rss

चीन सरकार द्वारा फ़ालुन गोंग के दमन की 21वीं बरसी

中文 (中国) 中文 (中国), English English, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
प्रेस बयान
माइकल आर. पोम्पियो, विदेश मंत्री
जुलाई 20, 2020

 

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) 1999 से ही चीन में आरंभ आध्यात्मिक परंपरा फ़ालुन गोंग, तथा अपनी आस्था के अनुपालन के अधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले उसके शांतिपूर्ण अनुयायियों और मानवाधिकार रक्षकों के उन्मूलन का प्रयास करता रहा है। व्यापक सबूतों से ज़ाहिर है कि चीन सरकार आज भी इस समुदाय का दमन और उत्पीड़न जारी रखे हुए है, जिनमें कथित रूप से फ़ालुन गोंग के साधकों को यातनाएं देना और हज़ारों लोगों को हिरासत में रखा जाना शामिल हैं।

गत वर्ष, मैंने सीसीपी के दमन अभियान से बच निकले फ़ालुन गोंग के अनेक साधकों में से एक डॉ. युहुआ झांग का धार्मिक स्वतंत्रताओं को बढ़ावा देने के लिए मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में स्वागत किया था। चीन की जेल और श्रम शिविर में यातनाएं झेलने के बाद अब वह क़ैद में रखे गए अपने पति मा झेन्यू के लिए आवाज़ उठा रही हैं, जिन्होंने फ़ालुन गोंग की मान्यताओं का त्याग नहीं करने के कारण महीनों तक यातनाओं का सामना किया है।

हम चीन सरकार से फ़ालुन गोंग के साधकों के साथ घृणित दुर्व्यवहार और उनका उत्पीड़न तत्काल रोकने, अपने विश्वासों के कारण क़ैद मा झेन्यू जैसे लोगों को रिहा करने, और लापता साधकों को सामने लाने की मांग करते हैं। इक्कीस साल से फ़ालुन गोंग के साधकों का उत्पीड़न जारी है जोकि बहुत ही लंबी अवधि है, और ये रुकना चाहिए।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें