rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइक पोम्पेयो एक प्रेस उपलब्धता पर

English English, العربية العربية, Français Français, اردو اردو, Русский Русский

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज के लिए
टिप्पणियां
11 जून 2018

 

JW मैरियॉट
सिंगापोर

सुश्री सेंडर्स: गुड आफ्टरनून। आपके धैर्य के लिए आपको बहुत-बहुत धन्यवाद। यह निश्चय ही इंतजार करने लायक था। सिंगापुर में और यहाँ फिलिंग सेंटर में आपका स्वागत है हम इसे संक्षिप्त ही रहेंगे।

मैं सेक्रेटरी ऑफ स्टेट, माइक पोम्पेयो का स्वागत करना चाहेंगे, जो आपके यहाँ कल होने वाली शिखर-वार्ता से संबंधित विशिष्ट प्रश्नों के उत्तर देंगे। और इसके परे के अन्य प्रश्नों के बारे फॉलो अप करने के लिए हम मौजूद रहेंगे। आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद।

श्रीमान सेक्रेटरी।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: गुड आफ्टरनून। मैं आपको राष्ट्रपति ट्रम्प की अध्यक्ष किम जोंग उन के साथ होने वाली शिखर-वार्ता के बारे में अग्रिम में अपडेट देना चाहता हूँ। जैसा कि शनिवार को राष्ट्रपति ने कहा, यह वास्तव में एक शांति मिशन है।

आज दोपहर, राष्ट्रपति ने जापान के प्रधानमंत्री अबे और दक्षिणी कोरिया के राष्ट्रपति मून को कॉल किया। इससे पहले आज, हमारे राजदूत, सुंग किम ने उप विदेश मंत्री चोई सन हुई और उनके उत्तरी कोरियाई — या क्षमा करें, उनके उत्तरी कोरियाई प्रतिनिधिमंडल से मिलने वाले एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया। यह बातचीतें आज दोपहर को जारी रहीं, जबकि आज हम यहाँ बैठे हैं। दरअसल, वे काफी तेज़ी से आगे बढ़ रहे हैं। और हम उम्मीद करते हैं कि वे अपने तार्किक निष्कर्ष पर आते हैं जितना हमने अनुमान लगाया था उससे कहीं तेज़ी से।

शिखर सम्मेलन पर चर्चा करने से पहले, मैं दी न्यूयॉर्क टाइम्स में आई एक रिपोर्ट को संबोधित करना चाहता हूं, जिसमें सुझाव दिया गया था कि अमेरिकी टीम के पास इन वार्ता के हिस्से के रूप में उत्तरी कोरिया के हथियारों के कार्यक्रम को खत्म करने पर तकनीकी विशेषज्ञता की कमी है। मैं इस रिपोर्ट को सीधे संबोधित करना चाहता हूँ।

तीन महीने से अधिक समय से, उत्तरी कोरिया के हथियारों के प्रोग्राम को अलग-थलग करने से संबंधित तकनीकी और सैन्य मुद्दों को संबोधित करने के लिए सरकार भर में 100 से अधिक विशेषज्ञों के एक अंतरंग कार्य समूह ने प्रति सप्ताह कई बार मुलाकात की है। इनमें परमाणु हथियारों को अलग-थलग करने के लिए सैन्य के विशेषज्ञ शामिल हैं: ऊर्जा विभाग, जिनमें पीएचडी और डीओई प्रयोगशालाओं के विशेषज्ञों सहित; और उत्तरी कोरिया को कवर करने वाले खुफिया समुदाय के अधिकारी। वही विशेषज्ञ उत्तरी कोरिया के परमाणु, रासायनिक, जैविक और मिसाइल कार्यक्रमों को भी शामिल करते हैं।

इन विशेषज्ञों में दर्जनों पीएचडीज़ शामिल हैं जिन्हें परमाणु हथियार, ईंधन चक्र, मिसाइलों, रासायनिक और जीववैज्ञानिक हथियारों में विशेषज्ञता प्राप्त है। उनके पास परमाणु इंजीनियरिंग, भौतिकी, रसायन शास्त्र, एयरोस्पेस, जीवविज्ञान, और अन्य प्रासंगिक क्षेत्रों में उन्नत डिग्रियाँ हैं।

सिंगापुर में इस क्षेत्र पर, हमारी एक टीम है जिसमें सामूहिक विनाश के हथियारों में राष्ट्रपति के वरिष्ठ सबसे अधिक विशेषज्ञ शामिल हैं जो बैठकों में किसी भी तकनीकी जरूरतों को कवर कर सकते हैं।

कोई सुझाव कि संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी भी तरह से सरकार भर में तकनीकी विशेषज्ञता की कमी है या सिंगापुर में यहाँ पर इसकी कमी है, गलत है।

उत्तरी कोरिया ने पहले अपने आपको परमाणु रहित करने की अपनी इच्छा की पुष्टि की है, और हम यह देखने के लिए उत्सुक हैं कि क्या वे इन शब्दों को ईमानदार साबित करते हैं। यह तथ्य कि हमारे दोनों नेता आमने-सामने बैठे हैं, ऐसा कुछ हासिल करने की विशाल संभावना का संकेत है जो हमारे दोनों देशों के लोगों और पूरी दुनिया को अत्यधिक लाभ पहुंचाएगा।

राष्ट्रपति ट्रम्प का मानना है कि किम जोंग उन के पास हमारे रिश्ते की दिशा को बदलने और अपने देश में शांति और समृद्धि लाने का अभूतपूर्व अवसर है। हमें आशा है कि यह शिखर सम्मेलन भविष्य में उत्पादक वार्ता के लिए शर्तों को निर्धारित करेगा। संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा पिछले वर्षों में हुए कमज़ोर समझौतों पर नज़र रखते हुए यह राष्ट्रपति सुनिश्चित करेंगे कि उत्तरी कोरियाई खतरे को पर्याप्त रूप से संबोधित करने वाला कोई संभावित समझौता विफल नहीं होगा।

उत्तरी कोरिया के साथ कूटनीति से हम जो अंतिम उद्देश्य खोजते हैं वह बदला नहीं है। कोरियाई प्रायद्वीप को पूरी तरह से और सत्यापन योग्य और अपरिवर्तनीय परमाणु रहित करना एकमात्र परिणाम है जो संयुक्त राज्य अमेरिका स्वीकार करेगा। उत्तरी कोरिया पर प्रतिबंध तब तक पूरी तरह से लागू रहेंगे जब तक कि यह बड़े पैमाने पर सामूहिक विनाश कार्यक्रमों के अपने हथियारों को समाप्त नहीं कर देता। यदि कूटनीति सही दिशा में नहीं ले जाती है – और हमें आशा है कि यह ऐसा होना जारी रहेगा – उन उपायों में वृद्धि होगी।

राष्ट्रपति ट्रम्प ने सुरक्षा के लिए अध्यक्ष किम की इच्छा को मान्यता दी, और वह यह सुनिश्चित करने के लिए तैयार है कि उत्तरी कोरिया सामूहिक विनाश के हथियारों से मुक्त है, और एक सुरक्षित उत्तरी कोरिया भी है। यदि उत्तरी कोरिया सही कदम उठाता है तो राष्ट्रपति ने उत्तरी कोरिया के लिए विदेशी निवेश और अन्य आर्थिक अवसरों तक पहुंच बढ़ाने के लिए अपने खुलेपन को व्यक्त किया है।

शिखर सम्मेलन की सभी तैयारी बहुत अच्छी तरह इक्कठी हो गई हैं। राष्ट्रपति ने आज दोपहर सिंगापुर के मंत्री ली के साथ मुलाकात की। यह इस शिखर सम्मेलन को मुमकिन बनाने में मदद करने के लिए सिंगापुर के प्रधानमंत्री को उनकी साझेदारी के लिए धन्यवाद देने का एक महत्वपूर्ण अवसर था। सिंगापुर 4,000 से अधिक अमेरिकी कंपनियों का घर है और यह एक लंबे समय से वाणिज्यिक साझेदार है, और हम इस शिखर सम्मेलन को समर्थ बनाने में उनकी मदद के लिए धन्यवाद देते हैं।

राष्ट्रपति को यहां सिंगापुर में हमारी दूतावास टीम के साथ मुलाकात करने और इस शिखर सम्मेलन को सफल बनाने के लिए उनके अथक काम के लिए धन्यवाद देने का अवसर मिला। उदाहरण के लिए, कल के शिखर सम्मेलन में, दुनिया भर के मीडिया के कुछ 5,000 सदस्य मौजूद होंगे जो इस ऐतिहासिक घटना को कवर करेंगे।

राष्ट्रपति ट्रम्प इस बैठक में आत्मविश्वास, सकारात्मक दृष्टिकोण और वास्तविक प्रगति के लिए उत्सुकता के साथ जा रहे हैं। उन्होंने यह स्पष्ट कर दिया है कि अगर किम जोंग उन परमाणु रहित होते हैं, तो उत्तरी कोरिया के लिए यह एक उज्ज्वल भविष्य है। कल हम अब तक का स्पष्ट संकेत प्राप्त करेंगे कि अध्यक्ष किम जोंग उन वास्तव में इस दृष्टिकोण को साझा करते हैं या नहीं।

मुझे कुछ प्रश्नों का उत्तर देने में खुशी होगी।

सुश्री सेंडर्स: मार्क लैंडलर, न्यूयॉर्क टाइम्स।

प्रश्न: श्रीमान सेक्रेटरी, आपने एक पल पहले कहा था कि आप जो लक्ष्य कर रहे हैं वह कोरियाई प्रायद्वीप को व्यापक, सत्यापन योग्य और अपरिवर्तनीय परमाणु रहित करना है। और मैं जानना चाहता हूँ कि क्या यह आपकी स्थिति में थोड़ी सी बदलाव बताती है, क्योंकि परंपरागत रूप से आपने केवल सीवीआईडी के बारे में बात की है, और अब आप वास्तव में वाक्यांश जोड़ रहे हैं “कोरियाई प्रायद्वीप पर,” जो कुछ हद तक उत्तरी कोरियाई लोगों चाहते हैं, वह है प्रायद्वीप को परमाणु रहित करना। क्या यह आपकी पोजीशन में बदलाव है?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: नीति में कोई बदलाव नहीं है। ऐसा है कि हम उस परमाणु निशस्त्रीकरण में संलग्न होने के लिए उत्तरी कोरिया के लिए आवश्यक सुरक्षा आश्वासन देने के लिए तैयार हैं। अर्थात, हम ऐसी कार्रवाइयाँ करने के लिए तैयार हैं जो उन्हें पर्याप्त निश्चितता प्रदान करेंगी कि वे इससे सहज हो सकते हैं कि परमाणु निशस्त्रीकरण कोई ऐसी बात नहीं है जिसका उनके लिए बुरा परिणाम होगा। वास्तव में, इसके विपरीत: इसके परिणामस्वरूप उत्तरी कोरिया के लोगों के लिए उज्ज्वल, बेहतर भविष्य का अवसर उत्पन्न होगा।

सुश्री सेंडर्स: मेजर गैरेट, CBS न्यूज़।

प्रश्न: इस बिंदु पर आगे चर्चा करते हुए, सेक्रेटरी महोदय, सुरक्षा आश्वासनों के संरक्षण के अंतर्गत क्या इसमें अब दक्षिण कोरिया में अमेरिकी सेनाओं को हटाना सम्मिलित होगा? क्या यह कोई ऐसी बात है जिस पर आप उत्तरी कोरियाइयों के साथ सीधे चर्चा करेंगे?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: मैं उन चर्चाओं के किसी ब्यौरे का उल्लेख नहीं करने जा रहा हूँ जो हमने आज की तारीख तक की हैं। मैं केवल यह कह सकता हूँ: हम उन्हें करने के लिए तैयार हैं जो सुरक्षा आश्वासन होंगे जो प्रदान किए गए से भिन्न, अनूठे हैं — जो अमेरिका पहले देने के लिए इच्छुक रहा है। मेरे विचार में यह आवश्यक भी है और उपयुक्त भी।

प्रश्न: क्या यह मानना गलत होगा कि इस पर बातचीत नहीं की जाएगी?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: आपको इस तथ्य कि मैं आज यहाँ कोई ब्यौरा नहीं दे रहा हूँ, से यह नहीं मान लेना चाहिए कि आप द्वारा पूछे गए प्रश्न में कोई योग्यता है।

प्रश्न: लेकिन आप संवेदनशीलता जानते हैं —

सेक्रेटरी पोम्पेयो: हाँ, आपको चाहिए — आपको बस यह चाहिए — यदि आप ऐसी चीज़ का अनुमान लगाते हैं जो इसमें है और मैं आपको यह बताने से मना करता हूँ कि इसमें क्या है, तब आपको यह नहीं मान लेना चाहिए कि मैं बस आपको वह बताने से मना कर रहा हूँ जो इसमें है, और उस नकारात्मक निष्कर्ष से कोई परिणाम नहीं निकाल रहा हूँ जो मेरे विचार में आप सुझा रहे हैं।

आपको — आपको पता होना चाहिए कि करने के लिए बहुत-सा कार्य बचा रहेगा। ऐसा बहुत-सा ब्यौरा है जिसे प्रदान किया जाना है। हम ये वार्ताएं मीडिया के साथ खुले में नहीं करने जा रहे हैं; हम इन्हें दो पक्षों के बीच करने जा रहे हैं जिससे हमें यहाँ वास्तविक सफलता प्राप्त करने का अवसर मिल सके।

सुश्री सेंडर्स: माइकेल गोर्डन, वॉल स्ट्रीट जर्नल।

प्रश्न: सेक्रेटरी महोदय, यह स्पष्ट है कि अमेरिका परमाणु निशस्त्रीकरण के संबंध में उत्तरी कोरिया से क्या चाहता है, लेकिन कभी-कभी उत्तरी कोरिया के अधिकारियों से संकेत मिलता रहा है कि परमाणु निशस्त्रीकरण की उनकी संकल्पना में कोरियाई प्रायद्वीप पर दोहरा-समर्थ विमान तैनात कर पाने को संभवतः प्रतिबंधित करना — विमान वाहकों — अमेरिकी विमान वाहकों — का कोरियाई प्रायद्वीप की ओर जाना असंभव बनाना सम्मिलित हो सकता है। क्या यह ऐसी बात है जिस पर ट्रम्प प्रशासन चर्चा करना चाहेगा? या यह कोई ऐसी बात है जिसे आप नकार सकते हैं? और क्या आप कल ऐसा ढाँचा रखने की आशा करते हैं जो परमाण निशस्त्रीकरण के बारे में 12 या 13 वर्ष पहले उपयोग किए गए फॉर्मूलेशनों को बस दोहराने से अधिक करता है, लेकिन प्रत्येक पक्ष को विशेष उपाय करने के लिए प्रतिबद्ध करता है?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: तो, मुझे लगता है कि आपके प्रश्न का पहला भाग वही प्रश्न है जो मेजर गैरेट ने पूछा था। यह इस बारे में मूल प्रश्न था कि कोई एक पक्ष या दूसरा पक्ष क्या करने के लिए तैयार हो सकता है और मैं इस बारे में बात नहीं करने जा रहा हूँ।

आपके दूसरे प्रश्न के संबंध में, इन चर्चाओं के लिए संदर्भ मूल रूप से अब तक की पहले की चर्चाओं से भिन्न है। जिस परिप्रेक्ष्य में ये वार्ताएं हो रही हैं, राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा है कि यह एक तरीके से मूलभूत रूप से पहले से भिन्न है।

राष्ट्रपति ने इसे बहुत स्पष्ट कर दिया है: जब तक हमें वह परिणाम नहीं मिल जाता जिसकी हम माँग कर रहे हैं, तब तक आर्थिक राहत प्रदान नहीं की जाएगी। यह भिन्न है। हमेशा यह अनुमान रहा है कि मार्ग में कहीं, अमेरिकी चले जाएंगे और उन आर्थिक अवसरों को उत्तर के लिए रहने देंगे और इस प्रकार डील को वास्तविक रूप से प्राप्त करने के लिए क्षमता में कमी करेंगे। हम ऐसा नहीं करने जा रहे हैं। तो कल चेयरमैन किम और राष्ट्रपति ट्रम्प के बीच कल होने जा रही चर्चाएं बाद में की जाने वाली मेहनत के लिए ढाँचा तय करेंगी।

और हम यह देखेंगे कि हम कितनी दूर जाते हैं, लेकिन मैं इस बारे में बहुत आशावादी हूँ कि हमें इन दो नेताओं के बीच कल की बैठक से सफल परिणाम मिलेगा। यह स्थिति है कि उन दोनों देशों में से प्रत्येक देश में ऐसे केवल दो व्यक्ति हैं जो इस परिमाण का निर्णय ले सकते हैं। और वे दो लोग कल कमरे में एक साथ बैठने जा रहे हैं।

सुश्री सेंडर्स: AP की ओर से कैथरीन लूसी।

प्रश्न: सेक्रेटरी, राष्ट्रपति यह कहते हैं कि उन्हें अपने “अहसास” से एक मिनट में पता चल जाएगा कि क्या किम गंभीर हैं। स्पष्टतया ऐसे अविश्वसनीय जटिल परमाणु मुद्दे हैं जिनके कारण करोड़ों नागरिक संकट में हैं। क्या राष्ट्रपति के लिए अपनी धारणा पर विश्वास करना बुद्धिमत्तापूर्ण है? और क्या आपने उन परिस्थितियों के लिए कोई विशेष मानदंड बनाएंगे जिनसे वे कल बाहर आएंगे?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: राष्ट्रपति कल की बैठक के लिए पूरी तरह तैयार हैं। मुझे यह सुनिश्चित करने का निजी रूप से अवसर मिला है कि उन्हें बहुत-सी भिन्न आवाज़ें सुनने, प्रतिभागी के समस्त अवसरों और जोखिमों को सुनने का अवसर मिले, और हमने इन दो नेताओ को सही स्थान में रखा है।

जैसा कि मैंने पिछले प्रश्न के उत्तर में कहा, राष्ट्रपति ट्रम्प ने वास्तव में यहाँ ऐसी प्रक्रिया स्थापित की है जो उन प्रक्रियाओं से मूलभूत रूप से भिन्न है जिनका हमने पहले अनुभव किया है। और मुझे आशा है कि कल से आगे की प्रक्रिया मूलभूत रूप से भिन्न होगी और संकल्पबद्ध अमेरिका दोनों देशों को लाभान्वित करने वाला परिणाम प्रदान करने का प्रयास कर रहा होगा। यह उससे भिन्न है जो हमने पहले किया है।

प्रश्न: महोदय, क्या आप हमें तैयारियों के बारे में कुछ बता सकते हैं?

सुश्री सेंडर्स: फॉक्स रेडियो की ओर से जोन डेकर

प्रश्न: धन्यवाद, सेक्रेटरी पोम्पेयो। पिछली बार आपने हमने व्हाइट हाउस प्रेस ब्रीफिंग के कक्ष में प्रश्न लिए थे और मुझे उस समय आपसे एक प्रश्न पूछने का अवसर मिला था। मैंने आपसे जो प्रश्न पूछा वह यह है कि क्या आप उत्तरी कोरियाई नेता, किम जोंग उन पर विश्वास कर सकते हैं या नहीं या आप कैसे विश्वास कर सकते हैं। और मुझे आपके उत्तर से आवश्यक रूप से संतुष्टि नहीं हुई। मैं इस बार आपका उत्तर प्राप्त करना चाहूँगा/गी।

लेकिन मैं प्रश्न को बदलना भी चाहता/ती हूँ, यदि मैं ऐसा कर सकूँ, सेक्रेटरी महोदय। किम जोंग उन अमेरिका पर कैसे विश्वास कर सकता है? और मैं ऐसा उसके बाद कह रहा/रही हूँ जो G7 शिखर-वार्ता में क्या हुआ, जब G7 के बहुत-से नेता यह मानते हैं कि अमेरिका के नेतृत्व पर विश्वास नहीं किया जा सकता क्योंकि यह उससे संबंधित है जो विज्ञप्ति के साथ हुआ था। तो, आप संभवतः इन दोनों प्रश्नों का उत्तर दे सकते हैं। धन्यवाद।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: मैं आपका दूसरा प्रश्न पहले लूँगा। मुझे लगता है कि यह अनुमान हास्यास्पद है। अमेरिका को पहले बेवकूफ बनाया गया है — इस बारे में कोई संदेह नहीं है। अतीत में बहुत से राष्ट्रपतियों ने कागज़ों पर हस्ताक्षर किए हैं और केवल यह पाया है कि उत्तरी कोरियाइयों ने या तो उसका वचन नहीं दिया जिसके बारे में हमने सोचा था कि उन्होंने ऐसा किया है या वे वास्तव में अपने वचनों से मुकर गए।

“V” का महत्व है। “V” का महत्व है। हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि हम ऐसी प्रणाली स्थापित करें जो पर्याप्त रूप से सुदृढ़ हो जिससे हम इन परिणामों का सत्यापन कर सकें। और केवल “V” के होने के बाद, हम तेज़ी से आगे बढ़ेंगे। ठीक है? पहले यह बात छूट गई थी। आपको पता है, हम वापस रीगेन पर जा सकते हैं, “विश्वास करो, लेकिन सत्यापन करो।”

दिन के अंत में दोनों देश एक-दूसरे में पर्याप्त विश्वास उत्पन्न करने जा रहे हैं और सत्यापन करने के लिए जिसकी प्रत्येक देश को आवश्यकता है, हमने ऐसी चीज़ें प्रदान की हैं जिनका यदि हमारे द्वारा कल विभिन्न दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किए जाने पर और यदि हमारे द्वारा बाद के दस्तावेज़ो पर हस्ताक्षर किए जाने के बाद विभिन्न दस्तावेज़ों में हमारे प्रतिबद्ध होने के लिए आह्वान किया जाता है। लेकिन हममें से प्रत्येक को यह सुनिश्चित करना है कि हम चीज़ें करें, हम उन वचनों को निभाए जाने के लिए आवश्यक कार्रवाइयाँ करें। और जब हम ऐसा करते हैं, तब हमारे पास सत्यापित डील होता है। और यदि हम उतना दूर जा सकते हैं, तो हमारे पास यहाँ दक्षिण पूर्व एशिया, उत्तरी एशिया और पूरे विश्व में ऐतिहासिक बदलाव होगा।

सुश्री सेंडर्स: हम एक अंतिम प्रश्न लेंगे। फिल रकर, वाशिंगटन पोस्ट

प्रश्न: सेक्रेटरी महोदय, सिंगापुर में अपने होटल में इस सुबह राष्ट्रपति ट्रम्प ने प्रधान मंत्री ट्रूडियू के लिए कड़े शब्द कहे। और आप हमारे देश के सबसे पुराने सहयोगियों — यूरोप में सबसे पुराने सहयोगियों के बीच संबंधों को सुधारने के लिए देश के सबसे बड़े राजनयिक के रूप में क्या कर रहे हैं? और क्या आप कल अपने एक प्रशासन सहयोगी द्वारा दिए गए वक्तव्य से सहमत हैं कि कनाडा के प्रधान मंत्री के लिए नर्क में एक विशेष स्थान है?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: मैं, आज यहाँ सिंगापुर में उत्तरी कोरिया के बारे में बात करने के लिए आया हूँ। लेकिन मुझे हमारे यूरोपीय भागीदारों के साथ भी कार्य करके प्रसन्नता है। हम उस कूटनीतिक कार्य जो हमारे साथ हमारे यूरोपीय भागीदारों ने किया है, के बिना इस स्थान में नहीं होंगे, हमें यह ऐतिहासिक अवसर नहीं मिलेगा।

राष्ट्रपति ट्रम्प ने बहुत समान यूरोपीय भागीदारों, उन G7 भागीदारों, जिनका आप संदर्भ देते हैं, जिन्होंने इस स्थान तक पहुँचने में हमारी सहायता की है, के सहित एक विशाल गठबंधन का नेतृत्व किया है। मुझे पूरी आशा है कि वे ऐसा करना जारी रखेंगे।

संबंधों में हमेशा खिझाने वाली चीज़ें होती हैं। मैं बहुत आश्वस्त हूँ कि हमारे देशों — अमेरिका और उन G7 देशों — के बीच संबंध सुदृढ़ आधार पर आगे बढ़ते रहेंगे। मैं वह परिणाम प्राप्त करने के लिए हमारे लिए आवश्यक कार्यों को जारी रखने की हमारी क्षमता के बारे में निश्चिंत हूँ जिसकी हम उत्तरी कोरिया में अपेक्षा कर रहे हैं जिसके परिणामस्वरूप आपने इसके कनाडा में होने का वर्णन किया है।

सुश्री सेंडर्स: धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2018/06/283141.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें