rss

सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइकल आर. पोम्पेयो और अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी एक प्रेस उपलब्धता पर

English English, Français Français, اردو اردو

अमेरिकी डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट
प्रवक्ता कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
टिप्पणियाँ
09 जुलाई 2018

 

काबुल, अफ़गानिस्तान

(निम्नलिखित को एक ऐसे लंबे Q&A से लिया गया है जिसमें अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति गनी के वक्तव्य सम्मिलित थे)

सेक्रेटरी पोम्पेयो: धन्यवाद। धन्यवाद, नमस्कार। मैं राष्ट्रपति गनी को धन्यवाद देना चाहता हूँ। मैं आज यहाँ अपनी मेज़बानी करने के लिए डॉ. अब्दुल्लाह और पूरी अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद को धन्यवाद देना चाहता हूँ। महल में आपसे मिलना बहुत सुखद रहा है।

अमेरिकी लोगों की ओर से, मैं उन अमेरिकी सैनिकों, वायु सैनिकों, समुद्री सैनिकों और नाविकों के लिए अपना अत्यधिक आभार व्यक्त करना चाहता हूँ जो यहाँ सेवारत हैं और NATO की सेनाओं के साथ बलिदान कर रहे हैं। मैं आज यहाँ से जाने के बाद उनमें से कुछ के साथ समय बिताने की आशा करता हूँ।

मैं उन बहादुर अफगान योद्धाओं, सैनिकों, वायु सैनिकों और पुलिस कर्मियों की प्रशंसा करना चाहता हूँ जो अफगानियों को अधिक संरक्षित और सुरक्षित बनाने के लिए प्रतिदिन अपने जीवन को जोखिम में डालते हैं।

अब पहले से कहीं अधिक, अमेरिका अफ़गानिस्तान के लिए चिरस्थायी भागीदार के रूप में मौजूद है। राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा नई दक्षिण एशिया कार्यनीति की घोषणा करने के बाद लगभग एक वर्ष का समय हुआ है। इसमें शर्त-आधारित दृष्टिकोण और कृत्रिम समय-सीमाओं और मनमानी फौज सीमाओं को हटाना सम्मिलित है। हम एक ऐसा अधिक सुरक्षित, अधिक संरक्षित अफ़गानिस्तान बनाने के लिए शर्तें तय करने के लिए अफगान सरकार और सुरक्षा सेनाओं के साथ काम कर रहे हैं जो अफगानों के नेतृत्व वाला और अफगानों के स्वामित्व वाला हो।

आपको जानना चाहिए कि शांति प्रक्रिया भी ऐसी ही है। अमेरिका इन शांति चर्चाओं में सहयोग करेगा, सुविधा प्रदान करेगा और इनमें भाग लेगा लेकिन शाँति का निर्णय अफगानों को लेना होगा और स्वयं के बीच निपटारा करना होगा। हम आशा करते हैं कि इन शाँति वार्ताओं में अंतरराष्ट्रीय पक्षों और शक्तियों की भूमिका पर चर्चा सम्मिलित होगी।

मैं यहाँ उस प्रगति के बारे में जानने के लिए आया हूँ जो हमने प्रत्येक आयाम में की थी। उनके दौरे से मेरा निष्कर्ष यह है कि राष्ट्रपति की कार्यनीति वास्तव में काम कर रही है। हमारी दक्षिण एशिया कार्यनीति ने अफगान लोगों और सुरक्षा सेवाओं को यह स्पष्ट संदेश भेजा है कि ऐसे समय जब वे अपने देश और अपने लोगों की रक्षा करने के लिए संघर्ष करना जारी रखे हुए हैं, तब हम उनकी सहायता करेंगे।

इस कार्यनीति ने तालिबान को भी स्पष्ट संदेश भेजा है – वे हमारे जाने की प्रतीक्षा नहीं कर सकते – और हमने युद्धभमि जहाँ तालिबान का प्रभाव कम हो रहा है और उनके साथ शांति की आशा – दोनों के संबंध में परिणाम देखना आरंभ कर दिया है।

आज हमें उस प्रगति पर भी चर्चा करने का अवसर मिला जो अफ़गानिस्तान इस शरद में चुनावों के लिए तैयारी करने के लिए कर रहा है। हम ऐसे समय अफगान सरकार और सुरक्षा सेनाओं से सहयोग कर रहे हैं जब वे ऐसा सुरक्षित, विश्वसनीय और पारदर्शी चुनाव सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं जो अफगानी लोगों की इच्छा को व्यक्त करता हो। हम अपने सभी भागीदारों से यह सहयोग जारी रखने का आह्वान करते हैं।

और अंत में, मैं अफ़गानिस्तान की सरकार को सुधार के संबंध में इसकी प्रगति के लिए बधाई देना चाहूँगा। मैं अफगान सरकार द्वारा भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ने और अपनी अर्थव्यवस्था – देश की अर्थव्यवस्था के लिए खाका बनाते हुए देखकर प्रोत्साहित हुआ हूँ जिसमें खनन क्षेत्र के स्थायी विकास के लिए स्पष्ट संकल्पना सम्मिलित है।

एक बार फिर, राष्ट्रपति गनी, बहुत-बहुत धन्यवाद। चीफ एक्ज़ीक्यूटिव अब्दुल्लाह, धन्यवाद। आप शानदार मेज़बान रहे हैं। अमेरिका, अफगान लोगों के बीच लोकतांत्रिक शासन के साथ-साथ सुरक्षा, राजनीतिक स्थिरता और जवाबदेही को बढ़ावा देने के लिए अफगानी सरकार और अफगानी लोगों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। धन्यवाद।

श्री चखानसुरी: धन्यवाद, राष्ट्रपति महोदय। धन्यवाद, सेक्रेटरी महोदय। अब हम कुछ प्रश्न लेंगे।

शमशाद से होशिदि (पीएच)।

प्रश्न: (दरी में।)

सेक्रेटरी पोम्पेयो: मैं क्षमाप्रार्थी हूँ, मैं —

राष्ट्रपति गनी: क्या इसका अनुवाद किया गया था?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: नहीं, मुझे यह समझ नहीं आया। मेरा —

श्री चखानसुरी: तो प्रश्न यह है कि शाँति प्रक्रिया, तालिबान ने शाँति बातचीत और वार्ताओं को ठुकरा दिया है और अब क्षेत्र में कुछ अन्य देशों के साथ भागीदारी में उनके कुछ भागीदार हैं। अगले कदम क्या हैं और हम शाँति प्रक्रिया के संबंध में आगे की कार्रवाई कैसे करेंगे?

सेक्रेटरी पोम्पेयो: तो शाँति प्रक्रिया अफगान के नेतृत्व वाली होगी। यह अफगानी लोगों के बीच होगी। हम युद्धविराम के बाद यह देखकर बहुत प्रोत्साहित हुए हैं कि अफगानी लोगों ने इसके प्रति कैसे प्रतिक्रिया व्यक्त की है। हमें लगता है कि यह शाँति प्रक्रिया के लिए अच्छा शकुन है। इतना कहने के बाद, हम उसमें भाग लेने, उसमें सुविधा प्रदान करने, अफगान लोगों को अपने मतभेदों का समाधान करने और ऐसे स्थान पर आने के लिए सहायता करने के लिए तैयार हैं जहाँ सभी अफगान लोगों की आवाज़ें सुनी जाएं और वे ऐसे समाज में रहें जहाँ शाँति और सुरक्षा हो और जहाँ प्रत्येक अफगान के साथ उस गरिमा का बर्ताव किया जाए जिसका प्रत्येक अफगान हकदार है।

सुश्री न्यूअर्ट: हमारा अगला प्रश्न CBS न्यूज़ की कायली एटवुड की ओर से होगा। कृपया एक प्रश्न पूछें।

प्रश्न: आपका धन्यवाद। सेक्रेटरी पोम्पेयो, अमेरिका यहाँ अफ़गानिस्तान में अब लगभग 17 वर्षों से है, जैसा कि आप और ट्रम्प प्रशासन भली-भाँति जानते हैं, जैसा कि आपने कहा, कार्यनीति बनाए एक वर्ष हुआ है, जो एक शर्त-आधारित कार्यनीति है, लेकिन सफलता के बहुत से संकेत नहीं हैं। तालिबान के नियंत्रण के अंतर्गत क्षेत्र बढ़ा है। और जैसा कि आपने उल्लेख किया, अमेरिकी सेवा के सदस्य की हाल में यहाँ मृत्यु हुई है। यह इस वर्ष अमेरिकी सेना के किसी सदस्य की तीसरी मृत्यु है। आप कहते हैं कि कार्यनीति काम कर रही है, लेकिन इसका प्रमाण कहाँ है कि ट्रम्प और उनके प्रशासन की कार्यनीति यहाँ वास्तव में काम कर रही है।

और अमेरिका ने यह भी कहा है कि यह अफगानी सरकार और तालिबान के बीच वार्ता के आयोजन में सहायता प्रदान करेगा। क्या आप इस समय तालिबान के साथ अमेरिकी संलग्नता का वर्णन कर सकते हैं? आपका धन्यवाद।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: तो दो प्रश्न पूछे गए हैं।

प्रश्न: दोनों, अफ़गानिस्तान के संबंध में।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: रोचक बात यह है कि ये एक-दूसरे से जुड़े हैं। प्रगति का एक तत्व वह क्षमता है जो आज हमारे पास यह विश्वास करने के लिए है कि ऐसी आशा है कि बहुत से तालिबान अब ऐसा सोचते हैं कि वे युद्धभूमि में लड़कर विजय प्राप्त नहीं कर सकते। अर्थात – वे – राष्ट्रपति ट्रम्प की कार्यनीति से अत्यधिक जुड़े हैं। हमने ऐसा देखा था। हमने देखा कि क्या हुआ था। हमने देखा कि तालिबान ने उस युद्धविराम के संबंध में प्रतिक्रिया प्रकट की जिसे राष्ट्रपति गनी ने लागू किया। ये जुड़े हुए मुद्दे हैं। हमारे द्वारा अफगान सुरक्षा सेनाओं के आकार और क्षमता बढ़ाने, अफगान सरकार के भीतर सुधारों को सुदृढ़ करने के लिए दक्षिण एशिया में हमारे द्वारा की गई प्रगति; हमारे द्वारा तालिबान को यह दर्शाने के लिए अब तक किया गया गया कार्य कि युद्ध को जारी रखने के परिणामस्वरूप उनके लिए बुरा नतीजा होगा, वह नहीं जो क्षेत्रों में लोगों के सर्वोत्तम हित में है जहाँ वे प्रचालन करते हैं – इनमें से प्रत्येक वास्तविक प्रगति की विशेषताएं हैं।

गलतफहमी में ना रहें, अभी बहुत-सा काम किया जाना बाकी है। ऐसा निश्चित रूप से है और इसमें अमेरिकियों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी। लेकिन हम शाँति वार्ताएं संचालित नहीं कर सकते। हम इसका बाहर से निपटारा नहीं कर सकते। इसका निपटारा अफगान लोगों द्वारा एक-साथ आकर और उनकी इस सामूहिक सोच से होगा कि सौहार्द और शाँति से एक साथ रहना चाहिए और एक दूसरे के साथ गरिमापूर्ण बर्ताव किया जाना चाहिए – हमने युद्धविराम के दौरान ऐसा देखा और हमने इसे परिणामस्वरूप देखा है। हमें बहुत आशा है कि ऐसे समय जब चुनाव आने वाले हैं, तब इससे हिंसा में सफलतापूर्वक कमी होगी।

हम इसका समर्थन करने के लिए क्षेत्र में सभी पक्षों पर विश्वास कर रहे हैं। पाकिस्तानियों को भी यह समझने की ज़रूरत है कि – हमारे लिए ऐसे चुनाव आवश्यक हैं जिनमें हिंसा न हो। हम इस प्रक्रिया में सहयोग करने और यह सुनिश्चित करने के लिए सभी पक्षों पर विश्वास कर रहे हैं कि इन चुनावों के दौरान अफगानी लोगों की आवाज़ सुनी जाए। हम ऐसा मानते हैं कि इसमें उस कार्यनीति के परिणामस्वरूप अत्यधिक वृद्धि हुई है जो राष्ट्रपति ट्रम्प ने अब लगभग 12 महीने पहले बनाई है।

श्री चखानसुरी: (दरी में।)

प्रश्न: (दरी में।)

श्री चखानसुरी: (दरी में।)

प्रश्न: (दरी में।)

राष्ट्रपति गनी: (दरी में।)

सुश्री न्यूअर्ट: अगला प्रश्न, द वाशिंगटन पोस्ट की ओर से जॉन हडसन।

प्रश्न: आपका धन्यवाद। धन्यवाद, श्रीमान सेक्रेटरी। उत्तर कोरिया के मुद्दे के महत्व को देखते हुए, मैं आपसे यह पूछना चाहता था: कल आपने उत्तरी कोरिया को सुरक्षा गारंटियों की पेशकश की संभावना का उल्लेख किया जब यह परमाणु-निशस्त्रीकरण प्रक्रिया आरंभ कर रहा है। वे सुरक्षा गारंटियाँ क्या हैं? क्या इनमें कोरियाई युद्ध को औपचारिक रूप से समाप्त करने का कोई करार सम्मिलित है? क्या आप अमेरिकी फौजों या हथियार प्रणालियों को हटाने पर विचार करेंगे?

और प्योंगयैंग में आपके दौरे के बाद, उत्तरी कोरिया ने बहुत आक्रामक वक्तव्य जारी किया। मैं बस यह जानना चाहता था – आपने बहुत अधिक समय इस संबंध को निर्मित करने, यह देखने कि क्या हो रहा है, प्योंगयांग का दौरा करने पर लगाया है – क्या आपको इसका आभास हुआ कि मुद्दा क्या था जिससे वास्तव में उत्तर कोरिया उससे भिन्न सोच के साथ दूर चले जाने के लिए प्रेरित हुआ जो भाव आपमें सद्विश्वास की वार्ताओं में था? बहुत-बहुत धन्यवाद।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: मैं वास्तव में यह देखते हुए अफ़गानिस्तान के बारे में बात करने को प्राथमिकता दूँगा कि हम इस समय कहाँ मौजूद हैं। क्या आपके पास अफ़गानिस्तान के बारे में कोई प्रश्न है?

प्रश्न: ओह, और अफ़गानिस्तान पर भी, मैं यह भी पूछना चाहूँगा कि अफ़गानिस्तान में रूस की संलग्नता के बारे में आपके क्या विचार हैं? क्या आप ऐसा मानते हैं कि यह तालिबान को हथियार उपलब्ध करा रहा है? लेकिन मैं इस संबंध में उत्सुक हूँ कि क्या आप उदारतापूर्वक उत्तर कोरिया से संबंधित प्रश्न का भी उत्तर देंगे।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: हां। तो मुझे यहाँ अफ़गानिस्तान में क्षेत्रीय पक्षों, यहाँ तक कि रूस के बारे में भी बात करने दें। हम – हमने बहुत से क्षेत्रीय पक्षों, चीन और अन्यों, कौन – उज़्बेकिस्तान से अच्छे संकेत देखे हैं – जो आगे बढ़ रहे हैं। हमने इसे हमारे NATO सहयोगियों और भागीदारों से भी देखा है। हमने राष्ट्रपति ट्रम्प द्वारा अपनी नई दक्षिण एशिया कार्यनीति की घोषणा करने के बाद से 39 में से 29 सहयोगियों की ओर से संसाधनों के योगदान में वृद्धि देखी है।

हम यह मानते हैं कि ऐसे बहुत से पक्ष हैं जो उसे आज़माने और प्राप्त करने के लिए एक साथ आ रहे हैं जिसके बारे में राष्ट्रपति गनी ने आज बहुत सुरुचिपूर्ण ढंग से चर्चा की है। हम वास्तव में – हम आशान्वित हैं कि क्षेत्र, विश्व यहाँ हो रही चीज़ों से उसी तरह त्रस्त है जिस प्रकार अफगानी लोगों का अधिकाँश हिस्सा अब हिंसा और युद्ध नहीं देखना चाहता। और हम बहुत, बहुत आशान्वित हैं कि आगामी अवधियों में, हम वास्तविक प्रगति, हिंसा में वास्तविक कमी, अफगान सरकार के उत्तर सुधार देखना आरंभ कर सकते हैं जो आगामी चुनावों में अफगान लोगों की आवाज़ सुने जाने के परिणामस्वरूप हुए हैं। यदि हम उस मार्ग पर चलना जारी रखते हैं, तो हम ऐतिहासिक पहल कर चुके होंगे, यहाँ अफ़गानिस्तान में ऐसा ऐतिहासिक परिवर्तन, रूपांतरणकारी कार्य कर चुके होंगे जो अफगान लोगों को उनका देश उस तरीके से वापस करेगा जो महत्वपूर्ण है, और यदि स्पष्ट कहूँ, तो मैं आश्वस्त हूँ कि अधिकाँश अफगान लोग यही चाहते हैं।

मुझे समापन करने दें- मैं आपको उत्तर कोरिया के बार में संक्षेप में उत्तर दूँगा। अभी हमें लंबा रास्ता तय करना ह, लेकिन जो प्रतिबद्धता उत्तर कोरियाइयों ने व्यक्त की है – स्पष्टतया, चेयरमैन किम ने राष्ट्रपति ट्रम्प से निजी रूप से जो प्रतिबद्धता व्यक्त की थी, उसे बल मिला है। मैंने दिए गए कुछ वक्तव्य देखे हैं। वे मिले-जुले हैं। आपने मिले-जुले वक्तव्यों को रिपोर्ट नहीं किया है, लेकिन आप संभवतः अब ऐसा करेंगे। जो वक्तव्य दिए गए थे, हमारी वार्ताओं के बाद चेयरमैन किम के वक्तव्य में पूर्ण परमाणु निशस्त्रीकरण करने की उनकी इच्छा व्यक्त करना जारी रहा जिसके लिए वे बहुत प्रतिबद्ध हैं।

सुश्री न्यूअर्ट: जॉन, धन्यवाद। जॉन, धन्यवाद।

श्री चखानसुरी: प्रेस ब्रीफिंग समाप्त हुई। आज आने के लिए आप सभी का धन्यवाद।

सेक्रेटरी पोम्पेयो: आपका धन्यवाद।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/secretary/remarks/2018/07/283907.htm
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें