rss

कोविड-19 महामारी के संबंध में अमेरिका की विदेशी सहायता

اردو اردو, English English, العربية العربية, Français Français, Português Português, Русский Русский, Español Español, 中文 (中国) 中文 (中国)

अमेरिकी विदेश विभाग
तत्काल जारी करने के लिए
मार्च 26, 2020

विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पियो का बयान

अमेरिका सरकार ने कोविड-19 महामारी के खिलाफ़ देश और विदेश में तेज़ी से अभूतपूर्व संसाधन जुटाए हैं। आज मुझे ये घोषणा करते हुए प्रसन्नता हो रही है कि अमेरिका ने आपातकालीन स्वास्थ्य और मानवीय सहायता के लिए लगभग 274 मिलियन डॉलर उपलब्ध कराए हैं। इस महामारी के खिलाफ़ प्रयासों में अमेरिकी निजी क्षेत्र के साथ ही अमेरिकी जनता भी अग्रणी रही है।

आज घोषित 274 मिलियन डॉलर की सहायता सबसे अधिक जोख़िम वाले दुनिया के 64 देशों को महामारी से बेहतर तरीके से निपटने के लिए और दुनिया की सर्वाधिक असहाय आबादी की मदद के लिए संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त को संसाधन प्रदान कर सकेगी। सहायता की इन नई मदों में आपातकालीन स्वास्थ्य सहायता के लिए लगभग 100 मिलियन डॉलर शामिल हैं। इसमें अब नई अंतरराष्ट्रीय आपदा सहायता के 110 मिलियन डॉलर भी शामिल हैं, जो कि सबसे अधिक जोख़िम वाले क़रीब 64 देशों को, हमारी आपातकालीन स्वास्थ्य सहायता के साथ,  उपलब्ध कराए जाएंगे। ये महत्वपूर्ण है कि हमारी सहायता में संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त (यूएनएचसीआर) के लिए भी 64 मिलियन डॉलर की मदद शामिल है जो दुनिया की सबसे कमज़ोर आबादी को महामारी से बचाने के प्रयासों में मददगार होगी।

आज की नई फ़ंडिंग वैश्विक स्वास्थ्य और मानवीय सहायता के क्षेत्र में अमेरिका के दशकों से जारी नेतृत्वकारी भूमिका के अनुरूप है। 2009 के बाद से, अमेरिकी करदाताओं ने स्वास्थ्य सहायता में 100 बिलियन डॉलर से अधिक और विश्व स्तर पर मानवीय सहायता में लगभग 70 बिलियन डॉलर का योगदान किया है। हमारा देश दीर्घकालिक विकास एवं साझेदारों को सक्षम बनाने के प्रयास, और बारंबार आते संकटों के मद्देनज़र आपातकालीन क्रियात्मक प्रयास, इन दोनों ही क्षेत्रों में स्वास्थ्य और मानवीय सहायता की दृष्टि से सबसे बड़ा दाता देश बना हुआ है।

अमेरिका कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए कार्रवाई करना जारी रखेगा। यह वित्तीय सहायता एक आरंभिक निवेश मात्र है, जो विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनिसेफ़ जैसे बहुपक्षीय संगठनों को निरंतर दी जा रही हमारी सहायता के अतिरिक्त है। आज घोषित सहायता के अलावा, 6 मार्च को, राष्ट्रपति ट्रंप ने कोरोना वायरस तैयारी और प्रतिक्रिया पूरक विनियोग अधिनियम पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसमें दुनिया भर के देशों को इस महामारी के खिलाफ़ क़दम उठाने में मदद करने के लिए 1.3 बिलियन डॉलर की अतिरिक्त अमेरिकी सहायता शामिल है।

अमेरिकी कंपनियों, ग़ैर-सरकारी संगठनों और धर्मार्थ संगठनों द्वारा दान और सहायता के रूप में दी गई 1.5 बिलियन डॉलर से अधिक की सहायता, और विदेशों में कार्यान्वयन के लिए साझेदारों के अविश्वसनीय कार्य के साथ, हम वास्तव में इस घातक वायरस का सामना करने के लिए एक राष्ट्र के रूप में एकजुट हैं। हम महामारी से मुक़ाबले के वैश्विक प्रयासों को आगे बढ़ाने के लिए अन्य दाताओं द्वारा अब भी दिए जा रहे बिना शर्त योगदानों का स्वागत करते हैं।

कोविड-19 के खिलाफ़ हमारी अग्रणी भूमिका इस बात का एक और उदाहरण है कि अमेरिका – हमारी सरकार, हमारी कंपनियां और संगठन तथा हमारी जनता कैसे दुनिया के सबसे बड़े मानवतावादी बने हुए हैं। मौजूदा संसाधनों, पूरक वित्तीय सहायता, निजी क्षेत्र और अमेरिकी जनता की उदार भावना के साथ अमेरिका नेतृत्व कर रहा है – और इस ख़तरनाक रोगाणु और वैश्विक स्वास्थ्य और सुरक्षा पर इसके ख़तरे से निपटने के प्रयासो में आगे भी नेतृत्व करना जारी रखेगा।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें