rss

थियानमेन स्क़्वायर प्रदर्शनों की 31वीं सालगिरह

English English, العربية العربية, Français Français, Русский Русский, اردو اردو, 中文 (中国) 中文 (中国)

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रेस बयान
मॉर्गन ऑर्टेगस, प्रवक्ता, विदेश विभाग
जून 3, 2020

 

आज हम उन बहादुर चीनी लोगों को याद करते हैं जिनके लोकतंत्र, मानवाधिकारों और भ्रष्टाचार मुक्त समाज के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शनों का 4 जून, 1989 को तब हिंसक अंत हो गया था, जब चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को टैंकों और बंदूकों के साथ थियानमेन स्क़्वायर पर उतार दिया। थियानमेन के विरोध प्रदर्शनों ने जहां सोवियत संघ और पूर्वी यूरोप में उत्पीड़ितों को लोकतांत्रिक परिवर्तन की मांग करने और उसे हासिल करने के लिए प्रेरित किया, वहीं चीनी कम्युनिस्ट सरकार सूचना पर नियंत्रण और भारी क्रूरता के सहारे बच गई।

इकतीस साल बाद, आज भी लापता और मृत थियानमेन प्रदर्शनकारियों की कुल संख्या अज्ञात है। अमेरिका ने हमेशा ही उनकी आकांक्षाओं का समर्थन किया है, और अमेरिकी लोग उन परिवारों के साथ खड़े हैं जो अभी भी अपने खोए हुए प्रियजनों के लिए ग़मगीन हैं, जिनमें साहसी थियानमेन मदर्स भी शामिल हैं, जिन्होंने तमाम व्यक्तिगत कठिनाइयों और ख़तरों के बावजूद अपने बच्चों की मौत की जवाबदेही तय किए जाने की मांग नहीं छोड़ी। हम मृत या लापता लोगों के पूर्ण विवरण सार्वजनिक किए जाने की अपनी मांग दोहराते हैं।

हम 4 जून 1989 को हताहत हुए लोगों के लिए दुखी हैं, और हम मानवाधिकारों, मौलिक स्वतंत्रताओं और बुनियादी मानवीय गरिमा की रक्षा करने वाली सरकार के आकांक्षी चीन के लोगों के साथ खड़े हैं।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/31st-anniversary-of-tiananmen-square/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें