे।    और एक बॉय स्काउट होने ने न केवल उन्हें इसके लिए अच्छे से तैयार किया है बल्कि इसने उन्हें इतना बड़ा बनाया कि उन्होंने इस संगठन की सेवा करने का फैसला किया।  और उनकी – उन्होंने बॉय स्काउट ऑफ अमेरिका के अध्यक्ष के तौर पर कई सालों तक सेवा की है।

तो फिर से, मेसन समुदाय की ओर से और बहुत कुछ न कहते हुए, आईये कृपया मेरा साथ दें हमारे सेक्रेटरी ऑफ स्टेट रैक्स टिलरसन का स्वागत करने में।   (तालियाँ बजती हैं)।

सेक्रेटरी टिलरसनआपका धन्यवाद।   डॉ. कैबरेरा इस हार्दिक अभिनन्दन के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।   और यहाँ जार्ज मेसन में आना मेरे लिए सौभाग्य की बात है, और मुझे हमेशा ही एक फ़ुलब्राइट पूर्व छात्र, साथ ही साथ एक साथी इंजीनियर से मिलकर खुशी होती है।  और हम जार्ज मेसन विश्वविद्यालय की अफ्रीकन और अफ्रीकन अमेरिकन स्टडीज़ प्रोग्राम का यहाँ आयोजन करने के लिए और उस काम के लिए सराहना करते हैं जो वह बहुत से महत्वपूर्ण विषयों पर करता है, जिन पर आज हम चर्चा करेंगे।

आज दोपहर बाद मैं अपनी सब-सहारा अफ्रीका की यात्रा पर निकल जाऊंगा – यह अफ्रीका की मेरी पहली यात्रा नहीं है, जैसे कि मैंने अपने पूर्व करियर में पहले भी कई यात्राएँ की हैं, लेकिन यह एक ऐसी यात्रा है जिसकी योजना बनाना और शुरुआत पिछली नवम्बर में हुई थी जबकि 37 अफ्रीकी देशों और अफ्रीकी यूनियन की स्टेट डिपार्टमेंट में आयोजित की गई एक मंत्रीस्तरीय वार्ता हुई थी।    उस शिखर सम्मेलन के दौरान हमारी बातचीत आतंकवाद-प्रतिरोध, लोकतंत्र और संचालन मुद्दों और महाद्वीप के साथ व्यापार और निवेश संबंधों को मजबूत बनाने पर केन्द्रित थी – और ये वह सभी विषय हैं जिन्हें मैं अभी कुछ ही क्षणों में संबोधित करूंगा।

जैसा कि मैंने कहा कि मेरे जीवन के अतीत में, मैंने अफ्रीका में काफी समय बिताया है।   और मेरी संस्था का मानना है कि उस महाद्वीप पर बहुत से अवसर मौजूद हैं – आर्थिक विकास के लिए, अधिक समृद्धि के लिए, और आपस में सम्मानपूर्ण साझेदारियों के माध्यम से वैश्विक चुनौतियों का प्रत्युत्तर देने के लिए।   मैं अमेरिका-अफ्रीका के संबंधों की एक मजबूत नींव के साथ वापस आने और उसका निर्माण करने के लिए तत्पर हूँ।   और इसमें चैड की यात्रा भी शामिल है, एक ऐसा देश जिसने कभी सेक्रेटरी ऑफ स्टेट की यात्रा का स्वागत नहीं किया है।

पिछले दशक में, जबकि अफ्रीकी देश अपने औपनिवेशिक अतीत से बाहर निकले हैं, हमने अफ्रीका के साथ अमेरिकी सम्बद्धता में एक नाटकीय वृद्धि देखी है।   स्टेट डिपार्टमेंट ने 1958 में अफ्रीकी ब्यूरो का सृजन किया – उस समय के उप-राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन की उस महाद्वीप की यात्रा के अगले साल ही।  घाना ने उप-राष्ट्रपति और मार्टिन लूथर किंग जूनियर को अपने स्वतंत्रता दिवस समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था – एक समारोह जो आज से ठीक 61 दिन पहले हुआ था।

कुछ ही दिनों बाद, राष्ट्रपति जॉन एफ. कैनेडी ने अफ्रीकन विकास को ध्यान में रखते हुए USAID की स्थापना की और हमारे पहले शांति दूतक स्वयंसेवकों का दल घाना और तंजानिया पहुंचा।  आज के महीने पर चालीस साल पहले, राष्ट्रपति जिमी कार्टर लाइबीरिया और नाइजीरिया की यात्रा पर गये थे, जहाँ उन्होंने घोषणा की कि “हमारा देश अब अफ्रीका की ओर एक अभूतपूर्व तरीके से बदल गया है।”

आज वह बदलाव जारी रहता है।   हमारे देश की सुरक्षा और आर्थिक समृद्धि अफ्रीका के साथ आज इस तरह से संबंधित हैं जैसे कि पहले कभी नहीं थी।   यह आने वाले दशकों में निम्नलिखित कारणों से और गहरी होंगी:

पहला:  एक बहुत बड़ा जनसांख्यिकीय बदलाव।   साल 2030 तक, अफ्रीका दुनिया भर के कार्यबल का लगभग एक चौथाई का प्रतिनिधित्व करेगा।  और साल 2050 तक, इस महाद्वीप की जनसंख्या के दुगुना यानि 2.5 बिलियन लोगों से अधिक हो जाने की संभावना है – जिनमें से 70 प्रतिशत 30 से कम की आयु के होंगे।

और दूसरा:   अफ्रीका में महत्वपूर्ण आर्थिक विकास हो रहा है।   विश्व बैंक का अनुमान है कि इस साल दुनिया भर में सबसे तेज़ी से विकास करती दस में छह अर्थव्यवस्थाएं अफ्रीकन होंगी।

संदर्भ के लिए, साल 2050 तक, नाइजीरिया की जनसंख्या अमेरिका की जनसंख्या से अधिक होगी और उसकी अर्थव्यवस्था ऑस्ट्रेलिया से बड़ी होगी।

यह समझने के लिए कि दुनिया कहाँ जा रही है, हमें समझना होगा कि अफ्रीका भविष्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।   अफ्रीकी देश अनगिनत वैश्विक सुरक्षा और विकास चुनौतियों, साथ ही साथ आर्थिक विकास और प्रभाव के लिए विशाल अवसरों में अधिक से अधिक के अभिकर्ता होंगे।

जबकि अफ्रीका में विविधता की एक पूंजी है – इसकी प्रजातियों, संस्कृतियों और इसकी सरकारों में – इसमें आम चुनौतियाँ और अवसर भी मौजूद हैं।   अफ्रीका की जीवनशैली अपने युवाओं से परिलक्षित होती है, लेकिन युवाओं की बढ़ती आबादी का मतलब है कि अधिक नौकरियों की एक आवश्यकता।  जितना अधिक अफ्रीकन गरीबी से बाहर निकलते हैं, उतनी ही राष्ट्रों को अधिक बुनियादी ढांचे और विकास की आवश्यकता होगी।  युवा लोगों की बढ़ती आबादी, अगर उसे नौकरी और भविष्य के प्रति एक आशा के बिना छोड़ दिया जाता है, तो वह अगली पीढ़ी का फायदा उठाने के लिए, स्थिरता को तोड़ने और लोकतांत्रिक सरकारों को हटाने के लिए आतंकवादियों के लिए नए तरीके बनाएगा।  नेताओं को उनके पास सीमित वित्तीय संसाधनों को नवीनतम बनाने और उनका प्रबंधन करने के लिए चुनौती दी जाएगी।

जबकि हम आगे देख रहे हैं, यह प्रशासन अफ्रीका के साथ हमारी साझेदारी को गहरा करने की कोशिश कर रहा है, जिसका उद्देश्य अफ्रीकी देशों को अधिक लचीला और अधिक आत्मनिर्भर बनाने का है।  यह हमारे भागीदारों की सेवा करता है, और यह हमारे सभी बच्चों और पोते-पोतियों के लिए एक स्थिर भविष्य बनाकर संयुक्त राज्य अमेरिका के भी हित में कार्य करता है।

स्थिरता का भविष्य सुरक्षा पर निर्भर करता है – वह स्थिति जो आर्थिक समृद्धि और मजबूत संस्थानों के लिए आवश्यक है।   उसके बिना, और चीज़ों को व्यवस्थित नहीं किया जा सकता।

आज, आतंकवाद की लम्बी पहुंच अनगिनत व्यक्तियों के भविष्य को चुराने का खतरा पैदा करती है।   इस अगस्त में, हम उस दिन को याद करेंगे जब नैरोबी और दर एस सलाम में 20 साल पहले हुए अमेरिकी दूतावास पर हमले में सैकड़ों लोगों की मौत हुई – जहां सैकड़ों जानें गईं थी।

उस दिन से, अफ्रीका में आतंकवादियों के हाथों हजारों लोग मारे गए हैं।  2009 में 300 से भी कम आतंकवादी हमले बढ़कर, 2015, 2016 और ’17 के प्रत्येक वर्ष में 1,500 से अधिक हो गये हैं।   और हाल ही में, हमने फिर से देखा कि 100 से अधिक नाइजीरियाई स्कूली बच्चों के अपहरण का हादसा हुआ – जिन्हें उनके परिवारों से अलग कर दिया गया, हमेशा के लिए उनका भविष्य बदल गया।

पिछले हफ्ते, इस बढ़ते खतरे के जवाब में, मैंने नामित किया और संयुक्त राज्य अमेरिका ने ISIS-पश्चिमी अफ्रीका और ISIS-सोमालिया और उनके नेताओं सहित सात ISIS-संबद्ध समूहों को नामित किया जिससे इन समूहों को उन संसाधनों तक पहुंच को काट दिया जाए जिसका वे इन हमलों के लिए इस्तेमाल करते हैं।

ऐसी बुरी ताकतों के खिलाफ प्रबल होने के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीकी भागीदारों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि इस संघर्ष के संचालकों को संबोधित करके इस महाद्वीप से और दुनिया भर से आतंकवाद को खत्म कर दिया जाए, जो कि कट्टरपंथ और भर्ती की ओर ले जाते हैं और अफ्रीकी देशों की संस्थागत कानून प्रवर्तन क्षमता का निर्माण किया जाए।  हम अफ्रीका राज्यों को उनके नागरिकों के लिए एक वैध तरीके से सुरक्षा प्रदान करने में मदद करना चाहते हैं।

आज अफ्रीकी राष्ट्र कार्रवाई करने के लिए कदम उठा रहे हैं, जिसमें ऐसी प्रतिबद्धता के साथ किये जाने वाले बलिदान भी शामिल हैं।

आतंकवाद किसी सीमा को नहीं जानता।   साहेल और झील चाड बेसिन में, बोको हरम, ISIS-पश्चिम अफ्रीका, माघरेब में अल-कायदा और अन्य समूह अनुकूलनीय हैं, वे लचीले हैं, और पूरे क्षेत्र में हमलों को शुरू करने में सक्षम हैं।  उन हमलों में बाधा डालने और उन्हें भविष्य में योजना बनाने और उन्हें बाहर करने के लिए क्षमता को नकारने के लिए क्षेत्रीय सहयोग बहुत महत्वपूर्ण है।

नाइजीरिया, नाइगर, चाड, बेनिन और कैमरून द्वारा निर्मित बहुराष्ट्रीय संयुक्त कार्यबल – पांच साहेल देशों के समूह के साथ या जी5 – बुर्किना फासो, चाड, माली, मॉरिटानिया और नाइगर – मिलकर विशेषज्ञों और संसाधनों को जोड़ रहे हैं।  उनका काम आतंकवाद और अस्थिरता के लिए अफ्रीकी नेतृत्व वाले समाधानों को प्राप्त करने में काफी महत्वपूर्ण है।

पिछले अक्टूबर में, मैंने घोषणा की कि संयुक्त राज्य अमेरिका इन क्षेत्रीय प्रयासों में और योगदान देगा।  हमने जी5 के आतंकवाद-प्रतिरोध के प्रयासों की ओर 60 करोड़ डॉलर तक की प्रतिबद्धता की – ताकि इन समुदायों में संयुक्त सेना के सदस्यों को प्रशिक्षित करने और सज्जित करने और उन्हें आतंकवादी प्रचार का विरोध करने के लिए सक्षम बनाया जा सके।

इसके अलावा, एक दशक से भी ज्यादा समय तक, उत्तर और पश्चिम अफ्रीका के सैन्य, कानून प्रवर्तन और सिविल कार्यकर्ताओं के बीच सहयोग और प्रशिक्षण को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका ने ट्रांस-सहारा काउंटर-टैरीरिज़्म पार्टनरशिप का समर्थन किया है।  हमने पूर्वी अफ्रीका में एक समान दृष्टिकोण को अपनाया, जिसमें क्षेत्रीय पूर्व अफ्रीका काउंटर-टैरीरिज़्म या PREACT के लिए साझेदारी शामिल है।  2016 से,  सहयोगियों को आतंकियों को सुरक्षित आश्रयों देने से रोकने और इन भागीदारियों के माध्यम से भर्ती को रोकने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका ने $140 मिलियन डॉलर से अधिक का योगदान किया है।

संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीकी संघ के नेतृत्व के लिए बढ़ती, बहुपक्षीय भूमिका के लिए आभारी है।  सोमालिया में AU मिशन – या AMISOM – पांच अफ्रीकी देशों के सैन्य दलों को शामिल करता है, जो अल-शबाब के हमले के तहत क्षेत्रों को स्थिर करने और सोमाली लोगों तक पहुंचने के लिए आवश्यक सहायता की अनुमति देता है।  मैं महाद्वीप पर आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए साथ मिलकर काम करने के तरीके तलाशने के लिए मेरी अगली यात्रा पर AU आयोग के अध्यक्ष फाकी के साथ मिलने के लिए तत्पर हूं।

इन और अन्य क्षेत्रीय और बहुपक्षीय प्रयासों में संयुक्त राज्य अमेरिका की भूमिका क्षमता का निर्माण करने की है – निर्भरता की नहीं – इसलिए हमारे पार्टनर अपनी सुरक्षा के लिए स्वयं खड़े हो सकें।   महाद्वीप पर शांति बनाए रखने के हमारे दृष्टिकोण के लिए यह सच है।

अफ्रीका में शांति-निर्माण क्षमता के सबसे बड़े योगदानकर्ता के रूप में, संयुक्त राज्य अमेरिका सैन्य बलों को प्रशिक्षित करता, तैनात करता और उनको बनाए रखता है जो आतंकवाद-प्रतिरोध समर्थन, लैंडमाइंस को हताने, और ताकत के शांतिपूर्ण पारगमन को समन्वित करने का काम करते हैं।  इससे सुरक्षा आती है, स्वास्थ्य की अनुमति देता है – मुझे क्षमा करें – स्वास्थ्य, भोजन, और अन्य सेवाओं को ज़रूरत के क्षेत्रों तक पहुंचने की अनुमति मिलती है।

पिछले साल, संयुक्त राज्य अमेरिका ने 20 से अधिक अफ्रीकी देशों के 27,000 से अधिक अफ्रीकी शांति सैनिकों का समर्थन किया।  यहां भी अधिक से अधिक अफ्रीकी देशों ने अपने भविष्य का स्वामित्व अपने हाथों में लिया।  एक दशक पहले, अफ्रीकी महाद्वीप में केवल 20 प्रतिशत शांति दूतक बलों को बनाए हुए थे।  आज यह संख्या 50 प्रतिशत से अधिक हो गई है।

जबकि हम महत्वपूर्ण सुरक्षा प्रयासों का समर्थन करते हैं, हमें उन संघर्षों के लिए दीर्घकालिक कूटनीतिक समाधान खोजने के लिए काम करना होगा, जिसके कारण मनुष्य को इतनी पीड़ा का सामना करना पड़ता है।  जब तक हम ऐसा नहीं करते, संयुक्त राज्य अमेरिका, मानवतावादी सहायता की दुनिया के सबसे बड़े प्रदाता के रूप में, उन सबसे कमजोर लोगों के साथ खड़े रहना जारी रखेगा।

इस प्रतिबद्धता के लिए एक सबूत के तौर पर, आज मैं अकाल और खाद्य असुरक्षा से लड़ने के लिए और सोमालिया, दक्षिण सूडान, इथियोपिया और झील चाड बेसिन में संघर्ष के परिणामस्वरूप अन्य जरूरतों को संबोधित करने के लिए अतिरिक्त मानवीय सहायता में $533 मिलियन की घोषणा कर रहा हूं।  इन क्षेत्रों में भूख के खतरनाक स्तर काफी हद तक मानवनिर्मित हैं, जबकि संघर्ष शुरु होते हैं और लोग अपने घरों से भाग जाते हैं। इन परिस्थितियों में, लोग फ़सलों का उत्पादन नहीं कर सकते और अक्सर भोजन, शिक्षा और स्वास्थ्य देखभाल तक पूरी तरह से पहुंच खो बैठते हैं।  कई तो सब कुछ ही खो बैठते हैं।  और दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि कुदरत भी कई बार क्रूर बन जाती है, जैसे कि हॉर्न ऑफ अफ्रीका में, जहाँ एक लम्बे समय से चला आ रहा अकाल गंभीर खाद्य असुरक्षा मेंए योगदान दे रहा है।

ये अतिरिक्त निधियाँ लाखों लोगों तक आपातकालीन भोजन, पोषण सहायता और अन्य सहायता पहुंचाएंगी, जिनमें सुरक्षित पेयजल, हजारों टन भोजन सहित, और हैजा जैसे घातक रोगों के प्रसार को रोकने के लिए स्वास्थ्य कार्यक्रम शामिल होंगे।  इससे ज़िंदगियाँ बचाई जाएंगी।

अमेरिकी लोग, जैसा कि हम हमेशा करते रहे हैं, यह सुनिश्चित करने के लिए अफ्रीकी देशों के साथ भागीदारी करने के लिए  मौजूद हैं कि उनकी सबसे कमजोर आबादी जीवन-बचाने वाली सहायता प्राप्त करती है।  हम अफ्रीका में बढ़ते मानवतावादी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए दूसरों से भी अपील करते हैं।  हम आशा करते हैं कि ये प्रारंभिक योगदान दूसरों को बोझ साझा करने और अफ्रीका में बढ़ती मानवीय ज़रूरतों को पूरा करने के लिए सहायता में योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।  हालांकि, यह सहायता इन चल रहे संघर्षों का समाधान नहीं करेगी, बल्कि कूटनीतिक समाधानों को आगे बढ़ाने के लिए हमें कुछ समय मिल जाएगा।

जैसा कि कई अफ्रीकी देश घर पर अपनी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए ज़्यादा ज़िम्मेदारी उठाते हैं, संयुक्त राज्य अमेरिका को अफ्रीका में हमारे भागीदारों से विश्व स्तर पर सक्रिय भूमिका निभाने की जरूरत है।  एक क्षेत्र जहां हम अधिक सहयोग की मांग करते हैं, वह है DPRK को बातचीत की मेज पर लाने के लिए हमारे शांतिपूर्ण दबाव अभियान को समर्थन देना।

उत्तरी कोरिया अपने गैरकानूनी परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों और प्रसार गतिविधियों के माध्यम से पूरे विश्व को धमकाता है, जिसमें अफ्रीका को उसका हथियार निर्यात करना भी शामिल है।  यह केवल यूरोप या एशिया में हमारे सहयोगियों को ही शामिल नहीं करता।  यह केवल DPRK के साथ लंबे समय से चले आ रहे संबंधों वाले देशों, जैसे चीन और रूस को ही शामिल नहीं करता।  यह है और इसका एक वैश्विक प्रयास होना ज़रूरी है।

पिछले महीने, दक्षिण अमेरिका की अपनी यात्रा के दौरान, मैंने अपने समकक्षों के साथ उन तरीकों के बारे में स्पष्ट रूप से बात की थी जिनसे वे इस दबाव अभियान में योगदान करने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं।  अफ्रीका में राष्ट्रों को और अधिक करने की आवश्यकता है।

अंगोला और सेनेगल ने कुछ राजनयिक और आर्थिक दबाव डालने के लिए कदम उठाए हैं।  इथियोपियन सरकार ने भी समर्थन की सार्वजनिक प्रतिबद्धताओं की घोषणा की है।   लेकिन कई अफ्रीकी राष्ट्र अभी तक शांत खड़े हैं।   हमें उम्मीद है कि वे अपनी आवाज को अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ जोड़ देंगे और उत्तरी कोरिया में शासन के साथ इन राजनयिक, आर्थिक या हथियार कार्यक्रमों को खत्म कर देंगे।

महाद्वीप पर सुरक्षा अधिक समृद्धि के लिए एक पूर्वापेक्षा है।  और ज़्यादा स्थिरता, अफ्रीकी देशों के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका के व्यापार और निवेश को और अधिक आकर्षित करेगा, जिससे विकास और आगे बढ़ेगा, जिसे हमने अफ्रीकी विकास और अवसर कानून या AGOA के माध्यम से हासिल किया है।

AGOA अफ्रीका में अमेरिकी व्यापार नीति का लगभग दो दशक से अब तक का मुख्य आधार रहा है।  और AGOA के साथ, हमने बहुत सी प्रगति देखी है।  कुल गैर-तेल के सामान का व्यापार सालाना 13 अरब डॉलर से बढ़कर दुगुना होकर लगभग 30 अरब डॉलर प्रति वर्ष हो गया है।  वास्तव में, पिछले साल अमेरिका का कुल व्यापार 38.5 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो कि 2016 में 33 अरब डॉलर था।

हमें अपने कई अफ्रीकी सहयोगियों के कार्यों ने प्रोत्साहित किया है जो संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ व्यापार के विस्तार करने के तरीके तलाश रहे हैं।  पिछले हफ्ते संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी यात्रा पर, घाना के राष्ट्रपति अकुफो-एडो ने राष्ट्रीय गवर्नर्स एसोसिएशन को संबोधित किया, ऐसा करने वाले पहले अफ्रीकी राष्ट्रपति।  उन्होंने अपनी इच्छा – अपने लोगों की इच्छा के बारे में बात की – एक पीढ़ी में गरीबी से समृद्धि की ओर पारगमन के बारे में बात की।  संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीका के सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों को सक्षम करने में मदद करना चाहता है और और अपने देश में इसे एक वास्तविकता बनाना चाहता है।

अफ्रीका में अभी भी विशाल, अविकसित प्राकृतिक संसाधन मौजूद हैं।  संयुक्त राज्य अमेरिका में निजी क्षेत्रों की विशेषज्ञता उन संसाधनों के जिम्मेदार विकास की सुविधा प्रदान कर सकती है, जिससे उन संसाधनों के आर्थिक मूल्यों को साझा करने के लिए अधिक से अधिक अफ्रीकियों को गरीबी से बाहर निकलने में मदद मिल सकती है।  लेकिन महाद्वीप के विकास, समर्थन, आर्थिक विकास को बढ़ावा देने और महाद्वीप पर अंतराष्ट्रीय व्यापार को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण अंतरमहाद्वीपीय बुनियादी ढांचे की आवश्यकता है।

आज कुल अफ्रीकी निर्यात का केवल लगभग 12 प्रतिशत ही महाद्वीप पर अपने पड़ोसी देशों को दिया जाता है।  ASEAN देशों के बीच 25 प्रतिशत और यूरोप में 60 प्रतिशत से अधिक से तुलना कीजिये, और महाद्वीप पर व्यापार के माध्यम से अधिक आर्थिक समृद्धि की संभावना काफी स्पष्ट है।  जैसा कि अफ्रीकी राष्ट्र टैरिफ अवरोधों को कम करके और परिवहन, ऊर्जा और बुनियादी ढांचे के लिंकों में सुधार के जरिए अधिक क्षेत्रीय एकीकरण प्राप्त करते हैं, जो कि अमेरिकी व्यवसायों, निवेश और अंतरमहाद्वीपीय व्यापार के लिए अधिक अवसर पैदा करेगा।

और अमेरिकी व्यापार प्रथाओं और विशेषज्ञता का आयात करने से अफ्रीका के भविष्य के लिए आर्थिक समृद्धि में योगदान करना, अफ्रीकी राष्ट्रों को नई क्षमताओं से लैस करना और एक खुली, पारदर्शी ढांचे में ऐसा करने के लिए सर्वोत्तम संयोजन प्रदान करता है।  यही कारण है कि हम नई विकास वित्त संस्था बनाना चाहते हैं।  DFI एक विशेष तरह के सरकारी बैंक हैं, जो विकास की प्रभावशीलता में सुधार के लिए निजी क्षेत्रों को सहायता प्रदान करने के लिए तैयार किए गए हैं।  विकासशील देशों में अपने लक्ष्यों को हासिल करने  के लिए पहले ही वित्त का इस्तेमाल करने वाले देशों के साथ अमेरिका को प्रतिस्पर्धा करने लायक बनाने के लिए हम कांग्रेस के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

अफ्रीकी महाद्वीप के विकास के इतिहास में USAID की अगुआई वाला पॉवर अफ्रीका कार्यक्रम सरकारी-निजी भागीदारी वाली सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है।  पांच साल पहले स्थापित पॉवर अफ्रीका का गठन अफ्रीकी देशों में विकास के लिए सबसे अहम मूलभूत सुविधा बिजली उपलब्ध कराने के लिए किया गया था।  निजी क्षेत्र के 140 से अधिक भागीदारों की प्रतिबद्धता की वजह से अफ्रीका के पूरे सहारा क्षेत्र में लाखों लोगों को बिजली मिल पा रही है।  300 मिलियन अफ्रीकी लोगों तक बिजली की सुविधा पहुंचाने के लिए 2030 तक 30,000 मेगावॉट बिजली या 60 मिलियन नए कनेक्शन उपलब्ध कराना हमारा लक्ष्य है।  बिजली की और अधिक उपलब्धता को विस्तार देने के लिए अभी पिछले हफ्ते ही एडमिनिस्ट्रेटर ग्रीन ने पॉवर अफ्रीका 2.0 की घोषणा की थी।

संयुक्त राज्य अमेरिका अपने अफ्रीकी सहयोगियों के साथ व्यापार और निवेश के रास्ते में आने वाली बाधाओं को कम करने, अफ्रीकी देशों को निर्भर से आत्मनिर्भर बनाने में मदद करने, उनके यहां मध्यवर्ग को बढ़ाने, और दुनिया के साथ अफ्रीकी अर्थव्यवस्था को जोड़ने के लिए उत्सुक है।

भविष्य के लिए तैयारी करने और महाद्वीप की संभावनाओं को हकीकत में बदलने के लिए शिक्षित और स्वस्थ कार्यबल की ज़रूरत है।  दुनिया भर के लिए यही सच्चाई है, लेकिन अफ्रीका की बढ़ती युवा आबादी को देखते हुए यहां के लिए यह अत्यंत आवश्यक है।

द यंग अफ्रीकन लीडर्स इनीशिएटिव के ज़रिए स्टेट डिपार्टमेंट और USAID अफ्रीकी नेताओं की अगली पीढ़ी को तैयार करने के लिए निवेश में जुटे हैं।  YALI के ज़रिए मौजूदा और आने वाले अफ्रीकी नेताओं को स्वतंत्र प्रेस की अहमियत, अत्यधिक लचीली संस्थाओं की स्थापना के तरीके, और यहां तक किस तरह कोई व्यवसाय शुरू किया जाए, इन सब मुद्दों पर नेतृत्व और व्यावसायिक विकास का प्रशिक्षण मुहैया कराता है।  आज, YALI के उप-सहारा के हर देश में 500,000 से अधिक सदस्य और प्रतिनिधि हैं।

PEPFAR के नाम से मशहूर राष्ट्रपति की एड्स राहत के लिए आपात योजना के ज़रिए अमेरिका ने वैश्विक एचआईवी/एड्स प्रतिक्रिया को बदलकर रख दिया है।  इसका सबसे सटीक तथा बेहतर उदाहरण अफ्रीका के अलावा और कहां मिल सकता है।

आज से 15 साल पहले जब PEPFAR शुरू हुआ था, एचआईवी की पुष्टि होने का मतलब मौत माना जाता था।  अफ्रीका के सबसे संकटग्रस्त क्षेत्र में नवजात मृत्यु दर दोगुना थी, शिशु मृत्यु दर तीन गुना हो गई थी और जीवन प्रत्याशा गिरकर 20 साल तक पहुंच गई थी।  तीन में से एक वयस्क व्यक्ति एचआईवी संक्रमित था।  अनाथ बच्चों की संख्या लाखों में थी।  और मुश्किल से 50,000 एचआईवी पीड़ितों को ही इलाज मिल रहा था।  लेकिन आज, PEPFAR के ज़रिए अमेरिकी लोगों ने 13.3 मिलियन पुरुषों, महिलाओं और बच्चों को जीवन रक्षक उपचार मुहैया कराए हैं।  इसकी मदद से 2.2 मिलियन एचआईवी मुक्त बच्चे पैदा हुए हैं और यह 6.4 मिलियन से अधिक अनाथ, कमज़ोर बच्चों और उनकी देखरेख करने वालों को समर्थन देना जारी रखे हुए है।

यह प्रशासन अफ्रीका में जिंदगियों को बचाने के प्रति प्रतिबद्ध है।  पिछले सितंबर में, मैंने 2017 से 2020 के लिए एचआईवी/एड्स महामारी के नियंत्रण के लिए PEPFAR रणनीति की घोषणा की थी।  यह रणनीति तीन साल के भीतर 50 से ज्यादा देशों में इस महामारी को नियंत्रित करने के लक्ष्य को हासिल करने का रोडमैप है।  यह अफ्रीका में 12 सबसे ज्यादा एचआईवी पीड़ित देशों में हमारे कार्य को गति देने की रूपरेखा देती है, जो 2020 तक इस महामारी पर नियंत्रण हासिल करने के लिए तैयार है।  अब हमें सचमुच एचआईवी/एड्स मुक्त भविष्य नज़र आ सकता है।  यह बस हमारे सामने है और यह अफ्रीका के भविष्य के लिए अति महत्वपूर्ण है।

सुरक्षा, व्यापार, निवेश और आर्थिक विकास की खातिर खुद को बनाए रखने के लिए ऐसी प्रभावकारी और जवाबदेह सरकारी संस्थाओं की आवश्यकता होती है, जो अपने लोगों का भरोसा और समर्थन अर्जित करती हैं।  एक लोकतांत्रिक समाज में ही शांति और समृद्धि संभव है।  मीडिया की स्वतंत्रता, मुक्त संचार, धार्मिक स्वतंत्रता, और एक जीवंत नागरिक समाज ही आर्थिक प्रगति के लिए ज़रूरी रचनात्मकता, विचारों और मानव ऊर्जा को प्रोत्साहित करते हैं।  आज, अफ्रीका भ्रष्टाचार को नकारने और मानवाधिकारों को संरक्षित करने तथा बढ़ावा देने वाले अपने लोगों की आवाज़ को प्रदर्शित करने वाली अधिक मज़बूत, पारदर्शी, लोकतांत्रिक संस्थाओं का गठन कर काफी कुछ हासिल करने वाला है।

अफ्रीकन यूनियन का अनुमान है कि अफ्रीका में हजारों अरब डॉलर भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ जा रहे हैं – यानी ऐसे सैकड़ों अरब डॉलर जिनका शिक्षा, बुनियादी ढांचे के विकास या सुरक्षा में निवेश नहीं किया गया।  रिश्वत और भ्रष्टाचार लोगों को गरीब बनाए रखते हैं।  वे असमानता को बढ़ावा देते हैं और अपनी सरकार के प्रति लोगों के भरोसे को कम करते हैं।  वैध निवेश दूर ही रहता है, और असुरक्षा और अस्थिरता बढ़ती है, जो आतंकवाद और संघर्ष के लिए अनुकूल स्थितियां पैदा करती है।  हम अफ्रीकन यूनियन के सम्मेलन का मज़बूती से समर्थन करते हैं, जो “भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को जीतने” के उद्देश्य को रेखांकित और प्रोत्साहित करता है।  हमें उम्मीद है कि इस साल का विषय भ्रष्टाचार के खिलाफ और अधिक सतत एवं दीर्घकालिक कार्रवाई की शुरुआत भर है।

इस विषय यानी थीम के समर्थन में अमेरिका अफ्रीकी देशों के साथ मिलकर अपना काम करना जारी रखेगा, ताकि उनकी लोकतांत्रिक संस्थाओं को मज़बूत किया जा सके। पिछले महीने, स्टेट डिपार्टमेंट ने लोकतंत्र, मानवाधिकार और सरकारी कार्यक्रमों की मदद के लिए कांग्रेस से 137 मिलियन डॉलर की मांग की है, जिससे कि ऐसी अधिक पारदर्शी और कम भ्रष्ट संस्थाओं का गठन किया जा सके, जो टकराव की जगह आम सहमति निर्माण को अहमियत देती हों।

लोकतंत्र में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनावों के ज़रिए सत्ता का हस्तांतरण आवश्यक होता है।  इसके लिए जीवंत नागरिक समाज और स्वतंत्र मीडिया की भी ज़रूरत होती है, ताकि नागरिकों को सूचना पाने में मदद मिले और उन्हें अपनी सरकार से जोड़े रखे।  पिछले साल, अमेरिका ने लाइबेरिया में स्वतंत्र और शांतिपूर्ण तरीके से चुनाव संपन्न कराने में मदद की थी, जिस देश में दशकों से सत्ता का शांतिपूर्ण ढंग से हस्तांतरण नहीं हुआ था।  इसमें नागरिक और मतदाता शिक्षा कार्यक्रम शामिल थे, जिसमें युवाओं, महिलाओं और दूसरे दूरस्थ लोगों, पहली बार वोट देने वाले लोगों और जवाबदेह रिपोर्टिंग को बढ़ावा देने के लिए मीडिया के साथ मिलकर काम करने पर ध्यान केंद्रित किया गया था।

और, फिस्कल ट्रांसपेरेंसी इनीशिएटिव* फंड सरकारों को अधिक पारदर्शी, सार्वजनिक रूप से उपलब्ध बजट, और सुधार के क्षेत्रों की पैरवी करने के लिए नागरिक समाज को संसाधनों से लैस करने में मदद देता है।  अमेरिका फिलहाल पूरे अफ्रीका में 31 परियोजनाओं पर काम कर रहा है – और नौ परियोजनाएं आबंटित करने वाला है।  पहले ही, फाइनेंशियल* ट्रांसपेरेंसी इनीशिएटिव* फंड ने केन्या, चाड, और मलावी को घूसखोरी के खिलाफ लड़ाई और अपने लोगों को बेहतर सेवा उपलब्ध कराने में मदद की है।

जब बात विकास की आती है तो हमारे दिमाग में सुशासन संबंधी पहलों की बात भी हमेशा रहती है। सेक्रेटरी ऑफ स्टेट के रूप में मैं मिलेनियम चैलेंज कॉरपोरेशन या MCC का चेयरमैन हूं।  गरीबी कम करने के लिए तैयार की गई इस एजेंसी के ज़रिए अमेरिका सुशासन – अधिक पारदर्शिता सहित – को विकास सहायता के साथ जोड़ कर प्रोत्साहन देने में सक्षम है।  MCC का तकरीबन 60 फीसदी फंड अफ्रीकी देशों को जाता है।  पिछले नवंबर में, हमने आइवरी कोस्ट के साथ उसके शिक्षा और परिवहन सेक्टरों में सुधार के लिए 524 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।  यह तभी संभव हो सका जब उस देश ने आर्थिक स्वतंत्रता, लोकतांत्रिक सिद्धांतों, मानवाधिकारों को मज़बूत बनाने और भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई की नीतियों को क्रियान्वित किया।  MCC का मॉडल है कि अमेरिकी करदाताओं का एक डॉलर भी खर्च होने से पहले तेज सुधार की प्रक्रिया शुरू हो।

यह विकास का अमेरिकी मॉडल है, जो कारगर साबित हुआ है।

संयुक्त राज्य अमेरिका ऐसी संवहनीय संवृद्धि के लक्ष्य को आगे बढ़ाता, विकसित करता है जो संस्थानों को सहारा दे, कानून के शासन को मज़बूत करे, और अफ्रीकी देशों की क्षमता को अपने खुद के पैरों पर खड़ा करने के लायक बनाए।  हम सुशासन को प्रोत्साहित करके अफ्रीकी देशों के साथ भागीदारी करते हैं ताकि लंबे समय के सुरक्षा और विकास से जुड़े लक्ष्यों को पूरा कर सकें।

यह चीन के नज़रिये के ठीक उलट है, जो उन अपारदर्शी अनुबंधों, लुटेरे कर्ज व्यवहारों और भ्रष्ट सौदों का उपयोग करके निर्भरता को बढ़ावा देता है जो राष्ट्रों के दीर्घकालिक, आत्मनिर्भर विकास को नकारते हुए उन्हें कर्ज के दलदल में फंसा देते हैं और उनकी सम्प्रभुता को कम कर देते हैं।  चीनियों के निवेश में अफ्रीका के बुनियादी ढांचे की खाई को पाटने की क्षमता ज़रूर है, लेकिन इसके दृष्टिकोण ने अधिकांश देशों में बढ़ते कर्ज के पहाड़ और कुछ, यदि कोई हों, नौकरियों को उत्पन्न किया है।  राजनीतिक और वित्तीय दबाव के साथ मिलकर, यह अफ्रीका के प्राकृतिक संसाधनों और इसकी दीर्घकालिक आर्थिक राजनीतिक स्थिरता को खतरे में डालता है।

हम अफ्रीका के विकास में अन्य देशों की भागीदारी का स्वागत करते हैं; इसकी सचमुच ज़रूरत है।  बस यही तो मुक्त बाज़ार है, जिसमें प्रतिस्पर्धा और अधिक अवसरों की ओर ले जाती है।  लेकिन हम ऐसे ज़िम्मेदार विकास और पारदर्शी मुक्त बाज़ार व्यवहारों को देखना चाहते हैं जो इस महाद्वीप में अधिक राजनीतिक स्थिरता को बढ़ावा दें।  हमें उम्मीद है कि चीन इस प्रयास में भी हमारे साथ जुड़ेगा।

अमेरिका को अफ्रीका में एक उज्जवल भविष्य नज़र आता है।  हमें अपने लोगों के लिए एक स्थिर, समृद्ध भविष्य की ओर अफ्रीका की यात्रा का हिस्सा बनने का अवसर मिला है।  इन प्राथमिकताओं में से हर एक – व्यापार और निवेश, अच्छी सरकारें – शासन, मानवाधिकारों के प्रति सम्मान, आतंकवाद और अस्थिरता का मुकाबला करना – एक ही मार्गदर्शक सिद्धांत को ध्यान में रखती है: वह है अफ्रीकी देशों को उनके अपने लोगों की देखभाल करने की क्षमता निर्मित करने में मदद करना।

इन चुनौतियों का सामना करने के लिए कोई तुरत-फुरत समाधान नहीं है, लेकिन संयुक्त राज्य अमेरिका अफ्रीकी राष्ट्रों की भागीदारी में उन्हें इनसे निपटने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि महाद्वीप 21 वीं सदी में लगातार बढ़ते हुए संपन्नता और स्वतंत्रता का एक ठिकाना बन सके।  आपके बहुत अधिक ध्यान देने के लिए धन्यवाद।  (तालियाँ बजती हैं।)

श्रीमान कैबरेराआपका बहुत-बहुत धन्यवाद।  आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।  मैं दर्शकों से कुछ सवाल जुटाता रहा हूँ, कुछ संकाय से, कुछ छात्रों से, इसलिए मैं जा रहा हूं किसी चीज़ का शायद थोड़ा —

सेक्रेटरी टिलरसनछात्रों की ओर से कठिन वालों पर पहले जाएं।

श्रीमान कैबरेरा— (अस्पष्ट)  चूंकि आप ज़ोर दे रहे हैं, तो एक यहां है।  तो पहला वाला शायद काफी कुछ निजी प्रकृति का है, यही वजहें हैं कि जिससे आप इस स्थिति को स्वीकार करते हैं।  जैसा कि मैंने पहले जिक्र किया है, आप एक अग्रणी – वास्तव में सबसे बड़ी कंपनियों में से एक का नेतृत्व कर रहे थे जो कि दुनिया ने कभी देखा है, और सिर्फ यही नहीं, आप सीईओ थे।  आप अपने खुद के मालिक थे।  मेरा मतलब है, आपके पास बोर्ड है, लेकिन आप अपने बॉस खुद थे, और अचानक से, ऐसा क्यों?

सेक्रेटरी टिलरसनखैर, मैं अनिवार्य सेवानिवृत्ति के तीन माह के भीतर था।  (हंसते हैं।)

श्रीमान कैबरेरावह मददगार है।

सेक्रेटरी टिलरसनलेकिन मेरे पास था – यह मेरी सेवानिवृत्ति योजनाओं में नहीं था।  मैंने सोचा था कि मैं ज़िंदगी के साथ ज्यादा वक्त गुज़ारने के लिए अपने पसंदीदा बड़े फ़ॉर्म में अपने पोते के साथ जा रहा हूं।  लेकिन निर्वाचित राष्ट्रपति ने मुझे यह करने के लिए कहा, और जैसा कि मैंने इसके बारे में सोचा, यह है – मैंने कुछ अन्य दर्शकों के लिए यह कहानी सुनाई है, और इस तरह मैं इस फैसले तक पहुंचा।  जब मैं 18 साल का था, उस वक्त भी हमारे पास एक अनिवार्य सैन्य मसौदा था।  यह वियतनाम युद्ध था।  और मैंने उस मसौदे (ड्राफ्ट) के लिए पंजीकरण कराया था, और उनके पास एक लॉटरी सिस्टम होता था जिससे लोग चुने जाते थे।  आपको एक नंबर मिलता था, और वे नंबरों को तब तक खींचते रहते थे जब तक कि उनका मसौदा कोटा पूरा नहीं हो जाता था।  और उन्हें मेरे नंबर से तीन के अंतर तक वाले नंबर मिल गए, वह कॉलेज का मेरा नया साल था, और साल आया और चला गया, और मेरा नंबर 89 था, उन्हें 86 तक मिला।  और इसलिए मैं कॉलेज में बना रहा, एक महान शिक्षा मिली, एक बड़ी कंपनी ने नौकरी पर लिया, और वहां साढ़े इकतालीस साल गुज़ारे, एक सपनों वाला करियर जिसकी मैं कभी उम्मीद नहीं कर सकता था।  मेरे पिता द्वितीय विश्व युद्ध के पूर्व सैनिक हैं, उन्होंने प्रशांत क्षेत्र में जंग लड़ी थी।  मेरे चाचा सेना से सेवानिवृत्त मेजर हैं, उन्होंने वियतनाम में अपनी ड्यूटी के तीन कार्यकाल गुजारे थे।  और जब मैंने उस समय चीज़ों पर विचार किया, तब मैंने कहा कि मैंने वास्तव में अभी तक कुछ नहीं किया है।  यह सेवा करने के लिए मेरा समय है और इसीलिए मैं यह कर रहा हूँ।

श्रीमान कैबरेराइसके लिए धन्यवाद।  अब, आप ऑस्टिन में टेक्सस गए, आपने एक्सॉन में कार्यभार संभाला और हो सकता है कि आपने यह अनुमान लगाया हो या न लगाया हो कि आपका स्वयं का करियर अविश्वसनीय रूप से कितना वैश्विक होने जा रहा है।  मैं अनुमान लगा रहा हूँ कि क्या होने जा रहा है – आपका जीवन कैसा होने जा रहा है, तो हो सकता है कि आपने स्वयं थोड़ी बेहतर तैयारी की होती।  दर्शकों में कुछ व्यक्तियों के पास अभी भी चयन करने का अवसर है —

सेक्रेटरी टिलरसन(हंसते हैं।)  ठीक है।

श्रीमान कैबरेरा— इस बारे में कि वे कॉलेज में अपने वर्षों में क्या करते हैं, और यह एक ऐसा अनुग्रह है जो मैं आपसे पूछ रहा हूँ क्योंकि मैं हमारे विद्यार्थियों को विदेश जाने के लिए प्रेरित कर रहा हूँ और उनमें से कुछ अभी भी यह नहीं मानते कि उन्हें ऐसा क्यों करना चाहिए।  तो मेरी सहायता करें – आप इस बात के लिए सर्वोत्तम तर्क क्या दे सकते हैं कि विद्यार्थियों को विदेश क्यों जाना चाहिए?  और इसके पश्चात इसके बाद की स्थिति की स्थिति यह है कि:  जब वे विदेश जाते हैं, जब वे जाने का निर्णय लेते हैं, तब इसके कारणों से मुझे, UK को, इटली को अभी भी आश्चर्य होता है – स्पेन को आश्चर्य नहीं हो रहा है, यह जाने के लिए शानदार स्थान है।  (हंसते हैं।)

श्रीमान कैबरेरातो, उन्हें अफ्रीका क्यों जाना चाहिए, उदाहरण के लिए?  तो —

सेक्रेटरी टिलरसनमेरा विचार है – विदेश में अपने पहले दौरे के दौरान मैं कॉलेज में पहले वर्ष का विद्यार्थी था और मेरे पास पेरु की यात्रा करने का अवसर था।  वहाँ एक भयंकर भूकंप आया था जो एक बड़ी मानवीय आपदा थी, दो नगर धाराशायी हो चुके एक पर्वत के तीस मीटर नीचे सचमुच दब गए थे।  और इसके कारण पहाड़ों से लोग बड़ी संख्या में निकलकर लीमा के किनारों में जाने लगे और एक खौफनाक शरणार्थी कैम्प स्थापित किया गया।  तो मैं इस स्थिति के बारे में जागरूकता उत्पन्न करने के लिए क्रिसमस के अवकाश के दौरान पाँच दिन के मिशन पर पेरु गया।  मुझ पर ज़बरदस्त प्रभाव पड़ा क्योंकि मैंने – वास्तव में तब ऐसा केवल दूसरी बार हुआ था जब मैंने कोई हवाई यात्रा की थी।  मुझे पहली बार पासपोर्ट मिला था।  और ऐसा वास्तव में पहली बार था जब मेरा बाहरी विश्व से संपर्क हुआ और मैंने अनुभव किया कि हम आपस में कितने जुड़े हुए हैं और हम सभी मानवीय प्राणी जीवन से जूझने का प्रयास कर रहे हैं, चाहे हम कहीं भी हों।

आज मैं सोचता हूँ कि विदेश जाने का मामला मेरे जीवन में उस समय की तुलना में आज अधिक दमदार है क्योंकि आप सभी जानते हैं कि विश्व का इतने नाटकीय रूप से कायाकल्प हुआ है।  वैश्विक – हमारी अर्थव्यवस्थाओं का बहुत नाटकीय रूप से कायाकल्प हुआ है।  हमारी स्वयं की सुरक्षा का इतने नाटकीय रूप से कायाकल्प हुआ है।  और आज यह – यह पूरी तरह एक दूसरे से जुड़ा  है और आप बस आर्थिक मुद्दों के बारे में नहीं सोच सकते, आप वैश्विक संदर्भ में सुरक्षा मुद्दों के बारे में सोचे बिना इनके बारे में नहीं सोच सकते।  और इसलिए, चाहे आप इसकी समझ का विस्तार करने के लिए अपनी यात्रा और अपनी शिक्षा जारी रख रहे हैं कि आप प्रत्येक रात उन पुस्तकों को पढ़ते हुए और उन कागज़ों को लिखते हुए समय क्यों व्यतीत कर रहे हैं, इससे विदेश जाने और किसी अन्य के देश में ऐसे व्यक्ति के रूप में समय बिताने की आपकी सोच और समझ पूरी तरह बदल जाएगी जो नागरिक नहीं है और जीवन को अपने नज़रिए से देखता है, बल्कि इस संबंध में उनकी सोच के बारे में भी सुनता है कि वे हमें किस रूप में देखते हैं।  और यह – यह संभवतः आपकी शिक्षा का ऐसा सबसे महत्वपूर्ण घटक होगा जिसे आप स्थान में रख सकते हैं।

और फिर इसके आगे, यह जारी रहने जा रहा है, यह विश्व की परस्पर संबद्धता।  विश्व – वास्तव में – जबकि भौतिक रूप से उसका आकार उतना ही है जिस दिन ईश्वर ने हमारे लिए इसकी उत्पत्ति की थी, जो ग्रह पर रहते हैं, फिर भी यह छोटे से छोटा होता जा रहा है और यह घातांकी दर से छोटा होता जा रहा है।  और आपकी पीढ़ी को इससे निपटना होगा, और इससे इसके साथ चुनौतियों का एक पूरा नया आयाम आ रहा है जिसकी मेरी पीढ़ी केवल अगला किनारा देख रही है।  और यह महत्वपूर्ण है – आप जितनी जल्दी इसे समझना आरंभ करते हैं कि इससे कैसे निपटें, आप भविष्य में उसके लिए उतने ही बेहतर रूप से तैयार होंगे।  और इन सभी चीज़ों के अलावा, मैं आपसे यह वायदा करता हूँ कि यह ज़बरदस्त होगा।

और कठिन स्थानों में जाएं।  आसान स्थानों में न जाएं।  जैसा कि मैंने कहा, मैं लीमा, पेरु गया।  मैं पहाड़ों और जंगलों के बीच गया।  यह देखना भरपूर अनुभव था कि लोग पूरे विश्व में कैसे रहते हैं।  कठिन स्थानों में जाएं।  इससे आपमें बदलाव आएगा।

श्रीमान कैबरेरा:  बहरहाल, धन्यवाद।  मैं इसकी सराहना करता हूँ।  हम सभी इसे अपनाएंगे और इसका उपयोग करेंगे।  (हंसते हैं।)  तो – अब आपने – अफ्रीका के इस दौरे की तैयारी करने में, पाँच देशों को चुना है।  यह कितना आपका और उन देशों में आपके स्वयं के अनुभव के आधार पर किस हद तक निर्णय है?  यह आपकी टीम से किस हद तक एक प्रकार का तकनीकी निर्णय है?  और अंत में, क्यों?  बहुत सारे विकल्पों में से वही पाँच देश क्यों?

सेक्रेटरी टिलरसन:  यह – स्पष्ट रूप से, मैं चाहता था कि मेरे पास दो या तीन सप्ताह हों, क्योंकि ऐसे बहुत से अफ्रीकी राष्ट्र हैं जो हमारे लिए महत्वपूर्ण हैं जिनका दौरा करना मेरे विचार में संबंधों के लिए लाभप्रद होगा।  लेकिन हमने इन पाँच को चुना।  हम इथियोपिया जा रहे हैं।  इथियोपिया अफ्रीकी यूनियन का केंद्र है; उसका मुख्यालय यहीं स्थित है।  इथियोपिया अमेरिका के साथ बहुत चिरस्थायी, महत्वपूर्ण भागीदार भी है। हमारा इथियोपिया के साथ अब एक शताब्दि से भी अधिक का संबंध है।

फिर हम जिबोटी में रुकने जा रहे हैं जिसे अफ्रीका का हॉर्न कहा जाता है।  जिबोटी वह देश है जो यमन के बीच संकरे जलडमरूमध्य के ठीक बीच स्थित है और जो स्वेज कैनाल तक लाल महासागर तक जाता है जो विश्व की अर्थव्यवस्था के लिए बहुत महत्वपूर्ण व्यापारिक मार्ग है और उस व्यापारिक मार्ग को सुरक्षित बनाने में महत्वपूर्ण भागीदार है।

इसके बाद हम केन्या जाएंगे जो एक बड़ा, फलता-फूलता हुआ देश है।  यह वास्तव में ऐसा स्थान है जहाँ PEPFAR ने अपनी महानतम सफलता देखी है और यह इसका इनक्यूबेटर भी रहा है कि हमने अनेक वर्षों में PEPFAR का विस्तार कैसे किया।  तो केन्या के साथ हमारी लंबी भागीदारी है।

इसके बाद हम चाड – एनजमेना, चाड जा रहे है – क्योंकि चाड G5 साहेल में सबसे बड़े युद्ध बल का योगदान करता है और वे साहेल में आतंकवाद के विरुद्ध हमारी लड़ाई और उसकी सफलता में अहम रहे हैं जो वे कर रहे हैं।

और अंत में हम नाइजीरिया जाएंगे जो अफ्रीकी महाद्वीप में सबसे अधिक जनसंख्या वाला राष्ट्र है।  राष्ट्र के रूप में सफल होने के लिए ज़बरदस्त प्राकृतिक संसाधन और ज़बरदस्त क्षमताएं।  वे अभी भी सफल होने की अपनी यात्रा पर हैं और वे न केवल उस संबंध के लिए महत्वपूर्ण होने जा रहे हैं जो अमेरिका का अफ्रीका के साथ है, बल्कि नाइजीरिया इस संबंध में महत्वपूर्ण होने जा रहा है कि अफ्रीका महाद्वीप के रूप में कैसे सफल होता है।  और मैंने अफ्रीकी अर्थव्यवस्थाओं को और अधिक एकीकृत करने, पड़ोसियों के साथ और अधिक व्यापार करने की आवश्यकता के बारे में बात की।  मैं ऐसा मानता हूँ कि अमेरिका प्रायः अपने दृष्टिकोण में – यह ट्रांसअटलांटिक कॉरीडोर के पार व्यापार करने के बारे में है।  हमें अफ्रीकी अंतर-महाद्वीपीय व्यापार को वास्तव में प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है।  यह अमेरिकी निवेश और प्रतिभागिता के लिए वास्तव में और अधिक अवसर उपलब्ध कराने जा रहा है।  तो नाइजीरिया, बड़ा देश, महाद्वीप के भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण देश है।

और वहाँ – मैं – ऐसे अन्य देश हैं जहाँ मैं जाना पसंद करूँगा।  मैंने उत्तरी अफ्रीका की यात्रा की है जैसा कि मैं आश्वस्त हूँ कि आपको पता होगा, बल्कि पूर्वी अफ्रीका, दक्षिण अफ्रीका में बहुत से महत्वपूर्ण देशों की यात्रा की है, स्पष्ट रूप से, तो साफ तौर पर, यह मेरा आखिरी दौरा नहीं होगा।  मुझे वापस जाना होगा।

श्रीमान कैबरेरा:  तो आप –  एक्सॉनमोबिल के CEO के रूप में, बेशक आप संलग्न हुए हैं और मैंने इसमें से कुछ देखा है।  मैं इस संबंध में कुछ कार्य में आरंभिक जीवन में प्रतिभागी रहा हूँ कि निजी कंपनियाँ कैसे वहाँ अर्थव्यवस्थाओं के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती हैं जहाँ आप व्यवसाय करते हैं।  अब जब मैं 2019 के प्रस्तावित बजट को देखता हूँ, तब यह पाता हूँ कि स्टेट डिपार्टमेंट बहुत अधिक कटौती, संभवतः 25 प्रतिशत की कटौती करने जा रहा है जो मेरे विचार में – यह आपको अपने कूटनीतिक लक्ष्यों को पूरा करने में निजी क्षेत्र पर अत्यधिक निर्भर करने पर विवश कर देगी।  आपके इस बारे में क्या विचार हैं – क्या हम निजी क्षेत्र में एक बड़ी भूमिका देखने जा रहे हैं?  और आप उन्हें कैसे एक साथ लाएंगे?

सेक्रेटरी टिलरसन:  ठीक है।  पहले, स्वयं बजट पर – और यह कटौती 2017 के बजट के लिए सापेक्ष है क्योंकि हम अभी भी 18 के अंतिम बजट की प्रतीक्षा कर रहे हैं – लेकिन यह उन स्तरों पर भी लौटना है जो ISIS के विरुद्ध युद्ध में बड़ी तैयारी से पहले स्टेट डिपार्टमेंट के लिए अधिक ऐतिहासिक हैं।

लेकिन हाँ, हम क्या करेंगे – और मैंने उसका उल्लेख किया, अपनी टिप्पणी में उस पर बात की  – वह यह है कि हम चाहते हैं कि और अधिक सार्वजनिक-निजी भागीदारियों में सहायता प्रदान की जाए।  और हमारे पास ऐसा करने के लिए प्रणालियाँ हैं और हमारे पास प्रक्रियाएं हैं और हम कुछ ऐसे नए वित्तपोषण विचार प्रस्तुत कर रहे हैं जहाँ हम देशों को वित्तपोषण तक पहुँच बनाने में सहायता कर सकें जिससे वे निजी क्षेत्र के निवेश में भी स्वयं भाग ले सकें।

और मेरे विचार में यह – मेरा मतलब है, वास्तव में हमारी भूमिका, मेरे विचार में अमेरिकी सरकारी की भूमिका ऐसी बातें हैं जिन पर मैंने यहाँ बल दिया है: एक, स्थिरता और सुरक्षा के संबंध में सहायता करना क्योंकि यदि आपके पास स्थिरता और सुरक्षा नहीं है, तो निवेश को आकर्षित करना कठिन होता है, लोगों को भोजन कराना, स्वास्थ्य के क्षेत्रों पर, खाद्य सुरक्षा में सहायक सहायता प्रदान करना कठिन होता है, क्योंकि एक बार फिर, जैसा कि मैंने उल्लेख किया, हमारा भविष्य युवा व्यक्ति हैं।  हमारे यहाँ स्वस्थ युवा व्यक्ति, शिक्षित युवा व्यक्ति आएंगे।  और इसके बाद नियम-आधारित प्रणालियों के संबंध में सहायता करें, तो बेहतर कानूनों को प्रस्तुत करने में सरकारों के साथ कार्य करें, अच्छे न्यायालयों और न्यायिक प्रणालियों को बढ़ावा दें और इसी से भ्रष्टाचार का उन्मूलन होगा जिसने अतीत में महाद्वीप से बहुत अधिक क्षमता का ह्रास किया है।

और मेरे विचार में यह हमारी भूमिका है।  प्रत्यक्ष निवेश, हम इस संबंध में सहायता करने के लिए वहाँ हैं, और हम कंपनियों को यह समझाने के लिए वहाँ मौजूद हैं कि अवसर क्या हैं।  यदि उन्हें स्थानीय नियमों इत्यादि के संबंध में कार्य व्यवहार करने में हमारी सहायता की आवश्यकता है, तो हम इस संबंध में उनका मार्गदर्शन करने के लिए मौजूद हैं।  लेकिन यह वास्तव में इन देशों में स्थितियाँ उत्पन्न करने के लिए है जहाँ अमेरिकी व्यवसाय और अन्य – यूरोपीय व्यवसाय, चीनी, उस सीमा तक अन्य जिसमें वे नियम-आधारित प्रणाली के अंतर्गत भाग लेने के लिए तैयार हैं, वे इसलिए आकर्षित हैं क्योंकि वे जानते हैं कि सफल होने के लिए परिस्थितियाँ मौजूद हैं या कम से कम सफल होने का अवसर है।  जीवन में कोई गारंटी नहीं है, और मैंने यह निजी क्षेत्र में सीखा है।  मैं बस यही चाहता था कि नियमों को समझा जाए, कि नियमों में बदलाव नहीं होगा, और मेरे पास सफल होने के लिए अवसर था।  यदि हम इसमें विफल हुए, तो हम इसे स्वीकार करेंगे।

श्रीमान कैबरेरा:  एक अंतिम प्रश्न।  मैं आपकी टीम से – कुछ गैर-शाब्दिक संदेश पढ़ रहा हूँ – (हँसते हैं)।  लेकिन अफ्रीका के भविष्य में महिलाओं की भूमिका और मेरी यह आशा कि आपका संदेश बहुत, बहुत सुदृढ़ है – मैं जानता हूँ कि यह आपके लिए नया नहीं है।  मुझे उन निवेशों की जानकारी है जो एक्सॉनमोबिल ने महिला उद्यमशीलता में किए हैं।  हम तब इसके प्रभाव को जानते हैं जब महिलाओं का विवाह करने के स्थान पर उन्हें स्कूल में रखा जाता है।  हम समुदायों में जीवन की गुणवत्ता और स्वास्थ्य में सुधार करने में महिलाओं का प्रभाव जानते हैं।  आइए हम – यह समझने में हमारी सहायता करें कि उस संबंध में हमारा संदेश क्या होने जा रहा है।

सेक्रेटरी टिलरसन:  यह कोई ऐसी चीज़ है जिसके लिए मुझे निजी क्षेत्र में 20 से अधिक वर्ष पहले प्रशंसा मिली और व्यापक रूप से उन निवेशों और व्यावसायिक कार्यकलापों के कारण जो अफ्रीका में मेरे पिछले जीवन में थे, लेकिन रूस सहित उदीयमान अर्थव्यवस्थाओं और उदीयमान सरकारी प्रणालियों में भी और – जिनमें मैंने बहुत-सा समय व्यतीत किया।  और मैंने अध्ययनों, शैक्षिक अध्ययनों, बल्कि अपने स्वयं के अनुभव से भी जो कुछ सीखा, वह बहुत कुछ इन स्थितियों को निर्मित करने के बारे में है जिनके बारे में मैंने बात की है और लोगों के लिए बहुत कुछ फलने-फूलने के लिए स्थितियाँ उत्पन्न करने के बारे में है – और ऐसे जीवन के बारे में है जिसका हम चक्र को भंग करके आनंद लेते हैं।  और मैं पहले आपके विद्यार्थी निकाय के अध्यक्ष से चक्र को भंग करने के बारे में बात कर रहा था और यह कि हम – मेरे विचार में हम अफ्रीका में उस चक्र को भंग करने से एक पीढ़ी दूर हैं, लेकिन हमें इस पर टिके रहना होगा।

उसका एक महत्वपूर्ण घटक महिलाओं से आरंभ होता है क्योंकि यह माँओं से आरंभ होता है और हमने अपने अध्ययनों से यह सीखा है कि माँएं – और संभवतः यह यहाँ तक कि इस देश में भी सच है जिस प्रकार यह मेरे लिए था – माँएं इस बारे में सबसे अधिक प्रभाव डालती हैं कि बच्चे कैसे बड़े होंगे – उनमें कौन से आदर्श हैं, वे स्वयं कैसे आचरण करते हैं और उनकी आकांक्षा क्या है।  और इसलिए पहले यह महत्वपूर्ण है कि हम महिलाओं की स्वास्थ्य का सबसे पहले और देश के आर्थिक कल्याण में भाग लेने की उनकी क्षमता का समर्थन करते हैं क्योंकि बहुत बार हमारे सामने ऐसे परिवार होते हैं जो अपने पिताओं से बहुत कम मदद के बिना भी भरण-पोषण कर रहे हैं।  और इसलिए यह उन्हें क्षमता देने से शुरू होता है क्योंकि वे बेहतर तरीके से परिवारों का भरण-पोषण करेंगी।

लेकिन फिर दूसरी बात, महिलाओं को न केवल कार्यबल में जोड़ना होगा, बल्कि संचालन में भी जोड़ना होगा।  इससे एक बहुत ही अलग परिप्रेक्ष्य आता है – और मैं इसे अपने निजी क्षेत्र के जीवन में देखता हूं, मैंने इसे देखा है और मैंने इसे सरकारी क्षेत्र में भी अनुभव किया – एक परिप्रेक्ष्य जो महिलाओं द्वारा लाया गया, वह हमसे बहुत अलग होता है।  मेरा मतलब है, ऐसा नहीं है – ऐसा नहीं है कि यह – ऐसा नहीं है कि हम बुरे हैं, लेकिन हमारे कुछ अंतराल है और हमारे कुछ ब्लाइंड स्पॉट होते हैं और महिलाओं उन्हें भर देती हैं।  लेकिन मुझे लगता है कि यह किसी भी चीज से अधिक महत्वपूर्ण है- इस तरह से हम पीढ़ी के उस चक्र को तोड़ते हैं, हम उन्हें मानव जीवन के सभी पहलुओं में पूरी तरह से भाग लेने द्वारा, माताओं के रूप में, अर्थव्यवस्था में भाग लेने वालों के रूप में, उद्यमियों के रूप में, सरकार के प्रतिभागियों के रूप में वास्तव में हम महिलाओं को सशक्त बना रहे हैं।  यह अंततः नेताओं की अगली पीढ़ी को बदल देगा।  दोनों पुरुष और महिलाएँ इसके द्वारा परिवर्तित हो जाएंगे और यह विशेष रूप से अफ्रीका में महत्वपूर्ण है।  और इसका एक हिस्सा अफ्रीका का इतिहास और संस्कृति है।  हम जानते हैं कि यह काम करता है क्योंकि हमने इसे काम करते देखा है।  हमने इसे बहुत ही विशिष्ट क्षेत्रों में काम करते हुए देखा है।  हमें इसे अब विस्तृत बनाना होगा।

इसलिए यह महत्वपूर्ण है, मुझे लगता है, कि जीवन की गुणवत्ता को बनाने में अफ्रीका की सफलता, जो हम सब अफ्रीकी महाद्वीप के लोगों के लिए चाहते हैं।  हम चाहते हैं कि उनके पास हमारे जैसी जीवन की गुणवत्ता हो, और यह एक महत्वपूर्ण तत्व है कि हम इसे कैसे प्राप्त करेंगे।

श्रीमान कैबरेरा:  श्री सेक्रेटरी, हम इस संदेश को हमारे साथ साझा करने के लिए आपके आने का फिर से धन्यवाद करते हैं, और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि अफ्रीकी महाद्वीप के बाकी हिस्सों के लिए, आर्थिक विकास और अवसर के संदेश को लेकर, और अफ्रीका बनाने की प्राथमिकता बनाने के लिए आपका धन्यवाद।  हम आपकी अफ्रीका के लिए एक उत्पादक और सुरक्षित यात्रा की कामना करते हैं।  आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सेक्रेटरी टिलरसन:  आपका धन्यवाद, और जार्ज मेसन के लिए मेरी शुभकामनाएँ।   (तालियाँ बजती हैं)।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2018/03/279065.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें