rss

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने हांगकांग की विस्तृत स्वायत्तता को कमज़ोर करने और मानवाधिकारों को सीमित करने के कारण चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के अधिकारियों पर वीज़ा पाबंदी लगाई

English English, العربية العربية, اردو اردو

अमेरिकी विदेश मंत्रालय
प्रेस बयान
माइकल आर. पोम्पियो, विदेश मंत्री
26 जून, 2020

 

राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने वादा किया था कि वे चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के उन अधिकारियों को दंडित करेंगे, जो हांगकांग की आज़ादी को कमज़ोर करने के लिए ज़िम्मेदार हैं। आज हम वो वादा पूरा करने के लिए क़दम उठा रहे हैं।

सीसीपी ने हांगकांग की विस्तृत स्वायत्तता को कमज़ोर करने की कोशिशें तेज़ कर दी है। सीसीपी ने हांगकांग की विधायी परिषद के कम-से-कम एक सदस्य पर कदाचार का आरोप लगाते हुए घोषणा की है कि चीन को हांगकांग के प्रशासन की “निगरानी” करने का अधिकार होगा, और साथ ही उसने एकतरफ़ा और मनमाने ढंग से हांगकांग पर राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून थोप दिया है। चीन की ओर से लगातार उठाए जा रहे क़दमों में हांगकांग की विस्तृत स्वायत्तता का सम्मान करने संबंधी चीन और ब्रिटेन के संयुक्त घोषणापत्र की प्रतिबद्धता और दायित्वों की अनदेखी की जा रही है। साथ ही चीन हांगकांग में मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रताओं को कमज़ोर करते हुए लोकतंत्र समर्थक कार्यकर्ताओं की गिरफ़्तारी और लोकतंत्र समर्थक उम्मीदवारों को अयोग्य ठहराने के लिए स्थानीय अधिकारियों पर दबाव बना रहा है।

आज मैं सीसीपी के उन मौजूदा और पूर्व अधिकारियों पर वीज़ा पाबंदी लगाने की घोषणा कर रहा हूं, जो 1984 के चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा पत्र द्वारा प्रदत्त हांगकांग की विस्तृत स्वायत्तता को कमज़ोर करने वाले क़दमों के लिए या तो ज़िम्मेदार हैं या उनमें शामिल हैं, और जो हांगकांग में मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रताओं को कम करने के लिए ज़िम्मेदार हैं। इन लोगों के परिजन भी इन वीज़ा पाबंदियों के दायरे में आ सकते हैं।

अमेरिका चीन से मांग करता है कि वो चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणा पत्र के अपने दायित्वों और प्रतिबद्धताओं का सम्मान करे – कि हांगकांग में “विस्तृत स्वायत्तता जारी रहेगी” तथा वहां अभिव्यक्ति और शांतिपूर्ण सभा करने की आज़ादी समेत मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रताओं को क़ानून का संरक्षण मिलेगा और हांगकांग प्रशासन के अधिकारी इनका सम्मान करेंगें। हांगकांग की विस्तृत स्वायत्तता, चीन-ब्रिटेन संयुक्त घोषणापत्र का पूर्ण कार्यान्वयन और साथ ही मानवाधिकार के प्रति सम्मान – ये सभी बुनियादी महत्व की बातें हैं। अमेरीका इन चिंताओं को लेकर क़दम उठाने के अपने अधिकारों की समीक्षा करना जारी रखेगा।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें