rss

विदेश विभाग, विदेशी अभियान एवं संबद्ध कार्यक्रम विनियोग क़ानून की धारा 7031(सी) के तहत श्रीलंका के शावेंद्र सिल्वा को मानवाधिकार के घोर उल्लंघन के लिए सार्वजनिक रूप से प्रतिबंधित किया जाना

English English, اردو اردو

तत्काल जारी करने के लिए
फरवरी 14, 2020
अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पियो का बयान

 

विदेश विभाग ने विदेश विभाग, विदेशी अभियान एवं संबद्ध कार्यक्रम विनियोग क़ानून की धारा 7031(सी) के अनुरूप श्रीलंका की सेना के वर्तमान कमांडर और रक्षा स्टाफ़ के कार्यवाहक प्रमुख लेफ़्टिनेंट जनरल शावेंद्र सिल्वा पर प्रतिबंध लगा दिया है. ऐसा किया गया क्योंकि 2009 में श्रीलंका के गृहयुद्ध के अंतिम चरण में श्रीलंकाई सेना की 58वीं डिवीजन द्वारा न्यायेतर हत्याओं के रूप में मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन में कमान अधिकारी के रूप उनकी भागीदारी पर विश्वसनीय जानकारी उपलब्ध है।

धारा 7031 (सी) में ये प्रावधान है कि जिन मामलों में विदेश मंत्री के पास विदेशी अधिकारियों के मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन या बड़े भ्रष्टाचार में शामिल होने की विश्वसनीय सूचना है, उनसे जुड़े व्यक्ति और उनके निकट परिजन अमेरिका में प्रवेश के लिए अयोग्य हैं। क़ानून के अनुसार विदेश मंत्री को सार्वजनिक रूप से या निजी तौर पर ऐसे अधिकारियों और उनके निकट परिजनों को प्रतिबंधित करने की आवश्यकता होती है। शावेंद्र सिल्वा पर सार्वजनिक प्रतिबंध के अलावा, विदेश विभाग उनके निकट परिजनों को भी प्रतिबंधित कर रहा है।

शावेंद्र सिल्वा के खिलाफ़ मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन के आरोप गंभीर और विश्वसनीय हैं, जिन्हें संयुक्तराष्ट्र और अन्य संगठनों ने रिकॉर्ड किया है। उन पर प्रतिबंध लगाया जाना श्रीलंका में और विश्व स्तर पर मानवाधिकारों को हमारे द्वारा दिए जाने वाले महत्व को, मानवाधिकारों के उल्लंघन और दुरुपयोग पर हमारी चिंता को, और साथ ही ऐसे कार्यों में शामिल लोगों की जवाबदेही तय करने के प्रयासों को हमारे समर्थन को दर्शाता है। हम श्रीलंकाई सरकार से मानवाधिकारों को बढ़ावा देने, युद्ध अपराधों और मानवाधिकारों के उल्लंघन के लिए जिम्मेदार व्यक्तियों को उत्तरदायी ठहराने, सुरक्षा क्षेत्र में सुधारों को आगे बढ़ाने तथा न्याय और सुलह के लिए अपनी अन्य प्रतिबद्धताओं पर क़ायम रहने का आग्रह करते हैं।

हम श्रीलंकाई सरकार के साथ अपनी साझेदारी और श्रीलंकाई लोगों के साथ दीर्घकालिक साझा लोकतांत्रिक परंपरा को बहुत महत्व देते हैं। अमेरिका श्रीलंका के साथ द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने तथा मौजूदा और उभरते खतरों से निपटने में उसके सुरक्षा बलों की मदद के लिए प्रतिबद्ध है। सुरक्षा सहयोग के तहत हम प्रशिक्षण, सहायता और संपर्कों के एक बुनियादी घटक के रूप में मानवाधिकारों के प्रति सम्मान पर ज़ोर देना जारी रखेंगे।

अमेरिका दुनिया भर में मानवाधिकारों के उल्लंघन और दुरुपयोग के मामलों, वो चाहे जब घटित हुए हों और उनके लिए चाहे जो भी दोषी हो, से निपटने के लिए सभी उपलब्ध साधनों और प्राधिकारों का यथोचित उपयोग जारी रखेगा। आज उठाया गया कदम मानवाधिकारों के समर्थन, अपराधियों की जवाबदेही तय किए जाने को प्रोत्साहन तथा एक शांतिपूर्ण, स्थिर और समृद्ध श्रीलंका के लिए सुलह प्रक्रिया को बढ़ावा देने की हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें