rss

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी अफ़गानिस्तान युद्धविराम की घोषणा पर

English English, اردو اردو

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए                                
पृष्ठभूमि में ब्रीफिंग
07 जून 2018
टेलीकांफ्रेस के जरिए

 
 

समन्वयक:  धन्यवाद, मैडम और आप सभी को गुड आफ्टरनून, और अफ़गानिस्तान में युद्धविराम पर आज की पृष्ठभूमि कॉल में हमारे साथ शामिल होने के लिए धन्यवाद।  आज हमारे साथ यहाँ इस कॉल में [स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी] शामिल हो रहे हैं।   हम उन्हें वरिष्ठ – स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी की तरह संदर्भित करेंगे।   याद रहे, कि यह कॉल पृष्ठभूमि में है और इसके समाप्त होने तक इस कॉल की सामग्री प्रतिबंधित रहेगी।  

और इसके साथ ही, मैं [वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी] को कुछ शुरुआती टिप्पणियों के लिए माइक सौंपूंगा और फिर हम कुछ प्रश्न लेंगे। 

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  बढ़िया है, आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।  आज यहाँ दूरस्थ आप सभी के साथ अच्छा लग रहा है।   मेरा मानना है कि आप सभी ने आगामी ईद-उल-फितर की छुट्टी के दौरान तालिबान के साथ एक अस्थायी युद्धविराम की राष्ट्रपति घानी की पेशकश का स्वागत करते हुए वक्तव्य को देखा होगा।   अफगान सरकार यह युद्धविराम की पेशकश और एक इरादा और अफगान सैन्य बलों द्वारा ईद की छुट्टी के दौरान तालिबान के विरुद्ध आक्रामक परिचालनों को स्थगित करने की पेशकश और एक इरादा, इस सप्ताह की शुरुआत में अफगान उलेमा द्वारा हिंसा में कमी, हिंसा का अंत करने और पूरी तरह से संघर्ष का अंत करने के लिए की गई अपील की प्रतिक्रिया स्वरूप आता है, और मुझे लगता है कि यह अफगान सरकार की इस संघर्ष को अंत के करीब लाने के तरीकों की खोज करने के लिए, और इस समय के दौरान, अफगान लोगों पर पड़ने वाले इस भयावह असर को कम करने के लिए तरीकों की खोज की निरंतर प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है। 

हम समझते हैं कि युद्धविराम की घोषणा करने से पहले, राष्ट्रपति घानी ने प्रमुख संगठनों और समूहों के नेताओं के साथ परामर्श किया है, जिन्होंने सोवियत संघों के खिलाफ जेहाद में हिस्सा लिया है और जिन्हें इस अवधारणा के लिए उनकी ओर से बिना किसी शर्त के, एकसमान समर्थन प्राप्त हुआ है।   और इस युद्धविराम के मौके की पेशकश करते हुए, मुझे लगता है कि राष्ट्रपति घानी अफगानों की एक बहुत विस्तृत श्रृंखला की इच्छा के प्रति प्रतिक्रिया दे रहे हैं और बेशक उसका प्रदर्शन कर रहे हैं – भौगोलिक दृष्टि से, जातीय रूप से, और दोनों शहरी और ग्रामीण आबादी के संदर्भ में – जो हिंसा में कमी को देखने की और अंतत इस संघर्ष को समाप्त करने की इच्छा रखते हैं।  

तो इसके साथ ही, हम बेशक – जैसा कि आपने सेक्रेटरी पोम्पेयो के वक्तव्य में देखा, हम तालिबान से अनुकूल जवाब देने की अपील करते हैं और अपेक्षा करते हैं, और हम निश्चित रूप से ही आशा करते हैं कि वे अन्य देश जिन्होंने इस संघर्ष के प्रति एक शांतिपूर्ण समाधान का प्रसार करने के लिए अफगान सरकार के प्रयासों का समर्थन किया है, वे उन्हें ऐसा करने के लिए भी प्रोत्साहित करेंगे।  

और इसके साथ ही, आईये अब हम आपके सवाल लेंगे। 

समन्वयक:  आपका धन्यवाद।  हम अब हमारे पहले सवाल की ओर जाएंगे। 

प्रचालक:  हमारा पहला प्रश्न CNN के रायन ब्राउनी की ओर से आता है।  आपकी लाइन खुली हैं। 

प्रश्न:  हैलो, हाँ।   इसे करने के लिए धन्यवाद।  मैं यह पूछना चाह रहा था कि क्या अमेरिका ने इस घोषणा तक पहुंचने में कोई भूमिका निभाई है या नहीं – जैसे कि पाकिस्तान को जागरूक करवाने के बारे में या पाकिस्तान के साथ काम करने में।   और क्या आपने इस घोषणा तक पहुंचने के लिए या इस घोषणा के बाद से कोई संकेत देखें है कि तालिबान इस ओर अनुकूल रूप से ग्रहणशील हैं?  

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  आपका धन्यवाद।  तो आपके पहले सवाल पर, यह अफगान सरकार की ओर से की गई एक पहल है जो कि अफगान समाज की इच्छा की ओर प्रतिक्रियास्वरूप आई है, और हम पूरी तरह से आशावादी है कि तालिबान और वे संगठन या देश जिन्हें तालिबान पर किसी प्रकार का प्रभाव प्राप्त है, वे इस सीमित समय के युद्धविराम में समान रूप से समर्थन देंगे।  

मुझे लगता है कि यह तथ्य कि तालिबान ने इसे अब तक अस्वीकार नहीं किया है – जैसे कि उन्होंने फरवरी में काबुल प्रक्रिया में राष्ट्रपति घानी की पेशकश को औपचारिक रूप से अस्वीकार नहीं किया है – यह संकेत देता है कि वे इसे मानने और इसका अवलोकन करने के लिए तैयार हैं।   और हम ये भी शा करते हैं कि ऐसा ही होगा, लेकिन हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि वे कैसी प्रतिक्रिया करते हैं।  

समन्वयक:  आपका धन्यवाद।  कृपया, हम अब अगला सवाल लेंगे।  

प्रचालक:  एक बार फिर, यदि आपके कोई प्रश्न है, तो कृपया *1 दबाएं।  हमारा अगला प्रश्न डेली बीस्ट के स्पैनसर एकरमैन की ओर से आता है।  आपकी लाइन खुली हैं। 

प्रश्न:  कॉल लेने के लिए धन्यवाद।  क्या संयुक्त राज्य अमेरिका प्रत्यक्ष रूप से तालिबान के साथ समझौता वार्ता करेगा जैसा कि तालिबान ने अनुरोध किया है?   और आप इस आलोचना का किस प्रकार जवाब देंगे कि अफगान सरकार, संयुक्त राज्य अमेरिका के समर्थन के साथ, यहाँ आवश्यक रूप से एकतरफा युद्धविराम की पोजीशन ले रही है, यह जानते हुए कि तालिबान ने इस पर अभी तक प्रतिक्रिया नहीं की है या एक युद्धविराम का समझौता करने के लिए एक पक्ष नहीं था।    

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  तो, हमारा मानना है कि कोई भी बात जो अफ़गानिस्तान में हिंसा को कम करती है, चाहे वह अस्थायी हो या अधिक ज़रूरी है कि लम्बे समय के लिए हो, एक अच्छी बात है।   अब, इस मामले में, हम अफ़गानिस्तान की सरकार को हिंसा कम करने की इच्छा को व्यक्त करते हुए देख रहे हैं, क्योंकि अफ़गानिस्तान में स्पष्ट रूप से अधिकतर हिंसा तालिबान या दा’ऐश, या ISIS खोरासन द्वारा किये जाने वाले परिचालनों और बढ़ावा दी गई हिंसा की प्रतिक्रियास्वरूप होती है।    

तालिबान के संबंध में, उनके पास अफगानों की एक विस्तृत श्रृंखला की ओर से आ रही अपील पर प्रतिक्रिया करने का मौका है जो हिंसा में कमी चाहते हैं, जिसके लिए हमारा मानना है कि यह दिखाएगा कि लम्बे समय से चले आ रहे संघर्ष के दौरान हिंसा को कम करना संभव है।   बेशक, दीर्घकाल में बेहतर होगा यदि एक युद्धविराम एक समझौता वार्ता द्वारा किये गये राजनीतिक समाधान का परिणाम हो, लेकिन ईद के लिए एक अस्थायी युद्धविराम भविष्य की इस संभावना को खत्म नहीं करता और आशा है कि इस उद्देश्य को पहचानने में योगदान देता है।    

समन्वयक:  बहुत-बहुत धन्यवाद। 

प्रश्न:  और इस सवाल पर कि क्या संयुक्त राज्य अमेरिका प्रत्यक्ष रूप से तालिबान के साथ समझौता वार्ता करेगा जैसा कि तालिबान ने अनुरोध किया है? 

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  तो, मैं आपको उन वक्तव्यों का संदर्भ लेने के लिए कहूंगा जो इस सवाल के संबंध में सहकर्मियों ने पहले कहे हैं।  

समन्वयक:  कृपया अगला प्रश्न पूछिए। 

प्रचालक:  यह प्रश्न ब्लूमबर्ग न्यूज़ के साथ निक वाधहम्स की लाइन से आता है।  कृपया शुरु करें।  

प्रश्न:  नमस्कार, आपको धन्यवाद!  स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी], अफ़गानिस्तान की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए, क्या आप इस बात पर कुछ रोशनी डाल सकते हैं कि आप अमेरिकी सैन्य बलों के इस देश में कितने समय तक बने रहने की उम्मीद करते हैं?  

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  तो, जैसा कि आप इस कार्यनीति से जानते हैं जो कि प्रशासन ने पिछले साल स्थापित की थी, हम स्पष्ट रूप से एक निश्चित अवधि पर कम ध्यान केंद्रित किये हुए है और अफ़गानिस्तान में उन स्थितियों पर अधिक जो हमें एक पदचिन्ह को कम करने में सक्षम करेंगी।   और अफगान सरकार के अधिकारी, राष्ट्रपति घानी, डॉ. अब्दुल्लाह, मुख्य कार्यपालक, उनका ध्यान एक जैसी बातों पर केंद्रित है।   अफ़गानिस्तान में कोई नहीं चाहता कि अफगान सरकार अपने अधिकाँश संसाधन आर्थिक विकास को बढ़ावा देने, स्वास्थ्य देखभाल और शिक्षा और उन सभी चीज़ों जो अधिकाँश व्यक्ति किसी स्थिर समाज में देखना चाहते हैं, में सुधारों को बढ़ावा देने के लिए समाज में अन्य महत्वपूर्ण आवश्यकताओं के विपरीत सुरक्षा पर खर्च करे।   

हम निश्चित रूप से अफ़गानिस्तान में उससे अधिक समय तक सेना स्तरों और प्रचालनों को बरकरार नहीं रखना चाहते जितना पूर्ण रूप से आवश्यक है।  और जिस बात पर हम सभी का ध्यान केंद्रित है, वह यह है कि वह सही सूत्र खोजने का प्रयास करना जो हमें प्रचालन कम करने में समर्थ बनाए और जो ऐसा राजनीतिक समझौते से आए जहाँ तालिबान अफगान लोगों के लिए आगे से कोई खतरा उत्पन्न न कर रहा हो और आगे से ऐसी परिस्थितियाँ उत्पन्न न कर रहा हो जिनमें ISIS खोरासान या अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठन अमेरिका या हमारे सहयोगियों के विरुद्ध हमलों का षड्यंत्र और योजना बनाने के लिए अफ़गानिस्तान में अस्थिरता का लाभ उठा सकें।  

प्रश्न:  लेकिन क्या आपको यह हतोत्साहित करता है कि आप 17 वर्ष के बाद अभी तक वह सूत्र नहीं खोज पाए हैं? 

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  मेरे विचार में इस प्रयास में सम्मिलित प्रत्येक व्यक्ति, चाहे वह प्रारंभ से ही इसका भाग हो या चाहे वह इस प्रक्रिया में बाद में आया हो, को चुनौतियों की जटिलता की जानकारी है लेकिन वह उस सूत्र को अत्यधिक खोजना चाहता है।  और मेरे विचार में क्षेत्र में वर्तमान वातावरण में, व्यापक क्षेत्र में, हमारा ध्यान ऐसे परिणामों को प्रस्तुत करने पर केंद्रित है जो उन परिणामों को प्राप्त करते हैं जिन्हें हम सभी प्राप्त करना चाहते हैं।   

समन्वयक:  बहुत-बहुत धन्यवाद।  अब हम अगले प्रश्न पर जाएंगे। 

प्रचालक:  हमारा अगला प्रश्न द वाशिंगटन पोस्ट की मिस्सी रयान की लाइन से आ रहा है।  पूछिए। 

प्रश्न:  हैलो, [स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारी]:  Post की ओर से मिस्सी रयान।  क्या आप बता सकते हैं – आपने पहले जो कहा, उससे लगता है कि यह युद्धविराम उलेमा के इस सप्ताह एकत्र होने के बाद आया है।  क्या आप हमें बता सकते हैं कि आज की घोषणा से पहले अमेरिका कितना सतर्क रहा है?  और क्या आपको यह चिंता है कि युद्धविराम की घोषणा तब अफगान सेनाओं के मनोबल के लिए अहितकर हो सकती है यदि वे युद्धभूमि में बलिदान दें?   धन्यवाद। 

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  ज़रूर।  तो आपके पहले प्रश्न के संबंध में, जैसा कि आपने देखा है, अमेरिकी सेनाएं इस संबंध में, युद्धविराम के दौरान आक्रामक प्रचालनों को निलंबित करने के संबंध में अफगान सरकार से सहयोग करेंगी लेकिन यदि हमला किया जाता है तो आत्मरक्षा के लिए तैयार रहना होगा।  और मैं समझता हूँ कि अमेरिकी सेनाएं भी ISIS खोरासान के विरुद्ध आक्रामक प्रचालन जारी रखेंगी या आक्रामक प्रचालनों में सहायता करेंगी क्योंकि यह उन पर लागू नहीं होता है।  स्पष्ट रूप से, यह सुनिश्चित करने के लिए अग्रिम रूप से थोड़ी चर्चा की गई थी कि अमरीकी सेनाएं और गठबंधन सेनाएं जो यहाँ अफगान सुरक्षा सेनाओं की सहायता करने के लिए हैं, इस पहल की सहायता करने और यह पता लगाने के लिए थोड़ा कार्य करने की स्थिति में होंगी कि इसे कैसे दुरुस्त करना है। 

मनोबल पर प्रभाव के संबंध में, मेरे विचार में यह बेहतर होगा कि यह प्रश्न अफगान नेताओं से पूछा जाए।  मेरी सोच यह रही है कि अफगान सेनाएं, अमेरिकी या गठबंधन सेनाओं की तरह, तब लड़ने को प्राथमिकता नहीं देंगी यदि उनके पास कोई विकल्प हो।  वे तब लड़ रही हैं जब उन्हें इसकी ज़रूरत है।  वे इस वर्ष अत्यधिक दृढ़ता और वीरता के साथ महत्वपूर्ण प्रचालन, आक्रामक प्रचालन करती रही हैं।  लेकिन इस मामले में मेरे विचार में, प्रचालनात्मक विराम लेने और यह देखने के लिए कि क्या तालिबान उन पेशकश को स्वीकार करने और थोड़ी समय अवधि के लिए हिंसा कम करने का इच्छुक है, मेरे विचार में वे इसका स्वागत करेंगे।  

समन्वयक:  बहुत-बहुत धन्यवाद।  अब हम अगले प्रश्न पर जाएंगे।   

प्रचालक:  हमारा अगला प्रश्न न्यूयॉर्क टाइम्स  के गार्डिनर हैरिस की लाइन से आ रहा है।   

प्रश्न:  हैलो।  सेक्रेटरी ने युद्धविराम की घोषणा करने से पहले कल रात पाकिस्तान की सेना के प्रमुख से बात की।  क्या उन्होंने युद्धविराम के बारे में बात की?  स्पष्ट रूप से अफगानिस्तान में एक प्रश्न यह है कि पाकिस्तान ने युद्धविराम की इस घोषणा में क्या भूमिका निभाई और अमेरिकियों ने युद्धविराम की इस घोषणा में क्या भूमिका निभाई।   मेरे विचार में आप इस पर ज़ोर देते रहते हैं कि यह अफगान सरकार की पहल है।  पूरे अफगानिस्तान में इसका संदेह है कि इसे अमेरिकियों और पाकिस्तानों द्वारा प्रेरित किया गया था।  क्या आप इसका उल्लेख कर सकते हैं – और इसका बहुत साफ तौर पर उत्तर दें कि क्या यह कल सेक्रेटरी और स्टाफ के चीफ के बीच चर्चा का विषय था?  

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  मैं उस विशेष चर्चा के विषय में बात नहीं कर सकता हूँ।  मैं – मुझे कॉल के बारे में जानकारी नहीं थी।  मेरे विचार में यह कहना सही नहीं है कि युद्धविराम अमेरिका की पहल है, लेकिन मेरा यह मानना है कि यह कहना, स्पष्ट रूप से सही है जैसा कि आपने हमारे वक्तव्यों से देखा है, कि हम उस पहल का स्वागत करते हैं जो राष्ट्रपति घानी ने इस संबंध में की है।  और मेरे विचार में यह तथ्य कि पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने इसका स्वागत किया है और उलेमा द्वारा कही गई बात के रूप में अफगान समाज में एक महत्वपूर्ण आवाज़ के आह्वान पर प्रतिक्रिया व्यक्त की जा रही है जिसमें उन्होंने पूरे देश में हिंसा में कमी करने और सरकार द्वारा समझौता प्रक्रिया आरंभ करने का प्रयास करने के नए तरीके खोजने और यह देखने की बात कही है कि क्या ऐसे तरीके हैं जिनसे तालिबान को बैठकर अपना विरोध समाप्त करने और अफगानिस्तान की वैध सरकार के साथ बातचीत करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।   यह उस समझौता प्रक्रिया को आरंभ करने के लिए इस बिंदु पर एकमात्र बाधा है जिससे समय बीतने के साथ, हमारे विचार में, हिंसा में स्थायी रूप से कमी की जा सकेगी। 

समन्वयक:  ठीक है।  आपका धन्यवाद।  हम अगली कॉल पर जाएंगे।  

प्रचालक:  हमारा अगला प्रश्न ABC न्यूज़ के कोनोर फिन्नेगन की ओर से आ रहा है।  

प्रश्न:  हैलो।  ऐसा करने के लिए धन्यवाद, [स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारीगण]।  मुझे किसी ऐसी बात के बारे में संक्षिप्त प्रश्न पूछना है जो जनरल निकलसन ने पिछले सप्ताह कही।  उन्होंने संकेत किया – क्षमा करें, शोर के लिए क्षमा करें।  उन्होंने यह कहते हुए तालिबान और अफगान सरकार के बीच किसी गुप्त शाँति वार्ता का संकेत दिया कि ज़बरदस्त संभावना के साथ ज़ोरदार चर्चा हुई।  क्या आप हमें इस बारे में नवीनतम जानकारी दे सकते हैं कि क्या दोनों पक्षों के बीच शाँति वार्ताएं की जा रही हैं या नहीं, और यदि हाँ, तो क्या अमेरिका उसका समर्थन करता है?  

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  मैं विशेष कूटनीति के बारे में बात नहीं करने जा रहा हूँ क्योंकि स्पष्ट रूप से, इसकी संभावित सफलता आँशिक रूप से उस प्रकार की प्रक्रिया की गोपनीयता की मात्रा पर आँशिक रूप से निर्भर है।  मैं यह कहूँगा कि हम गठबंधन में हमारे सहयोगियों और अन्य भागीदारों के साथ एक ऐसे राजनीतिक समझौते को बढ़ावा देने के सर्वोत्तम तरीकों को समर्थन देना और खोजना जारी रखते हैं जो तालिबान और अफगानिस्तान सरकार के रूप में इस टकराव से मुख्य पक्षकारों के बीच वार्ताओं से प्रस्तुत होगा।  हमने प्रयासों का पुरज़ोर समर्थन किया जिसके परिणामस्वरूप राष्ट्रपति ने इसके लिए अभूतपूर्व पेशकश की और ढाँचा प्रदान किया कि समझौता प्रक्रिया कैसी दिख सकती है जिसे उन्होंने पहले फरवरी के अंत में काबुल शांति सम्मेलन में प्रदान किया।  और इसके बाद, मेरे विचार में यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि क्षेत्र में हर देश द्वारा और गठबंधन में सभी सदस्यों द्वारा इसका समर्थन किया गया और सभी अन्य महत्वपूर्ण रुचि रखने वाले पक्ष और देश उस सूत्र को खोजने का प्रयास कर रहे हैं जो शाँतिपूर्ण समझौता प्रस्तुत करे। 

तो वास्तव में, प्रश्न यहाँ यह है कि हम कैसे सभी ऐसे तरीके में उस समझौता प्रक्रिया को उत्पन्न करने के लिए बेहतरीन रूप से काम करना जारी रख सकते हैं जिससे संघर्ष समाप्त हो जाए।  और स्पष्ट रूप से, बहुत-सी सरकारों को उस परिणाम को उत्पन्न करने में भूमिका निभानी है, और अमेरिका और सहयोगियों और भागीदारों और अन्य सरकारों के बीच इस संबंध में विविध चर्चाएं की जा रही हैं कि हम कैसे बेहतरीन रूप से वह परिणाम प्राप्त कर सकते हैं। 

समन्वयक:  ठीक है।  आपका धन्यवाद।   और अब हम अपना अंतिम प्रश्न लेंगे। 

प्रचालक:  हमारा अगला प्रश्न वॉयस ऑफ अमेरिका के मीरवाइस रहमानी की लाइन से है।  आपकी लाइन खुली हैं। 

प्रश्न:  हाँ।  आपके समय के लिए धन्यवाद, [स्टेट डिपार्टमेंट के वरिष्ठ अधिकारीगण]।  तो शाँति में, युद्धविराम में हक्कानी नेटवर्क सम्मिलित होगा।  हक्कानी नेटवर्क और इसके नेताओं को निर्धारित आतंकवादी संगठनऔर व्यक्ति के रूप में सूचीबद्ध किया गया है, तो अफगानिस्तान में अमेरिकी फौजें इससे कैसे निपटेंगी? 

वरिष्ठ स्टेट डिपार्टमेंट अधिकारी:  जैसा कि हमारे वक्तव्य में कहा गया है, हम युद्धविराम को लागू करने में अफगान सुरक्षा सेनाओं का सहयोग करने के परिदृश्य के साथ इस पर कार्रवाई करने जा रहे हैं।  इसका यह अर्थ है कि युद्धविराम की अवधि के दौरान, अफगान सुरक्षा सेनाएं आक्रामक प्रचालन नहीं करेंगी और अमेरिकी सरकार – अमेरिकी सेनाएं इसलिए तालिबान के संबंध में समान स्थिति में होंगी।  लेकिन, यदि अफगान सुरक्षा सेनाओं पर हमला किया जाता है या यदि इस अवधि में तालिबान या इसके घटक तत्वों द्वारा हमले किए जाते हैं, तो निश्चित रूप से अफगान सुरक्षा सेनाएं उत्तर दे सकती हैं और देंगी, मैं यह मानता हूँ कि अमेरिकी सेनाएं ऐसा करने में उनका सहयोग करने के लिए प्रस्तुत और तैयार होंगी। 

समन्वयक:  ठीक है।  और इसके साथ ही हमारी आज की कॉल समाप्त होती है।  हमसे जुड़ने के लिए सभी का धन्यवाद।  रोक अब हटा दी गई है और अपनी बाकी की दोपहर का मज़ा लें। 


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/r/pa/prs/ps/2018/06/283046.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें