rss

2019 अमरीकाअमेरिका-भारत 2+2 मंत्रिस्तरीय संवाद की मुख्य बातें

English English, اردو اردو

विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
दिसंबर 18, 2019

 

विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पेयो और रक्षा मंत्री मार्क टी. एस्पर ने आज 2019 अमरीकाअमरिका-भारत 2+2 मंत्रिस्तरीय संवाद के लिए भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर की वाशिंगटन डी.सी. स्थित विदेश विभाग में सह-मेजबानी की। दोनों पक्षों ने अमरीकाअमेरिका और भारत के बीच बढ़ती द्विपक्षीय साझेदारी की पुन:पुष्टि की और जोकि लोकतांत्रिक मूल्यों, साझा सामरिक उद्देश्यों, जनता के स्तर पर मज़बूत संबंधों, और दोनों देशों के नागरिकों की समृद्धि के प्रति साझा प्रतिबद्धता पर आधारित है।

बैठक के दौरान विदेश मंत्री श्री पोम्पियो और उनके समकक्षों ने एक मुक्त, खुले और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए मिलकर काम करने की प्रतिबद्धता को दोहराया। दोनों पक्ष राष्ट्रीय और वैश्विक चुनौतियों से निपटने, आतंकवाद का सामना करने, आपदा राहत के लिए समन्वय, शांतिरक्षकों के प्रशिक्षण, पारदर्शी और टिकाऊ बुनियादी ढांचे को बढ़ाने और समुद्री सुरक्षा को मज़बूत करने के लिए सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए। दोनों शिष्टमंडलों ने जनता के स्तर पर संबंधों को मज़बूत करने के लिए नई पहलकदमियों का स्वागत किया जिनमें सांसदों एवं युवा अन्वेषकों के लिए नया विनिमय कार्यक्रम, अधिक न्यायिक सहयोग, विश्वविद्यालय स्तर पर अनुसंधान में साझेदारी का विस्तार और एक नया द्विपक्षीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी समझौता शामिल हैं। भविष्य पर नज़र रखते हुए दोनों पक्षों ने जल प्रबंधन, महासागर और अंतरिक्ष के क्षेत्रों में नए साझा प्रयासों की वचनबद्धता व्यक्त की है।

विदेश मंत्री और उनके समकक्षों ने 21वीं सदी की अपनी रक्षा साझेदारी के विस्तार के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने अमरीकाअमेरिका और भारत की सेनाओं के बीच सहयोग के अभूतपूर्व स्तर की सराहना की जोकि पहली बार तीनों सेनाओं के स्तर पर हुए ‘टाइगर ट्रायंफ’ जैसे संवर्धित सैनिक अभ्यासों, सूचनाओं की अधिक साझेदारी, रक्षा व्यापार के विस्तार, संपर्क अधिकारियों की तैनाती और रक्षा सहयोग बढ़ाने वाले समझौतों के कारण संभव हो पाई, इनमेंजिनमें दोनों देशों के हमारे निजी सेक्टरों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने के बारे में हाल ही में हुआ समझौता भी शामिल है। भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की वर्जीनिया राज्य में स्थित नॉरफोक, वर्जीनिया की 17 दिसंबर की यात्रा के दौरान अमरीकाअमेरिका और भारत के बीच करीबी रक्षा सहयोग अपने सर्वोच्च स्तर पर खुल कर दिखा, जब नॉरफोक नौसैनिक अड्डे और ओशिआना नौसैनिक हवाई अड्डे पर उन्होंने एक विमानवाहक पोत का दौरा किया और लड़ाकू विमानों का प्रदर्शन देखा।

रक्षा मंत्री श्री सिंह और विदेश मंत्री श्री जयशंकर ने अपने समकक्षों को भारत में होने वाले अगले 2+2 मंत्रिस्तरीय संवाद के लिए आमंत्रित किया। दोनो पक्षों ने अगली बैठक के लिए उत्साह व्यक्त किया तथा पहले से चल रही ही जारी विभिन्न गतिविधियों और पहलकदमियों पर निकट सहयोग जारी रखने पर सहमति व्यक्त की।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/highlights-of-2019-u-s-india-22-ministerial-dialogue/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें