rss

राष्ट्रपति ट्रम्प और रूसी फेडरेशन के राष्ट्रपति पुतिन द्वारा संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में शुरुआती टिप्पणियां

Русский Русский, English English, العربية العربية, Português Português, Español Español, اردو اردو, Français Français

व्हाइट हाउस
प्रेस सेक्रेटरी कार्यालय
तुरंत रिलीज़ के लिए
16 जुलाई, 2018

राष्ट्रपति का महल
हेलसिंकी, फिनलैंड

 

राष्ट्रपति पुतिन:  (जैसा अनुवादित किया गया।)  सम्मानित राष्ट्रपति महोदय, देवियों और सज्जनों: संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ बातचीत खुले और व्यापारिक वातावरण में हुई।  मैं समझता हूं कि हम इसे बाचतीत का एक सफल और बहुत लाभदायक दौर कह सकते हैं।

हमने वर्तमान स्थिति — रूस-संयुक्त राज्य अमेरिका के संबंधों का वर्तमान और भविष्य; वैश्विक एजेंडा के प्रमुख मुद्दों का सावधानीपूर्वक विश्लेषण किया।  यह सभी के लिए बिलकुल साफ है कि द्विपक्षीय संबंध एक जटिल स्थिति से गुज़र रहे हैं, और अभी भी वे बाधाएं — वर्तमान तनाव, तनावपूर्ण वातावरण — वास्तव में उसके पीछे कोई ठोस कारण नहीं है।

शीत युद्ध अतीत की बात है।  दोनों देशों के बीच तीव्र विचारधारा का टकराव दूरस्थ अतीत की बात है, वह अतीत का एक अवशेष भर है।  विश्व में स्थिति नाटकीय रूप से बदल चुकी है।

आज, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका दोनों नई तरह की साझा चुनौतियों से दो-चार हैं।  इनमें क्षेत्रीय संकट, आतंकवाद और अंतर्राष्ट्रीय अपराधों के भयावह खतरे में अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा और स्थिरता बनाए रखने के लिए तंत्र में एकता का खतरनाक अभाव शामिल हैं।  यह अर्थव्यवस्था, पर्यावरणीय खतरों, और चुनौतियों के अन्य समूहों में तेज़ी से गंभीर होती जा रही समस्या है।  हम इन चुनौतियों का सामना तभी कर सकते हैं जब हम अपनी ताकत को मिला दें और एक साथ मिलकर काम करें।  उम्मीद है, हम अपने अमेरिकी साझेदारों के साथ इस समझ तक पहुंचेंगे।

आज की बातचीत हमारी संयुक्त इच्छा को दर्शाती है — इस नकारात्मक स्थिति और द्विपक्षीय संबंधों को हल करने के लिए राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ हमारी संयुक्त इच्छा है विश्वास के स्वीकार्य स्तर की बहाली के लिए इस संबंध में सुधार करने के लिए पहले कदम की रूपरेखा, और सभी आपसी हितों के मुद्दों पर बातचीत के लिए पिछले स्तर पर जाना।

प्रमुख परमाणु शक्ति के रूप में, हम अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा बनाए रखने की विशेष ज़िम्मेदारी वहन करते हैं।  और इसने इसे महत्वपूर्ण बना दिया है — और हमने बातचीत के दौरान इसका उल्लेख किया है — यह महत्वपूर्ण है कि हम सामरिक स्थिरता और वैश्विक सुरक्षा तथा सामूहिक विनाश के हथियारों के अप्रसार पर बातचीत को ठीक करें।  हमने अपने अमेरिकी साथियों को कुछ विशिष्ट सुझावों के साथ एक नोट प्रस्तुत किया है।

हम मानते हैं कि निरस्त्रीकरण एजेंडा, सैन्य और तकनीकी सहयोग पर बातचीत के लिए आगे साथ में काम करना ज़रूरी है।  इसमें सामरिक आक्रामक स्ट्रैटजिक ऑफ़ेंसिव आर्म्स लिमिटेशन ट्रीटी यानी स्टार्ट का विस्तार भी शामिल है।  यह वैश्विक अमेरिकी एंटी-मिसाइल रक्षा प्रणाली के साथ एक खतरनाक स्थिति है; यह INF संधि के साथ एक कार्यान्वयन का मुद्दा है, और ज़ाहिर है, अंतरिक्ष में हथियारों को स्थापित न करने का एजेंडा है।

हम आतंकवाद से मुकाबले और साइबर सुरक्षा बनाए रखने के लिए निरंतर सहयोग के पक्षधर हैं।  और मैं खासतौर पर इंगित करना चाहूंगा कि हमारी विशेष सेवाएं आपस में काफी सफलतापूर्वक सहयोग कर रही हैं।  सबसे हालिया उदाहरण हाल ही में सम्पन्न हुए विश्व फुटबॉल कप के भीतर उनके संचालन संबंधी सहयोग का है।

सामान्य रूप से, विशेष सेवाओं के बीच संपर्क को एक प्रणालीगत आधार पर रखा जाना चाहिए — उसे एक व्यवस्थित-ढांचे में लाया जाना चाहिए।  मुझे याद है — मैंने राष्ट्रपति ट्रम्प को आतंकवाद विरोधी कार्यकारी समूह को पुनर्स्थापित करने की सलाह के बारे में याद दिलाया था।

हमने क्षेत्रीय संकटों की बहुतायत का भी जिक्र किया है।  हमेशा ऐसा नहीं होता कि हमारे हाव-भाव बिलकुल मेल खाएं।  और फिर भी, साझा और आपसी हितों में वृद्धि हुई है।  हमें संपर्क बिंदुओं की तलाश करनी है और विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर करीबी बातचीत करनी है।

साफ तौर पर, हमने क्षेत्रीय संकट का उल्लेख किया, उदाहरण के लिए, सीरिया।  जहां तक सीरिया का संबंध है, इस देश में शांति और सामंजस्य स्थापित करना इस सफल संयुक्त कार्य का पहला प्रदर्शनीय उदाहरण हो सकता है।  रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका स्पष्ट रूप से पूर्वसक्रिय तौर पर काम कर सकते हैं और — इस मुद्दे का नेतृत्व हाथ में ले सकते हैं, और मानवीय संकट को दूर करने के लिए बातचीत आयोजित कर सकते हैं, और सीरियाई शरणार्थियों को अपने घर वापस जाने में मदद कर सकते हैं।

सीरिया में सफल सहयोग के इस स्तर को पूरा करने के लिए, हमारे पास सभी आवश्यक घटक हैं।  मुझे आपको याद दिलाने दीजिए कि रूसी और अमेरिकी दोनों सेनाओं ने अपनी गतिविधियों के समन्वय का एक उपयोगी अनुभव प्राप्त कर लिया है, संचार के कार्यकारी चैनलों को स्थापित किया है जो कि हवा और ज़मीन पर अनैच्छिक टकराव की खतरनाक घटनाओं से बचने की अनुमति देते हैं।

साथ ही, दक्षिण-पश्चिमी सीरिया — दक्षिणी सीरिया में आतंकवादियों को कुचलने के लिए सेनाओं को अलग करने की 1974 की संधि को पूर्ण रूप से अनुपालन में लाया जाना चाहिए — सीरियाई और इज़रायली सेनाओं को अलग करने के बारे में।  यह गोलान की पहाड़ियों पर शांति लाएगा और सीरिया तथा इज़रायल के बीच अधिक शांतिपूर्ण संबंध लाएगा, साथ ही इज़रायल में सुरक्षा भी उपलब्ध कराएगा।

राष्ट्रपति महोदय ने आज की बातचीत के दौरान इस मुद्दे पर खास ध्यान दिया है, और मैं पुष्टि करना चाहता हूं कि रूस इस विकास में रुचि रखता है, और यह इसके मुताबिक काम करेगा।  इस प्रकार, सुरक्षा परिषद के संबंधित संकल्प के अनुपालन में हम स्थायी शांति के लिए एक कदम आगे बढ़ाएंगे, उदाहरण के लिए प्रस्ताव 338।

हम खुश हैं कि कोरियाई प्रायद्वीप का मसला हल होना शुरू हो गया है।  काफी हद तक, यह राष्ट्रपति ट्रम्प के व्यक्तिगत जुड़ाव के कारण ही संभव हो सका, जिन्होंने टकराव  के बजाय बातचीत का विकल्प चुना।

आप जानते हैं, हमने JCPOA से संयुक्त राज्य अमेरिका की वापसी के बारे में हमारी चिंता का भी उल्लेख किया है।  खैर, अमेरिका — हमारे अमेरिकी साझेदार हमारी भावना से अवगत हैं।  मैं आपको याद दिलाता हूं कि ईरानी परमाणु संधि के कारण, ईरान दुनिया का सबसे नियंत्रित देश बन गया है; वह IAEA के नियंत्रण के लिए प्रस्तुत हुआ है।  यह ईरानी परणाणु कार्यक्रम की विशिष्ट शांतिपूर्ण प्रकृति को प्रभावी रूप से सुनिश्चित करता है और अप्रसार तंत्र को मज़बूत करता है।

जबकि हमने यूक्रेन के आंतरिक संकट पर चर्चा की, हमने कीव द्वारा मिंस्क समझौते के प्रामाणिक क्रियान्वयन पर विशेष ध्यान दिया है।  साथ ही साथ, संयुक्त राज्य अमेरिका यूक्रेनियाई नेतृत्व को इस पर सक्रिय रूप से काम करने के लिए दबाव डालने के लिए अधिक निर्णायक कदम उठा सकता है।  हमने आर्थिक समझौतों और आर्थिक सहयोग पर और अधिक ध्यान दिया है।  यह स्पष्ट है कि दोनों देश — दोनों देशों के व्यवसायों की इसमें रुचि है।

अमेरिकी प्रतिनिधिमंडल सेंट पीटर्सबर्ग आर्थिक फोरम में सबसे बड़े प्रतिनिधिमंडलों में से एक था।  उसमें अमेरिकी व्यवसायों से 500 से अधिक प्रतिनिधि शामिल थे।  हम सहमत हुए हैं — मैं और राष्ट्रपति ट्रम्प — हम उच्च स्तरीय कार्यकारी समूह निर्मित करने के लिए सहमत हुए हैं जो कि रूसी और अमेरिकी व्यापार दिग्गजों को साथ लाएगा।  आखिरकार, उद्योगपति और व्यापारी बेहतर जानते हैं कि किस तरह इस सफल व्यावसायिक सहयोग को जोड़ा जाए।  हम उन्हें इस संबंध में सोचने और उनके प्रस्ताव बनाने और उनकी सलाह देने देंगे।

एक बार फिर, राष्ट्रपति ट्रम्प ने अमेरिकी चुनावों के दौरान रूसी हस्तक्षेप के तथाकथित मामले का उल्लेख किया, और मुझे उन चीज़ों को दोहराना पड़ा जो कि मैं कई बार कह चुका हूं, हमारे व्यक्तिगत संपर्कों के दौरान भी, कि रूसी राष्ट्र ने चुनावी प्रक्रिया सहित, अमेरिकी आंतरिक मामलों में कभी हस्तक्षेप नहीं किया और न ही वह करने जा रहा है।

कोई विशिष्ट सामग्री, यदि ऐसी चीज़ें उत्पन्न होती हैं, तो हम साथ मिलकर विश्लेषण करने के लिए तैयार हैं।  उदाहरण के लिए, हम सायबर सुरक्षा पर संयुक्त कार्यकारी समूह के ज़रिए उनका विश्लेषण कर सकते हैं, जिसकी स्थापना के लिए हमने अपने पूर्व के संपर्क के दौरान चर्चा की थी।

और साफ तौर पर, यह पूर्व समय था जब हमने सांस्कृतिक क्षेत्र में, मानवता के क्षेत्र में अपने सहयोग को पुनर्स्थापित किया था, जहां तक — मुझे लगता है आप जानते हैं कि हाल ही में हमने अमेरिकी कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल की मेज़बानी की थी, और अब इसे लगभग एक ऐतिहासिक घटना की तरह समझा और चित्रित किया जा रहा है, हालांकि यह सिर्फ एक सामयिक मामला होना चाहिए — हमेशा की तरह सिर्फ सामान्य।  और इस संबंध में, हमने यह प्रस्ताव राष्ट्रपति को उल्लेख किया है।

लेकिन हमें हमारे सहयोग की व्यवहारिकता के बारे में सोचना पड़ेगा, बल्कि साथ ही इसके औचित्य — इसके अंतर्निहित तर्क के बारे में।  और हमें द्विपक्षीय संबंधों पर विशेषज्ञ जोड़ने होंगे जो हमारे संबंधों के इतिहास और पृष्ठभूमि को जानते हैं।  एक विशेषज्ञ परिषद बनाने का विचार है जिसमें दोनों देशों के राजनैतिक वैज्ञानिक, प्रमुख राजनयिक, और पूर्व सैन्य विशेषज्ञ शामिल होंगे जो कि दोनों देशों के बीच संपर्क बिंदुओं की तलाश करेंगे, जो कि संबंधों को विकास पथ पर आगे बढ़ाने के तरीकों को तलाशेंगे।

आमतौर पर, हम अपनी पहली पूर्ण-स्तरीय बैठक के नतीजों से खुश हैं क्योंकि हमें पहले अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर सिर्फ संक्षिप्त बात करने का मौका मिला था।  हमारी राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ अच्छी बातचीत रही, और मैं उम्मीद करता हूं कि हम एक दूसरे को बेहतर समझना शुरू करेंगे।  मैं इसके लिए डोनाल्ड का शुक्रगुज़ार हूं।

साफतौर पर, कुछ चुनौतियां बाकी हैं जब हम सभी बैकलॉग को खत्म करने में सफल नहीं रहे।  लेकिन मैं समझता हूं कि हमने इस दिशा में पहला महत्वपूर्ण कदम उठाया है।

और समाप्ति में, मैं यह इंगित करना चाहता हूं कि यह सहयोग का वातावरण कुछ ऐसा है जिसके लिए हम खासतौर पर हमारे फिनलैंड के मेज़बानों के आभारी हैं।  हम फिनलैंड के लोगों और फिनलैंड के नेतृत्व के इसमें उनके योगदान के लिए आभारी हैं।  मैं जानता हूं कि हमने फिनलैंड के लिए थोड़ा असुविधा पैदा की है और हम उसके लिए क्षमाप्रार्थी हैं।

ध्यान देने के लिए आपका धन्यवाद।

राष्ट्रपति ट्रम्प:  आपका धन्यवाद।  आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

धन्यवाद।  मैंने अभी हमारे दोनों देशों के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों की विस्तृत श्रृंखला पर राष्ट्रपति पुतिन के साथ बैठक समाप्त की है।  हमने सीधे, खुले, गहन उत्पादक संवाद किए।  वे बहुत बढ़िया रहे।

इससे पहले कि मैं शुरुआत करूं, मैं फिनलैंड के राष्ट्रपति नीनिस्टो को आज के सम्मेलन की शालीनतापूर्वक मेजबानी के लिए धन्यवाद करना चाहता हूं।  राष्ट्रपति पुतिन और मैं कह रहे थे कि यह कितना बढ़िया था और उन्होंने कितना बढ़िया काम किया है।

मैं रूस और राष्ट्रपति पुतिन को भी विश्व कप की मेज़बानी का ऐसा उत्कृष्ट कार्य करने के लिए बधाई देना चाहता हूं।  यह अब तक के सर्वश्रेष्ठ आयोजनों में से एक था और आपकी टीम ने वाकई बढ़िया किया है।  यह एक बढ़िया काम था।

मैं यहां पर साहसिक अमेरिकी कूटनीति की एक गौरवशाली परंपरा को जारी रखने के लिए हूं।  हमारे गणराज्य की शुरुआत से, अमेरिकी नेताओं ने समझ लिया था कि विवाद और शत्रुता के लिए कूटनीति और जुड़ाव ही बेहतर हैं।  एक रचनात्मक संवाद न केवल संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस के लिए अच्छा है, बल्कि यह दुनिया के लिए भी बेहतर है।

हमारे दोनों देशों के बीच असहमति अच्छी तरह से जानी जाती है, और राष्ट्रपति पुतिन और मैने आज उस पर लंबी चर्चा की है।  लेकिन अगर हम हमारे विश्व के सम्मुख मौजूद कई समस्याओं का समाधान करने वाले हैं, तो हमें साझा हितों के लिए सहयोग करने के तरीकों को ढूंढना होगा।

कई बार, हाल ही में और बहुत पहले, हमने दुष्परिणाम देखे हैं जब कूटनीति को छोड़ दिया गया था।  हमने सहयोग के फायदे भी देखे हैं।  पिछली शताब्दी में, हमारे देशों ने एक दूसरे के साथ मिलकर दूसरा विश्वयुद्ध लड़ा है।  शीत युद्ध के तनाव के बीच भी, जबकि विश्व आज से बहुत अलग था, संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस एक मज़बूत संवाद बनाए रखने में सक्षम रहे थे।

लेकिन हमारे संबंध उतने खराब नहीं थे जितने अब हैं।  हालांकि, यह अब से लगभग चार घंटे पहले यह बदल चुका है।  मैं वास्तव में उस पर भरोसा करता हूं।  राजनीतिक रूप से इससे आसान कुछ नहीं होता कि मिलने से मना कर दिया जाए, जुड़ने से मना कर दिया जाए।  लेकिन उससे कुछ भी मकसद हल नहीं होगा।  राष्ट्रपति के रूप में, मैं पक्षपाती आलोचकों या मीडिया या डेमोक्रेट्स को खुश करने के लिए व्यर्थ प्रयास में विदेश नीति पर निर्णय नहीं ले सकता, जो कि बस अवरोध और प्रतिरोध के अलावा कुछ नहीं करना चाहते।

संयुक्त राज्य अमेरिका और रूस के बीच रचनात्मक संवाद हमारे विश्व में शांति और स्थिरता की ओर एक नवीन राह खोलने का अवसर प्रदान करता है।  मैं राजनीति की खोज में शांति का जोखिम लेने के बजाय शांति की खोज में राजनीति का जोखिम लेना चाहता हूं।  राष्ट्रपति के रूप में, मैं हमेशा उसे आगे रखता हूं जो अमेरिका के लिए सर्वोत्तम है और जो अमेरिकी लोगों के लिए सर्वोत्तम है।

आज की बैठक के दौरान, हमारे चुनाव में रूसी हस्तक्षेप को मैंने सीधे रूसी राष्ट्रपति पुतिन को साथ सुलझाया।  मैं समझता हूं कि यह ऐसा संदेश था जो कि व्यक्तिगत रूप से ही बेहतर संप्रेषित हो सकता था।  हमने बढ़िया समय उसके बारे में बात करते हुए व्यतीत किया, और राष्ट्रपति पुतिन बहुत अच्छे से उसका समाधान करना चाहते हैं, और बहुत मज़बूती से — क्योंकि वे उसके बारे में बहुत दृढ़ता से महसूस करते हैं, और उनके पास एक दिलचस्प विचार है।

और हमने मानवता के सम्मुख सर्वाधिक जटिल परमाणु प्रसार की चुनौती पर भी चर्चा की।  मैंने उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण पर पिछले महीने चेयरमैन किम के साथ अपनी बैठक के अपडेट उपलब्ध कराए।  और आज के बाद, मैं बहुत आश्वस्त हूं कि राष्ट्रपति पुतिन और रूस उस समस्या को समाप्त करना बहुत चाहेंगे।  वे हमारे साथ काम करने वाले हैं, और मैं इस प्रतिबद्धता की सराहना करता हूं।

राष्ट्रपति और मैंने कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद के संकट पर भी चर्चा की।  रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका दोनों ही भयावह आतंकी हमलों के पीड़ित रहे हैं, और हम इस वैश्विक खतरे से अपने नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए अपनी सुरक्षा एजेंसियों के बीच खुला संचार बनाए रखने पर सहमत हुए हैं।

पिछले साल, हमने रूस को सेंट पीटर्सबर्ग में योजनाबद्ध हमले के बारे में बताया था, और वे उसे अंजाम तक पहुंचने से पहले रोकने में सफल हुए थे।  उन्होंने उन्हें ढूंढ निकाला।  उन्होंने उन्हें रोक दिया।  इस बारे में कोई संदेह नहीं था।  मैं उसके बाद धन्यवाद करने के लिए किए गए राष्ट्रपति पुतिन के फोन कॉल की सराहना करता हूं।

मैं उसकी परमाणु महत्वाकाक्षाओं पर विराम लगाने और पूरे इलाके, पूरे मध्यपूर्व में में हिंसक अभियान रोकने के लिए ईरान पर दबाव डालने के महत्व पर भी ज़ोर दूंगा।

जैसा कि हमने लंबी चर्चा की है, सीरिया में संकट जटिल तरह का है।  हमारे दोनों देशों के बीच सहयोग में सैकड़ों हज़ारों जानें बचाने की संभावना है।  मैंने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि संयुक्त राज्य अमेरिका ईरान को ISIS खिलाफ हमारे सफल अभियान से फायदा उठाने की अनुमति नहीं देगा।  हम बस ISIS को इलाके से समाप्त करने ही वाले हैं।

हम इस बात पर भी सहमत हुए हैं कि हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के प्रतिनिधि आज हमारे द्वारा सुलझाए गए सभी मुद्दों पर अनुसरण के लिए और हमारे द्वारा आज यहां हेलसिंकी में शुरू की गई प्रगति को जारी रखने के लिए मिलेंगे।

आज की बैठक सिर्फ एक लंबी प्रक्रिया की शुरुआत है।  लेकिन हमने एक उज्जवल भविष्य की ओर और एक मज़बूत संवाद और ढेर सारे विचारों के साथ पहला कदम उठाया है।  हमारी अपेक्षाएं यथार्थ पर टिकी हैं लेकिन हमारी उम्मीदें अमेरिका की दोस्ती, सहयोग, और शांति की कामना पर आधारित हैं।  और मैं समझता हूं कि मैं जब यह कहता हूं तो मैं रूस की तरफ से भी कह सकता हूं।

राष्ट्रपति पुतिन, मेरे साथ इस महत्वपूर्ण चर्चा में जुड़ने के लिए और रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच खुली वार्ता की शुरुआत करने के लिए मैं एक बार फिर आपका शुक्रिया करना चाहता हूं।  हमारी बैठक रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच की कूटनीति की एक लंबी परंपरा का निर्वहन करती है, सभी के सर्वोत्तम भलाई के लिए।

और यह एक बेहद रचनात्मक दिन था।  यह कुछ बेहद रचनात्मक घंटे थे जो कि हमने साथ बिताए।  यह हमारे दोनों देशों के हित में है कि हमारी बातचीत जारी रहे, और हम ऐसा करने के लिए सहमत हुए हैं।

मैं आश्वस्त हूं कि हम भविष्य में भी अक्सर कई बार मिलेंगे, और हम उन सभी समस्याओं को सुलझा लेंगे जिन पर हमने आज चर्चा की है।

तो, एक बार फिर से राष्ट्रपति पुतिन, आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें