rss

प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा उत्तरी कोरिया पर टेलीकॉन्फ़्रेंस के माध्यम से घोषणा

English English, العربية العربية, اردو اردو, Русский Русский

दी व्हाइट हाउस
प्रेस सेक्रेटरी का कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
०८ मार्च 2018
पृष्ठभूमि प्रेस कॉल

 
 

*निम्न के अतिरिक्त एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी की तरफ से नोट – उप राष्ट्रपति ओवल ऑफ़िस की बैठक में थे जिसकी चर्चा ट्रांस्क्रिप्ट में की गई है*

08:03 p.m. EDT

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: नमस्कार। गुड इवनिंग, सभी को। मैं बुनियादी नियम तय करने वाला हूं और अपने वक्ता का परिचय कराऊंगा। आप उनका हवाला दे सकते हैं, और एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी को अधिकार है। यह ब्रीफिंग कॉल की समाप्ति तक प्रतिबंधित है, उस बिंदु पर जहां प्रतिबंध उठा लिया जाएगा और आप प्रकाशन के लिए स्वतंत्र हैं। और मेरे पास और आगे कुछ नहीं है, तो इसके साथ मैं अपने वक्ता का परिचय कराऊंगा।

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: नमस्कार, गुड इवनिंग, सभी को। मैं समझता हूं, अभी तक, आपने वह बयान सुना होगा जो कि दक्षिण कोरियाई दूत द्वारा दिया गया है जिन्होंने आज व्हाइट हाउस का दौरा किया है। उन्होंने एक घंटा पहले यह बयान दिया है। और मैं आपको उस बयान की ओर संदर्भित करता हूं, और बेशक हम आपको उसकी अंग्रेज़ी भाषा की ट्रांस्क्रिप्ट उपलब्ध कराएंगे अगर आपको उसकी आवश्यकता होगी।

हमारे प्रेस सेक्रेटरी ने भी एक बयान दिया है जो कि निम्न है: राष्ट्रपति ”दक्षिण कोरियाई प्रतिनिधिमंडल और राष्ट्रपति मून के अच्छे शब्दों की बहुत सराहना करते हैं। वे किम जोंग-उन के साथ मुलाकात के निमंत्रण को स्वीकार करेंगे और इसके लिए स्थान और समय निश्चित किया जाना है। हम उत्तर कोरिया के परमाणुमुक्त बनाने के बारे में विचार कर रहे हैं। इस बीच, सभी प्रतिबंध और अधिकतम दबाव जारी रहेंगे।“

तो मैंने क्या सोचा मैं सिर्फ दो मिनट लूंगा थोड़ा बहुत वह संदर्भ उपलब्ध कराने के लिए कि किस तरह हम इस घड़ी पर पहुंचे हैं। जब पिछले साल जनवरी में राष्ट्रपति ट्रम्प ने कार्यभार संभाला था, पहले ही दिन से उन्होंने तय किया था कि उत्तर कोरिया को परमाणुमक्त बनाने का आवश्यक मामला ऐसा है जिसके लिए एक नई पहल की आवश्यकता होगी। हमारे लिए आवश्यक था कि पिछले 27 सालों में उत्तर कोरिया को परमाणुमुक्त बनाने की जो वार्ता और असफल दृष्टिकोणों वाली गलतियां की गई हैं, उनसे बचा जाए।

तो, संक्षेप में, कुछ ही सप्ताह के भीतर, प्रशासन ने एक नीति तैयार की जिस पर राष्ट्रपति ने उत्तर कोरिया पर अधिकतम दबाव के लिए हस्ताक्षर किए। इसका आशय था अधिकतम आर्थिक दबाव। इसका आशय उत्तर कोरिया को कूटनीति रूप से अलग-थलग करना, और न केवल अपने संसाधनों को तैयार करना, न केवल अपने सहयोगियों और मित्रों, बल्कि असल में पूरे विश्व को, उसे सुलझाने के लिए जिसने इलाके को अस्थिर कर रहा है और दरअसल पूरी दुनिया के बड़े हिस्से को भी।

तो उस साल जिसमें उन्होंने उस नीति पर ज़ोर दिया, उन्होंने हमेशा किसी न किसी तरह की बातचीत के लिए दरवाजे खुले रखे हैं। उन्होंने सही समय पर बातचीत के लिए दरवाजे खुले रखे हैं। और आज, उन्हें राष्ट्रपति मून के — कुछ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों द्वारा ब्रीफ किया गया — उनके राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार चुंग युई-योंग और उनके खुफिया निदेशक सुह हून — जो कि ओवल में आए, राष्ट्रपति के साथ ही साथ कैबिनेट अधिकारियों — जनरल मैकमास्टर, सेक्रेटरी मैटिस, डिप्टी सेक्रेटरी ऑफ़ स्टेट सुलीवान, चीफ ऑफ़ स्टाफ़ जनरल केली, डायरेक्टर डैन कोट्स, और सीआईए डिप्टी डायरेक्टर गिना हस्केल — को ब्रीफिंग दी, और बताया कि — और किंम जोंग-उन की तरफ से राष्ट्रपति के लिए एक संदेश दिया।

उस संदेश का एक हिस्सा परमाणुमुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्धता का था। यह परमाणु हथियारों और प्रक्षेपास्त्रों के परीक्षण से दूर रहने की एक प्रतिबद्धता भी थी। और यह एक संकेत भी था — ओह, मैं यह और जोड़ना चाहूंगा कि किम जोंग-उन ने यह साफ किया है कि वह समझते हैं कि संयुक्त राज्य अमेरिका और कोरिया गणराज्य के बीच सामान्य रक्षा अभ्यास जारी रहेंगे — अथवा ऐसा कुछ है जो जारी रहेगा। और उन्होंने ज़ाहिर किया है कि वह राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ जल्द से जल्द मुलाकात करना चाहते हैं।

और इसलिए राष्ट्रपति ट्रम्प ने एक-दो महीनों के भीतर किम जोंग-उन से मिलने का निमंत्रण स्वीकार करने की सहमति दी है। और सही समय और जगह को तय किया जाना अभी बाकी है।

और मैं इस बात पर भी प्रकाश डालना चाहूंगा कि राष्ट्रपति ने आज रात साराह के ज़रिए दिए बयान में जो मुद्दा उठाया है, यह कि प्रतिबंध और अधिकतम दबाव जारी रहेंगे, दरअसल यही वह बात है जो राष्ट्रपति की नीतियों को पूर्व की नीतियों से अलग करती है। अगर हम इन वार्ताओं के इतिहास को देखेंगे जो कि पूर्व प्रशासन के अंतर्गत हुई हैं, तो वे अक्सर प्रतिबंधों को त्यागने की ओर ले गई हैं। वे अक्सर बातचीत के बदले में उत्तर कोरिया को छूट दिए जाने की तरफ अग्रसर हुई हैं।

राष्ट्रपति ट्रम्प शुरू से ही काफी साफ रहे हैं कि वह उत्तर कोरिया को बातचीत के बदले में कोई ईनाम देने के लिए तैयार नहीं हैं। लेकिन वह इस समय मुलाकात का निमंत्रण स्वीकार करने और अनुमति देने की इच्छा रखते हैं — और, सचमुच, वह उत्तर कोरिया से उम्मीद करते हैं कि वह इन शब्दों को कार्यरूप में बदले जो दक्षिण कोरिया के ज़रिए ज़ाहिर किए गए हैं।

तो, इसके साथ, मैं कुछ मिनटों के सवालों के लिए इसे खोलता हूं।

प्र. नमस्कार, यह है (अस्पष्ट)। इसे स्पष्ट करने के लिए कि क्या यह पेशकश जो की गई है क्या यह किम जोंग-उन के पत्र में है। और क्या कोई समयसीमा है उस संदर्भ में कि उस पत्र की बातों पर आप कितने समय तक प्रतिबद्ध हैं? और साथ ही, एक बैठक के लिए किस तरह का स्थान उचित रहेगा? क्या वह एक तटस्थ देश होगा? क्या वह दक्षिण कोरिया में होगी? अगर आप इन बातों को विस्तार से बता सकें। धन्यवाद।

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: अवश्य। सवाल के लिए धन्यवाद। स्पष्ट कर देता हूं, कोई ऐसा पत्र नहीं था। वह एक मौखिक संदेश है जो कि किम जोंग-उन द्वारा दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के ज़रिए दिया गया था, कई घंटों की बैठक के दौरान जो कि प्योंगयांग में दो दिन पहले हुई थी। और राजदूत चुंग, जो कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं, ने फिर राष्ट्रपति को आज ओवल ऑफ़िस में मौखिक रूप से अवगत कराया है।

और बैठक के लिए सही स्थान के बारे में सवाल, ये वैसी चीजें हैं जिन पर काम किया जाना है।

प्र. मैं ब्रायन करेम हूं, सेंटिनल अखबार से। मेरा सवाल है, वार्ताओं के किसी हिस्से में, क्या उत्तर कोरिया में परमाणु सुविधाओं (इकाइयों) का निरीक्षण भी शामिल है? आपका धन्यवाद।

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: हां, सवाल के लिए धन्यवाद। देखिए, इस समय हम वार्ताओं के बारे में बात भी नहीं कर रहे हैं, ठीक है? हम जो बात कर रहे हैं वह उत्तर कोरिया के नेता द्वारा निमंत्रण है संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ आमने-सामने की बातचीत का। राष्ट्रपति ने वह निमंत्रण स्वीकार कर लिया है।

स्वाभाविक रूप से, उत्तर कोरिया को स्थायी रूप से परमाणुमुक्त बनाने के किसी भी प्रकार के स्वीकार्य सौदे के साथ-साथ सत्यापन भी जारी रहेगा, और हम उस परिणाम से कम पर राजी नहीं होंगे। यही वह परिणाम है जिसकी उम्मीद संपूर्ण विश्व करता है, जो कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के उन सभी प्रस्तावों के अंतर्गत उदाहरणों के रूप में समझाया गया है — इन संकल्पों में से चार राष्ट्रपति ट्रम्प के कार्यकाल में और उनके नेतृत्व के तहत जारी किए गए हैं।

राष्ट्रपति इस संपूर्ण प्रक्रिया के ज़रिए, बहुत निकटता से समन्वय कर रहे हैं, स्वाभाविक रूप से दक्षिण कोरिया के साथ, साथ ही साथ जापान के साथ। राष्ट्रपति ट्रम्प ने आज रात प्रधानमंत्री आबे के साथ इन सभी घटनाओं के बारे में फोन पर बात की है, जो कि अपने कार्यालय में पूरे समय वह करते रहे हैं। धन्यवाद।

प्र. नमस्कार, मैं डेव नाकामुरा हूं, वाशिंगटन पोस्ट से। कुछ बातें जल्दी में। मैं समझता हूं, दोनों देशों के मौजूदा नेताओं के बीच, अभी तक आमने-सामने की मुलाकात अथवा फोन कॉल तक नहीं हुई है। क्यों नहीं एक निचले स्तर की बैठक से शुरुआत की जाती? और आपको इतना विश्वास क्यों है कि यह एक नही — मैं समझता हूं, आपने किसी और दिन एक कॉल में हवाला दिया था — कुछ ऐसी बात जो प्रचारित की तुलना में कम हो सकती है? और आप पहले से ही, एक तरह से, राजी हैं, संभवतः — जैसा कि आपने कहा कि वहां पर कोई लिखित पत्र तक नहीं है। क्या यह कुछ हद तक जोखिम भरा नहीं है?

और अन्य बात जो मुझे आश्चर्यचकित कर रही है वह — क्या आपको इसमें कुछ सार नज़र आता है कि कुछ बात उस पर भी होनी चाहिए कि उत्तर कोरियाई अपने यहां बंधक अन्य अमेरिकियों को मुक्त करके कुछ सदिच्छा दिखाएं, राष्ट्रपति की बंदियों में साफ दिलचस्पी के मद्देनज़र, जिसमें ऑटो वामबिया शामिल हैं?

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: बढ़िया। सवाल के लिए धन्यवाद, डेव। आप जानते हैं, राष्ट्रपति ट्रम्प टुकड़े में चुने गए थे क्योंकि वह ऐसा करना चाहते हैं — पहले के नज़रियों और पूर्व राष्ट्रपतियों से बिलकुल अलग दृष्टिकोण रखते हैं। इसका उनकी उत्तर कोरिया नीति से बेहतर उदाहरण नहीं हो सकता है। सचमुच, पीछे 1992 में जाते हैं, संयुक्त राज्य अमेरिका, उत्तर कोरिया के साथ सीधे निचले स्तर की बातचीत में शामिल था, और मैं समझता हूं इतिहास खुद अपनी गवाही देता है।

मौजूदा मामले में, हमारे पास अभी जो है वह एक निमंत्रण है उत्तर कोरिया के नेता की ओर से। जैसा कि राष्ट्रपति मून ने ज़ाहिर किया, वह मानते हैं कि हम इस अवसर पर उसी नज़रिये के कारण हैं जो कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने अधिकतम दबाव के साथ की है।

राष्ट्रपति ट्रम्प ने सौदे करने में अपनी साख बनाई है। किम जोंग-उन वह व्यक्ति हैं जो कि उनकी तानाशाही — खास तरह की तानाशाही — अथवा अधिनायकवादी प्रणाली के अंतर्गत निर्णय लेने में सक्षम है। और इसलिए उस एक व्यक्ति के साथ मुलाकात का निमंत्रण स्वीकार करने का अर्थ बनता है जो असल में निर्णय ले सकता है, एक तरह के, पूर्व के लंबे मामलों को दोहराने के बजाय।

ठीक है, अब हमें यहां पर रुकना पड़ेगा।

वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी: ठीक है, मैं सभी के लिए दोहराना चाहूंगा। यह कॉल पृष्ठभूमि पर है। आप किसी भी हवाले के लिए उनको, एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी के रूप में श्रेय दे सकते हैं, और प्रतिबंध — कॉल पूर्ण हो चुकी है, प्रतिबंध अब उठाया जा चुका है।

END 08:11 A.M. EDT


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें