rss

हांगकांग पर राष्ट्रपति की घोषणा के बारे में टिप्पणी

العربية العربية, English English, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
अमेरिकी विदेश मंत्रालय
प्रेस बयान
माइकल आर. पोम्पियो, विदेश मंत्री
जुलाई 15, 2020

 

 पिछले दो हफ़्तों के दौरान दुनिया ने चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को हांगकांग की आज़ादी का गला घोंटते देखा है। चीन ने 1984 में दुनिया के सामने ब्रिटेन और हांगकांग के लोगों से वादा किया था कि वह हांगकांग को स्वतंत्र और मुक्त रखेगा, तथा 2047 ईस्वी तक वहां स्वायत्तता का ऊंचा स्तर बनाए रखेगा। हांगकांग पर एक कठोर राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून थोपकर, जोकि चीनी मुख्य भूमि की सुरक्षा सेवाओं को हांगकांग में बेरोकटोक काम करने की अनुमति देता है, चीन ने उस वादे को तोड़ दिया, जैसा कि वह अन्य कई वादों के साथ कर चुका है।

कल रात राष्ट्रपति ने इस पर जवाबी कार्रवाई की, जिनमें हांगकांग को अमेरिका के तरजीही दर्ज़े को समाप्त करने के लिए क़दम उठाना, अमेरिकी निर्यात नियंत्रण के तहत क्षेत्र को मिल रहे फ़ायदों को समाप्त करना और हांगकांग के साथ हमारे प्रत्यर्पण समझौते के निलंबन के लिए क़दम उठाने के निर्देश शमिल हैं। हांगकांग स्वायत्तता अधिनियम, हांगकांग की स्वतंत्रताओं को समाप्त करने के लिए ज़िम्मेदार लोगों को जवाबदेह ठहराने के वास्ते प्रशासन को अतिरिक्त साधन उपलब्ध करा सकेगा। राष्ट्रपति ने प्रशासन को हांगकांग के निवासियों को मानवीय आधार पर शरणार्थियों के रूप में प्रवेश देने पर विशेष ध्यान देने के लिए भी कहा है, जोकि उत्पीड़ितों के साथ खड़े होने की अमेरिका की ठोस प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

1 जुलाई एक ऐसे क्षेत्र के लिए दुखद दिन था, जिसे कि स्वायत्तता तथा मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रताओं के सम्मान के उसके इतिहास ने समृद्ध बनाया है, लेकिन बीजिंग के कृत्यों के कारण हमारे पास और कोई विकल्प नहीं रह गया है।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/on-the-presidents-announcement-on-hong-kong/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें