rss

अमेरिका ने अमेरिकी प्रौद्योगिकी एवं बौद्धिक संपदा हासिल करने के लिए ग़ैर-आप्रवासी वीज़ा कार्यक्रम के अवैध इस्तेमाल की चीनी सेना की क्षमता को सीमित किया

中文 (中国) 中文 (中国), العربية العربية, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रेस बयान
माइकल आर. पोम्पियो, विदेश मंत्री
जून 1, 2020

 

राष्ट्रपति ट्रंप ने 29 मई को एक उद्घोषणा जारी की जोकि चीनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) द्वारा छात्रों एवं अनुसंधानकर्ताओं के लिए ग़ैर-आप्रवासी वीज़ा कार्यक्रमों के दुरुपयोग को सीमित करती है। ट्रंप प्रशासन चीन के साथ एक निष्पक्ष एवं पारस्परिक संबंध क़ायम करने के लिए प्रतिबद्ध है, और साथ ही प्रशासन चीन समेत विभिन्न देशों के अंतरराष्ट्रीय छात्रों और अनुसंधानकर्ताओं के अहम योगदानों को भी महत्व देता है। लेकिन, प्रशासन हमारी राष्ट्रीय और आर्थिक सुरक्षा के संरक्षण के लिए भी प्रतिबद्ध है। हम चीन द्वारा अपने सैन्य उद्देश्यों के लिए हमारे शैक्षिक संस्थानों और अनुसंधान केंद्रों से अवैध रूप से अमेरिकी प्रौद्योगिकी एवं बौद्धिक संपदा हासिल करने के प्रयासों को सहन नहीं करेंगे।

राष्ट्रपति की उद्घोषणा स्नातक की पढ़ाई के इच्छुक छात्रों के अलावा उन सभी चीनी नागरिकों के एफ़ या जे वीज़ा के तहत पढ़ाई या अनुसंधान के लिए अमेरिका में प्रवेश के प्रयासों को निलंबित करती है, जहां उऩके शैक्षिक या अनुसंधान कार्यों के चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) की ‘सैन्य-असैन्य संलयन’ रणनीति में सहायक बनने की आशंका हो। गत शुक्रवार को उठाए गए हमारे क़दम चीन सरकार की उस रणनीति की सीधी प्रतिक्रिया में हैं जिसके तहत चीन के सर्वाधिक प्रतिभावान छात्रों और अनुसंधानकर्ताओं का उपयोग, हमारे मुक्त और सहभागिता वाले शैक्षिक एवं अनुसंधान माहौल का अनुचित लाभ उठाकर लक्षित क्षेत्रों में, अमेरिकी संस्थानों से संवेदनशील प्रौद्योगिकी और बौद्धिक संपदा हासिल करने और चुराने के उद्देश्य से किया जाता है। यह क़दम अमेरिकी राष्ट्रीय और आर्थिक सुरक्षा हितों तथा अमेरिकी अनुसंधान कार्यों की उत्पादकता एवं सुरक्षा के संरक्षण में सहायक साबित होगा।

हमारी चिंता चीनी कम्युनिस्ट पार्टी और ख़ास व्यक्तियों के दुर्भावनापूर्ण कार्यों को लेकर है, नकि चीनी लोगों के बारे में। चीन सरकार द्वारा अपने सैन्य उद्देश्यों के लिए लक्षित, प्रेरित और इस्तेमाल किए गए स्नातक स्तर के छात्र और अनुसंधानकर्ता अमेरिकी वीज़ा के लिए आवेदन करने वाले चीनी छात्रों एवं अनुसंधानकर्ताओं का मात्र एक छोटा उपसमूह हैं। हम उम्मीद करते हैं कि नई वीज़ा नीति एक बेहतर, खुले और पारदर्शी वातावरण के निर्माण में योगदान करेगी जिसमें अमेरिकी और चीनी विद्वानों के बीच परस्पर अधिक विश्वास क़ायम हो सकेगा। साथ ही, अमेरिका अपनी प्रौद्योगिकी और संस्थानों की सुरक्षा करने तथा ये सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव प्रयास करता रहेगा कि हमारी राष्ट्रीय और आर्थिक सुरक्षा सलामत और विदेशी हस्तक्षेप से मुक्त रहे।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें