rss

द्वारा वक्तव्य सीरिया पर राष्ट्रपति ट्रम्प

Facebooktwittergoogle_plusmail
English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, اردو اردو, 中文 (中国) 中文 (中国)

दी व्हाइट हाउस
प्रेस सेक्रेटरी का कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
13 अप्रैल 2018
राजनयिक कक्ष

 
 
शाम 09:01 बजे EDT

राष्ट्रपति:  मेरे साथी अमेरिका वासियो, कुछ समय पहले मैंने सीरियाई तानाशाह बशर अल-असाद के रासायनिक हथियार क्षमताओं से संबद्ध लक्ष्यों पर सटीक हमले करने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के सशस्त्र बलों को आदेश दिया था।  फ्रांस और युनाइटेड किंगडम के सशस्त्र बलों के साथ संयुक्त कार्रवाई अब जारी है।  हम दोनों को धन्यवाद देते हैं।

आज रात, मैं आपके साथ इस बारे में बात करना चाहता हूँ कि हमने यह कार्रवाई क्यों की है।

एक वर्ष पहले, असाद ने अपने स्वयं के निर्दोष लोगों के विरुद्ध भयंकर रासायनिक हमला आरंभ किया।  संयुक्त राज्य अमेरिका ने 58 मिसाइल हमलों के साथ जवाबी कार्रवाई की जिससे सीरिया की 20 प्रतिशत वायु सेना नष्ट हो गई।

पिछले शनिवार, असाद शासन ने निर्दोष नागरिकों का वध करने के लिए एक बार फिर से रासायनिक हथियारों का प्रयोग किया — इस बार सीरिया की राजधानी, डमासकस के नज़दीक डौमा कस्बे में।  यह जनसंहार उस बहुत भयंकर शासन द्वारा रासायनिक हथियारों के प्रतिरूप में उल्लेखनीय वृद्धि थी।

इस बुरे और घृणित हमले से मांएँ और पिता, शिशु और बच्चे दर्द में डूब गए और साँस लेने के लिए हाँफने लगे।  ये किसी आदमी की कार्रवाइयाँ नहीं हैं; इसकी बजाए ये किसी राक्षस के अपराध हैं।

एक शताब्दी पहले प्रथम विश्व युद्ध की दहशत के बाद, सभ्य राष्ट्र रासायनिक युद्ध पर प्रतिबंध लगाने के लिए एकजुट हुए।  रासायनिक हथियार विशेष रूप से खतरनाक हैं, न केवल इसलिए क्योंकि इनसे भयानक दुर्दशा होती है, बल्कि इसलिए भी कि छोटी-सी मात्रा से व्यापक तबाही मच सकती है।

आज रात हमारी कार्रवाइयों का प्रयोजन रासायनिक हथियारों के उत्पादन, प्रसार और उपयोग के विरुद्ध सुदृढ़ रोकथाम स्थापित करना है।  इस रोकथाम को स्थापित करना संयुक्त राज्य अमेरिका का महत्वपूर्ण राष्ट्रीय सुरक्षा हित है।  इन अत्याचारों के विरुद्ध संयुक्त अमेरिकी, ब्रिटिश और फ्रैंच कार्रवाई हमारी राष्ट्रीय शक्ति के सभी माध्यमों – सेना, आर्थिक और कूटनीतिक – को एकीकृत करेगी।  हम इस कार्रवाई को तब तक जारी रखने के लिए तैयार हैं जब तक कि सीरियाई शासन निषिद्ध रासायनिक एजेंटों का अपना उपयोग बंद न कर दे।

आज रात मेरे पास उन दो सरकारों के लिए भी संदेश है जो असाद के अपराधी शासन की सहायता करने, उसे सामग्री से लैस करने और उसका वित्तपोषण करने के लिए सबसे अधिक उत्तरदायी हैं।

मैं ईरान और रूस से पूछता हूँ: किस प्रकार का राष्ट्र निर्दोष पुरुषों, महिलाओं और बच्चों की सामूहिक हत्या से संबद्ध होना चाहता है?

विश्व के राष्ट्रों का अनुमान उनके द्वारा बनाए गए मित्रों से लगाया जा सकता है। कोई भी राष्ट्र दुष्ट राज्यों, क्रूर निरंकुश शासकों और हत्यारे तानाशाहों को बढ़ावा देकर लंबी अवधि में सफल नहीं हो सकता है।

2013 में, राष्ट्रपति पुतिन और उनकी सरकार ने विश्व को यह वचन दिया कि वे सीरिया के रासायनिक हथियारों के खात्मे का आश्वासन देंगे।   असद का हाल का हमला — और आज का उत्तर — उस वचन को निभाने की रूस की विफलता का प्रत्यक्ष परिणाम है।

रूस को यह निर्णय लेना होगा कि यदि वह यह गलत कार्य जारी रखेगा, या वह स्थिरता और शांति के लिए एक शक्ति के रूप में सभ्य राष्ट्रों में सम्मिलित हो जाएगा।  आशाजनक रूप से, हमारे किसी दिन रूस और संभवतः यहाँ तक कि ईरान से भी सुचारु संबंध हो जाएंगे – लेकिन हो सकता है कि ऐसा न भी हो।

मैं यह कहूँगा कि: विश्व के इतिहास में सबसे बड़ी और सबसे शक्तिशाली अर्थव्यवस्था के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका को बहुत कुछ की पेशकश करनी है।

सीरिया में, संयुक्त राज्य अमेरिका — ISIS के बचे हुए भाग को समाप्त करने के लिए प्रयोग किए जा रहे अल्प बल के साथ — वह कार्रवाई कर रहा है जो अमेरिकी लोगों की रक्षा करने के लिए आवश्यक है।  पिछले वर्ष में, सीरिया और इराक में तथाकथित ISIS खलीफात द्वारा नियंत्रित लगभग 100 प्रतिशत भू-भाग को मुक्त करा लिया गया है और उसका कब्ज़ा समाप्त कर दिया गया है।

संयुक्त राज्य अमेरिका ने मध्य पूर्व में हमारी मित्रता का पुनर्निर्माण भी किया है।  हमने अपने भागीदारों से कहा है कि वे अपने गृह क्षेत्र की रक्षा करने के लिए अधिक ज़िम्मेदारी लें जिसमें संसाधनों, उपकरण और ISIS-रोधक सारे प्रयास के लिए बड़ी धनराशियों का अंशदान करना सम्मिलित है।  सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, कतर, मिस्र और अन्यों सहित हमारे मित्रों से बढ़ी हुई संलग्नता से यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि ईरान को ISIS के खात्मे से लाभ न मिले।

अमेरिका किसी भी परिस्थिति में सीरिया में अनिश्चितकाल तक मौजूदगी नहीं चाहता है।  जब अन्य राष्ट्र अपना अंशदान बढ़ा देंगे, तब हम उस दिन की प्रतीक्षा कर रहे हैं जब हम अपने योद्धाओं को उनके घर वापस ला सकें।  और वे महान योद्धा हैं।

हमारे बहुत संकटग्रस्त विश्व पर निगाह डालते हुए, अमेरिकियों को कोई भ्रम नहीं है।  हम विश्व को बुराई से मुक्त नहीं करा सकते, या हर उस जगह काम नहीं कर सकते जहाँ अत्याचार है।

अमेरिकी रक्त या धन की कोई भी राशि मध्य पूर्व में चिरस्थायी शांति और सुरक्षा उत्पन्न नहीं कर सकती।  यह संकटग्रस्त स्थान है।  हम इसे बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे लेकिन यह संकटग्रस्त स्थान है।  संयुक्त राज्य अमेरिका एक भागीदार और मित्र होगा लेकिन क्षेत्र का भाग्य इसके स्वयं के लोगों के हाथों में ही है।

पिछली सदी में, हमने मानव आत्मा के सबसे स्याह स्थानों में सीधे देखा।  हमने ऐसी पीड़ा देखी जिसे दूर किया जा सकता है और ऐसी बुराई देखी जिस पर काबू पाया जा सकता है।  प्रथम विश्व युद्ध के अंत तक, रासायनिक हथियारों से एक मिलियन से अधिक लोग रासायनिक हथियारों से मारे गए या घायल हुए।  हम उस दारुण छाया की वापसी कभी नहीं चाहते हैं।

इसलिए आज, ब्रिटेन, फ्रांस और संयुक्त राज्य अमेरिका राष्ट्रों ने बर्बरता और क्रूरता के विरुद्ध अपनी नेक शक्ति का उपयोग किया है।

आज रात, जब हमारे उदार योद्धा और हमारे सहयोगी अपने मिशनों को अंजाम दे रहे होंगे, ऐसे समय मैं सभी अमेरिकियों को उनके लिए प्रार्थना करने का अनुरोध करता हूँ।

हम प्रार्थना करते हैं कि ईश्वर सीरिया में उन कष्टों से राहत प्रदान करे।  हम प्रार्थना करते हैं कि ईश्वर पूरे क्षेत्र का गरिमा और शांति के भविष्य के लिए मार्गदर्शन करे।

और हम प्रार्थना करते हैं कि ईश्वर संयुक्त राज्य अमेरिका पर निगाह रखना और इसे आशीर्वाद देना जारी रखे।

धन्यवाद और शुभ रात्रि।  धन्यवाद।

समाप्त    शाम 9:09 बजे EDT


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें