rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइकल आर. पोम्पेयो CNN की एलिस लैबट्ट के साथ

English English, العربية العربية, Français Français, Русский Русский, اردو اردو, Español Español

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
इंटरव्यू
26 जून 2018

टेलीफोन के जरिये

 

सुश्री न्यूअर्ट:  तो, एलिस, हमारे पास 10 मिनट है, इसलिए मैं बस स्टैंड बाय करूंगी।

प्रश्न:  ओके, ओके।  सेक्रेटरी महोदय, दो महीने पहले आपको विरासत में ऐसा स्टेट डिपार्टमेंट मिला जि आवश्यक रूप से और वास्तव में बुरी अवस्था थी – मनोबल गिरा हुआ था, स्टाफ अपर्याप्त था – और आपने वायदा किया कि आप शानदार स्थिति को वापस लाएंगे।  इसलिए मेरी आपके दृष्टिकोण में रुचि है।  आप द्वारा कार्यभार संभालने के बाद आपके विचार में चीज़ें कैसे बदली हैं?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  हमें आए हुए दो महीने हो गए हैं और हमने कुछ चीज़ों को करने में अत्यधिक प्रगति की है।  सबसे पहले, हम कमान और नियंत्रण में कमी कर रहे हैं; अर्थात, मैंने अधिकारियों को निर्णय लेने की अनुमति दे दी है।  हम सातवीं मंज़िल के बहुत से निर्णय वापस पेशेवरों के पास ले आए हैं, जैसा कि मैंने वर्णन किया कि मैं क्या करूँगा – विशेषज्ञों को निर्णय लेने की अनुमति देना, राष्ट्रपति के निर्देश समझना और मेरे दिशानिर्देश समझना जिससे उन्हें कमांडर के इरादे की जानकारी हो।  और मेरे विचार में इससे वास्तव में बदलाव आया है, न केवल राष्ट्रपति की संकल्पना को निष्पादित करने की हमारी योग्यता में, बल्कि इसे ऐसे तरीके में करने से जो हमारे शत्रुओं की गति से संचालित होता है।

दूसरे, हमने टीम में कर्मचारियों की व्यवस्था करने के लिए भी वास्तविक प्रयास किए हैं।  मैंने स्वयं सिविल सेवा अधिकारियों के एक बड़े समूह के कुछ शपथ-ग्रहण समारोहों और कुछ वरिष्ठों के लिए शपथ-ग्रहण समारोहों का संचालन किया है।  हम कैपिटल हिल पर भी प्रगति कर रहे हैं, और आगामी सप्ताहों में हमें यह आशा है कि हमारे पास और अधिक अंडर सेक्रेटरी, असिसटेंट सेक्रेटरी होंगे जो हमारे लिए सहायक होंगे।  तो फील्ड पर भी टीम को वापस लाने में वास्तविक रूप से प्रगति की जा रही है।

और कुल मिलाकर, हमें नीति निर्माण में अग्रणी होने के भी कुछ अवसर मिले हैं।  हमने शानदार काम किया – टीम ज़बरदस्त थी – जिसने सिंगापुर में राष्ट्रपति को मिशन को कार्यान्वित करने में सहायता की।  मैं उस कार्य के बारे में भी यही कहूँगा जो हम NATO शिखर-वार्ता के लिए तैयारी में कर रहे हैं।  ऐसी सभी प्रकार की चीज़ें जो टीम को वह करने के लिए रोमांचित करती हैं जिसे करने के लिए वे स्टेट डिपार्टमेंट में आते हैं।

प्रश्न:  आइए हम उत्तरी कोरिया के बारे में थोड़ी बात करें।  वक्तव्य में, शिखर-वार्ता में किम जोंग-उन परमाणु निशस्त्रीकरण पर कुछ व्यापक सिद्धांतों पर सहमत हुए।  उदाहरण के लिए, सेक्रेटरी मैटिस ने कहा कि उन्होंने अभी तक चरणों के कोई दिखने वाले संकेत नहीं देखे हैं।  क्या आप इस बारे में विशिष्ट विवरण के साथ और अधिक ब्यौरा दे सके हैं कि उत्तरी कोरियाई क्या करने के इच्छुक हैं और कब?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  चालीस वर्ष का इतिहास और अब करार के 12 दिन, और – लेकिन मैं यह कहूँगा – मैं यह कहूँगा।  ऐसे तालमेल हैं जो शिखर-वार्ता से पहले एक साथ प्रस्तुत किए गए थे, कुछ उस समय हुए जब राष्ट्रपति सिंगापुर में थे, जिन्होंने, मेरे विचार में, हमे सही दिशा में रख दिया है जिससे हम सफलता के लिए ढाँचा तैयार कर सकें।

दो प्राथमिक निर्णयकर्ताओं की अनुपस्थिति से इसमें से कुछ नहीं हो सकता है, ढाँचे का कोई भी भाग साकार नहीं किया जा सकता है  – उत्तरी कोरिया में, निर्णयकर्ता परमाणु निशस्त्रीकरण के लिए अपना इरादा स्पष्ट कर रहे हैं।  जब मैं CIA के निदेशक के रूप में वहाँ गया, तब मैंने यह स्वयं सुना, जब मैं सेक्रेटरी ऑफ स्टेट के रूप में प्योंगयांग गया, तब मैंने यह स्वयं सुना, और मैंने यह तब दोबारा सुना जब राष्ट्रपति और चेयरमैन किम के साथ एक समूह एकजुट था।  वे अपने वक्तव्य में सुस्पष्ट रहे हैं कि वे ऐसा करने के लिए तैयार हैं।  हमने उन्हें उत्तरी कोरिया के भीतर उसके बारे में बात करते हुए पहली बार देखा है।

चुनौतियाँ हमेशा मौजूद होंगी, और करने के लिए काम है। लेकिन दो सबसे वरिष्ठ नेताओं की प्रतिबद्धता के बिना इसमें से कुछ भी संभव न हुआ होता, और जब तक वह प्रतिबद्धता मौजूद है, तब तक अमेरिका अमेरिका निश्चित रूप से वह करने के लिए तैयार है जो राष्ट्रपति ने कहा था:  उत्तरी कोरिया के लिए अधिक उज्ज्वल भविष्य निर्मित करें और उत्तरी कोरियाई लोगों के लिए सुरक्षा आश्वासन प्रदान करें।

प्रश्न:  लेकिन मेरा मतलब है, आपने स्वयं स्पष्ट रूप से कहा था कि यह प्रक्रिया की शुरुआत है और स्पष्ट रूप से किम जोंग-उन को वे घोषणाएं करनी पड़ीं।  लेकिन आपने कहा है कि आपका धैर्य, अमेरिका का धैर्य, इस पर अनंत नहीं हो सकता है।  इसलिए मैं – क्या आपने स्वयं को किसी प्रकार का – मैं समय-सीमा शब्द का उपयोग नहीं करना चाहती, लेकिन आप कितने समय तक उन प्रतिबद्धताओं की वास्तविक गंभीरता का परीक्षण कर सकते हैं?  मैंने सुना है कि आप गर्मी के अंत तक वास्तविक रूप से कुछ प्राप्त करने का प्रयास करेंगे, क्या बस आगे बढ़ने या यह जानने के लिए कि अब शायत इसका पुनः आकलन करने का समय हो गया है कि आप इसे कैसे देखते हैं?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  एलिस, हम निरंतर पुनः आकलन करेंगे।  यह एक सतत प्रक्रिया है।  और हम – हमें आशा है कि हमारे यहाँ प्रगति करने की सतत प्रक्रिया होगी।  लेकिन देखिए, राष्ट्रपति स्पष्ट थे।  हमारे द्वारा की गई प्रत्येक कार्रवाई – उच्च स्तर के युद्ध खेल समाप्त करने का उनका निर्णय – केवल तब तक विद्यमान है जब तक सद्विश्वास में वार्ता प्रक्रिया, उपयोगी परिणाम प्राप्त किए जा रहे हैं।  यदि हम वह कर सकें, यदि ऐसा होता है कि केवल – यदि ऐसा परिणाम प्रदान करने की कोई क्षमता न हो जिसके बारे में दोनों राष्ट्रपतियों ने इच्छा जताई थी – हाँ, हम पुनःआकलन करेंगे कि क्या यह – मैं इस संबंध में कोई समय-सीमा तय नहीं करने जा रहा हूँ।  लेकिन चाहे यह दो महीनों में हो या छह महीनों में, हम यह देखने के लिए तीव्र रूप से आगे बढ़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि क्या हम वह प्राप्त कर सकते हैं जो दोनों नेताओं में किए जाने के लिए निर्धारित है।

प्रश्न:  आपके पास यह NATO शिखर-वार्ता है, कुछ सप्ताह में UK में राष्ट्रपति का दौरा है।  ऐसा राष्ट्रपति द्वारा इन टैरिफों के लागू किए जाने के तुरंत बाद होगा।  और मेरा मतलब है, उन्होंने हमारे कुछ सबसे नज़दीकी सहयोगियों का वर्णन करने के लिए कुछ बहुत उत्तेजक भाषा का उपयोग किया है, और अब आप यूरोपियनों और कनाडा को यह कहते हुए सुनते हैं कि वे ऐसा नहीं मानते कि वे अमेरिका पर विश्वास कर सकते हैं। और इससे तब आपके कुछ शीर्ष नीति लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में अब आपका काम अधिक कठिन होने जा रहा है जब आपके मित्र आपके साथ नहीं हैं।  आप ट्रांसअटलांटिक गठबंधन में इस प्रकार की दरारों को कैसे पाटने जा रहे हैं?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  मैं 1980 के दशक में जर्मनी में युवा सैनिक था।  मुझे ऐसी ही कुछ बातचीत याद है, हे भगवान, यूरोपियन भागीदार किसी ऐसी चीज़ के बारे में चिंतित हैं जो अमेरिका कर रहा है।  मैं उन सबके बारे में बता रहा हूँ, ठीक है?  हम मिसाइलें स्थापित करने जा रहे थे, हम मिसाइलों को हटाने जा रहे थे – मैं अपनी बात जारी रख सकता था।  मैं उन स्थानों के बारे में घंटों तक अपनी बात कह सकता था जहाँ अमेरिका और यूरोप के बीच समस्याएं रही हैं, जहाँ वे असहमत थे।

मैंने उसे पृष्ठभूमि के माध्यम से प्रस्तुत किया क्योंकि आप द्वारा उल्लेख की गई चीज़ें उस प्रकार की चर्चाओं के अनुरूप हैं जो अमेरिका और यूरोप ने दशकों तक की हैं।  इस मामले में, हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं कि यूरोपीय भागीदार NATO के साथ महत्वपूर्ण गठबंधन बनाने के अपने उचित बंधन को साझा करें।  हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं कि हमारे देशों के बीच व्यापारिक व्यवस्थाएं उचित और पारस्परिक और संतुलित हों।

लेकिन प्रत्येक बातचीत – और मैं बहुत बार वार्ताएं करता हूँ – मैंने पिछले 30 घंटों के भीतर क्रिस्टिया फ्रीलैंड से बात की।  मैंने कल सुबह फ्रांस के विदेश मंत्री से भी बात की और मुझे विश्वास है कि मैं इस सप्ताह किसी समय बोरिस से बात करूँगा।  हमारे द्वारा की जाने वाली प्रत्येक बातचीत का लक्ष्य साझा उद्देश्यों को पूरा करना है।  अमेरिका और यूरोप के बीच दरार बहुत बढ़ा-चढ़ाकर बताई गई है।  ऐसी बहुत-सी चीज़े हैं जहाँ हम समान मूल्यों और समान चिंताओं को साझा करते हैं।  मैं आश्वस्त हूँ कि हम राष्ट्रपति द्वारा निर्धारित लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए और उन चीज़ों जो आज चुनौतियाँ प्रस्तुत कर रही हैं, के लिए कार्य करेंगे; लेकिन अंत में यूरोप और अमेरिका के बीच परंपरागत मूल्य-प्रेरित गठबंधन, वह ट्रांसअटलांटिक गठबंधन सुदृढ़ रहेगा जैसा कि यह अब 70 से अधिक वर्षों से रहा है।

प्रश्न:  सेक्रेटरी महोदय, राष्ट्रपति जल्द राष्ट्रपति पुतिन से मिलने जा रहे हैं।  पिछली बार जब वे मिले, तब पुतिन ने कहा कि रूस ने चुनाव में दखल नहीं दिया, और नेशनल इंटेलिजेंस कोट्स के निदेशक ने कहा कि हालाँकि वे यह सोचते हैं कि वे अभी भी हैं।  और जब मध्य अवधि कुछ ही महीने दूर है, क्या यह – क्या यह इस – इस आगामी बैठक में महत्वपूर्ण कार्यसूची मद नहीं होनी चाहिए?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  अमेरिका और रूस के बीच बातचीत करने के लिए बहुत कुछ है।  और जैसा कि आप जानते हैं, राजदूत बोल्टन अब उस दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।  मैंने अपने प्रतिस्थानी, सर्गे लेवरॉव से इन पहले कुछ महीनों में कुछ बार बात की है, चाहे यह सीरिया में युद्धभूमि हो, यूक्रेन में स्थिति हो, रूस के सक्रिय उपाय हों।  ऐसे बहुत से विषय हैं जिन पर मुझे विश्वास है राष्ट्रपति ट्रम्प और राष्ट्रपति पुतिन चर्चा करेंगे और उनमें से प्रत्येक ऐसे स्थान में रिश्ते को वापस रखने का प्रयास करने के लिए महत्वपूर्ण है जहाँ समान तालमेल हैं।  यूरोपियनों के विपरीत, रूसी हमारे आदर्शों को साझा नहीं करते।  यह एक भिन्न बातचीत है, लेकिन यह इसके बावजूद बातचीत है जिसे करने का महत्व है।

प्रश्न:  लेकिन क्या- मेरा मतलब है, यह एक तरफ रहा, और स्पष्ट रूप से ऐसे बहुत से क्षेत्र हैं जिन पर आप एक साथ काम करते हैं, लेकिन क्या आप – क्या आप ऐसा सोचते हैं कि यह वह मुद्दा है जो संबंधों में गर्मजोशी लाने को रोक रहा है – अविश्वास?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  मेरा मतलब है, उन्होंने ब्रिटेन में किसी को मार डाला।  मैं अपनी बात जारी रख सकता हूँ।  यह कहना कि यह मात्र एक मुद्दा है जिसके कारण दोनों देशों के बीच गर्मजोश संबंध नहीं बना है, मुझे लगता है, ऐसा कहना गलत होगा।  पर कोई गलती मत करें; मुझे लगता है कि राष्ट्रपति ट्रम्प रूस के हस्तक्षेप के संबंध में सहमत हैं – रूस हमारे चुनाव में दखल दे रहा हैं – यह ऐसा है जिसे वे आसानी से नहीं कर सकते हैं। मुझे नहीं लगता – मुझे नहीं लगता कि इससे वे क्रुद्ध होंगे।

प्रश्न:  मुझे बस कुछ और प्रश्न पूछने हैं, सेक्रेटरी महोदय।

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  जरूर।

प्रश्न:  चूंकि अमेरिका ने अपने को ईरानी सौदे, JCPOA, से अलग कर लिया है, हमने नए निर्धारण देखे हैं,  आपने स्टेट डिपार्टमेंट के अधिकारियों और ट्रेजरी अधिकारियों को अगले कदम पर चर्चा करने के लिए भेजा है, और IRGC से खतरे सहित आप ईरान के संबंध में बहुत मुखर रहे हैं।  क्या आपको लगता है कि उन्हें एक विदेशी आतंकवादी समूह के रूप में नामित करना अगला संभावित कदम हो सकता है?  प्रशासन में कुछ बातें हो रही है कि इसे अगला कदम होना चाहिए।

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  अगले कई कदम हो सकते है।  मैं राष्ट्रपति के निर्णय लेने की प्रक्रिया के सामने नहीं आना चाहता हूँ।  लेकिन —

प्रश्न:  हालाँकि, यह सामने है, है ना?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  बहुत सारी बातें हैं – ऐसी कई चीजें हैं जिन पर चर्चा की जा रही है, ये चीजें साबित करेंगी, हमें विश्वास हैं, कि अंत में यह बहुत प्रभावी होंगी –  कि अंत में क्या महत्वपूर्ण होता है, ठीक है?  ठीक।

और अंतिम लक्ष्य ईरान इस्लामी गणराज्य को एक सामान्य देश बनने के लिए मनाना है।  यह बहुत आसान है।  यह बहुत मजेदार है; हर किसी ने उन 12 चीज़ों के बारे में बात की है जिनकी मैंने ईरान से माँग की थी।  ये उससे अलग नहीं हैं जिन्हें मैंने बेल्जियम से माँग है, ठीक है?  ये उससे अलग नहीं हैं जिसकी हम माँग करते हैं – एक देश चुनें – सिंगापुर- ठीक?

एक सामान्य देश बनने के लिए।  आतंकवाद का संचालन न करें, अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर मिसाइलें न दागें, दुनिया का सबसे बड़ा आतंक प्रायोजक राज्य न बने, परमाणु अपेक्षाओं के अनुसार आचरण करें।  इनमें से कोई भी ऐसी चीजें नहीं हैं जो मुश्किल हैं या किसी भी तरह ईरान को अलग कर रही हैं; बल्कि, हम उन्हें उन चीज़ों को करने के लिए कह रहे हैं जो ऐसे राष्ट्र जो राष्ट्रों के समुदाय का हिस्सा हैं, ऐसा करें, ताकि वे सामान्य व्यापार, सामान्य राजनयिक संबंध बना सके, वह सभी काम कर सकें, जिनकी हम अपेक्षा कर रहे हैं।  यह बहुत सरल है।  और एक विशेष निर्धारण जो हम करते हैं या एक विशेष प्रचालनात्मक रणनीति जिसे हम अपनाते हैं, मैं आज उन सब के बारे में बात नहीं करने जा रहा हूँ।

प्रश्न:  समझ गया।  मैं हो रहे प्रवास संकट पर बात खत्म करूँगी ।  आपने पारिवारिक अलगाव की इन तस्वीरों को देखा है, कुछ रिपोर्टें हैं कि माता-पिता को अन्य बच्चों के साथ भेजा जा रहा है।  यह दुनिया भर में बहुत से विरोधों को उत्पन्न कर रहा है।  और मैं जानना चाहती हूँ:  इससे अमेरिका  की छवि पर संभावित रूप से पड़ने दाग के बारे में आप कितने चिंतित हैं और, जब इसे टैरिफ मुद्दे के साथ रखा जाता है, तो यह चिंतनीय है कि ऐसी सोच है कि अमेरिका संरक्षणवादी है, व्यापार बंद कर रहा है?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  हां।  मुझे सभ्यता के इतिहास में सबसे उदार राष्ट्र का विदेश मंत्री होने का अद्भुत सौभाग्य है; और जहाँ तक व्यापार मुद्दों की बात है, यह शरणार्थियों की स्वीकृति से संबंधित है; यह मानवीय सहायता के हमारे गहरे इतिहास का हिस्सा है, चाहे वास्तव में वह पुनर्निर्माण धन हो या भूमि पर लोग हों।  मैं इस बात से चिंतित नहीं हूँ कि दुनिया में कोई भी व्यक्ति अमेरिका की ओर देख सकता है और कुछ भी समझ सकता है लेकिन वह आशा, लोकतंत्र और स्वतंत्रता से इतर नहीं हो सकता है ।  हमारे पास इसका एक लंबा इतिहास है और यह ट्रम्प प्रशासन के तहत भी जारी है।

प्रश्न:  सेक्रेटरी महोदय, बस समाप्त करने के लिए —

सुश्री न्यूअर्ट:  एलिस, हमें जाना है।

प्रश्न:  बस समाप्त करने के लिए, कृपया एक अंतिम प्रश्न।

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  जी महोदया।

प्रश्न:  बहुत-बहुत धन्यवाद, सेक्रेटरी महोदय।

इसके अनुसरण के रूप में,  इन देशों में से कुछ में आपके विभाग से यात्रा सलाह जारी की गई है।  पिछले वर्ष, आप जानते हैं कि उस स्टेट डिपार्टमेंट ने मूल कारणों के समाधान और अवैध प्रवास की वास्तविक समस्याओं, जैसे गरीबी, हिंसा और अपराध से निपटने की आवश्यकता के बारे में रिपोर्ट दी थी।  कुछ बहुत ही खतरनाक देश हैं जहाँ से ये लोग आ रहे हैं, पर क्या इनमें से कुछ अंतर्निहित स्थितियों से निपटने के लिए अमेरिका के नेतृत्व में कार्य करने हेतु ठोस प्रयास करने का कोई विचार है, जो कि इन तस्वीरों में से कुछ का सामना करने के लिए बेहतर निवारक उपाय हो सकता हैं?

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  जैसा कि आपने कहा, इस संबंध में ट्रम्प प्रशासन के प्रयास के कई कोण  हैं, और हाँ, हम स्टेट डिपार्टमेंट में हैं, जो इसका एक हिस्सा है, उत्तरी त्रिकोण देशों के लिए कुछ ऐसी जमीनी स्थिति तैयार करने का काम करने हेतु अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं कि वे इसे लंबा, कठिन, और आखिरकार प्रायः खतरनाक स्थिति न बना सकें और मैक्सिको के रास्ते अमेरिका में आने का प्रयास न कर सकें।  हमें लगता है कि यह महत्वपूर्ण है।  लेकिन हमने उन मध्य अमेरिकी देशों के साथ अनियमित प्रवास के मुद्दे पर ध्यान देने के लिए बहुत सारा काम किया है, और हमेशा ऐसा और अधिक किया जा सकता है, और हम इसके लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

सुश्री न्यूअर्ट:  एलिस, हमें जाना है।

प्रश्न:  समझ गया।  सेक्रेटरी महोदय —

सेक्रेटरी पोम्पेयो:  एलिस, धन्यवाद।

 प्रश्न:  आपका धन्यवाद।  समय देने के लिए धन्यवाद और मैं जल्द ही आपसे मिलने की आशा करती हूँ।

 

 


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2018/06/283504.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें