rss

विदेश मंत्री पोम्पियो की सऊदी अरब, यूएई, भारत, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा

العربية العربية, English English, اردو اردو

तत्काल जारी करने के लिए
जून 23, 2019
प्रवक्ता मॉर्गन ऑर्टेगस का बयान


 

विदेश मंत्री पोम्पियो क्षेत्रीय और आपसी महत्व के मुद्दों पर चर्चा करने, तथा मुक्त और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र के साझा लक्ष्य की दिशा में प्रगति के वास्ते प्रमुख देशों के साथ साझेदारी को विस्तृत और गहन बनाने के लिए 23 से 30 जून तक सऊदी अरब, यूएई, भारत, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा करेंगे।

जेद्दा में, विदेश मंत्री पोम्पियो शाह सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल सऊद और युवराज मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद के साथ क्षेत्र में ईरान के घातक प्रभाव के मुकाबले के तरीकों पर चर्चा करेंगे।

अबू धाबी में, विदेश मंत्री पोम्पियो युवराज मोहम्मद बिन ज़ायेद अल नाहयान के साथ क्षेत्र में बढ़े तनाव, और समुद्री सुरक्षा मज़बूत करने की ज़रूरत पर बातचीत करेंगे।

नई दिल्ली में, विदेश मंत्री पोम्पियो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात कर अमेरिका-भारत सामरिक साझेदारी के हमारे महत्वाकांक्षी एजेंडे पर विचार-विमर्श करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी की हाल की चुनावी जीत ने उन्हें अंतरराष्ट्रीय मंच पर अग्रणी भूमिका निभाने वाले सशक्त और समृद्ध भारत की अपनी परिकल्पना को कार्यान्वित करने का शानदार अवसर प्रदान किया है। 

इसके बाद, विदेश मंत्री पोम्पियो जी-20 नेताओं के शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए ओसाका जाएंगे। जापान पहली बार इस सम्मेलन की मेजबानी कर रहा है। इस सम्मेलन के दौरान विदेश मंत्री पोम्पियो प्रधानमंत्री आबे से मुलाकात में राष्ट्रपति ट्रंप के साथ होंगे। इस मुलाकात में उत्तर कोरिया के पूर्ण और पूरी तरह सत्यापित परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर समन्वय, उत्तर कोरिया संबंधी हमारे एकीकृत प्रयास को लेकर दक्षिण कोरिया के साथ त्रिपक्षीय सहयोग बढ़ाने के तरीकों और अन्य साझा चुनौतियों पर चर्चा होगी।

जी-20 के बाद, विदेश मंत्री पोम्पियो राष्ट्रपति मून जे-इन से मुलाकात के लिए दक्षिण कोरिया की यात्रा में राष्ट्रपति ट्रंप के साथ होंगे। दोनों नेता अमेरिका-दक्षिण कोरिया गठजोड़ को मज़बूत करने के उपायों पर भी चर्चा करेंगे। राष्ट्रपति ट्रंप और राष्ट्रपति मून उत्तर कोरिया के पूर्ण और पूरी तरह सत्यापित परमाणु निरस्त्रीकरण के लक्ष्य को पाने के प्रयासों को लेकर अपना घनिष्ठ समन्वय जारी रखेंगे।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें