rss

अमेरिका रासायनिक हथियार निषेध संगठन के सीरियाई शासन द्वारा रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल की निंदा करने के निर्णय की सराहना करता है

English English, العربية العربية, Русский Русский, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
मीडिया नोट
प्रवक्ता का कार्यालय
जुलाई 9, 2020

 

अमेरिका रासायनिक हथियारों की निगरानी के दुनिया की शीर्ष संस्था रासायनिक हथियार निषेध संगठन (ओपीसीडब्ल्यू) की कार्यकारी परिषद की उस निर्णय को पारित करने के लिए सराहना करता है, जिसमें कि सीरियाई शासन द्वारा रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल की निंदा की गई है। यह निर्णय हमें सीरियाई शासन को रासायनिक हथियारों के उपयोग के लिए जवाबदेह ठहराने के थोड़ा पास लाता है।

आज का निर्णय सीरियाई सरकार के लिए स्पष्ट उपायों का निर्धारण करता है, जिनमें शामिल हैं: उन प्रतिष्ठानों के नाम बताना जहां लतामीना हमलों में इस्तेमाल रासायनिक हथियारों का विकास, उत्पादन, संग्रहण और वितरण के लिए भंडारण किया गया था;  अपने शेष रासायनिक हथियारों के ज़खीरे और उत्पादन इकाइयों का ब्यौरा देना; और अपनी आरंभिक घोषणा से संबंधित बक़ाया मुद्दों का समाधान करना। इन कार्यों को पूरा करने में सीरियाई शासन की विफलता पर मामला ओपीसीडब्ल्यू के पूर्ण निकाय, संधि में शामिल राष्ट्रों के सम्मेलन, को आगे की कार्रवाई के लिए सौंपा जाएगा।

अप्रैल 2020 में ओपीसीडब्ल्यू इन्वेस्टिगेशन एंड आइडेंटिफिकेशन टीम (आईआईटी) ने अपने निष्कर्ष में कहा था कि यह मानने के उचित आधार हैं कि मार्च 2017 में सीरिया के लतामीना में रासायनिक हथियारों के तीन हमलों के लिए सीरियाई अधिकारी ज़िम्मेदार थे। ये हमले पास के ख़ान शेखुन में अधिक घातक सरीन हमले से दो सप्ताह से भी कम समय पूर्व हुए थे, और असद शासन के आतंकी हमलों के उसी समन्वित अभियान का हिस्सा थे। जैसा कि विदेश मंत्री पोम्पियो ने सितंबर 2019 में कहा था, बशर अल-असद शासन ने सीरियाई लोगों के ख़िलाफ़ युद्ध छेड़ रखा है, जिसके परिणामस्वरूप पांच लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है और 11 मिलियन से भी अधिक लोगों को विस्थापित होना पड़ा है।

सभी संभव विकल्पों पर विचार करने वाली एक विस्तृत जांच के बाद, ओपीसीडब्ल्यू आईआईटी का ये निष्कर्ष था कि सीरियाई सरकार ने ही रासायनिक हथियारों के हमलों को अंजाम दिया था। ओपीसीडब्ल्यू का रासायनिक हथियार संधि के कार्यान्वयन में एक निष्पक्ष, पेशेवर और स्वतंत्र भूमिका का एक स्थापित इतिहास है।

इस निर्णय के माध्यम से कार्यकारी परिषद ने इस बात की पुनर्पुष्टि की है कि रासायनिक हथियारों के उपयोग के लिए ज़िम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए, और उसने अपराधियों को न्याय के कटघरे में लाए जाने के महत्व पर ज़ोर दिया है।

यह निर्णय पूरी तरह से अमेरिकी विचार के अनुरूप है कि रासायनिक हथियारों का कभी भी, कहीं भी और किसी भी परिस्थिति में स्वीकार्य उपयोग नहीं है। यह सराहनीय कार्रवाई उन प्रयासों की श्रृंखला में नवीनतम है जिनके ज़रिए अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने असद शासन और उसके सहयोगियों को सीरियाई लोगों के ख़िलाफ़ अपराधों के लिए ज़िम्मेदार ठहराया है, जिनमें संघर्ष क्षेत्रों में मानवीय सहायता पहुंचाने में ढिलाई पर संयुक्तराष्ट्र के संकल्प तथा इदलिब में युद्धापराधों पर संयुक्तराष्ट्र महासचिव के जांच बोर्ड और संयुक्तराष्ट्र जांच आयोग की रिपोर्टें शामिल हैं। सीरियाई संघर्ष का स्थायी समाधान केवल एक राजनीतिक प्रस्ताव से ही ही संभव है जैसा कि यूएनएससीआर 2254 में उल्लिखित है।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया [email protected] से संपर्क करें।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें