rss

राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा वक्तव्य संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना पर

दी व्हाइट हाउस
प्रेस सेक्रेटरी का कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
08 मई 2018

 

राष्ट्रपति:  मेरे अमेरिकी साथियों:  आज, मैं दुनिया को हमारे उन कदमों के बारे में अपडेट करना चाहता हूँ जो हमने ईरान को एक परमाणु हथियार हासिल करने से रोकने के लिए उठाए हैं।

ईरानी शासन आतंक का अग्रणी राज्य प्रायोजक है।   यह खतरनाक मिसाइलों का निर्यात करता है, मिडिल ईस्ट भर में संघर्षों को बढ़ावा देता है, और हेज़बुल्लाह, हमास, तालिबान और अल कायदा जैसे आतंकवादी सहयोगियों और मिलिशियाओं का समर्थन करता है।

पिछले कुछ वर्षों में, ईरान और इसके सहयोगियों ने अमेरिकी दूतावासों और सैन्य प्रतिष्ठानों पर हमले किये हैं, सैकड़ों अमेरिकी सैनिकों की हत्या की है, और अमेरिकी नागरिकों का अपहरण, उन्हें कैद और उन पर अत्याचार किया है।  ईरानी शासन ने अपने लोगों की संपत्ति लूटकर अराजकता और आतंक के अपने लंबे शासन को वित्त पोषित किया है।

शासन द्वारा उठाए गए कोई भी कदम परमाणु हथियारों की खोज और उन्हें पहुंचाने के साधनों की तुलना में कहीं अधिक खतरनाक रहे हैं।

2015 में, पिछला प्रशासन ईरान के परमाणु कार्यक्रम के संबंध में एक समझौते में अन्य देशों के साथ शामिल हो गया था।  इस समझौते को संयुक्त व्यापक कार्रवाई की योजना, या JCPOA के नाम से जाना जाता था।

सैद्धांतिक रूप में, तथाकथित “ईरान सौदे” का आशय संयुक्त राज्य अमेरिका और हमारे सहयोगियों को ईरानी परमाणु बम के पागलपन से बचाना माना जाता था, एक हथियार जो केवल ईरानी शासन के अस्तित्व को खतरे में डाल देगा।  असल में, इस सौदे ने ईरान को यूरेनियम को समृद्ध करना जारी रखने और समय गुजरने के साथ-साथ, परमाणु ब्रेकआउट के कगार पर पहुंचाने का काम किया।

इस सौदे ने शासन की परमाणु गतिविधि पर बहुत कमजोर सीमाओं के बदले में ईरान पर अपंग होते आर्थिक प्रतिबंधों को हटा दिया था, और सीरिया, यमन और दुनिया भर के अन्य स्थानों में अपनी भयावह गतिविधियों सहित, इसके अन्य घातक व्यवहार पर कोई सीमा नहीं होने की अनुमति दी।

दूसरे शब्दों में, उस बिंदु पर जब संयुक्त राज्य अमेरिका के पास अधिकतम उत्तोलन था, इस विनाशकारी सौदे ने इस शासन को दिया – और यह महान आतंक का शासन है – कई अरब डॉलर, इसमें से कुछ वास्तविक नकदी में – मेरे लिए एक नागरिक के तौर पर और संयुक्त राज्य अमेरिका के सभी नागरिकों को एक बड़ी शर्मिंदगी।

उस समय एक रचनात्मक सौदा आसानी से हासिल किया जा सकता था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  ईरान सौदे के केंद्र में एक विशाल कथा थी कि एक हत्यारा शासन केवल शांतिपूर्ण परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम चाहता था।

आज, हमारे पास निश्चित सबूत है कि यह ईरानी वादा झूठ था।  पिछले सप्ताह, इसरायल ने खुफिया दस्तावेज़ प्रकाशित किये हैं जो ईरान ने लम्बे समय से छुपाये हुए थे, जो ईरानी शासन और इसकी परमाणु हथियार हासिल करने के इसके इतिहास को विशेष रूप से उजागर करते हैं।

तथ्य यह है कि यह एक भयावह, एक तरफा सौदा था, जो किया ही नहीं जाना चाहिए था।   यह शांति नहीं लाता था, और कभी नहीं लाएगा।

जब इस समझौते पर पहुंच गया, उन सालों के दौरान, ईरान का सैन्य बजट 40 प्रतिशत से बढ़ गया है, जबकि इसकी अर्थव्यवस्था बहुत बुरी हालत में है।   प्रतिबंधों के उठाये जाने के बाद, तानाशाही ने परमाणु सक्षम मिसाइलों का निर्माण करने, आतंकवाद का समर्थन करने और मध्य पूर्व और उससे आगे के दौरान विनाश का कारण बनने के लिए अपने नए धन का उपयोग किया।

इस समझौते पर इतनी खराब बातचीत की गई कि अगर ईरान पूरी तरह से पालन करता है, तो शासन अभी भी थोड़े समय में परमाणु ब्रेकआउट के कगार पर हो सकता है।  सौदे का सूर्यास्त प्रावधान पूरी तरह से अस्वीकार्य हैं।  अगर मैंने इस समझौते को खड़े होने की इजाजत दी, तो जल्द ही मध्य पूर्व में परमाणु हथियारों की दौड़ होगी।  उस समय तक हर कोई अपने हथियारों को तैयार करना चाहेगा जब तक कि ईरान अपने बना लेगा।

मामले को और खराब करते हुए, सौदा के निरीक्षण प्रावधानों में धोखाधड़ी को रोकने, पहचानने और दंडित करने के लिए पर्याप्त तंत्र की कमी है, और सैन्य सुविधाओं सहित कई महत्वपूर्ण स्थानों का निरीक्षण करने के लिए बिना किसी शर्त का अधिकार भी शामिल नहीं है।

यह न केवल ईरान की परमाणु महत्वाकांक्षाओं को रोकने में असफल रहा है, बल्कि यह बैलिस्टिक मिसाइलों के शासन के विकास को दूर करने में विफल भी रहा है जो परमाणु हथियारों को पहुंचा सकती हैं।

अंत में, सौदा ईरान की अस्थिर गतिविधियों को रोकने के लिए कुछ भी नहीं करता है, जिसमें आतंकवाद के लिए इसका समर्थन भी शामिल है।  समझौते के बाद से, ईरान की खूनी महत्वाकांक्षाएं और अधिक निर्लज्ज हो गई हैं।

इन स्पष्ट त्रुटियों को जानते हुए, मैंने पिछले अक्टूबर में घोषणा की थी कि ईरान सौदे पर या तो फिर से बातचीत की जानी ज़रूरी है या इसे समाप्त कर दिया जाना होगा।

तीन महीने बाद, जनवरी 24 को, मैंने इस परिथितियों को दोहराया था।   मैंने यह स्पष्ट कर दिया था कि यदि इस समझौते को ठीक नहीं किया जा सकता, तो संयुक्त राज्य अमेरिका इस समझौते का हिस्सा नहीं बना रहेगा।

पिछले कुछ महीनों में, हमने फ्रांस, जर्मनी और यूनाइटेड किंगडम समेत दुनिया भर के सहयोगियों और भागीदारों के साथ बड़े पैमाने पर काम किया है।  हमने मध्य पूर्व से अपने दोस्तों से भी परामर्श लिया है।  हम खतरे की हमारी समझ में और हमारे दृढ़ विश्वास में एकीकृत हैं कि ईरान को परमाणु हथियार कभी हासिल नहीं करना चाहिए।

इन परामर्शों के बाद, मेरे लिए यह स्पष्ट है कि हम वर्तमान समझौते की विकृत होती और सड़ी हुई संरचना के तहत एक ईरानी परमाणु बम को रोक नहीं सकते हैं।

ईरान सौदा इसके मूल से ही दोषपूर्ण है।  यदि हम कुछ नहीं करते, तो हमें शतत: ही पता है कि क्या होगा।   थोड़े ही समय में, आतंक का दुनिया का अग्रणी राज्य प्रायोजक दुनिया के सबसे खतरनाक हथियार को हासिल करने के मध्य में होगा।

इसलिए, मैं आज घोषणा कर रहा हूं कि संयुक्त राज्य अमेरिका ईरान परमाणु समझौते से बाहर निकल जाएगा।

कुछ ही क्षणों में, मैं ईरानी शासन पर अमेरिकी परमाणु प्रतिबंधों को बहाल करने के लिए राष्ट्रपति के ज्ञापन पर हस्ताक्षर करूंगा।  हम उच्चतम स्तर की आर्थिक स्वीकृति स्थापित करेंगे।  कोई भी देश जो परमाणु हथियारों की तलाश में ईरान की सहायता करता है, उस पर भी संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा दृढ़ता से प्रतिबंध लगाये जा सकते हैं।

अमेरिका परमाणु ब्लैकमेल पर बंधक नहीं बना रहेगा।   हम अमेरिकी शहरों को विनाश की धमकी देने की अनुमति नहीं देंगे।  और हम ऐसे शासन को जो “अमेरिका की मौत” का जप करता है, उसे पृथ्वी पर सबसे घातक हथियार तक पहुंच प्राप्त करने की अनुमति नहीं देंगे।

आज की कार्रवाई एक महत्वपूर्ण संदेश भेजती है:  संयुक्त राज्य अमेरिका अब खाली धमकियों से नहीं डरता।   जब मैं वादे करता हूँ, तो मैं उन्हें बनाये रखता हूँ।   असल में, इस पल में, सेक्रेटरी पोम्पेयो किम जोंग-अन के साथ मेरी आगामी बैठक की तैयारी में उत्तरी कोरिया के रास्ते पर हैं।   योजनाएँ बनाई जा रही हैं।   संबंधों का निर्माण किया जा रहा है।   उम्मीद है कि चीन, दक्षिणी कोरिया, और जापान की मदद से एक समझौता होगा, सबके लिए एक गहरी समृद्धि और सुरक्षा के भविष्य को हासिल किया जा सकेगा।

जबकि हम ईरान समझौते से बाहर निकल रहे हैं, हम ईरानी परमाणु खतरे के लिए एक वास्तविक, व्यापक और स्थायी समाधान खोजने के लिए अपने सहयोगियों के साथ काम करेंगे।  इसमें ईरान के बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम के खतरे को खत्म करने के प्रयास शामिल होंगे; दुनिया भर में उनकी आतंकवादी गतिविधियों को रोकने के लिए; और मध्य पूर्व में उनकी खतरनाक गतिविधि को अवरुद्ध करने के लिए प्रयास शामिल होंगे।  इस बीच, शक्तिशाली प्रतिबंध पूर्ण प्रभाव में आएंगे।  अगर शासन अपनी परमाणु आकांक्षाओं को आगे जारी रखता है, तो इससे पहले की तुलना में बड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

अंतत, मैं लम्बे समय से पीड़ा झेल रहे ईरान के नागरिकों को एक संदेश पहुंचाना चाहता हूँ:   अमेरिका के लोग आपके साथ खड़े हैं।   अब लगभग 40 साल हो गये हैं जबकि इस तानाशाही ने सत्ता हाथ में ली थी और एक गर्वीले देश को बंधक बनाया था।   दुख की बात यह है कि ईरान के 80 मिलियन लोगों में से अधिकतर ने उस ईरान को कभी नहीं देखा जो अपने पड़ोसियों के साथ शांति में सफल रहा और दुनिया की प्रशंसा का कारण था।

लेकिन ईरान का भविष्य इसके लोगों का है।  वे एक समृद्ध संस्कृति और एक प्राचीन भूमि के लिए सही उत्तराधिकारी हैं।  और वे एक ऐसे राष्ट्र के लायक हैं जो उनके सपनों के प्रति न्याय करता है, उनके इतिहास का सम्मान करता है, और भगवान की महिमा करता है।

ईरान के नेता स्वाभाविक रूप से कहेंगे कि वे एक नए सौदे पर बातचीत करने से इनकार करते हैं; वे इंकार करते हैं।   और यह ठीक है।  यदि मैं उनकी जगह पर होता तो शायद मैं भी यही कहता।   लेकिन तथ्य यह है कि वे एक नया और स्थायी सौदा करना चाहेंगे हैं, जो ईरान और ईरानी लोगों को लाभान्वित करता है।  जब वे ऐसा चाहेंगे, मैं तैयार हूँ, इच्छा रखता हूँ और ऐसा करने में समर्थ हूँ।

ईरान के लिए महान चीजें हो सकती हैं, और शांति और स्थिरता के लिए महान चीजें हो सकती हैं जिन्हें हम सभी मध्य पूर्व में चाहते हैं।

पर्याप्त पीड़ा, मृत्यु और विनाश हो चुका है।   इसे अब खत्म करना होगा।

आपका धन्यवाद।  भगवान आपका भला करे।  आपका धन्यवाद।

(राष्ट्रपति ज्ञापन पर हस्ताक्षर हो चुके हैं)।

प्र    श्रीमान राष्ट्रपति महोदय, यह संयुक्त राज्य अमेरिका को कैसे अधिक सुरक्षित बनाता है?   यह संयुक्त राज्य अमेरिका को कैसे अधिक सुरक्षित बनाता है?

राष्ट्रपति:  आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।  यह अमेरिका को कहीं अधिक सुरक्षित बनाएगा।   आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

प्र    क्या सेक्रेटरी पोम्पेयो बंदियों को घर ला रहे हैं?

राष्ट्रपति:  आपका धन्यवाद।  सेक्रेटरी पोम्पेयो, इस समय, उत्तरी कोरिया जा रहे हैं।   वह कुछ ही समय में – शायद एक घंटे में वहाँ पहुंच जाएंगे।   उनके लिए वहाँ बैठकें तैयार रखी गईं हैं।   हमारी बैठक निर्धारित की जा चुकी हैं।   हमारी बैठक निर्धारित की जा चुकी हैं।  स्थान तय हो चुका है — समय और तारीख निर्धरित हो चुकी है।   हर बात चुनी जा चुकी है।   और हम बहुत सफलता हासिल करने की अपेक्षा करते हैं।

हमारा मानना है कि उत्तरी कोरिया के साथ संबंधों का निर्माण किया जा रहा है।  हम देखेंगे कि कैसे यह सब होगा।   हो सकता है यह काम करें, हो सकता है यह न करें।   लेकिन यह उत्तरी कोरिया, दक्षिणी कोरिया, जापान और पूरी दुनिया के लिए अच्छा हो सकता है।   हमें आशा है कि सब कुछ ठाक ठाक हो।

आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

प्र        क्या अमेरिकियों को छोड़ा जा रहा है?

प्र.  क्या अमेरिकी घर आ रहे हैं, श्रीमान राष्ट्रपति महोदय?

राष्ट्रपति:  हम सबको जल्द ही पता चल जाएगा।   हम सबको जल्द ही पता चल जाएगा।  यदि ऐसा होता है तो यह बहुत अच्छा होगा।   हम सबको जल्द ही पता चल जाएगा।  आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें