rss

मानवाधिकार प्रथाओं पर 2017 की देश आधारित रिपोर्टों की रिलीज पर कार्यकारी सेक्रेटरी ऑफ स्टेट जॉन जे. सुलीवन

English English, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, اردو اردو

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए 20 अप्रैल 2018
टिप्पणियाँ

 
 

मानवाधिकार प्रथाओं पर 2017 की देश आधारित रिपोर्टों की रिलीज पर कार्यकारी सेक्रेटरी ऑफ स्टेट जॉन जे. सुलीवन

20 अप्रैल, 2018

प्रेस ब्रीफिंग कक्ष

वाशिंगटन, डी.सी.

**असंपादित/ड्राफ्ट**

सुश्री न्यूअर्ट: सभी को मेरा नमस्कार। आने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद, खास तौर पर शुक्रवार को। आज स्टेट डिपार्टमेंट ने 2017 मानवाधिकार प्रथाओं पर देश आधारित रिपोर्टों को रिलीज किया। आज़ादी को बढ़ावा देना – मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता को बढ़ावा देना और उनका बचाव करना उस बात के केन्द्र में है, जो हम एक देश के रूप में हैं, और संयुक्त राज्य अमेरिका मानव गरिमा और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष कर रहे दुनिया भर के लोगों का समर्थन करना जारी रखेगा।

यह 42वीं वार्षिक मानवाधिकार रिपोर्ट है जिसे विभाग ने अब जारी किया है। हमें इस रिपोर्ट के बारे में कुछ शब्द कहने के लिए आज यहां हमारे कार्यकारी सेक्रेटरी जॉन सुलीवन का साथ पाकर हमें खुशी है। कार्यकारी सेक्रेटरी सुलीवन की टिप्पणियों के बाद, हम आपके कुछ सवालों के जवाब देने के लिए राजदूत माइकल कोज़ैक को मंच पर आमंत्रित करेंगे। मैं समन्वय में मदद करूंगी, क्योंकि हम सभी एक दूसरे को जानते हैं, और इसमें सहायता करते हैं।

राजदूत कोज़ैक ब्यूरो ऑफ डेमोक्रेसी, मानवाधिकार और श्रम के एक वरिष्ठ ब्यूरो अधिकारी है, और वह जल्द ही आपसे बात करने की उम्मीद कर रहे हैं। उन्होंने 46 वर्षों तक रिपब्लिकन और डेमोक्रेट प्रशासन के तहत इस विभाग की सेवा की है, जो अविश्वसनीय है। सर, स्टेट डिपार्टमेंट को अपनी सेवा देने के लिए आपका धन्यवाद।

और इसके साथ में, मैं अपने कार्यकारी सेक्रेटरी जॉन सुलीवन को मंच सौंप दूंगी। सर।

कार्यकारी सेक्रेटरी सुलीवन: धन्यवाद, हैदर। सभी को मेरा नमस्कार। 2017 मानवाधिकार प्रथाओं पर देश आधारित रिपोर्टों को औपचारिक रूप से जारी करने के लिए यहाँ मौजूद होना एक सम्मान की बात है। अब अपने 42वें साल में, ये रिपोर्टें अमेरिकियों के रूप में हमारे मूल्यों का सहज परिणाम हैं। हमारे देश की स्थापना संबंधी दस्तावेज़, देश और विदेश दोनों में ही अहस्तांतरणीय अधिकार, मौलिक स्वतंत्रताओं और कानून के शासन के बारे में बात करते हैं – उस समय की ये क्रांतिकारी अवधारणाएं अमेरिकी के केन्द्र में और उसके हितों के ताने-बाने में ही समाहित हैं।

मानवाधिकारों और उस विचार का प्रचार करना कि प्रत्येक व्यक्ति का अंतर्निहित गौरव है, इस प्रशासन की विदेश नीति का केंद्रीय तत्व है। यह दुनियाभर में अधिक शांति, स्थायित्व और समृद्धि को बढ़ावा देकर अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा को भी मज़बूत करता है। मानवाधिकार रिपोर्टें मानवाधिकारों की वैश्विक स्थिति पर सर्वाधिक व्यापक और तथ्यात्मक लेखाजोखा हैं। ये हमारी सरकार और अन्य को नीतियां बनाने तथा दोस्तों और दुश्मनों दोनों को बगैर भेदभाव के सभी व्यक्तियों के स्वाभिमान का सम्मान करने के लिए प्रेरित करती हैं।

इस साल हमने संवैधानिक रिपोर्टिंग आवश्यकताओं के प्रति अधिक उत्तरदायी होने के लिए रिपोर्टों का फोकस तेज़ किया है – और मानवाधिकारों को बढ़ावा देने और संरक्षण के संबंध में सरकारी कार्रवाइयों अथवा निष्क्रियता पर अधिक फोकस किया है। उदाहरण के लिए, प्रत्येक कार्यकारी सारांश में उस देश में होने वाले सबसे गंभीर दुर्व्यवहारों को दर्ज करने के लिए एक पैराग्राफ शामिल है, जिसमें महिलाओं, LGBTI व्यक्तियों, विकलांग व्यक्तियों, मूल निवासी व्यक्तियों, और धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों के खिलाफ दुर्व्यवहार शामिल हैं।

इससे पहले कि मैं मंच पर माइक को बुलाऊँ, मैं कुछ देशों के बारे में विशेष रूप से चर्चा करना चाहता हूँ, जिनमें सबसे अधिक भयंकर मानवाधिकारों के रिकॉर्ड शामिल हैं।

सारी दुनिया सीरिया में मानवाधिकारों के भीषण हनन के बारे में जागरूक है, जिसमें नागरिकों पर बैरल बमवर्षा, अस्पतालों पर हमले, और सीरियाई सरकारी बलों द्वारा बड़े पैमाने पर बलात्कार और दुर्व्यवहार की रिपोर्टें शामिल हैं। एक सप्ताह पहले, राष्ट्रपति ने, रासायनिक हथियारों का उपयोग रोकने और सीरियाई नागरियों के मानवाधिकारों की रक्षा के लिए, हमारे फ्रांसीसी और ब्रिटिश सहयोगियों के साथ मिलकर कार्रवाई की।

हम बर्मा में रोहिंग्या मुसलमानों की जातीय सफाई और उनके ख़िलाफ किए गए अत्याचारों की निंदा करते हैं, और हम संकट के समाधान के लिए सहयोगियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। हाल के महीनों में 670,000 से अधिक रोहिंग्या बांग्लादेश भाग गए हैं। लाखों नागरिक आंतरिक रूप से विस्थापित हुए हैं। जो लोग हिंसा, दुर्व्यवहार, और हमले के लिए ज़िम्मेदार हैं उन्हें ज़रूर उत्तरदायी ठहराया जाना चाहिए।

DPRK, दुनिया में सर्वाधिक दमनकारी और दुर्व्यवहारी सत्ताओं में से एक है। जैसा कि रिपोर्ट साफ करती है, किम शासन ने अपने अवैध हथियार कार्यक्रमों के लिए धन और वित्तीय सहायता मुहैया कराने के लिए, बाल श्रम, बंधुआ मजदूरी, और उत्तरी कोरियाई श्रमिकों के निर्यात के ज़रिए अपने लोगों की भलाई की व्यवस्थित रूप से उपेक्षा की है।

चीन कार्यकर्ताओं, नागरिक समिति, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर प्रतिबंधों, और मनमानी निगरानी के उपयोग सहित, अपनी सत्तावादी प्रणाली की सबसे बुरी विशेषताओं का प्रसार जारी रखे हुए है। स्वतंत्र न्यायपालिका की अनुपस्थिति, स्वतंत्र वकीलों पर सरकारी प्रकोप, और सूचनाओं पर कड़ा नियंत्रण, कानून के शासन को कमज़ोर करते हैं। हम चीनी अधिकारियों के उइगुर मुस्लिमों और तिब्बती बौद्धों की धार्मिक, भाषाई एवं सांस्कृतिक पहचान खत्म करने तथा ईसाईयों के धार्मिक क्रियाकलापों को प्रतिबंधित करने के प्रयासों के बारे में खासतौर पर चिंतित हैं।

ईरानी लोग अपने शासकों के हाथों लगातार सताए जा रहे हैं। शांतिपूर्वक एकत्र होने का अधिकार और संघ बनाने तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता दुनिया भर में सभी व्यक्तियों की वैध उम्मीद है। दुर्भाग्य से, ईरानी लोगों के लिए, ये मानवाधिकार लगभग रोज़ाना हमले झेल रहे हैं।

तुर्की में, लगातार जारी आपातकाल के तहत पत्रकारों और शिक्षाविदों सहित दसियों हज़ार लोगों की कैद ने कानून के शासन को कमज़ोर किया है।

वैनेजुऐला में, माडुरो शासन अपने लोगों के मानवाधिकारों को दबाता है और उन्हें सरकार में अपनी आवाज़ पहुंचाने के अधिकार से वंचित करता है। इस बढ़ते हुए मानवाधिकार संकट के कारण नियमित रूप से हजारों लोग अपने घर छोड़कर भाग रहे हैं। पिछले सप्ताह अमेरिका महाद्वीप के एक सम्मेलन में, उपराष्ट्रपति पेंस ने संयुक्त राज्य अमेरिका की ओर से उन लोगों की सहायता के लिए $16 मिलियन की मानवीय मदद की घोषणा की थी, जो वेनेज़ुएला से भाग चुके हैं – और उन्हें भोजन, पानी और चिकित्सा सहायता की बेहद ज़रूरत है। हम वेनेज़ुएला के लोगों के साथ हैं, तब भी जबकि उनका नेता अपने देश में सहायता की अनुमति देने से इनकार कर रहा है।

अंत में, रूसी सरकार विरोधियों और सिविल सोसाइटी का दमन जारी रखे हुए है, इतना ही नहीं, वह अपने पड़ोस में आक्रमण करती है और पश्चिमी देशों की संप्रभुता को कमज़ोर करती है। हम – एक बार फिर – रूस से आग्रह करते हैं: यूक्रेन के क्रीमियाई प्रायद्वीप से अपना क्रूर कब्जा हटाए, यूक्रेन के डोनबास इलाके में रूसी-नेतृत्व वाली सेनाओं द्वारा किए जा रहे दुर्व्यवहार को रोके, और चेचन्या गणराज्य में मानवाधिकारों का हनन और दुर्व्यवहार करने वालों को मिली छूट के मुद्दे पर ध्यान दे।

यह सबसे अधिक चिंताजनक देशों पर तथ्यात्मक रिपोर्ट का एक संक्षिप्त अवलोकन है। मुझे पता है कि राजदूत कोज़ैक आपके किसी भी प्रश्न का उत्तर देने में प्रसन्न होंगे, लेकिन इससे पहले कि मैं मंच पर उन्हें बुलाऊँ, मैं कुछ उज्ज्वल धब्बों पर बात करना चाहता हूँ।

उजबेकिस्तान – हालांकि अभी काफी प्रगति किया जाना बाकी है, तो भी उजबेकिस्तान ने मानवाधिकारों पर सकारात्मक प्रभाव के साथ एक रणनीतिक सुधार पर ज़ोर दिया है, जिसमें पिछले साल आठ ऊंचे ओहदे वाले कैदियों की रिहाई शामिल है।

लाइबेरिया में, हालिया राष्ट्रपति चुनाव एक बड़ी उपलब्धि को दर्शाते हैं – 70 से अधिक वर्षों में पहली बार एक लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित नेता से दूसरे के पास शांतिपूर्ण ढंग से सत्ता का हस्तांतरण हुआ है।

और मैक्सिको में, जबरन गुमशुदगी पर सामान्य कानून ने जबरन गायब कराने के दोषी लोगों पर आपराधिक दण्ड और पीड़ितों को ढूंढने के लिए एक राष्ट्रीय ढांचा स्थापित किया।

यह आज रिलीज की गई रिपोर्ट में बताये गये सकारात्मक उदाहरणों में से कुछ का प्रतिनिधित्व करते हैं। हम अगले साल की रिपोर्टों में मानवाधिकार रिकॉर्ड में सुधार के लिए गंभीर कदम उठाने वाले देशों के कई सकारात्मक लेखा-जोखा देखने की उम्मीद करते हैं।

निष्कर्ष स्वरूप, मैं यह कहूंगा कि मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए अमेरिका वैश्विक स्तर पर नेतृत्व करता है। हम उन लोगों के लिए भी परिणामों को लागू करना जारी रखेंगे जो मानवाधिकारों का दुरुपयोग करते हैं। पिछले वर्षों में, रूसी मैग्निस्की और वैश्विक मैग्निस्की प्रतिबंध कार्यक्रमों के ज़रिए, हमने अभी तक अपने कुछ सर्वाधिक आक्रामक कदम उठाए हैं। कोई भी मानवाधिकार उल्लंघनकर्ता, चाहे वह दुनिया में कहीं भी हो, हमारी पहुंच से दूर नहीं है। मानवाधिकार रिपोर्टें इस समग्र प्रयास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। उन्हें बनाना एक बहुत बड़ा उत्तरदायित्व है और यह कमज़ोर दिल वालों का काम नहीं है। मैं अपने स्टेट डिपार्टमेंट के बहुत सारे साथियों का आभारी हूं – जिनमें वे लोग शामिल हैं जो वाशिंगटन में हैं और वे भी जो दुनिया भर के दूतावासों तथा वाणिज्य दूतावासों में हैं, जो इस रिपोर्ट को संभव बनाते हैं और मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए लंबे समय से चले आ रहे अमेरिकी नेतृत्वकारी भूमिका में योगदान देते हैं।

तो इसी के साथ, मैं मंच अब कार्यकारी अंडर सेक्रेटरी न्यूअर्ट को और मेरे दोस्त और सहकर्मी, राजदूत माइक कोज़ैक को सौंपता हूँ। आपका धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/s/d/2018/280666.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें