rss

हांगकांग पर जी7 विदेश मंत्रियों का बयान

English English, اردو اردو

मीडिया नोट
प्रवक्ता का कार्यालय
जून 17, 2020

 

निम्नलिखित बयान का पाठ अमेरिका, कनाडा, फ़्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और ब्रिटेन की सरकारों, तथा यूरोपीय संघ के प्रतिनिधि द्वारा जारी किया गया था।

पाठ आरंभ:

हम, अमेरिका, कनाडा, फ़्रांस, जर्मनी, इटली, जापान और ब्रिटेन के विदेश मंत्री, तथा यूरोपीय संघ के प्रतिनिधि हांगकांग पर राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून थोपने के चीन के फ़ैसले पर अपनी गंभीर चिंता पर ज़ोर देते हैं।

चीन का निर्णय हांगकांग के बुनियादी क़ानून तथा संयुक्तराष्ट्र में दर्ज़, क़ानूनी रूप से बाध्यकारी, चीनी-ब्रितानी संयुक्त घोषणा के सिद्धांतों के तहत इसकी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के अनुरूप नहीं है। प्रस्तावित राष्ट्रीय सुरक्षा कानून से “वन कंट्री, टू सिस्टम्स” सिद्धांत और क्षेत्र की उच्चस्तरीय स्वायत्तता के गंभीर रूप से कमज़ोर पड़ने का जोख़िम है। यह उस व्यवस्था को ख़तरे में डाल देगा जोकि हांगकांग की समृद्धि में मददगार रही है और जिसने बीते वर्षों के दौरान उसे सफल बनाया है।

खुली बहस, हितधारकों के साथ परामर्श, तथा हांगकांग में संरक्षित अधिकारों और स्वतंत्रता का सम्मान किया जाना आवश्यक है।

हम इस बात को लेकर बहुत चिंतित हैं कि यह कार्रवाई क़ानून के शासन एवं स्वतंत्र न्याय प्रणाली की मौजूदगी के कारण संरक्षित लोगों के मौलिक अधिकारों और स्वतंत्रता को कम करेगी।

हम दृढ़तापूर्वक चीन सरकार से इस निर्णय पर पुनर्विचार का आग्रह करते हैं।

पाठ का अंत।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/g7-foreign-ministers-statement-on-hong-kong/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें