rss

महिला जननांग विकृति और कटाई के विरुद्ध शून्य सहनशीलता के अंतरराष्ट्रीय दिवस पर

Français Français, English English, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
फरवरी 05, 2020

 

प्रवक्ता मॉर्गन ऑर्टेगस का बयान

महिला जननांग विकृति और कटाई (एफ़जीएम/सी) की प्रथा महिलाओं और लड़कियों के बुनियादी मानवाधिकारों को कमज़ोर करती है। अमेरिका उन बहादुर महिलाओं और युवाओं के समर्थन में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ खड़ा है जो एक ऐसे भविष्य के लिए काम कर रहे हैं, जब किसी भी लड़की या महिला को इस भयावह ख़तरे का सामना नहीं करना पड़ेगा।

इस वर्ष के महिला जननांग विकृति एवं कटाई के विरुद्ध शून्य सहनशीलता के अंतरराष्ट्रीय दिवस का विषय, “अनलिशिंग यूथ पावर: वन डिकेड ऑफ एक्सेलरेटिंग एक्ट्स फ़ॉर ज़ीरो फ़ीमेल जेनिटल म्यूटिलेशन बाय 2030”, इस बुरी प्रथा को समाप्त करने में युवाओं की शक्ति और प्रभाव को मान्यता देता है। वर्तमान में दुनिया में मौजूद कम-से-कम 200 मिलियन महिलाएं और लड़कियां हिंसा के इस भयानक रूप का सामना कर चुकी हैं, और दसियों लाख अन्य के 2030 से पहले इस प्रथा को झेलने का जोख़िम है। वैसे तो इस मामले में अभी बहुत प्रगति की दरकार है, पर हाल के प्रयासों के कारण, कई देशों में युवा लड़कियों के अपनी मां और दादी की तुलना में एफ़जीएम/सी का सामना करने की संभावना काफी कम हुई है।

एफ़जीएम/सी प्रथा को समाप्त करने में सहायता के लिए 2017 से अब तक 20 मिलियन डॉलर से अधिक का योगदान देने पर अमेरिका को गर्व है। एफ़जीएम/सी के लिए शून्य सहनशीलता के इस दिन, हम उन प्रयासों को आगे बढ़ाने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हैं जोकि हर जगह महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा को रोकते हैं और यह सुनिश्चित करते हैं कि इससे बच कर निकले लोगों को फिर से सामान्य और स्वस्थ होने के लिए आवश्यक जीवनरक्षक स्वास्थ्य सुविधाएं और मनोसामाजिक सेवाएं उपलब्ध हों।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें