rss

तालिबान के साथ अमेरिका के समझौते की दिशा में अगले कदम

اردو اردو, English English, العربية العربية

अमेरिकी विदेश विभाग
तत्काल जारी करने के लिए
विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पियो का बयान
फरवरी 21, 2020

 

अमेरिका और तालिबान, अफ़ग़ानिस्तान में युद्ध को समाप्त करने, वहां अमेरिकी और गठबंधन बलों की उपस्थिति को कम करने, और यह सुनिश्चित करने के लिए कि कोई भी आतंकवादी समूह कभी अमेरिका या उसके सहयोगी राष्ट्रों को धमकी देने के लिए अफ़गानिस्तान भूमि का उपयोग नहीं कर पाए, एक राजनीति समझौते के लिए विस्तृत वार्ताओं में संलग्न हैं।

हाल के सप्ताहों में, राष्ट्रीय एकता की सरकार के सहयोग से, दोहा में अमेरिकी वार्ताकार अफ़ग़ानिस्तान में हो रही हिंसा में प्रभावी और देशव्यापी कमी लाने पर तालिबान के साथ सहमत हुए हैं। इस सहमति के सफल कार्यान्वयन के बाद अमेरिका-तालिबान समझौते पर हस्ताक्षर की दिशा में प्रगति होने के आसार हैं। हम 29 फरवरी को समझौते पर हस्ताक्षर के लिए तैयारी कर रहे हैं। उसके बाद अंतर्-अफ़ग़ान वार्ताएं जल्दी ही शुरू हो जाएंगी, जिनसे इस शुरुआती कदम से आगे अफ़ग़ानिस्तान के लिए एक व्यापक और स्थाई युद्धविराम पर सहमति और भविष्य की राजनीतिक रूपरेखा बन सकेगी। अफ़ग़ानिस्तान में टिकाऊ शांति स्थापित करने का एकमात्र तरीका है- अफ़ग़ानों का एक साथ आना और आगे की राह पर सहमत होना।   

चुनौतियां अब भी हैं, लेकिन दोहा में हुई प्रगति उम्मीद जगाती है और एक वास्तविक अवसर प्रदान करती है। अमेरिका सभी अफ़ग़ानों से आह्वान करता है कि वो इस अवसर को हाथ से नहीं जाने दें ।

अमेरिका, अफ़ग़ानिस्तान में शांति हेतु समर्थन के लिए क़तर और अन्य सभी सहयोगी राष्ट्रों और साझेदारों का धन्यवाद करता है। 


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/next-steps-toward-a-u-s-agreement-with-the-taliban/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें