rss

कांग्रेस के सदस्यों के साथ बैठक में राष्ट्रपति ट्रंप की टिप्पणी

Français Français, English English, Русский Русский, اردو اردو

व्हाइट हाउस
प्रेस सचिव का कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
जुलाई 17, 2018

 

रूज़वेल्ट कक्ष
2:22 P.M. EDT

राष्ट्रपति: आप सभी का शुक्रिया। कल मैं यूरोप के दौरे से लौटा हूं जहां मैंने अमेरिका के अधिक शांतिपूर्ण भविष्य के लिए क्षेत्र भर के नेताओं से मुलाकात की। हम अपने मित्र राष्ट्रों के साथ मिलकर बहुत दृढ़ता से काम कर रहे हैं, और हम पूरी दुनिया में काम कर रहे हैं। हम शांति हासिल करने जा रहे हैं। यही हम चाहते हैं; यही हम पाने जा रहे हैं। मैं कहूंगा शक्ति के ज़रिए शांति।

मैंने नैटो सहयोगी राष्ट्रों के योगदान को 44 अरब डॉलर से अधिक बढ़ाकर नैटो गठबंधन की बहुत सहायता की है। और महासचिव स्टोल्टेनबर्ग शानदार थे। जैसाकि आप जानते हैं, उन्होंने बताया कि संगठन के इतिहास में कभी इतनी बढ़ोत्तरी नहीं हुई थी, और नैटो वास्तव में ऊपर उठने की जगह नीचे आ रहा था। और मैंने पिछले साल अपनी बैठक के ज़रिए इसे बढ़ा दिया – 44 अरब डॉलर। और इस साल यह होगा – यह आने वाले वर्षों में सैंकड़ो अरब डॉलर हो जाएगा।

और मैं समझता हूं नैटो में बड़ी एकता है। अनेक अत्यंत सकारात्मक चीज़ें हो रही हैं। बहुत उत्साह है जो हममें पहले नहीं था, और वे बहुत सारा पैसा लगा रहे हैं। वे समय पर बिल का भुगतान नहीं कर रहे थे, और अब वे ऐसा कर रहे हैं। और मैं इसके लिए महासचिव स्टोल्टेनबर्ग का बहुत आभार व्यक्त करना चाहता हूं। वह सचमुच शानदार रहे हैं। इसलिए हमें ज़बरदस्त सफलता मिली।

मेरी प्रधानमंत्री मे के साथ भी बैठकें हुई विशेष संबंध से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर, जो ब्रिटेन और हमारे बीच है। हम महारानी से भी मिले, जो बेहद शानदार व्यक्ति हैं, जिन्होंने अपनी सलामी गारद का 70 वर्षों में पहली बार निरीक्षण किया, ऐसा मुझे बताया गया। हम सलामी गारद के सामने चले, और यह देखना और उनके साथ होना बहुत प्रेरणादायक था। और मुझे लगता है हमारे संबंध, मैं वाकई कह सकता हूं, अच्छे हैं। पर वह वास्तव में बहुत-बहुत प्रेरणादायक थीं।

अभी हाल ही में, मैं हेलसिंकी, फिनलैंड से लौटा हूं, और मैं ज़बरदस्त सफलता के बारे में अगले कुछ दिनों में एक संवाददाता सम्मेलन करने वाला था। क्योंकि यह नैटो बैठक जितना ही सफल रहा, मैं समझता हूं यह हमारा सर्वाधिक सफल दौरा था। और इसका संबंध, जैसा आप जानते हैं, रूस से था।

मानवता के समक्ष मौजूद सबसे अहम मुद्दों से निपटने के प्रयास में मैंने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की। हमारे रूस के साथ इससे बुरे संबंध कभी नहीं रहे जैसाकि कुछ दिन पूर्व थे, और मुझे लगता है अब संबंध काफी बेहतर हो गए हैं। और मैं समझता हूं इसके और ज़्यादा बेहतर होने की संभावना है। और मैं इस बारे में चुनाव अभियान के दौरान बोला करता था। रूस के साथ अच्छा संबंध एक बढ़िया बात होगी। चीन के साथ अच्छा संबंध एक बढ़िया बात होगी। बुरी बात नहीं; एक अच्छी बात। वास्तव में, एक बहुत अच्छी बात।

हम परमाणु शक्तियां हैं – बड़ी परमाणु शक्तियां। रूस और हमारे पास 90 फीसदी परमाणु हथियार हैं। इसलिए मुझे हमेशा लगा कि अच्छे संबंध होना एक सकारात्मक बात है, और सिर्फ इसी कारण नहीं।

मैं इस दृढ़ विश्वास के साथ बैठक में शामिल हुआ कि कूटनीति और परस्पर संपर्क शत्रुता और संघर्ष से बेहतर होते हैं। और मैं सबके बारे में ऐसा ही महसूस करता हूं। उदाहरण के लिए नैटो में हम 29 सदस्य हैं, और मेरे सबके साथ बेहतरीन संबंध – या कम से कम बहुत अच्छे संबंध हैं।

प्रेस ने इसे बिल्कुल गलत तरह से कवर किया। उन्होंने कहा कि मैंने लोगों का अपमान किया। यदि किसी से अपेक्षा अनुरूप भुगतान के लिए कहना अपमानजनक है, तो शायद मैंने ये किया। पर मैं आपसे कह सकता हूं कि जब मैं वहां से रवाना हुआ, हर कोई रोमांचित था। तो ऐसा ही था यह भी।

राष्ट्रपति पुतिन से मेरी मुलाकात वास्तव में कई तरह से दिलचस्प थी क्योंकि लंबे समय से रूस के साथ हमारे संबंध नहीं रहे थे, और हमने शुरुआत की। सबसे पहले मैं एक बार फिर अमेरिका की खुफिया एजेंसियों के प्रति पूरा भरोसा और समर्थन व्यक्त करना चाहूंगा – हमारी खुफिया एजेंसियों में मेरा पूर्ण विश्वास है।

ओह, उन्होंने बत्ती बुझा दी। यह खुफिया एजेंटों का काम होगा। (ठहाका।) देख लीजिए। ठीक है। आप सब ठीक हैं? बढ़िया। (ठहाका।) यह अज़ीब बात थी। पर कोई बात नहीं।

तो मैं यह कहते हुए अपनी बात शुरू करूंगा कि अमेरिका की महान खुफिया एजेंसियों के प्रति मेरा पूर्ण विश्वास और समर्थन है। हमेशा रहा है। और मैंने बहुत दृढ़ता से महसूस किया है कि हालांकि चुनाव के नतीजे पर रूस की गतिविधियों का कोई असर नहीं पड़ा, मैं बहुत स्पष्टता के साथ कहना चाहूंगा कि – और मैं यह कई बार कह चुका हूं – मैं अपने खुफिया समुदाय के निष्कर्ष को स्वीकार करता हूं कि 2016 के चुनाव में रूस का हस्तक्षेप हुआ था। और लोग भी शामिल हो सकते हैं; बहुत लोग तैयार बैठे हैं।

कोई मिलीभगत बिल्कुल नहीं थी। और लोगों ने इसे देखा, और उन्होंने ये दृढ़ता से देखा। प्रतिनिधि सभा ने पहले ही इस पर दृढ़ता से अपना विचार रखा है। बहुत से लोगों ने इस बारे में दृढ़ता से बात रखी है।

मुझे लगता है मैंने प्रतिलिपि की समीक्षा कर अपने लिए स्पष्ट कर दिया है। अब, मैं कहूंगा, मैं वापस आया, और मैंने कहा, “क्या हो रहा है? आखिर बात क्या है?” इसलिए मैंने प्रतिलिपि ली। मैंने उसकी समीक्षा की। मैंने वास्तव में अपने उस जवाब के क्लिप को देखा, और मैंने महसूस किया कि कुछ स्पष्टीकरण की दरकार है।

यह स्पष्ट होना चाहिए था – मैंने सोचा यह स्पष्ट रहा होगा – पर यदि ऐसा नहीं हुआ हो तो मैं स्पष्ट करना चाहूंगा। मेरी टिप्पणी के एक प्रमुख वाक्य में, मैंने “नहीं होगा” की जगह “होगा” बोला था। वाक्य ऐसा होना चाहिए था: मुझे कोई वज़ह नहीं दिखती कि मैं क्यों नहीं – या ये रूस क्यों नहीं होगा। तो मैं फिर कहता हूं, मैंने “नहीं होगा” की जगह “होगा” बोला था। और वो वाक्य इस तरह होना चाहिए था – और मुझे लगा प्रतिलिपि में यह थोड़ा अस्पष्ट रहा होगा या वास्तविक वीडियो में अस्पष्ट रहा होगा – वो वाक्य होना चाहिए था: मुझे कोई वज़ह नहीं दिखती कि यह रूस क्यों नहीं होगा। दोहरी नकारात्मकता जैसा कथन।

तो आप इसे शामिल कर सकते हैं, और मैं समझता हूं कि इससे संभवत: चीज़ें स्वयं ही अच्छी तरह से स्पष्ट हो जाती हैं।

मैं अनेकों अवसरों पर अपनी खुफिया एजेंसियों के निष्कर्षों पर गौर कर चुका हूं कि रूसियों ने हमारे चुनावों में हस्तक्षेप का प्रयास किया था। पूर्व के प्रशासनों के विपरीत, मेरे प्रशासन ने आक्रामक तरीके से ऐसे प्रयासों को नाकाम बनाने के कदम उठाए हैं और हम यह जारी रखेंगे – और पीछे धकेलना – हमारे चुनावों में हस्तक्षेप के किसी भी प्रयास को हम रोकेंगे, हम इसे पीछे धकेल देंगे। हम 2018 में रूसी हस्तक्षेप नहीं होने देने के लिए हरसंभव कदम उठा रहे हैं।

और हमारे पास बहुत सारी ताकत है। जैसाकि आप जानते हैं, राष्ट्रपति ओबामा को चुनाव से ठीक पहले सूचित किया गया था – पिछला चुनाव, 2016 का – और उन्होंने इस बारे में कुछ भी नहीं करने का फैसला किया। उन्होंने ऐसा निर्णय क्यों किया यह सबके लिए स्पष्ट था: उन्हें लगता था कि हिलेरी क्लिंटन चुनाव में जीतने जा रही हैं; और उन्हें नहीं लगा कि यह कोई बड़ी बात थी।

जब मैं चुनाव में जीता, उन्हें लगा यह बहुत बड़ी बात है। और अचानक वे सक्रिय हो गए, पर इसमें थोड़ी देर हो गई थी। तो उन्हें सामान्य प्रक्रिया के विरुद्ध यह जानकारी दी गई थी। और राष्ट्रपति ओबामा, ब्रेनन और क्लैपर और पूरा समूह जिसे आप अब टेलीविजन पर देखते हैं – संभवत: आपके नेटवर्क्स द्वारा उन्हें मोटी रकम दी जाती है – वे सितंबर में चुनाव में हस्तक्षेप के रूस के प्रयास के बारे में जानते थे, और उन्होंने इसकी पूरी तरह अनदेखी की। और जैसाकि मैंने कहा, उन्होंने इसकी अनदेखी की क्योंकि उन्होंने सोचा कि हिलेरी क्लिंटन जीतने जा रही हैं। आखिर ऐसा हुआ नहीं।

इसके विपरीत, मेरे प्रशासन ने एक दृढ़ रवैया अपनाया है – यह बहुत दृढ़ रुख है – एक सख्त कार्रवाई के लिए। हम अपनी चुनाव प्रणाली और प्रक्रिया को सुरक्षित रखने के लिए कड़ी कार्रवाई करने जा रहे हैं। इसके अलावा, जैसाकि कहा जा चुका है – और हम पहले भी और कई मौकों पर कह चुके हैं: कोई मिलीभगत नहीं।

कल, हमने धरती के सबसे बुरे संघर्षों में से कुछ से निपटने की दिशा में महत्वपूर्ण प्रगति की। तो जब मैं करीब ढ़ाई घंटे तक राष्ट्रपति पुतिन से मिला, हमने अनेक विषयों पर चर्चा की। उन विषयों में हैं वो समस्याएं जो आप मध्यपूर्व में देखते हैं, जहां उनका बहुत जुड़ाव है, हमारा बहुत जुड़ाव है। मैं राष्ट्रपति पुतिन के साथ वार्ताओं में ज़बरदस्त ताकत की स्थिति में शामिल हुआ। हमारी अर्थव्यवस्था तेज़ी से बढ़ रही है। और हमारी सेना पर इस साल 700 अरब डॉलर खर्च हो रहा है; अगले साल 716 अरब डॉलर।

सेना के रूप में हम अब तक के मुकाबले ज्यादा ताकतवर होंगे। सीरिया में गृहयुद्ध और सीरिया के लोगों को मानवीय राहत और मदद की आवश्यकता से शुरू करते हुए, राष्ट्रपति पुतिन और मैंने अनेक मुद्दों पर चर्चा की।

हमने ईरान पर और उनकी परमाणु महत्वाकांक्षाओं पर रोक लगाने की ज़रूरत तथा ईरान में हो रही अस्थिरकारी गतिविधियों के बारे में भी चर्चा की। जैसाकि आपमें से अधिकतर जानते हैं, हमने ईरान समझौते को खत्म कर दिया है, जोकि सबसे खराब समझौतों में से था जिसकी कि कोई कल्पना कर सकता हो। और इसका ईरान पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। और इसने ईरान को काफी कमज़ोर किया है। और हम उम्मीद करते हैं कि समय आएगा जब ईरान हमसे संपर्क करेगा और हम शायद एक नया समझौता करेंगे, या शायद नहीं करेंगे।

पर मैं कह सकता हूं कि ईरान वह देश नहीं रहा जो पांच महीने पहले था। अब वे भूमध्यसागरीय इलाके और संपूर्ण मध्यपूर्व की ओर उतना नहीं देख रहे। उनके समक्ष कुछ बड़ी समस्याएं हैं जो वे सुलझा सकते हैं, संभवत: अधिक आसानी से, यदि वे हमसे बात करें। तो हम देखेंगे कि क्या होता है। पर हमने ईरान पर चर्चा की।

हमने इज़रायल और इज़रायल की सुरक्षा पर बात की। और राष्ट्रपति पुतिन अब, सीरिया से संबद्ध और – सीरिया, एवं खासकर सुरक्षा के मामले में और इज़रायल की दीर्घावधि की सुरक्षा को लेकर, बीबी नेतन्याहू के साथ चर्चा में हमारे साथ पूरी तरह सम्मिलित हैं।

चर्चा का एक अहम मुद्दा था उत्तर कोरिया और परमाणु हथियार त्यागने की इसकी ज़रूरत। रूस ने हमें अपने समर्थन का भरोसा दिलाया है। राष्ट्रपति पुतिन ने कहा कि वह मुझसे 100 फीसदी सहमत हैं, और वे इसके लिए कोशिश करेंगे और इसे संभव बनाने के लिए जो कुछ भी हो सकेगा करेंगे।

चर्चाएं जारी हैं और बहुत, बहुत बढ़िया चल रही हैं। हमें जल्दबाज़ी दिखाने की कोई ज़रूरत नहीं है। प्रतिबंध कायम हैं। बंधक वापस आ गए हैं। कोई परीक्षण नहीं हुआ है। नौ महीनों से कोई रॉकेट नहीं छोड़ा गया है। और मैं समझता हूं संबंध बहुत अच्छे हैं। इसलिए हम देखेंगे कि आगे कैसा रहता है।

हमारे लिए समय की कोई सीमा नहीं है। हमारे लिए गति की कोई सीमा नहीं है। हम – हम बस प्रक्रियाओं पर चल रहे हैं। पर संबंध बहुत अच्छे हैं। राष्ट्रपति पुतिन इस अर्थ में शामिल हो रहे हैं कि वह हमारे साथ हैं। वह ऐसा होते देखना चाहेंगे।

संभवत: संवाददाता सम्मेलन से पहले हमारी बैठक में जिस सर्वाधिक महत्वपूर्ण विषय पर चर्चा हुई, वह था पूरी दुनिया में परमाणु हथियारों में कटौती का विषय। अमेरिका और रूस के पास 90 फीसदी हथियार हैं, जैसाकि मैंने कहा, और हम पर बड़ा प्रभाव पड़ सकता है। पर परमाणु हथियार, मैं समझता हूं, आज हमारी दुनिया के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं।

और वे एक बड़ी परमाणु ताकत हैं। हम एक बड़ी परमाणु ताकत हैं। हमें परमाणु हथियारों के बारे में कुछ करना होगा। और इसलिए यह ऐसा मुद्दा था जिस पर हमने वास्तव में बहुत विस्तार से चर्चा की, और राष्ट्रपति पुतिन मुझसे सहमत हैं।

जिन मुद्दों पर हमने चर्चा की वे अत्यंत महत्व के हैं और जिनमें लाखों ज़िंदगियों को बचाने की संभावनाएं हैं। मैं हमारे देशों के बीच अनेक असहमतियों को समझता हूं, पर मैं वार्ताओं को भी समझता हूं और – जब आप इस बारे में सोचते हैं, रूस के साथ वार्ता या अन्य देशों के साथ वार्ता। पर रूस से वार्ता, इस मामले में, जहां इतने वर्षों तक हमारे संबंध इतने खराब रहे, वार्ता एक महत्वपूर्ण चीज़ है और यह बहुत अच्छी चीज़ है।

इसलिए यदि हमारी उनके साथ बनती है, बहुत बढ़िया। यदि हमारी उनसे नहीं बनती है, तब, हम उनके साथ नहीं होंगे। पर मैं समझता हूं, हमारे पास कुछ बहुत सकारात्मक चीज़ें पाने का बहुत अच्छा मौका है।

मुझे लगा कि राष्ट्रपति पुतिन के साथ मेरी मुलाकात सच में बहुत अच्छी रही। मैं समझता हूं वे ऐसे कदम उठाने के इच्छुक हैं जो, साफ कहूं तो, मुझे स्पष्ट नहीं था कि वे ऐसा करने को तैयार होंगे या नहीं। और भविष्य में हमारी मुलाकातें होंगी और हम देखेंगे कि वो फलीभूत होता है कि नहीं। पर हमारी मुलाकात बहुत-बहुत अच्छी रही।

इसलिए मैं बस स्पष्ट करना चाहता था, मेरे लोगों की अगुआई वाली हमारी खुफिया एजेंसियों पर मेरा पूरा विश्वास है। हमारे पास बेहतरीन लोग हैं, जीना हो या डैन कोट्स, या उनमें से कोई भी। मेरा मतलब, हमारे पास एजेंसियों के भीतर ज़बरदस्त लोग, ज़बरदस्त प्रतिभाएं हैं। मैं समझता हूं उन्हें अच्छी तरह निर्देशित किया जा रहा है। और हम सभी का उद्देश्य समान है; हम अपने देश के लिए सफलता चाहते हैं।

तो इसी के साथ, हम अब करों में कटौतियों पर एक बैठक शुरू करने जा रहे हैं। हम इसे एक विधेयक में शामिल करने जा रहे हैं। केविन ब्रैडी हमारे साथ हैं, और मैं केविन से इस बारे में दो शब्द बोलने के लिए कहना चाहूंगा, और उसके बाद हम वापस एक निजी बैठक में जाएंगे। पर, केविन, क्या आप संक्षेप में बताएंगे कि हम क्या चर्चा करने जा रहे हैं?

रिप्रेजेंटेटिव ब्रैडी: हां, महोदय। राष्ट्रपति महोदय, आज यहां वेज़ एंड मीन्स कमेटी के सदस्यों को बुलाने के लिए शुक्रिया। आप जानते हैं कि शक्ति के ज़रिए शांति, असरदार विदेश नीति है। और यह तब बेहतर काम करती है जब अमेरिका के पास एक मज़बूत अर्थव्यवस्था और एक मज़बूत सेना हो। आपके नेतृत्व में, प्रतिनिधि सभा और सीनेट के रिपब्लिकन सदस्य दोनों ही क्षेत्रों में सफलतापूर्वक काम कर रहे हैं।

आज की बैठक इस बारे में है कि हम अमेरिका की अर्थव्यवस्था को कैसे और मजबूत कर सकते हैं। और हम समझते हैं अमेरिका के मध्यवर्गीय परिवारों और हमारे छोटे व्यवसायों से सबसे अच्छी शुरुआत हो सकती है। इसलिए आज, हम यहां इस कर रियायत को स्थायी बनाने के विषय में बात करने के लिए उपस्थित हैं, ताकि – प्रथम, उनका विकास जारी रहे; दूसरा, हम 15 लाख नए रोज़गार सृजित कर सकें; और तीसरा, उनके मेहनत से कमाए डॉलर, जो आपने और रिपब्लिकन कांग्रेस ने उन्हें दिया है, को छीनने के भविष्य के वाशिंग्टन के प्रयास के विरुद्ध हम उनका संरक्षण कर सकें।

इसलिए हमें आज यहां बुलाने के लिए आपका बहुत शुक्रिया।

राष्ट्रपति: और प्रस्तुत करने का समय, आपकी समझ से क्या हो सकता है, केविन?

रिप्रेजेंटेटिव ब्रैडी: हमारा अनुमान है कि प्रतिनिधि सभा में इस पर सितंबर में वोटिंग होगी और सीनेट भी टाइमटेबल निर्धारित करेगा।

राष्ट्रपति: बढ़िया। बहुत अच्छी बात।

आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया। बहुत शुक्रिया। धन्यवाद।

प्रश्न: क्या आपने श्रीमान पुतिन से प्रतिबंधों में रियायत देने पर चर्चा की? क्या आपने बात की – क्या आपने प्रतिबंध हटाने पर चर्चा की?

राष्ट्रपति: हम प्रतिबंध नहीं हटा रहे। क्या?

प्रश्न: रूस पर प्रतिबंध कायम रहेंगे। क्या आपका मतलब यही है?

राष्ट्रपति: हां, सब कुछ कायम रह रहा है। हम प्रतिबंध नहीं हटा रहे हैं।

प्रश्न: आप रूस पर प्रतिबंध बढ़ाने जा रहे हैं, श्रीमान?

राष्ट्रपति: प्रतिबंध नहीं हटा रहे। नहीं।

समाप्त 2:28 P.M. EDT


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें