rss

सीरिया पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक आपातकालीन बैठक में टिप्पणियाँ

Facebooktwittergoogle_plusmail
English English, العربية العربية, Français Français, Русский Русский, اردو اردو, Español Español, Português Português

राजदूत निक्की हेली
संयुक्त राष्ट्र में संयुक्त राज्य अमेरिका की स्थायी प्रतिनिधि
संयुक्त राष्ट्र को संयुक्त राज्य अमेरिका का मिशन
न्यू यार्क सिटी
14 अप्रैल 2018

 

जैसा दिया गया

आपकी आज की ब्रीफिंग्स के लिए आपका धन्यवाद, श्रीमान अध्यक्ष, और धन्यवाद सेक्रेटरी-जनरल। यह हमारी पिछले सप्ताह में सीरिया में स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षा परिषद की पाँचवीं बैठक है। एक हफ्ता बीत गया जिसमें हमने बातचीत की है। हमने डौमा में पीड़ितों के बारे में बातचीत की है। हमने असद शासन और उसके संरक्षक रूस और ईरान के बारे में बात की है। हमने रासायनिक हथियारों की अनूठी दहशत के बारे में बात करते हुए एक हफ्ता गुजार दिया है। बातचीत का समय पिछली रात को खत्म हो गया।

आज हम यहां इसलिए हैं क्योंकि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के तीन स्थायी सदस्यों ने कार्रवाई की है। यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस और संयुक्त राज्य अमेरिका ने कार्रवाई की है- यह बदले के रूप में नहीं, सजा के रूप में नहीं, न ही ताकत के प्रतीकात्मक प्रदर्शन के रूप में की गई है। हमने सीरियाई शासन को मानवता के खिलाफ उसके अत्याचारों के लिए ज़िम्मेदार ठहराकर रासायनिक हथियारों के भावी इस्तेमाल को रोकने के लिए कार्रवाई की है।

हम सभी देख सकते हैं कि इस सुबह रूसी दुष्प्रचार अभियान पूरे जोरों पर चला। लेकिन रूस की ध्यान हटाने की बेताब कोशिशें तथ्यों को नहीं बदल सकतीं। बड़े पैमाने पर मौजूद जानकारी इंगित करती है कि सीरियाई शासन ने 7 अप्रैल को डौमा में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया था। असद को गुनाहगार बताने वाली स्पष्ट जानकारी है।

मरे हुए बच्चों की तस्वीरें फेक न्यूज़ नहीं है। वे सीरियाई प्रशासन की बर्बर अमानवीयता का परिणाम हैं। और वे असद शासन और रूस की सीरिया से सभी रासायनिक हथियारों को हटाने की अपनी अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में विफलता का परिणाम थे। इन तथ्यों के सावधानीपूर्वक मूल्यांकन के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका, फ्रांस और यूनाइटेड किंगडम ने कार्रवाई की।

हमारे द्वारा चुने गए ठिकाने सीरियाई शासन के अवैध रासायनिक वैपन्स प्रोग्राम के केंद्र में थे। हमलों की सावधानीपूर्वक योजना बनाई गई थी ताकि नागरिक हताहतों की संख्या कम रहे। प्रतिक्रियाएं न्यायोचित, वैध और आनुपातिक थीं। संयुक्त राज्य अमेरिका और उसके सहयोगियों ने वह सब कुछ किया जो हम असद के शस्त्रागार से रासायनिक हथियारों को हटाने के लिए कूटनीतिक औजार के तौर पर कर सकते थे।

हमने कूटनीति को सिर्फ एक ही मौका नहीं दिया। हमने कूटनीति को मौके के बाद मौके दिए। छह बार: सीरिया में रासायनिक हथियारों के समाधान संबंधी प्रस्तावों पर रूस ने कितनी बार सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों पर वीटो किया। इसके बाद भी हमारे प्रयास आगे बढ़ते रहे। 2013 में, सुरक्षा परिषद ने एक प्रस्ताव पारित किया जिसके तहत असद शासन के लिए आवश्यक था कि वह रासायनिक हथियारों के भंडारों को नष्ट कर सके।

सीरिया केमिकल वैपन्स कन्वेंशन का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध है, जिसका अर्थ है कि इसकी मिट्टी पर रासायनिक हथियार और अधिक समय तक नहीं रह सकते थे।
राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि रूस गारंटी देगा कि सीरिया इसका पालन करेगा। हम आशा करते थे कि यह कूटनीति सीरिया में रासायनिक हमलों के आतंक की समाप्ति में सफल होगी। लेकिन जैसा कि हम पिछले साल से देख रहे हैं कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है।

जबकि रूस असद शासन की रक्षा में व्यस्त था, असद ने नोटिस लिया। शासन यह जानता था कि वह बिना किसी दंड के यह काम कर सकता है, और उसने किया।

नवंबर में, रूस ने संयुक्त जांच प्रबंध तंत्र को खत्म करने के लिए अपने वीटो का इस्तेमाल किया, यही मुख्य साधन था जिससे हमें यह पता लगाना था कि सीरिया में रासायनिक हथियारों का उपयोग किसने किया था। जिस तरह रूस अपने वीटो का इस्तेमाल कर रहा था, असद शासन ने सरीन का इस्तेमाल किया, जिससे दर्जनों हताहत हुए।

रूस का वीटो असद शासन को सीरिया के लोगों के खिलाफ इन सबसे खतरनाक हथियारों का इस्तेमाल करने के लिए हरी झंडी थी, जो कि अंतरराष्ट्रीय कानून का पूरी तरह उल्लंघन था। संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगी उस स्टैंड से नहीं हटने देंगे। रासायनिक हथियार हम सभी के लिए खतरा हैं। वे अनूठे खतरे हैं, एक प्रकार का हथियार जो इतना बुरा है कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में सहमति बनी कि इन पर अवश्य प्रतिबंध लगना चाहिए।

हम खड़े नहीं रह सकते और रूस को हर उस अंतरराष्ट्रीय मानक को खत्म करने नहीं दे सकते जिसके लिए हम खड़े हैं और रासायनिक हथियारों के उपयोग को अनुत्तरित रहने की अनुमति नहीं दे सकते। और जैसा कि सीरियाई शासन में पिछले सप्ताह के अंत में रासायनिक हथियारों के उपयोग की कोई अलग घटना नहीं थी, हमारी प्रतिक्रिया रासायनिक हथियारों के उपयोग को भविष्य में रोकने के लिए पिछले साल तैयार की गई एक नए कार्यक्रम का हिस्सा है।

हमारी सीरियाई रणनीति नहीं बदली है। हालांकि, सीरियाई शासन ने हमें मजबूर किया है कि हम उनके रासायनिक हथियारों के बार-बार के उपयोग के आधार पर कार्रवाई करें। अप्रैल 2017 में खान शायखुन में रासायनिक हमले के बाद से, संयुक्त राज्य अमेरिका ने सीरिया और उत्तर कोरिया में रासायनिक हथियारों के उपयोग में शामिल व्यक्तियों और संस्थाओं पर सैकड़ों प्रतिबंध लगाए हैं। हमने एशिया, मध्य पूर्व और अफ्रीका में उन संस्थाओं को नामित किया है, जिन्होंने रासायनिक हथियारों के प्रसार में मदद की है। हमने सेलिस्बरी में रासायनिक हमले के जवाब में रूसी खुफिया अधिकारियों के वीजा रद्द कर दिए हैं। जो भी- रासायनिक हथियारों का उपयोग करता है – और जो भी उपयोग में सहायक है – हम उसकी तलाश और उसे चुनौती देना जारी रखेंगे।

कल की सैन्य कार्रवाई के साथ, हमारा संदेश बिल्कुल स्पष्ट था। संयुक्त राज्य अमेरिका असद शासन को रासायनिक हथियारों का उपयोग जारी रखने की अनुमति नहीं देगा। पिछली रात, हमने प्रमुख अनुसंधान सुविधा को नष्ट कर दिया, जिसे वह बड़े पैमाने पर हत्या के हथियारों को इकट्ठा करने के लिए उपयोग करता था। मैंने आज सुबह राष्ट्रपति से बात की और उन्होंने कहा कि अगर सीरियाई शासन इस जहरीली गैस को फिर से इस्तेमाल करता है, तो अमेरिका कार्रवाई के लिए तैयार और लैस है। जब हमारे राष्ट्रपति एक लाल रेखा खींचते हैं, तो हमारे राष्ट्रपति इस लाल रेखा को लागू करवाते हैं।

संयुक्त राज्य अमेरिका रासायनिक हथियारों के निषेध का बचाव करने के लिए यूनाइटेड किंगडम और फ्रांस का गठबंधन में उनकी भागीदारी के लिए बहुत आभारी है। हमने तैयारी के चरण में काम किया, हम पूरी तरह एक राय थे। पिछली रात, हमारे महान मित्रों और अपरिहार्य सहयोगियों ने हम सभी को लाभ पहुंचाने वाले एक बोझ को उठाया। सभ्य विश्व को उन्हें धन्यवाद देना कहना बाकी है। आने वाले हफ्तों और महीनों में, सुरक्षा परिषद को अंतरराष्ट्रीय कानून के शासन के बचाव में अपनी भूमिका प्रदर्शित करने के लिए समय निकालना चाहिए।

सुरक्षा परिषद उन लोगों को दंडित करने के अपने कर्तव्य में विफल रही है जो रासायनिक हथियारों का उपयोग करते हैं। वह विफलता काफी हद तक रूसी अवरोध के चलते है। हम रूस से अपने साथियों पर कड़ी नज़र रखने और परिषद के एक स्थायी सदस्य के रूप में अपनी ज़िम्मेदारियों पर खरा उतरने तथा उन असल सिद्धांतों का बचाव करने की अपील करते हैं जिनको बढ़ावा देना संयुक्त राष्ट्र का मकसद है।

पिछली रात, हमने सीरिया के रासायनिक हथियार उद्यम के केंद्र को सफलतापूर्वक निशाना बनाया, और इन कार्रवाइयों के कारण हमें पूरा भरोसा है कि हमने सीरिया के रासायनिक हथियार कार्यक्रम को पंगु बना दिया है।

अगर सीरियाई शासन हमारी इच्छाशक्ति की परीक्षा लेने की मूर्खता करता है, तो हम इस दबाव को बनाए रखने के लिए तैयार हैं।

आपका धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://usun.state.gov/remarks/8389
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें