rss

अमेरिका-ऑस्ट्रेलिया-भारत-जापान विमर्श (क्वाड)

English English, اردو اردو

अमेरिकी विदेश विभाग
प्रवक्ता का कार्यालय
तत्काल जारी करने के लिए
मीडिया नोट
सितंबर 25, 2020

 

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान के वरिष्ठ अधिकारियों ने 25 सितंबर 2020 को एक मुक्त, खुले और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र की दिशा में किए जाने वाले सामूहिक प्रयासों पर विमर्श के लिए वर्चुअल बैठक में भाग लिया।

चारों लोकतंत्रों ने कोविड-19 से निपटने, पारदर्शिता और दुष्प्रचार-विरोधी प्रयासों को बढ़ावा देने, तथा क्षेत्र में लंबे समय से स्थापित क़ानून-आधारित व्यवस्था के संरक्षण के लिए मिलकर काम करने के तरीक़ों पर विचार किया।

डिजिटल कनेक्टिविटी और सुरक्षित नेटवर्क के महत्व पर ज़ोर देते हुए, अधिकारियों ने विशेषकर पांचवीं पीढ़ी (5जी) के नेटवर्कों के लिए भरोसेमंद आपूर्तिकर्ताओं के उपयोग को बढ़ावा देने के तरीक़ों पर चर्चा की। उन्होंने आतंकवाद निरोधक उपायों, समुद्री सुरक्षा, साइबर सुरक्षा और क्षेत्रीय कनेक्टिविटी के साथ-साथ जी20 प्रिंसिपल्स फ़ॉर क़्वालिटी इन्फ़्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट जैसी श्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय प्रथाओं पर आधारित गुणवत्तापूर्ण बुनियादी ढांचे के विकास के लिए समन्वय बढ़ाने के तरीकों पर भी विचार किया। प्रतिभागियों ने महत्वपूर्ण खनिजों, चिकित्सा आपूर्ति और औषधि समेत विभिन्न क्षेत्रों में सप्लाई चेन में सुधार करने की आवश्यकता पर भी बल दिया।

अधिकारियों ने आसियान की केंद्रीय भूमिका और आसियान के नेतृत्व वाली क्षेत्रीय व्यवस्था के प्रति अपने देशों के मज़बूत समर्थन की पुष्टि की। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क़ानून, बहुलवाद, क्षेत्रीय स्थिरता और महामारी के बाद के सामान्यीकरण प्रयासों के समर्थन के लिए मेकांग उप-क्षेत्र, दक्षिण चीन सागर और पूरे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मिलकर काम करने के तरीक़ों पर भी विचार किया।

चारों देशों ने वरिष्ठ अधिकारियों और मंत्रियों के स्तर पर चर्चा समेत नियमित विमर्श जारी रखने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।


मूल सामग्री देखें: https://www.state.gov/u-s-australia-india-japan-consultations-the-quad-3/
यह अनुवाद एक शिष्टाचार के रूप में प्रदान किया गया है और केवल मूल अंग्रेजी स्रोत को ही आधिकारिक माना जाना चाहिए।
ईमेल अपडेट्स
अपडेट्स के लिए साइन-अप करने या अपने सब्सक्राइबर प्राथमिकताओं तक पहुंचने के लिए कृपया नीचे अपनी संपर्क जानकारी डालें