rss

मध्य पूर्व में शांति के लिए ऐतिहासिक दिन

Français Français, English English, العربية العربية, Español Español, Português Português, Русский Русский, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रेस बयान
माइकल आर. पोम्पियो, विदेश मंत्री
अगस्त 13, 2020

 

आज का दिन ऐतिहासिक है और मध्य पूर्व में शांति की दिशा में एक महत्वपूर्ण क़दम। ज़ोरदार कूटनीतिक प्रयासों के बाद राष्ट्रपति ट्रंप ने, इज़रायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और अमीराती युवराज मोहम्मद बिन ज़ायद के साथ, संबंधों को पूरी तरह से सामान्य बनाने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

यह दुनिया के दो सर्वाधिक प्रगतिशील और तकनीकी रूप से उन्नत राष्ट्रों की एक उल्लेखनीय उपलब्धि है, जिससे आर्थिक रूप से एकीकृत क्षेत्र की उनकी साझा क्षेत्रीय संकल्पना प्रतिबिंबित होती है। इससे छोटे, लेकिन मज़बूत, राष्ट्रों के रूप में साझा ख़तरों का सामना करने की उनकी प्रतिबद्धता भी ज़ाहिर होती है।

अमेरिका को उम्मीद है कि यह साहसिक क़दम इस क्षेत्र में 72 वर्षों की शत्रुता को समाप्त करने वाले समझौतों की श्रृंखला में पहला होगा। हालांकि इज़रायल और मिस्र और जॉर्डन के बीच शांति संधियों की पूर्ण संभावनाओं का अभी तक उपयोग नहीं हो पाया है, लेकिन 1978 के कैंप डेविड समझौते और 1994 के वादी आरावा समझौते के बाद से हमें मिस्र और जॉर्डन में उल्लेखनीय आर्थिक विकास देखने को मिला है, जो बेशक शांति का प्रतिफल है।

इज़रायल और अमीरात के बीच संबंधों के सामान्यीकरण के आज के समझौते में भी उसी तरह की संभावनाएं और पूरे क्षेत्र के बेहतर भविष्य का वादा निहित है। अमेरिका इज़रायल और अमीरात को उनकी महत्वपूर्ण उपलब्धि पर बधाई देता है। धन्य हैं शांतिदूत। बधाई और शुभकामनाएं।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/historic-day-for-peace-in-the-middle-east/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें