rss

अमेरिका ने हिज़बुल्ला की कंपनियों और अधिकारी पर प्रतिबंध लगाया

العربية العربية, English English, Português Português, Español Español, Français Français, Русский Русский, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
विदेश मंत्री माइकल आर. पोम्पियो का बयान
सितंबर 17, 2020

 

लेबनान के राजनीतिक नेता अपनी आत्म-समृद्धि छिपाने के लिए लंबे समय से लेबनान की अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता के अभाव का फ़ायदा उठाते रहे हैं, जबकि वे जनता के अधिकारों की रक्षा करने का दिखावा करते हैं। आतंकवादी गुट हिज़बुल्ला भी इस धोखाधड़ी में पूरी तरह शामिल है, भले ही उसका दावा इसके विपरीत हो।

अमेरिका आज हिज़बुल्ला से जुड़ी दो कंपनियों और हिज़बुल्ला के एक अधिकारी पर संशोधित कार्यकारी आदेश 13224 के तहत प्रतिबंध लगा रहा है। अमेरिका आर्च कंसल्टिंग और मीमार कंस्ट्रक्शन पर अमेरिका द्वारा नामित विदेशी आतंकवादी संगठन और विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी हिज़बुल्ला के स्वामित्व, नियंत्रण या संचालन में होने के कारण प्रतिबंध लगा रहा है। साथ ही, हम सुल्तान खलीफ़ा असद पर हिज़बुल्ला का एक नेता या अधिकारी होने के नाते प्रतिबंध लगा रहे हैं।

आर्च कंसल्टिंग और मीमार कंस्ट्रक्शन हिज़बुल्ला की कार्यकारी परिषद के अधीनस्थ संचालित कई कंपनियों में से हैं, और हिज़बुल्ला ने इन कंपनियों का उपयोग अपनी आर्थिक गतिविधियों को छुपाने और अमेरिकी प्रतिबंधों से बचने के लिए किया है। हिज़बुल्ला ने लेबनान के पूर्व मंत्री यूसुफ़ फ़िनयानुस के साथ मिलकर यह सुनिश्चित किया कि आर्च और मीमार को लेबनानी सरकार के करोड़ों डॉलर के ठेके मिलें, और इन कंपनियों ने उस रकम का एक हिस्सा हिज़बुल्ला की कार्यकारी परिषद को सौंपा है। अमेरिका ने अपने कैबिनेट पद का दुरुपयोग कर हिज़बुल्ला को भौतिक समर्थन प्रदान करने के कारण 8 सितंबर को फ़िनयानुस पर प्रतिबंध लगाया था। आर्च कंसल्टिंग पहले जिहाद अल-बीना – हिज़बुल्ला की एक प्रमुख निर्माण कंपनी जिस पर अमेरिका ने 2007 में प्रतिबंध लगा दिया था – का हिस्सा थी और अब भी उसे धन प्रदान करना जारी रखे हुए है। सुल्तान ख़लीफ़ा असद हिज़बुल्ला की कार्यकारी परिषद में अपनी ज़िम्मेदारियों के तहत आर्च, मीमार और हिज़बुल्ला की अन्य कंपनियों की देखरेख करता है। परिषद में वह आतंकवादी गुट के नगरपालिका मामलों के प्रबंधन में मदद करता है। असद आर्च, मीमार और हिज़बुल्ला की अन्य कंपनियों की गतविधियों को निर्देशित करने के लिए सीधे हिज़बुल्ला की कार्यकारी परिषद के प्रमुख हाशिम सफ़ी अल-दीन के साथ समन्वय करता है। राजनीतिक नेताओं द्वारा अपने राजनीतिक सहयोगियों को ठेके दिलाकर खुद पैसे बनाने की ये व्यवस्था भ्रष्टाचार का बिल्कुल वही रूप है कि जिसके खिलाफ़ लेबनान की जनता विरोध प्रदर्शन कर रही है। हिज़बुल्ला अन्य पार्टियों की तरह ही लेबनान की भ्रष्ट प्रणाली का दोहन करता है, जैसा कि हमारे आज के प्रतिबंधों और 8 सितंबर को पूर्व मंत्रियों पर लगाए गए प्रतिबंधों से ज़ाहिर होता है। लेबनान के लोग लगभग एक साल से भ्रष्टाचार के खिलाफ़ विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और मांग कर रहे हैं कि उनकी सरकार दशकों की राजनीतिक जड़ता के बाद अब उनकी बुनियादी जरूरतों को पूरा करे। लेबनान के लोग बेहतर बर्ताव के हक़दार हैं, और अमेरिका भ्रष्टाचार के अंत और अधिक उत्तरदायी शासन की उनकी मांग का समर्थन करता रहेगा।


यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें