rss

नमस्ते ट्रंप रैली में राष्ट्रपति ट्रंप का संबोधन

English English, اردو اردو

व्हाइट हाउस
तत्काल जारी करने के लिए
फरवरी 24, 2020

मोटेरा स्टेडियम
अहमदाबाद, भारत

 

राष्ट्रपति ट्रंप: नमस्ते! नमस्ते। (तालियां।।) हेलो इंडिया। ये कितनी प्रतिष्ठा की बात है। सबसे पहले मैं एक असाधारण नेता, भारत के महान हिमायती, देश के लिए दिन-रात काम करने वाले उस शख्स का गहरा आभार व्यक्त करना चाहूंगा जिसे अपना सच्चा दोस्त बताते हुए मुझे गर्व होता है: प्रधानमंत्री मोदी। (तालियां।।)

प्रथम महिला और मैं इस देश के हर नागरिक को एक सन्देश देने के लिए दुनिया की 8000 मील की दूरी तय कर के यहां आये हैंl अमेरिका भारत से प्रेम करता है, अमेरिका भारत का सम्मान करता है और अमेरिका के लोग हमेशा भारत के लोगों के सच्चे और निष्ठावान दोस्त रहेंगेl (तालियां।)

पांच महीने पूर्व, अमेरिका ने आपके महान प्रधानमंत्री का टेक्सास के एक बड़े फ़ुटबॉल स्टेडियम में स्वागत किया था, और आज भारत यहां अहमदाबाद में दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में हमारा स्वागत कर रहा है। (तालियां।) इस सुंदर स्टेडियम – मोटेरा स्टेडियम – में होना, आप लोगों के बीच होना, बड़े सम्मान की बात है। (तालियां।) और हमारे बीच आपके राष्ट्र के कोने-कोने से और पूरी दुनिया से आए मेहमान हैं।

भारतीय संस्कृति और सद्भाव का शानदार प्रदर्शन करते हुए रास्ते में जुटे लाखों आम नागरिकों, और आज इस बेहतरीन स्टेडियम में उपस्थित देवियों और सज्जनों – (तालियां) – आपके शानदार देश में हमारे भव्य स्वागत के लिए धन्यवाद।

आपने अमेरिकी लोगों का बहुत बड़ा सम्मान किया है। मेलानिया और मेरा परिवार, हम इस विशिष्ट आतिथ्य को हमेशा याद रखेंगे। हम इसे सदैव याद रखेंगे। (तालियां।) आज से, भारत हमेशा हमारे दिलों में एक बहुत ही विशेष स्थान रखेगा। (तालियां।)

प्रधानमंत्री मोदी का जीवन इस महान राष्ट्र की असीम संभावनाओं को रेखांकित करता है। उन्होंने अपने पिता के साथ एक चाय वाले – (तालियां) – चाय बेचने वाले के रूप में शुरुआत की थी। जब वह युवा थे, तो उन्होंने इस शहर के एक कैफ़ेटेरिया में काम किया था।

श्रोता: मोदी! मोदी! मोदी!

राष्ट्रपति ट्रंप: खड़े होइए। (तालियां।) हर कोई इन्हें प्यार करता है, पर मैं आपको ये बता दूं: ये बड़े सख़्त हैं। (हंसी।) (तालियां।)

प्रधानमंत्री मोदी आज इस विशाल भारतीय गणतंत्र के बहुत ही सफल नेता हैं। पिछले साल, 60 करोड़ से अधिक लोगों ने चुनावों में भाग लिया और दुनिया के अब तक के सबसे बड़े लोकतांत्रिक चुनावों में उन्हें भारी बहुमत से अभूतपूर्व जीत दी। (तालियां।)

प्रधानमंत्री मोदी, आप सिर्फ गुजरात के गौरव ही नहीं – आप इस बात का जीता-जागता सबूत हैं कि परिश्रम और लगन के बल पर भारतीय कुछ भी हासिल कर सकते हैं – (तालियां) – कुछ भी, वे जो भी चाहें। (तालियां।) 

प्रधानमंत्री की असाधारण उन्नति की कहानी दिलों को छू लेने वाली कहानी है, और यही बात पूरे देश के बारे में है। आपका राष्ट्र इतना अच्छा कर रहा है। हमें भारत पर बहुत गर्व है। (तालियां।) भारतीय राष्ट्र की कहानी आश्चर्यजनक प्रगति, लोकतंत्र के चमत्कार, असाधारण विविधता और, सबसे बढ़कर, मजबूत और महान लोगों की कहानी है। भारत संपूर्ण मानवता को उम्मीद देता है।

मात्र 70 वर्षों में, भारत एक आर्थिक ताक़त, अब तक का सबसे बड़ा लोकतंत्र, और दुनिया के सबसे अद्भुत देशों में से एक बन गया है। (तालियां।)  

सदी के आरंभ के बाद की अवधि में भारत की अर्थव्यवस्था का आकार छह गुना से अधिक बढ़ गया है। एक दशक के भीतर, भारत ने 27 करोड़ से अधिक लोगों को गरीबी की जकड़ से बाहर निकाला है।

 प्रधानमंत्री मोदी के शासन में, इतिहास में पहली बार भारत के सभी गांवों में बिजली पहुंच चुकी है। (तालियां।) बत्तीस करोड़ लोग – इतने अधिक भारतीय – आज इंटरनेट से जुड़े हैं। (तालियां।) राजमार्गों के निर्माण की गति दोगुना से भी तेज़ हो गई है। सात करोड़ से भी ज़्यादा परिवार – जरा सोच कर देखें – सात करोड़ से अधिक परिवारों को रसोई गैस उपलब्ध कराई गई है; साठ करोड़ से अधिक लोगों को शौचालय की सुविधा दी गई है; और, अविश्वसनीय रूप से, हर दिन के हर मिनट 12 भारतीय नागरिक अत्यंत गरीबी की दशा से बाहर निकाले जा रहे हैं। (तालियां।)   

भारत में शीघ्र ही दुनिया का सबसे बड़ा मध्यवर्ग होगा। और 10 साल से भी कम समय के भीतर, आपके देश से अतिशय निर्धनता के पूरी तरह से ग़ायब होने का अनुमान है। (तालियां।) भारत के लिए संभावनाएं बिल्कुल असाधारण हैं। 

एक समृद्ध और स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में भारत का उदय विश्व के प्रत्येक राष्ट्र के लिए एक उदाहरण है, और यह हमारी शताब्दी की सबसे उत्कृष्ट उपलब्धियों में से एक है। यह इसलिए और भी अधिक प्रेरणादायक है कि आपने ये सब एक लोकतांत्रिक देश के रूप में हासिल किया है, एक शांतिपूर्ण देश के रूप में हासिल किया है, एक सहिष्णु देश के रूप में हासिल किया है, और आपने ये सब एक महान स्वतंत्र देश के रूप में प्राप्त किया है। (तालियां।) 

बलप्रयोग, धमकी और आक्रामकता के माध्यम से ताक़त हासिल करने वाले किसी राष्ट्र, और लोगों को बंधनमुक्त कर और उन्हें अपने सपनों को साकार करने की स्वतंत्रता देकर आगे बढ़ने वाले एक राष्ट्र में बहुत अंतर होता है। और यह दूसरा राष्ट्र भारत है। (तालियां।) यही कारण है कि आप कहीं भी देख लें, पिछले 70 वर्षों में भारत की उपलब्धियां बिल्कुल अद्वितीय हैं।

स्वतंत्र समाज की ताक़त में आपके भरोसे, अपने लोगों पर आपके विश्वास, अपने नागरिकों पर आपके यक़ीन और हर व्यक्ति की गरिमा को आपके सम्मान के कारण ही अमेरिका और भारत के बीच इतनी सहज, सुंदर और स्थायी मित्रता है। (तालियां।) 

हमारे राष्ट्रों के बीच भले ही बहुत से अंतर हों, पर दोनों ही एक बुनियादी सत्य द्वारा परिभाषित और प्रेरित हैं: यह सत्य कि हम सभी एक दिव्य ज्योति से आलोकित हैं, और हर किसी में एक पवित्र आत्मा का वास है।


जैसा कि महान धार्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद ने एक बार कहा था – (तालियां) – “जिस क्षण मैं हर इंसान के सामने श्रद्धा से खड़ा हो गया और उसमें भगवान को देखने लगा – उसी क्षण मैं बन्धनों से मुक्त हूँ।” (तालियां।) 

अमेरिका और भारत में, हम जानते हैं कि हमारा जन्म एक बड़े उद्देश्य के लिए हुआ है: अपनी पूरी क्षमता पाने के लिए, उत्कृष्टता और पूर्णता हासिल करने की कोशिश करने के लिए, और ईश्वर की महिमा के गुणगान के लिए।


इस भावना से प्रेरित भारत और अमेरिका के लोग हमेशा बड़े उद्देश्यों के लिए प्रयासरत रहते हैं, हमारे लोग हमेशा बेहतर बनने की कोशिश करते हैं, और इसलिए हमारे राष्ट्र संस्कृति और व्यापार और सभ्यता के फलते-फूलते केंद्र बन गए हैं, जो पूरी दुनिया को प्रेरणा और शक्ति देते हैं।  

यह वो देश है जो बॉलीवुड के नाम से जाने जाते प्रतिभाओं और रचनात्मकता के केंद्र में प्रतिवर्ष 2,000 फ़िल्में बनाता है! (तालियां।) पूरी दुनिया के लोग भांगड़ा संगीत, नृत्य, रोमांस और ड्रामा के दृश्यों का, तथा डीडीएलजे और शोले जैसी फ़िल्मों का आनंद उठाते हैं। (तालियां।)  

यह वो देश है जहां के लोग सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली जैसे दुनिया के महानतम क्रिकेटरों के खेल से आनंदित होते हैं। (तालियां।) दुनिया के महानतम खिलाड़ी।

यह वो देश है जिसने भारत के महान देशभक्त और इस राज्य के निवासी सरदार पटेल, जिनके नाम पर ये स्टेडियम है, की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति स्थापित की है। (तालियां।)  

भारत वो देश है जहां दिवाली में लाखों-करोड़ों दीये जलाकर बुराई पर अच्छाई की जीत का उत्सव मनाया जाता है। (तालियां।)  और ये वही स्थान है जहां, अब से कुछ ही दिनों बाद, हर धर्म के भारतीय सड़कों पर निकलकर होली के आकर्षक त्योहार को मनाएंगे। (तालियां।)

भारत एक ऐसा देश है जिसने कि गर्व से स्वतंत्रता, आज़ादी, व्यक्तिगत अधिकारों, क़ानून के शासन और हरेक इंसान की गरिमा को अपनाया है।

आपके देश को हमेशा दुनिया भर में इस बात के लिए प्रशंसा मिली है, कि यहां लाखों हिंदू और मुसलमान, सिख और जैन, बौद्ध, ईसाई और यहूदी साथ-साथ सद्भावपूर्वक उपासना करते हैं; यहाँ आप दो दर्जन से अधिक राज्यों से आते हैं और 100 से अधिक भाषाएँ बोलते हैं, फिर भी आप हमेशा एक महान भारतीय राष्ट्र के रूप में मज़बूत रहे हैं। (तालियां।) आपकी एकता दुनिया के लिए प्रेरणास्रोत है।

अमेरिका में, हम भारतीय संस्कृति की भव्यता का व्यक्तिगत अनुभव करते हैं, वहां हमारे बेहतरीन दोस्तों, सहयोगियों और पड़ोसियों के रूप में रहने वाले 40 लाख से अधिक भारतीय अमेरिकियों के ज़रिए। वे वास्तव में शानदार लोग हैं। (तालियां।)

भारतीय अमेरिकी हमारे राष्ट्र के जीवन के हर पहलू को समृद्ध करते हैं। वे व्यापार जगत के प्रभावशाली लोग हैं; विज्ञान के बड़े और सबसे अच्छे अग्रदूत हैं; कला के विशारद हैं; और प्रौद्योगिकी में नवाचार के ऐसे पुरोधा हैं जिनका कोई मुक़ाबला नहीं, चाहे आप दुनिया में कहीं भी जाएं।

लगभग हर चौथा भारतीय अमेरिकी अपनी जड़ें यहां गुजरात में पाता है। (तालियां।) गुजरात एक विशिष्ट जगह है।

इसलिए तमाम अमेरिकियों की ओर से आपका धन्यवाद, और आपकी संस्कृति और परंपराओं ने मेरे प्यारे देश में योगदान दिया है, उसके लिए भी आपका धन्यवाद। (तालियां।)  

अमेरिका के लोग हमारी जनता के बीच के इन सुंदर संबंधों को सुदृढ़ बनाने के लिए उत्सुक हैं। यह वास्तव में अमेरिका के लिए एक रोमांचक दौर है। हमारी अर्थव्यवस्था अभूतपूर्व रूप से फल-फूल रही है। हमारे लोग समृद्ध हो रहे हैं और हमारा उत्साह कुलांचे मार रहा है। ज़बरदस्त प्यार है, ज़बरदस्त चाहत है। हम हर किसी को चाहते और पसंद करते हैं।


हमारे देश में अभी बेरोज़गारी दर ऐतिहासिक रूप से सबसे कम है, और छोटे व्यवसायों का आत्मविश्वास अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर है।

हमारी सेना का पूरी तरह से पुनर्गठन हो गया है; यह अब पहले से अधिक मज़बूत है। और हम तत्परता से दुनिया भर में अपने गठबंधनों और मित्रताओं को पुनर्जीवित कर रहे हैं। हमने अपनी सेना के पुनर्निर्माण पर ढाई खरब डॉलर खर्च किए हैं। यह दुनिया की अब तक की सबसे शक्तिशाली सेना है। (तालियां।)

यही कारण है कि मैं असाधारण शक्ति और क्षमता वाली अपनी अहम भागीदारी का विस्तार करने के लिए अनुराग भाव और सद्भावना के साथ भारत आया हूं।

प्रथम महिला और मुझे यहां से कुछ मील दूर महात्मा गांधी के आश्रम में जाने का सौभाग्य मिला है, जहां उन्होंने प्रसिद्ध ‘नमक मार्च’ का शुभारंभ किया था। (तालियां।)  

और कल दिल्ली में हम राजघाट पर दुनिया भर में पूज्य इस महान नेता को पुष्पांजलि अर्पित करेंगे और उनके सम्मान में एक पौधा लगाएंगे।

और प्रथम महिला और मैं आपके देश की प्रख्यात निशानियों में से एक को देखने के लिए उत्सुक हैं। आज बाद में हम आलीशान ताजमहल को देखने जा रहे हैं। (तालियां।) 

प्रधानमंत्री और मैं हमारे दो महान देशों के बीच संबंधों को और सुदृढ़ करने के बारे में अपनी अहम चर्चाओं को जारी रखेंगे। हम दोनों मानते हैं कि जब नेता अपने नागरिकों के हितों को आगे रखते हैं, तो हम एक सुरक्षित और अधिक समृद्ध दुनिया बनाने के लिए मज़बूत और निष्पक्ष साझेदारी क़ायम कर सकते हैं।

अभी कुछ महीने पहले ही इस महत्वपूर्ण साझेदारी की दिशा में एक बड़ा कदम आगे बढ़ा जब अमेरिकी सेना और आपकी बहादुर भारतीय सशस्त्र सेनाओं ने हमारे दोनों देशों के बीच पहली बार संयुक्त वायु, थल और नौसैनिक सैन्य अभ्यास किया। यह अद्भुत अभ्यास था। हमने इसे ‘टाइगर ट्रायम्फ़’ नाम दिया था। (तालियां।) 

जब हम अपना रक्षा सहयोग बढ़ाना जारी रख रहे हैं, अमेरिका भारत को दुनिया के सबसे अच्छे और सबसे मारक सैन्य उपकरण मुहैया कराने के लिए तत्पर है। हम अब तक के सबसे अच्छे हथियार बनाते हैं: हवाई जहाज़, मिसाइल, रॉकेट, पोत। हम सर्वश्रेष्ठ हथियार बनाते हैं। और अब हम भारत को ये सब उपलब्ध करा रहे हैं। और इसमें उन्नत वायु रक्षा प्रणाली तथा सशस्त्र और हथियार रहित ड्रोन भी शामिल हैं। 

और मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि कल हमारे प्रतिनिधि तीन अरब डॉलर से अधिक के सौदे पर हस्ताक्षर करेंगे जोकि भारतीय सशस्त्र सेनाओं को बेहतरीन और अत्याधुनिक सैन्य हेलीकॉप्टरों और अन्य उपकरणों की आपूर्ति के बारे में है। (तालियां।)

मेरा मानना है कि अमेरिका को भारत का प्रमुख रक्षा साझेदार होना चाहिए, और ये सब इसी दिशा में हो रहा है। साथ मिलकर, हम अपनी संप्रभुता और सुरक्षा सुनिश्चित करेंगे, और अपने बच्चों और आने वाली अनेक पीढ़ियों के लिए एक मुक्त और खुले हिंद-प्रशांत क्षेत्र की रक्षा करेंगे।

अमेरिका और भारत कट्टरपंथी इस्लामी आतंकवाद से अपने नागरिकों की रक्षा करने के अपने फ़ौलादी संकल्प को लेकर भी पूरी तरह एकजुट हैं। (तालियां।)

हमारे दोनों देशों ने आतंकवाद की पीड़ा और उथल-पुथल और उसके अन्य दुष्परिणामों को झेला है। मेरे प्रशासन के तहत, हमने इराक़ और सीरिया में आइसिस के ख़ूनी हत्यारों के खिलाफ़ अमेरिकी सेना की पूरी ताकत झोंक दी। (तालियां।) आज आइसिस की भौगोलिक खिलाफ़त को शत-प्रतिशत नष्ट किया जा चुका है। और अल-बग़दादी नामक राक्षस को, जो आइसिस का संस्थापक और नेता था, ख़त्म किया जा चुका है। (तालियां।)

अमेरिका में, हमने ये भी स्पष्ट किया है कि हमारा देश हमारे मूल्य साझा करने वाले, हमारे लोगों से प्यार करने वाले नए लोगों का हमेशा स्वागत करेगा, पंर हमारी सीमाएं आतंकवादियों और आतंकवाद और हर तरह के चरमपंथ के लिए हमेशा बंद रहेंगी।

इसलिए हमने सीमा पर लोगों की स्क्रीनिंग और जांच की प्रक्रिया को मज़बूत बनाने के लिए ऐतिहासिक कदम उठाए हैं, और हम ये सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि हमारे नागरिकों पर ख़तरा बनने वाले किसी भी व्यक्ति को हमारे यहां प्रवेश करने की मनाही हो और उसे इसकी बहुत ही भारी कीमत चुकानी पड़े। (तालियां।)  

प्रत्येक राष्ट्र को अपनी सीमाओं को सुरक्षित और नियंत्रित करने का अधिकार है। अमेरिका और भारत आतंकवादियों को रोकने और उनकी विचारधारा से लड़ने के वास्ते मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। (तालियां।)

इस कारण से, पदभार संभालने के बाद से ही, मेरा प्रशासन पाकिस्तान के साथ बहुत ही सकारात्मक तरीके से काम कर रहा है ताकि पाकिस्तानी सीमा पर सक्रिय आतंकवादी संगठनों और आतंकवादियों पर नकेल कसी जा सके। (तालियां।) पाकिस्तान के साथ हमारे रिश्ते बहुत अच्छे हैं।

इन प्रयासों के कारण, हमें पाकिस्तान के मामले में बड़ी प्रगति के संकेत दिखने लगे हैं। और हम कम तनाव, अधिक स्थिरता और दक्षिण एशिया के सभी देशों के बीच सद्भाव वाले भविष्य के प्रति आशान्वित हैं।

एक बेहतर भविष्य के निर्माण में भारत की महत्वपूर्ण नेतृत्वकारी भूमिका है क्योंकि आप  इस असाधारण क्षेत्र में समस्याओं को सुलझाने और शांति को बढ़ावा देने के लिए अधिक ज़िम्मेदारी उठा रहे हैं।

अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी और मैं दोनों देशों के बीच आर्थिक संबंधों के विस्तार के हमारे प्रयासों पर भी चर्चा करेंगे। हम बहुत ही महत्वपूर्ण व्यापारिक सौदा – सबसे बड़े व्यापार सौदों में से एक – करने वाले हैं। (तालियां।)   

हम अमेरिका और भारत के बीच निवेश की बाधाओं को कम करने के लिए एक अभूतपूर्व व्यापार समझौते पर वार्ताओं के शुरुआती चरण में हैं। और मैं आशावादी हूं कि मिलकर काम करते हुए, प्रधानमंत्री और मैं एक शानदार सौदा कर सकते हैं जो हमारे दोनों देशों के लिए अच्छा ही नहीं बल्कि महान होगा। (तालियां।) एक ही समस्या है कि ये एक बहुत सख़्त वार्ताकार हैं। (हंसी।)  

मेरे पदभार संभालने के बाद से, हमारे देशों के बीच व्यापार में 40 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है। भारत अब अमेरिकी निर्यात के लिए एक प्रमुख बाजार है, और अमेरिका भारत का सबसे बड़ा निर्यात बाजार है। (तालियां।) तेज़ विकास करता अमेरिका भारत के लिए बहुत अच्छी बात है और यह पूरी दुनिया के लिए बहुत अच्छा है। और इसलिए हम यह घोषणा करते हुए बेहद खुश हैं कि हमारी अर्थव्यवस्था अमेरिकी इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है।

अमेरिका में, हमने साबित किया है कि नौकरियों और अवसरों को आकर्षित करने का सबसे अच्छा तरीका है व्यापार पर बोझ को कम करना, नए निवेश के लिए बाधाओं को कम करना और अनावश्यक नौकरशाही, लालफीताशाही, नियमों और करों को ख़त्म करना। प्रधानमंत्री मोदी ने आपके देश में पहले ही कई महत्वपूर्ण सुधार कर चुके हैं, जैसा कि आप अच्छी तरह से जानते हैं। दुनिया उनके नेतृत्व में भारत के कारोबारी माहौल में और भी तेजी से सुधार की उम्मीद कर रही है। वह ये करना चाहते हैं, और वह इसे रिकॉर्ड गति से कर रहे हैं।

दो साल पहले, प्रधानमंत्री मोदी ने हैदराबाद में वैश्विक उद्यमिता शिखर सम्मेलन में मेरी बेटी इवांका का गर्मजोशी से स्वागत किया था। और वह दोबारा आज हमारे साथ आई है। इवांका, धन्यवाद। यहाँ उपस्थित होने के लिए धन्यवाद, मेरी लाड़ली। (तालियां।)   

हमें यहां दर्जनों भारतीय महिला उद्यमियों की उपस्थिति पर भी खुशी हो रही है, जो आपके देश का भविष्य बनाने में मदद कर रही हैं। वे महान और स्वाभाविक उद्यमी हैं। और मैं पुरुषों से कहना चाहूंगा: बहुत सतर्क रहना। वे वास्तव में अच्छी हैं। (तालियां।)  

अमेरिका और भारत अंतरिक्ष अन्वेषण के भविष्य पर भी मिलकर काम कर रहे हैं। आप अपने रोमांचक चंद्रयान कार्यक्रम के साथ शानदार प्रगति कर रहे हैं। (तालियां।) यह बहुत तेज़ प्रगति है, निर्धारित समय से बहुत आगे। जब आप और भी आगे बढ़ रहे हैं तो ऐसे में अमेरिका भारत के साथ हमारे अंतरिक्ष सहयोग के विस्तार के लिए तत्पर है। आप दायरों का विस्तार कर रहे हैं – और यह एक बड़ी बात है – और इसमें मानव अंतरिक्ष अभियान का क्षेत्र भी शामिल है। (तालियां।) सितारों और अंतरिक्ष की यात्रा में अमेरिका और भारत दोस्त और साझेदार रहेंगे।

यह वास्तव में असाधारण है कि इस राष्ट्र ने सिर्फ एक पीढ़ी में क्या-क्या हासिल किया है। और आपने जो प्रगति प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में की है, वह बिल्कुल अविश्वसनीय है। प्रधानमंत्री जी, बधाई। (तालियां।) शानदार।

आपने इतनी प्रगति की है, लेकिन भविष्य में भारत कितना आगे जाएगा, उसकी तुलना में यह कुछ भी नहीं है। और प्रधानमंत्री भविष्य के लिए ऐसी नींव रख रहे हैं, जिसकी अधिकतर अन्य देश कल्पना तक नहीं कर सकते।

यह राष्ट्र कई निधियों से भरपूर है। गंगा के पवित्र तटों से लेकर, स्वर्ण मंदिर और जामा मस्जिद तक, यह धरती पर मौजूद सर्वाधिक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक विरासतों की भूमि है।

यह हिमालय की विषम चोटियों से लेकर गोवा के शानदार तटों तक, अद्भुत नजारों और प्रकृति की आश्चर्यजनक कृतियों का देश है। (तालियां।)  

और वेदों और प्राचीन महाकाव्यों से लेकर एक आधुनिक राष्ट्र तक, भारत सदैव ही गहन ज्ञान और महान विचारों का वाहक रहा है।

लेकिन आज आपके समक्ष खड़े होकर, मुझे इस बात का अहसास है कि भारत की असली ताक़त इसके पाठ्यपुस्तकों, इसके स्थलों या इसकी छटाओं में नहीं है। भारत की असली ताक़त इस स्टेडियम में धड़कते 125,000 दिलों में, और लाखों और करोड़ों उन लोगों में हैं जो आज हमारी महान मित्रता और परस्पर सम्मान के गवाह बने हैं। यह भारत के लोगों की आत्मा और भावना में सन्निहित है।

आपके साहस ने इस देश को स्वतंत्रता दिलाई और उसे सुरक्षित रखा। आपकी लगन ने इस महान और स्थिर लोकतंत्र का निर्माण किया। और आपके सपने इस देश को भविष्य में ले जाएंगे – और अधिक प्रगति, समृद्धि, समानता, और आपके राष्ट्र के हर नागरिक के लिए अधिक अवसरों वाले भविष्य में।

इसलिए आज मैं हर भारतीय – उत्तर और दक्षिण के, हिंदू और मुस्लिम, यहूदी और ईसाई, अमीर और गरीब, युवा और बुज़ुर्ग – से कहता हूं: आप अपने अतीत के गौरव पर अभिमान करें, और भी अधिक उज्जवल भविष्य के लिए एकजुट हो जाएं, तथा शांति और स्वतंत्रता के शक्तिशाली रक्षक के रूप में और संपूर्ण मानवता के वास्ते एक बेहतर दुनिया की उम्मीदों के लिए हमारे दोनों देशों के हमेशा एकजुट रहने की कामना करें।

प्रधानमंत्री मोदी, एक बार फिर से आपके आतिथ्य के लिए धन्यवाद। और धन्यवाद  भारत, इस अभूतपूर्व स्वागत के लिए। (तालियां।)   

मैं अपनी बात का समापन यह कहते हुए करना चाहूंगा: ईश्वर भारत को आशीष दे। ईश्वर अमेरिका को आशीष दे। हम आपको प्यार करते हैं। भारत, हम आपको बहुत प्यार करते हैं। आपका धन्यवाद। शुक्रिया। (तालियां।)   


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें