rss

ईरान पर परमाणु संबंधित प्रतिबंधों को फिर से लगाने के बारे में राष्ट्रपति की ओर से बयान

Facebooktwittergoogle_plusmail
العربية العربية, English English, Русский Русский, Español Español, Português Português, اردو اردو

प्रेस सेक्रेटरी का कार्यालय
तत्काल रिलीज़ के लिए
02 नवम्बर, 2018

 

मई में, मैंने घोषणा की थी कि संयुक्त राज्य अमेरिका भयानक, एक तरफा ईरान परमाणु समझौते से हट जाएगा।

यह समझौता अपने उस बुनियादी मकसद में विफल रहा, जो कि ईरानी परमाणु बम के सभी रास्तों को स्थायी रूप से रोकना था, और मध्य पूर्व तथा उससे भी आगे तक ईरानी शासन की दुर्भावनापूर्ण कार्रवाइयों के समाधान के लिए कुछ भी नहीं किया।

चूंकि विनाशकारी परमाणु समझौता हुआ था, इसीलिए ईरान के सैन्य बजट में लगभग 40 प्रतिशत तक बढ़ गया है। ईरानी शासन ने क्षेत्रीय संघर्षों में अरबों डॉलर झोंके हैं, अपने मिसाइल विकास और प्रसार को तेज किया है, तथा अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं के बारे में बार-बार झूठ बोला है।

सोमवार, 5 नवंबर को ईरान परमाणु समझौते में संयुक्त राज्य अमेरिका की भागीदारी समाप्त हो जाएगी। इस खतरनाक परमाणु समझौते के तहत हटाए गए प्रतिबंधों का अंतिम सेट लागू हो जाएगा, जिसमें ईरान की ऊर्जा, शिपिंग, और जहाज निर्माण क्षेत्रों पर मज़बूत प्रतिबंध, और ईरान के केंद्रीय बैंक तथा प्रतिबंधित ईरानी बैंकों के साथ लेनदेन को निशाना बनाने वाले प्रतिबंध शामिल हैं।

हमारा मकसद ईरानी सत्ता को स्पष्ट विकल्प के लिए मज़बूर करना है: या तो वह अपना विनाशकारी व्यवहार छोड़े या फिर आर्थिक आपदा की राह में बढ़ता जाए।

प्रतिबंध ईरानी शासन के उस राजस्व को निशाना बनाएगा जिसका इस्तेमाल वह अपने परमाणु कार्यक्रम को वित्तपोषित करने तथा बैलिस्टिक मिसाइलों के विकास और प्रसार, क्षेत्रीय संघर्षों को भड़काने, आतंकवाद का समर्थन करने और अपने नेताओं की तिजोरियां भरने के लिए करता है।

जनवरी 2017 से निर्धारित प्रतिबंधों के 19 दौर के साथ, ये कदम संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा ईरान के खिलाफ लगाए गए सबसे सख्त प्रतिबंधों को दर्शाते हैं – और वे पहले से ही ईरानी अर्थव्यवस्था पर विनाशकारी प्रभाव डाल रहे हैं।

पिछले एक साल में, ईरानी रियाल अपना करीब-करीब 70 प्रतिशत मूल्य गंवा बैठा है और ईरान की अर्थव्यवस्था फिसलकर मंदी के गड्ढे में गिरने जा रही है। इस साल मई के बाद से ईरान में महंगाई दर लगभग चौगुनी हो गई है, जो अक्टूबर में करीब 37 प्रतिशत पर पहुंच गई। 100 से अधिक कंपनियों ने ईरान के साथ व्यापार बंद करने का फैसला किया है, और हमें उम्मीद है कि यह संख्या बढ़ेगी। सरकारों और कारोबारियों को खुद से पूछना चाहिए कि क्या ईरान से सौदे जारी रखने का जोखिम उठाने के लायक है या नहीं।

अंत में, मैं इस बात को लेकर स्पष्ट होना चाहता हूं कि संयुक्त राज्य अमेरिका की कार्रवाईयों के निशाने पर ईरानी सत्ता और इसका खतरनाक व्यवहार है – न कि लंबे समय से पीड़ित ईरानी लोग। इसी वजह से, हम आज फिर दोहराते हैं कि ईरान को भोजन, दवा, चिकित्सा उपकरणों तथा कृषि जिंसों की बिक्री लंबे समय से प्रतिबंधों से मुक्त रही है और आगे भी रहेगी।

हम ईरानी शासन से परमाणु संबंधी अपनी महत्वाकांक्षाएं त्यागने, अपना विनाशकारी व्यवहार बदलने, अपने लोगों के अधिकारों का सम्मान करने और अच्छी नीयत से बातचीत की मेज पर लौटने का आह्वान करते हैं। इस प्रयास में हम अपने सहयोगियों और भागीदारों से सहयोग चाहते हैं।

संयुक्त राज्य अमेरिका ईरान के साथ एक नए, अधिक व्यापक ऐसे समझौते तक पहुंचने के लिए दरवाजा खुला रखे हुए है जो हमेशा के लिए उसका परमाणु हथियारों का रास्ता रोक दे, उसकी दुर्भावनापूर्ण कार्रवाइयों का समाधान करे, और ईरानी लोगों के लिए उपयुक्त हो।

ऐसा होने तक, हमारे ऐतिहासिक प्रतिबंध पूरी ताकत से प्रभावी बने रहेंगे।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें